Advertisements
Home Tags Twitter

Tag: twitter

केरल में दो कांग्रेस कार्यकर्ताओं की हत्या, राहुल गांधी ने दी श्रद्धांजलि

0

केरल में युवा कांग्रेस के दो कार्यकर्ताओं की हत्या का मामला सामने आया है। यह दोनों कार्यकर्ता केरल के कासरगोड के रहने वाले है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले में मृत कार्यकर्ताओं को श्रद्धांजलि देते हुए न्याय की मांग की है।

राहुल ने ट्वीट करते हुए लिखा “केरल के कासरगोड में हमारे युवा कांग्रेस परिवार के दो सदस्यों की नृशंस हत्या चौंकाने वाली है। कांग्रेस पार्टी इन दोनों युवकों के परिवारों के साथ एकजुटता से खड़ी हुई है और मैं उनकी हत्या पर अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। हम तब तक आराम नहीं करेंगे जब तक हत्यारों को सजा और मृत कांग्रेस कार्यकर्ताओं के परिवार को न्याय नहीं मिल जाता।

Advertisements

मोयावती ने ट्विटर पर की धमाकेदार एंट्री

0

जहां एक ओर सभी राजनैतिक पार्टीयां सोशल मीडिया को इस्तेमाल करते हुए चुनावी माहौल तैयार करती हैं, वहीं दूसरी ओर बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) जैसे बड़े राजनीतिक दल ने आज तक सोशल मीडिया से दूरी बना रखी थी। बसपा के किसी भी बड़े नेता का भी कोई आधिकारिक अकाउंट नहीं था। जिसके बाद अब बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक नई शुरुआत की है और ट्विटर पर अपना आधिकारिक अकाउंट बनाया है।

मायावती का यह अकाउंट अक्टूबर 2018 में ही बनाया गया था, मगर जनवरी तक इस पर कोई ट्वीट नहीं था। 22 जनवरी को उन्होंने पहला ट्वीट किया। मायावती ने लिखा, ‘नमस्कार भाइयो-बहनो, पूरे सम्मान के साथ मैं आप सबके समक्ष ट्विटर पर कदम रख रही हूं। यह मेरा पहला ट्वीट है। @sushrimayawati मेरा आधिकारिक अकाउंट है और यहीं से मैं भविष्य में आप सबसे जुड़ूंगी। धन्यवाद।’ बता दें कि मायावती जैसी बड़ी नेता और बीएसपी जैसे बड़े राजनीतिक दल का सोशल मीडिया पर ना होना, उनके समर्थकों और सोशल मीडिया यूजर्स के लिए हैरानी का विषय था। कई बार बीएसपी के नाम से कुछ फर्जी हैंडल भी चर्चा में आए, लेकिन पार्टी ने हमेशा ही इनका खंडन किया और साफ किया कि इनसे बीएसपी का कुछ लेना-देना नहीं है।

मायावती का आधिकारिक ट्विटर अकाउंट

बुधवार को मायावती का ट्विटर अकाउंट वेरिफाइड भी हो गया और उस पर ब्लू टिक भी आ गया। बीएसपी ने भी एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर मायावती के ट्विटर अकाउंट के बारे में जानकारी दी है। अकाउंट वेरिफाइ होने के बाद मायावती के फॉलोअर्स तेजी से बढ़ रहे हैं। खबर लिखे जाने तक उनके करीब 7,500 फॉलोअर्स थे।

Times Now के सर्वे में पीएम मोदी पर भारी पड़ीं प्रियंका।

0

सक्रिय राजनीति में प्रवेश के साथ ही प्रियंका गांधी मीडिया और सोशल मीडिया पर छाई हुई है। कांग्रेस कार्यकर्ता और नेता जहां खुशियां मना रहे है तो वहीं मीडिया इस बात का विश्लेषण करने में लगा है कि प्रियंका गांधी के आने कंग्रेस्स को कितना फायदा होगा और भाजपा को कितना नुकसान।

अंग्रेजी न्यूज़ चैनल ‘टाइम्स नाउ’ ने हाल ही में अपने ट्विटर एकाउंट पर एक सर्वे किया। सर्वे में चैनल ने पूछा कि ‘क्या प्रियंका गांधी नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता को टक्कर दे पाएंगी ?

सर्वे में जवाब के लिए दो विकल्प दिए गए थे। पहला ‘हाँ’ और दूसरा ‘न’..

66% फीसदी लोगों ने दिया प्रियंका का साथ

टाइम्स नाउ के इस सर्वे में कुल 56,518 लोगों ने वोट किया। जिसमें से 66% लोगों ने इस बात से सहमति दर्ज कराई है कि प्रियंका गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता को टक्कर दे सकती है। वहीं सिर्फ 34% लोगो का मानना था कि प्रियंका गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता को टक्कर नही दे पाएंगी।

टाइम्स नाउ का सर्वे

मुख्यमंत्री- मामा बने मध्यप्रदेश के ‘आम आदमी’

0

13 सालों तक प्रदेश के मुख्यमंत्री और बच्चों के मामा रहे शिवराज सिंह चौहान विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली हार के बाद ‘आम आदमी’ बन गये है। भाजपा की हार के बाद मुख्यमंत्री पद से हटते ही शिवराज सिंह चौहान ने अपने ट्विटर प्रोफाइल से ‘मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री’ हटाकर ‘द कॉमन मैन ऑफ़ मध्यप्रदेश’, अर्थात ‘मध्यप्रदेश का आम आदमी’ लिख दिया है।

इसके पहले शिवराज सिंह चौहान ने विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद यह साफ़ कर दिया था कि वह आगे भी केंद्र में जाने की जगह प्रदेश की राजनीती ही करेंगे। ऐसे में अब देखना होगा की मध्यप्रदेश की राजनीती में मुख्यमंत्री से आम आदमी बने शिवराज सिंह चौहान क्या क्या भूमिका निभाते है।

सोशल वाणी: कालेधन के फेर में फसे अमित शाह, शिवराज पर कांग्रेस का ‘शिव’ वार

0

कालेधन के फेर में फसे अमित शाह 

सोशल मीडिया पर सोमवार को अमित शाह का एक पुराना ट्वीट सामने आ गया जिसपर अमित शाह की जमकर खिचाई हुई. जनवरी 2015 में फर्स्ट पोस्ट द्वारा किये गये इस ट्वीट में अमित शाह कह रहे है कि “सरकार कालाधन वापिस लाने के प्लान पर काम कर रही है”. शाह के इस ट्वीट को शेयर करते हुए परेश ने लिखा ” हेलो अमित शाह जी, आप लगभग 4 साल पहले कालाधन वापिस लाने के प्लान पर काम कर रहे थे, कुछ विकास हुआ ? वहीं एक अन्य यूजर ने कमेंट में लिखा “इस ट्वीट में बाबा रामदेव को भी टैग करो. क्यूंकि रामदेव भाई, इस प्रश्न का उत्तर आपको भी देना चाहिए, चुप रहने से लोग भूल नही जाएँगे.  

क्या कांग्रेस के साथ है मालवा ?


राहुल गाँधी के मालवा दौरे के साथ ही ट्विटर पर #MalvaWithCongress ट्रेंड करने लगा. इस हैशटैग का इस्तेमाल करने वाले अधिकांश लोग कांग्रेसी जरूर थे लेकिन यह हैशटैग दिन भर ट्रेंड में रहा. हैशटैग का इस्तेमाल करके एक ओर कांग्रेस राहुल गाँधी के मालवा दौरे को सफल बनाया वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री शिवराज और प्रधानमंत्री मोदी पर जमकर हमला भी बोला.


गिरिराज सिंह पर तेजश्वी का तंज 


भाजपा नेता गिरिराज सिंह ने आज सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के पहले कहा कि ” अब हिन्दुओं का सब्र टूट रहा है. मुझे भय है कि अगर हिन्दुओं का सब्र टूट गया तो क्या होगा ?”
गिरिराज सिंह के इस बयान के जवाब में आरजेडी नेता तेजश्वी यादव ने कहा “काहे बड़बड़ा रहे है फ़ालतू का? किसी का सब्र नहीं टूटा है। ठेकेदार मत बनिए, हमसे बड़े हिंदू नहीं है आप? आपको चुनाव का डर है। ये मगरमच्छी रोना रोने से फ़ुर्सत मिले तो युवाओं की नौकरी, विकास और जनता की सेवा की बात करिए। अपने दोस्त पलटूराम की तरह बेमतलब बिहारियों को बदनाम मत करिए।”

शिवराज पर कांग्रेस का ‘शिव’ वार 


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने सोमवार को उज्जैन में महाकाल  के दर्शन के साथ ही अपने दो दिवसीय इंदौर-मालवा दौरे की शुरुआत की. राहुल गाँधी ने सिंधिया, कमलनाथ, अजय सिंह और सुरेश पचौरी समेत कांग्रेस के कई वरिष्ट नेताओं के साथ महाकाल की पूजा की. पूजा के बाद दिन भर ‘शिव भक्त’ राहुल गाँधी और कांग्रेस के अन्य नेताओं की फोटो और विडियो सोशल मीडिया पर शेयर होते रहे.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सोशल मीडिया पर उठी अध्यादेश लाने की मांग

0
राम मंदिर पर फैसला सुप्रीम कोर्ट ने जनवरी 2019 तक के लिए टाल दिया है। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद सोशल मीडिया पर राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने की मांग एक बार फिर उठ गई है। अध्यादेश की मांग करने वाले अधिकांश लोगों का कहना है कि सरकार एससी-एसटी एक्ट और तीन तलाक पर अध्यादेश ला सकती है तो फिर राम मंदिर पर क्यों नही ? अध्यादेश की मांग करने वाले अधिकांश लोग भाजपा और हिंदूवादी संगठनों से जुड़े हुए है। लोगों का कहना है कि अब बहुत हुआ सरकार को अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार न करके संसद के रास्ते मंदिर का निर्माण करना चाहिए।
दरअसल सुप्रीम कोर्ट के फैसले से भाजपा को काफी बड़ा झटका लगा है। सरकार को उम्मीद थी कि सुप्रीम कोर्ट 4 राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव के पहले राम मंदिर निर्माण पर सुनवाई करेगा। जिसके माध्यम से भाजपा पार्टी से नाराज चल रहे सवर्णों को एक बार फिर पार्टी के साथ लाने में कामयाब हो जाएगी। लेकिन सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनवाई टालने के बाद भाजपा को एक बार फिर सवर्णों के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में भाजपा डैमेज कंट्रोल के लिए अपनी ही पार्टी के लोगों से अध्यादेश की मांग करवा रही है।
सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर स्वयंसेवक विकास पांडेय का कहना है कि ” राम मंदिर पर सुनवाई टलना मोदी सरकार के लिए आशीर्वाद है। राम मंदिर का श्रेय अदालत को क्यों मिले ? श्रेय नरेंद्र मोदी जी को मिलना चाहिए।” तो वहीं कर्नाटक में बीजेपी युथ विंग के महासचिव तेजश्वी सूर्या का कहना है कि ” राम मंदिर पर अध्यादेश लाने का समय हो चुका है। चाहे सुप्रीम कोर्ट अध्यादेश रोक दे, या फिर अध्यादेश राज्यसभा में पास न हो पाए लेकिन सरकार को संसद में राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाना चाहिए। इससे राम मंदिर को लेकर हमारी प्रतिबद्धता दिखेगी। ट्विटर यूजर प्रशांत पटेल का कहना है कि सरकार को राम मंदिर के नाम पर बहुमत दिया गया था,सरकार को अध्यादेश लाकर फौरन राम मंदिर का निर्माण करना चाहिए।
सुप्रीम कोर्ट के फैसले और अध्यादेश लाने का मुद्दा अब भाजपा के लिए उल्टा पड़ता दिख रहा है। विपक्ष भी सरकार पर आरोप लगा रही है कि भाजपा के लिए राम मंदिर सिर्फ एक चुनावी जुमला है। भाजपा और हिन्दू संगठनों की इस मांग पर तंज कसते हुए आज तक के पत्रकार रोहित सरदाना ने कहा “जब सरकार ने साढ़े चार साल में राम मंदिर के लिए क़ानून लाने/बनाने का विचार नहीं बनाया तो अब ये ट्विटर पर #Ordinance4RamMandir का ट्रेंड चलने से थोड़े ना क़ानून आ जाएगा”

Twitter पर नरेंद्र मोदी और अरविन्द केजरीवाल से भी आगे निकले राहुल गांधी, देखें रिपोर्ट

0

2014 में भाजपा की जीत का एक बड़ा कारण सोशल मीडिया मीडिया रहा था । वहीं कांग्रेस उस समय सोशल मीडिया से काफी दूर थी । उस समय कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्विटर पर अकाउंट तक नही बनाया था ।

 

जिसके बाद अपनी गलती से सीख लेते हुए कांग्रेस भी सोशल मीडिया की रेस में शामिल हो गयी । कांग्रेस सोशल मीडिया पर देर से जरूर आई पर दुरुस्त आई । जून 2015 में ट्विटर पर आए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के ट्विटर फॉलोवर्स की संख्या 2 मिलियन से ज्यादा हो गए है ।

अक्टूबर 2017 : नरेंद्र मोदी और केजरीवाल से आगे निकले राहुल गांधी

 

फॉलोवर्स के मामले में राहुल गांधी जरूर नरेंद्र मोदी और अरविन्द केजरीवाल के काफी पीछे है लेकिन Retweet के मामले में राहुल गांधी ने दोनों नेताओं को पीछे छोड़ दिया है ।

अक्टूबर महीने के twitter stats पर नजर डाली जाए तो नरेंद्र मोदी को हर Tweet पर लगभग 2500 Retweet मिले है । वहीं अरविन्द केजरीवाल के हर ट्वीट को लगभग 1500 लोगों ने Retweet किया है । वहीं राहुल गांधी ने इस मामले में दोनों पीछे छोड़ दिया है । राहुल गांधी के हर ट्वीट को लगभग 3800 Retweet मिले है ।


राहुल गांधी ने बताया मौसम का हाल, गुजरात में आज होगी जुमलों की बारिश !

0

राहुल गांधी अब राजनीति के माहिर खिलाडी हो गए है । वह एक के बाद एक भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी पर जमकर हमला बोल रहे है । राहुल गांधी अब जमीन से लेकर सोशल मीडिया तक कांग्रेस को मजबूत करने में लगे है ।

कांग्रेस के भावी अध्यक्ष ने इसी सिलसिले को कायम रखते हुए आज ट्विटर पर हिंदुस्तान टाइम्स की एक खबर को शेयर करते हुए लिखा की –

मौसम का हाल : चुनाव से पहले आज गुजरात में होगी जुमलों की बारिश

आपको बता दें कि राहुल गांधी का यह बयान नरेंद्र मोदी के गुजरात दौरे पर आया है । आपको बता दें कि गुजरात में विधानसभा चुनाव आने वाले है और नरेंद्र मोदी आज गुजरात का दौरा करने वाले है ।

चुनाव के पहले मोदी जी जहाँ जाते है वहाँ से अपना रिश्ता जोड़ लेते है और जुमलों की जबरदस्त बारिश करते है । इसी को लेकर राहुल गांधी का यह ट्वीट काफी सुर्खियां बटोर रहा है ।

पीएम मोदी और अमित शाह की आलोचना पर इतिहासकार रामचंद्र गुहा को मिल रहे है धमकी भरे ईमेल।

0

इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने मंगलवार को कहा कि बीजेपी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करने के चलते उन्हें कई धमकी भरे ईमेल आए हैं। इन ईमेल में उन्हें ‘दिव्य महाकाल’ से सजा की चेतावनी दी गई है। फोन पर बातचीत में उन्होंने बताया कि बीते तीन-चार दिनों में उन्हें दर्जनों ईमेल मिले हैं। सभी में एक जैसी ही बात लिखी है साथ ही इनमें पत्रकारों और नेताओं को मार्क किया गया है। एक ईमेल उन्होंने हमारे साथ भी साझा किया।

इस संबंध में उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘कई लोगों ने मुझे एक जैसे ईमेल भेजे हैं जिसमें उन्होंने चेताया है कि बीजेपी की आलोचना करने के लिए मैं दिव्य महाकाल की सजा के लिए तैयार रहूं। मुझे यह भी चेतावनी दी गई है कि मैं नरेंद्र मोदी और अमित शाह की आलोचना न करूं क्योंकि दिव्य शक्ति महाकाल ने उन्हें दुनिया बदलने के लिए चुना है और आशीर्वाद दिया है।’

उन्होंने कहा, ‘जब मुझे कई मेल मिले तो मुझे लगा कि इन्हें ट्विटर पर डाल दूं, ताकि दूसरे लोगों को आंशिक रूप से रोक सकूं।’

इन ईमेल्स में गुहा के बीते सालों में दिए गए कई बयानों का हवाला दिया गया है। दिसंबर 2015 में गुहा ने मौजूदा सरकार को बुद्धिजीवियों का विरोध करने वाली देश की अब तक की सबसे बड़ी सरकार करार दिया था। बीते साल नवंबर में टाइम्स लिटरेचर फ़ेस्टिवल में उन्होंने कहा था कि उन्हें पूर्व पीएम इंदिरा गांधी और पीएम मोदी में समानताएं दिखती हैं।

यह मामला जून 2016 में गुहा के ‘द टेलीग्राफ’ अखबार में लिखे एक कॉलम से शुरू हुआ था। इसमें उन्होंने लिखा था, ‘इंदिरा गांधी की तरह ही नरेंद्र मोदी एकाकी हैं।’ इसमें उन्होंने अमित शाह की तुलना संजय गांधी से करते हुए लिखा था, ‘उन्हें भी सत्ता का लोभ है।’

योगी आदित्यनाथ को करना चाहिए ‘गैस निकालने’ वाला आसन – ट्विंकल खन्ना

0

इंडिया टुडे वुमेन समिट एंड अवॉर्ड्स में ट्विंकल खन्ना पूरी तरह से मजाक के मूड में थीं. ट्विंकल ने सारे सवालों के जवाब बड़े ही दिलचस्प अंदाज में दिए. होस्ट कोएल पुरी ने जब ट्विंकल खन्ना से यूपी के नए सीएम योगी आदित्यनाथ के बारे में पूछा तो मिस फनीबोन्स का जवाब था,

उन्हें एक आसन करने की जरूरत है जिससे गैस बाहर निकालने में मदद मिलती है. लेकिन मुझे लगता है वो फैशन भी चेंज कर रहे हैं. मैंने तो ट्वीट भी किया था कि एशियन पेंट्स को अब ऐलान कर देना चाहिए कि सीजन का नया रंग भगवा है, इस टैगलाइन के साथ- ऑरेंज इज द न्यू ब्राउन

सोशल मीडिया पर जुड़ें

38,092FansLike
0FollowersFollow
1,218FollowersFollow
1FollowersFollow
1,256FollowersFollow
795FollowersFollow

ताजा ख़बरें