NewBuzzIndia:

image
Mohammad Morsi, Former President of Egypt

काहिरा की एक अदालत ने मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी को ख़ुफ़िया सूचनाओं को लीक करने और जासूसी के आरोप में शनिवार को आजीवन कारवास की सजा सुनाई। मुर्सी और अलजजीरा के दो पत्रकारों सहित 11 लोगों पर जासूसी का आरोप है।

मुर्सी को काहिरा की अदालत ने 15 साल जेल की सजा सुनाई। अदालत ने सात मई को सुनाए गए एक फैसले की भी पुष्टि कर दी, जिसमें छह को मौत की सजा सुनाई गई थी। अदालत को प्रारंभिक फैसले के बाद मिस्र के ग्रैंड मुफ्ती शावकी आलम से सजा पर सलाह लेनी थी, जो देश में सबसे बड़े धार्मिक नेता हैं।

मिस्र के कानून के मुताबिक, मौत की सजा पर मुफ्ती के हस्ताक्षर की जरूरत होती है। अदालत उनकी राय से बंधा हुआ नहीं है, लेकिन उनका आदर करता है। जिन लोगों को मौत की सजा दी गई है, उनमें अल जजीरा चैनल के पूर्व समाचार निदेशक इब्राहिम हेलाल भी शामिल हैं। वे मिस्र में नहीं हैं और उनकी अनुपस्थिति में यह फैसला सुनाया गया है।

इसके अलावा, मौत की सजा पाने वालों में राजनीतिक कार्यकर्ता अहमद अफीफी, फ्लाइट अटेंडेंट मोहम्मद किलानी तथा शिक्षाविद् अहमद इस्माइल हैं, जो हिरासत में हैं। फैसले के खिलाफ मिस्र की अपीली अदालत में अपील की जा सकती है।

Loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.