Home Tags मध्य प्रदेश

Tag: मध्य प्रदेश

जंबूरी मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे कमलनाथ, तैयारियां तेज

0
madhya pradesh congress chief kamalnath
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ कल प्रदेश के 18वे मुख्यमंत्री के तौर पर जंबूरी मैदान में शपथ लेंगे। जिसको लेकर प्रदेश प्रशासन की तैयारियां जोरों पर चल रही है। इस भव्य समारोह में बड़ी तादाद में लोगों के आने की संभावनाएं है। जिसके लिए सरकारी प्रेस में लगभग 2000 से ज्यादा कार्ड छापे जा रहे है। कमलनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में कई बड़ी हस्तियां शामिल होंगी। कमलनाथ स्वयं विशिष्ट अतिथियों को आने का न्यौता दे रहे हैं। बताया जा रहा है कि समारोह में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी, बसपा प्रमुख मायावती, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का नाम फाइनल हो चुका है। तो वहीं समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी संपर्क किया जा रहा है। पार्टी इस कार्यक्रम के जरिए कार्यकर्ताओं को बदलाव का संदेश देना चाहती है। 15 साल बाद सत्ता में हो रही वापसी के मद्देनजर शासन को उम्मीद है कि बड़ी संख्या में सोमवार को कार्यकर्ता भोपाल आएंगे।

सोनिया गाँधी भी होंगी शामिल, पचौरी बोले यह ‘सौभाग्य की बात’

कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह को लेकर अन्य दलों के नेताओं के साथ-साथ अब यूपीऐ अध्यक्ष सोनिया गाँधी भी शामिल होंगी। कमलनाथ के विशेष आमंत्रण पर आ रही सोनिया गाँधी के साथ ही प्रियंका गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस कई वरिष्ठ कांग्रेस नेता भी भोपाल आ रहे है। सोनिया गांधी के शपथ ग्राह समारोह में पहुंचने को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी ने कहा कि सोनिया गांधी का आना हमारे लिए सौभाग्य की बात। पचौरी ने कहा कि कमलनाथ एक बेहतरीन मुख्यमंत्री साबित होंगे।

एसपीजी, अधिकारीयों और कांग्रेस नेता ले रहे जायजा

राजधानी में कल होने वाले इस भव्य आयोजन को लेकर सुरक्षा तैयारियां भी जारों पर है। दिल्ली से भोपाल पहुंची एसपीजी ने शनिवार को जंबूरी मैदान में सुरक्षा इंतजामों का जायजा लिया। इसके साथ ही स्थानीय अधिकारी और कांग्रेस के नेता भी सुरक्षा इंतजामों का जायजा लेते नजर आए।

समाप्त नही हुआ टकराव, दिल्ली पहुंची सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग

0
मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली जीत के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी ने प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ को सूबे का मुख्यमंत्री घोषित किया गया है। खुद मुख्यमंत्री पद के प्रमुख दावेदार माने जा रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया की मौजूदगी में प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में कमलनाथ के नाम की घोषणा की गयी। लेकिन कमलनाथ के शपथग्रहण के दो दिन पहले यह मामला एक बार फिर दिल्ली पहुँच गया है। दरअसल कमलनाथ को मुख्यमंत्री पद मिलने के बाद उम्मीद जताई जा रही थी कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी प्रदेश की राजनीती में प्रदेश अध्यक्ष जैसा कोई अहम पद दिया जाएगा लेकिन ऐसा हुआ नही। उपमुख्यमंत्री पद सिंधिया ने लिया नही तो वहीं प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए भी अजय सिंह, अरुण यादव और दिग्विजय सिंह तक का नाम चलने लगा। जिसके बाद सिंधिया समर्थक विधायक कमलनाथ सरकार में खुद का असुरक्षित महसूस करने लगे हैं। ऐसे में यह सभी नेता कुछ विधायकों के नेतृत्व में दिल्ली स्तिथ ज्योतिरादित्य सिंधिया के निवास के बाहर धरने पर बैठ गए। मुरैना, ग्वालियर, श्योपुर ,शिवपुरी ,दतिया और भिंड जिले के यह विधायक सिंधिया को मुख्यमंत्री नहीं बनाए जाने से नाराज हैं। यह नेता अब यह मांग कर रहे है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाए।
मध्यप्रदेश से दिल्ली पहुंचे इन विधायकों का कहना है कि जनता ने सिंधिया के नाम पर वोट दिए हैं, भाजपा की कब्जे वाली सीट पर भी सिंधिया के नाम पर जनता ने कांग्रेस को जिताया है, ऐसे में जब सिंधिया को मुख्यमंत्री नही बनाया गया है तो अब हम जनता के बीच किस मुंह से जाएं। विधायकों की मांग है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाए| दिल्ली में मौजूद विधायकों का कहना है कि अगर 2019 में राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाना है तो हमारे महाराज (ज्योतिरादित्य सिंधिया) को कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाए। वहीं कुछ विधायकों का तो यह भी कहना है कि सिंधिया जी को सीएम नहीं बनाया गया तो हम कमलनाथ की नेतृत्व वाली सरकार का समर्थन नहीं करेंगे।

समर्थकों से नही मिले सिंधिया

अपनी मांग के साथ दिल्ली पहुंचे कांग्रेस विधायकों से ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुलाकात नही की है। ऐसे में कुछ नेता निवास के बाहर धरने पर बैठ गए है तो वहीं कुछ विधायक दिल्ली स्तिथ मध्यप्रदेश निवास चले गए है और आगे की रणनीति बना रहे है। कांग्रेस के सिंधिया समर्थक विधायकों की इस मांग ने कांग्रेस के अंदर एक बार फिर तूफान खड़ा कर दिया है। अब कांग्रेस आलाकमान इसका क्या समाधान निकालेगा यह देखने वाली बात है।

संविधान बचाओ दिवस के तहत संगोष्ठी कल

0
cpi logo communist party of india

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा अपने देशव्यापी संविधान बचाओ दिवस के आह्वान पर ‘संवैधानिक मूल्यों पर संकट और हमारा दायित्व’ विषयपर गुरूवार को संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम का आयोजन भाकपा जिला ईकाई,राष्ट्रीय सेकुलर मंच, भोपाल गैस पीड़ित महिला उद्योग संगठन व इंसानी बिरादरी संयुक्तरूप से कर रहा है। भाकपा जिला सचिव शैलेन्द्र कुमार शैली ने बताया कि हमने भारत केसंविधान की रक्षा के लिए कट्टरपंथी-प्रतिगामी-फासिस्ट ताकतों का कड़ा प्रतिरोध करनेके लिए आम जनता से आह्वान किया है।

मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में हारी तो “वन नेशन-वन इलेक्शन” का फ़ॉर्मूला लागू करेगी भाजपा ?

0

देश में वन नेशन-वन इलेक्शन की मांग काफी समय से चलती आ रही है। केंद्रीय सत्ता में आने के बाद से भाजपा भी इस मांग को समय-समय पर हवा देती रही है। वहीं 5 राज्यों में चल रहे विधानसभा चुनावों के बीच भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने एक बार फिर इस मांग को हवा दी है। प्रभात झा ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि अब समय आ गया है कि देश में वन नेशन-वन इलेक्शन के फोर्मुले को लागू किया जाए और देश के सभी राजनैतिक दलों को इस पर मंथन करना चाहिए। इससे देश के मानव संसाधन और उर्जा की काफी बचत होगी।


अब समय आ गया है कि देश में वन नेशन-वन इलेक्शन के फोर्मुले को लागू किया जाए और देश के सभी राजनैतिक दलों को इस पर मंथन करना चाहिए। इससे देश के मानव संसाधन और उर्जा की काफी बचत होगी।

Prabhat Jha

इसके साथ ही मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में ईवीएम को लेकर आ रही शिकायतों पर बोलते हुए प्रभात झा ने कहा कि कांग्रेस के नेता इन दिनों चुनाव आयोग और ईवीएम को लेकर काफी आरोप लगा रहे हैं। यह सारे आरोप गलत है और इससे संवैधानिक संस्था के प्रति अनास्था का माहौल बनता है, जो लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है।

प्रभात झा ने आगे कहा कि जब मुख्य चुनाव आयुक्त जब खुद कह चुके हैं कि ईवीएम पूरी तरह सुरक्षित है तो इस पर भरोसा करना चाहिए। चुनाव आयोग को बदनाम करने का अधिकार किसी को नहीं है, आयोग कोई गरीब की गाय नहीं है। आयोग ने जिस तरह प्रदेश में और नक्सल क्षेत्रों में भी शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव कराए, उसके लिए वह बधाई का पात्र है।

सभी प्रभावित सीटों पर हो दुबारा मतदान : मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी

0
CPIM-Communist Party of India Marxist

मतदान के बाद ईवीएम को लेकर मिल रही भारी शिकायतों को लेकर मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के केंद्रीय समिति सदस्य एवं राज्य सचिव जसविंदर सिंह ने सभी प्रभावित विधानसभा सीटों पर दुबारा चुनाव करवाने की मांग की है। सिंह ने कहा कि “सागर में गृहमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र की ईवीएम मशीनों का दो दिन बाद जमा होना, कई मशीनों का होटलों में पाया जाना, भोपाल में बड़े अधिकारियों द्वारा ई वी एम के स्ट्रांग रूम की बिजली काटने के निर्देश देकर बिली बंद करवाना, सैकड़ों मशीनों की खराबी जैसी ख़बरें बहुत चिंताजनक हैं। इन ख़बरों से डाले जा चुके वोटों में गड़बड़ी करने और बड़े पैमाने की धांधली कर जनादेश को प्रभावित करने के संकेत है।

इसके साथ ही सभी प्रभावित विधानसभा सीटों पर दुबारा मतदान हो और इन से जुड़े सभी प्रशासनिक अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाए और जाँच के बाद उचित कार्यवाही की जाए।साथ ही जिन राजनीतिक नेताओं के निर्देश पर यह गड़बड़ी हुई है उन्हें तत्काल गिरफ्तार कर पुनर्मतदान होने तक जेल में रखा जाए।

उत्तरपुस्तिका की कॉपी न देने पर विश्वविध्यालय प्रशासन को लगी फटकार

0
RTI Right to Information Act

मध्यप्रदेश राज्य सूचना आयोग ने परीक्षार्थियो को उत्तरपुस्तिका की प्रति देने से इनकार करने पर विक्रम विश्वविध्यालय को कड़ी फटकार लगाई है। मामले पर नाराजगी जताते हुए आयोग ने विश्वविध्यालय के कुलपति और कुलसचिव को 10 दिसंबर को आयोग के समक्ष पेश होकर स्पष्टीकरण देने का आदेश दिया है। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट और सूचा आयोग के स्पष्ट निर्देशों के बावजूद विश्वविध्यालय प्रशासन ने परीक्षा देने वाले छात्रों को उत्तरपुस्तिका की प्रति देने से इनकार कर दिया था। जिसकी शिकायत कई परीक्षार्थियों और पत्रकार कैलाश सनोलिया ने राज्य सूचना आयोग में की थी। शिकायत को गंभीरता से लेते हुए राज्य सूचना आयुक्त आत्मदीप ने विश्वविध्यालय के कुलपति व कुलसचिव द्वारा कारण बताओ नोटिस जोरी किया था। जिसपर दिए गए जवाब को आयोग ने अमान्य कर दिया।

तितिक्षा शुक्ला की अपील पर पारित आदेश में सूचना आयुक्त ने कहा कि उत्तरपुस्तिका की प्रति देने के संबंध में आयोग द्वारा विश्वविध्यालय के समक्ष समूची विधिक स्थिति स्पष्ट की जा चुकी है । इसके बावजूद विश्वविध्यालय ने परीक्षार्थियों को उत्तरपुस्तिका की प्रति देने से इनकार कर दिया था। जिसपर आयोग ने विश्वविध्यालय के कुलपति को फटकार लगाई और चेतावनी देते हुए कहा कि सूचा आयोग के आदेशों में उल्लेखित निर्णयों का सम्मान करें और भविष्य में किसी भी परीक्षार्थी को उसकी मूल्यांकित उत्तरपुस्तिका की प्रति देने से इंकार हरगिज न करें। इसके साथ ही परिक्षार्थियों को उनकी उत्तरपुस्तिका की प्रति मुहैया कराने के लिए लोक सूचना अधिकारी को सुस्पष्ट निर्देष जारी करें और इस संबंध में कृत कार्यवाही से आयोग को जल्द से जल्द अवगत कराएं। आदेश में चेतावनी देते हुए आयोग ने कहा कि यही ऐसा नही हुआ तो विश्वविध्यालय के विरुद्ध धारा 20 (2) के तहत दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी ।

बता दें कि सूचना का अधिकार अधिनियम की धारा 22 के अनुसार अगर इस कानून को सर्वोपरि प्रभाव हासिल है। यदि कोई और कानून या प्रावधान का सूचना के अधिकार अधिनियम से टकराव होता है तो ऐसी स्तिथि में उन कानून या प्रावधान की जगह सूचना का अधिकार अधिनियम मान्य होगा। देश की सर्वोच्च अदालत ने भी एक मामले में सुनवाई करते हुए यह स्पष्ट किया है कि सूचना का अधिकार अधिनियम की धारा 22 के अनुसार, अधिनियम के प्रावधान सर्वोपरि होने के कारण परीक्षा लेने वाले संसथान अपने किसी भी नियम के कारण परीक्षार्थी को उनकी उत्तरपुस्तिका देखने से मन नही कर सकते। साथ ही अगर परीक्षार्थी उत्तरपुस्तिका की प्रति मांगता है तो उसे वो भी उपलब्ध करवाई जनि चाहिए।

बीएसएनएल ने जारी किये 299/- ओर 249/- के 2 नए ब्रॉडबैंड प्लान

0

भारतीय दूर संचार निगम (बीएसएनएल) ने बुधवार को ब्रॉडबैंड यूज़र्स के लिए दो नए प्लान प्रस्तुत किये। यह प्लान 299/- और 549/- प्रति माह के है। 299 रुपये प्रतिमाह में 1.5 जीबी हाईस्पीड डाटा प्रतिदिन दिया जाएगा वहीं 549 रुपये वाले प्लान में उपभोगता को 3 जीबी हाईस्पीड डाटा दिया जाएगा। इसके बाद दोनो ही प्लानों में 1 एमबीपीएस की स्पीड से अनलिमिटेड डाटा मिलेगा। दोनों ही प्लान में  बीएसएनएल नेटवर्क पर अनलिमिटेड लोकल और एसटीडी कालिंग फ्री मिलेगी।

साथ ही अन्य नेटवर्क पर कॉल करने के लिए 299 वाले प्लान में 300/- रुपये और 549 वाले प्लान में 700/- रूपया का क्रेडिट हर माह मिलेगा। बीएसएनएल मध्यप्रदेश के महाप्रबंधक डॉ महेश शुक्ल ने बताया कि दोनों ही प्लान लेने पर नए उपभोगताओं को 50 रुपये प्रतिमाह कैशबैक अगले 6 महीनों तक मिलेगा। 

सेवा सदन में मंगलवार से लगेगा मुफ्त यूरोलॅाजी शिविर

0

भोपाल के संत हिरदाराम नगर स्थित जीव सेवा संस्थान के सहयोग से सेवा सदन नेत्र चिकित्सालय में निशुल्क यूरोलॅाजी शिविर लगाया जा रहा है। शिविर में अमेरिका के यूरोलॉजी विशेषज्ञ डॉ गोपाल बदलानी के साथ देश-विदेश के 14 अन्य सहियोगी चिकित्सक शामिल होंगे। शिविर में मूत्र व्याधियों से पीड़ित रोगियों के निशुल्क ऑपरेशन किये जाएँगे। साथ ही पत्थरी, प्रोस्टेट बढ़ जाने, हायपोस्पीडिया आदि बीमारियों के भी शिविर में निशुल्क ऑपरेशन किये जाएँगे। अगर आप इस शिविर में शामिल होना चाहते है तो अपना पुराना चिकित्सा रिकॉर्ड और परिचय पत्र अवश्य ले जाए। शिविर के पहले दिन 4 दिसंबर को रोगियों का पंजीयन, जांच और उपचार किया जाएगा। वहीं ऑपरेशन के लिए चिन्हित रोगियों को 7 दिसंबर को अस्पताल में भर्ती किया जाएगा और यह ऑपरेशन 8 से 11 दिसंबर तक चलेंगे। रोगियों को ऑपरेशन के बाद कुछ समय देखभाल करने के बाद डिस्चार्ज कर दिया जाएगा।

बता दें कि शिविर में मुंबई के रेडियोलॅाजी विषेषज्ञ डॉ दीपक झांगियानी, अपोलो अहमदाबाद के डॉ दर्षन शाह, डॉ धृति कलसारिया, डॉ नरेष हिमथानी, राजकोट के डॉ जीतेन्द्र अमलानी, डॉ अमीष मेहता, डॉ जिगेन गोहिल और डॉ वसंत सावसानी, दिल्ली के डॉ प्रषांत जैन, भावनगर से डॉ समीर जोषी, इन्दौर के डॉ राजेन्द्र पंजाबी, भोपाल के डॉ दीपक जैन, डॉ सुधीर लोकवानी और डॉ सी।पी। देवानी, डॉ देवेष बंसल, संत नगर के डॉ टी.के ज्ञानचंदानी, डॉ दिलीप चोटरानी और डॉ लाल किषनानी रोगियों के ऑपरेशन और इलाज करेंगे। शिविर में मुख्य रूप से ऐसे पुरुष जिन्हें पेशाब के रास्ते पथरी की शिकायत, प्रोस्टेट बढ़ने, बार-बार पेशाब आने, पेशाब में जलन, पेशाब रूकने की तकलीफ है वह अपना इलाज और ऑपरेशन करवा सकते हैं। वहीं महिला रोगी भी जिन्हें उठने-बैठने, जोर लगाने, खांसने-छींकने से मूत्र उत्सर्जन हो जाता है, पेशाब धीरे और बार-बार आती हो, पेशाब में जलन और पत्थरी की शिकायत जैसी बीमारियों का इलाज और ऑपरेशन करवा सकती हैं। शिविर में मूत्र व्याधियों से पीड़ित बच्चों का इलाज और ऑपरेशन भी किये जाएंगे।

दिल्ली में भोपाल स्मार्ट सिटी को मिला बेस्ट पीपीपी अवार्ड

0

दिल्ली में आयोजित बिज़नेस वर्ड के छठे ‘स्मार्ट सिटीज कॉन्क्लेव एंड अवार्ड’ कार्यक्रम में भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कारपोरेशन लिमिटेड के स्मार्ट पोल प्रोजेक्ट को सर्वश्रेष्ठ पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप अवार्ड मिला है। अवार्ड को स्मार्ट सिटी कंपनी के सीईओ श्री संजय कुमार ने प्राप्त किया। बता दें कि भोपाल स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कारपोरेशन लिमिटेड द्वरा पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत पूरे शहर में स्मार्ट पोल लगाए गये है।

प्रोजेक्ट के अनुसार पूरे शहर में 400 पोल लगाए जाने है। 150 पोल लगाने के साथ ही प्रोजेक्ट के पहले फेस का काम पूरा हो चुका है। इन पोल्स की ख़ास-बात यह है कि इनका रियल-टाइम डाटा फाइबर केबल के माध्यम से कमांड-सेंटर में आता है। इसके साथ ही पोल्स में सर्विलेंस कैमरा, वेदर सेंसर, सूचा फ़्लैश करने लिए बिल बोर्ड, फ्री वाई फाई और ई-वाहन चार्जिंग के प्वाइंट दिए गए हैं। प्रोजेक्ट करीब 640 करोड़ रुपए का है। लेकिन इसमें भोपाल सिटी का एक भी पैसा नहीं लगा है।

‘इकोनॉमिक्स 101’ में स्टार्टअप होल्डर्स ने सीखा बेसिक ऑफ़ इकोनॉमिक्स

0
Economics 101: Startup Event

स्टार्टअप को लेकर युवाओं के अंदर उत्साह और उससे जुडी चौनौतिओं को लेकर एआईसी आरटेक ने स्टार्टअप होल्डर्स के लिए ‘इकोनॉमिक्स 101’ नाम से एक सेमिनार का आयोजन किया। समिनार में लगभग 10 स्टार्टअप टीम ने हिस्सा लिया। जिन्हें वर्कशॉप में इकोनॉमिक्स की बेसिक नॉलेज और बिजनेस इकोनॉमिक्स के कई रूल्स के बारे में जानकारी दी गयी।

सेमीनार में ‘एआईसी आरटेक’ के सीईओ अमित राजे ने बताया कि इकोनॉमिकल समझ किसी भी बिजनेस का आधार होती है। वहीं आज-कल स्टार्टअप शुरू करने वाले युवाओं को इसकी समझ काफी कम होती है। बिजनेस इकोनॉमिक्स की बात करें तो इसकी टर्मेलॉजी समझना और इसे हैंडल करना और भी मुश्किल हो जाता है। इसी वजह से हमने इस वर्कशॉप का आयोजन किया ताकि नए स्टार्टअप इससे घबराएं नहीं और इसे बेहतर तरीके से हैंडल कर सकें।

सोशल मीडिया पर जुड़ें

38,238FansLike
0FollowersFollow
1,269FollowersFollow
1FollowersFollow
1,256FollowersFollow
785FollowersFollow

Recent Posts

708 POSTS0 COMMENTS
143 POSTS0 COMMENTS
47 POSTS0 COMMENTS
1 POSTS0 COMMENTS
0 POSTS0 COMMENTS
0 POSTS0 COMMENTS