fbpx
Monday, May 10, 2021
Home Tags Shivraj singh chouhan

Tag: shivraj singh chouhan

मध्यप्रदेश बनेगा ऑक्सीजन सप्लाई में आत्मनिर्भर

0

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने रविवार बीना में बीओआरएल के निकट 1000 बिस्तर के अस्थायी कोविड अस्पताल का निरीक्षण किया और साथ ही मौके पर पूरे रोडमैप की समीक्षा भी की।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि ये प्रदेश का पहला आक्सीजन सप्लाई आधारित अस्थाई अस्पताल है जहां पलंग तक डायरेक्ट ऑक्सीजन पाइप लाइन रहेगी।

इस दौरान सीएम ने कहा कि हमारा उद्देश्य आने वाले समय में मध्य प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता के मामले में भी आत्मनिर्भर बनकर उभरे। उन्होंने यह भी कहा कि हमें कोरोना से हर मुकाबले के लिए तैयार रहना होगा। इस सिलसिले में ही बड़े ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना भी की जा रही है।

हार पर बीजेपी मे हाहाकार, कमलनाथ का सरकार से सवाल हार के लिए कौन-कौन जिम्मेदार

0

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दमोह के एसपी-कलेक्टर के ट्रांसफर पर सवाल उठाया है। उन्होंने सवाल उठाते हुए प्रदेश की सरकार से पूछा है कि क्या दमोह में बीजेपी को चुनाव जिताने की ज़िम्मेदारी वहाँ के कलेक्टर और एसपी को सौंपी गई थी ?

कमलनाथ ने कहा कि यदि दमोह कलेक्टर और एसपी ने अपने कर्त्तव्यों के निर्वहन और अपनी वर्दी का सम्मान करते हुये निष्पक्ष चुनाव कराये तो क्या सरकार उन्हें इस कर्तव्यपरायणता की सजा देगी ?  असफल होने के बाद अब प्रशासनिक अधिकारियों में आतंक पैदा करने के लिये कलेक्टर एवं एसपी को हटाया गया है। उन्होंने कहा कि दमोह चुनाव की पराजय का दूसरा शिकार बीजेपी के वरिष्ठ नेता जयंत मलैया एवं उनके पुत्र सिद्धार्थ मलैया को बनाया जा रहा है।

उन्होंने कहा यदि वास्तव में धनबल के साथ-साथ पूरी बीजेपी, पूरी सरकार, 22 मंत्री, कई विधायक और सांसद के दमोह में महीनों डेरा डालने के बाद भी यदि मलैया परिवार कांग्रेस को 17000 वोटों से जीत दिला सकते है तब उनके वर्चस्व और राजनीतिक कौशल को देखते हुये उन्हें तत्काल मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री बना देना चाहिये ?

उन्होंने आगे कहा, जबकि ये हार वास्तव में बीजेपी के हर उस नेता की है जो पूरे दो महीने दमोह में रहने के बाद भी अपने प्रत्याशी को जीत नहीं दिला सके। ये हार शिवराज की उस अनैतिक राजनीति की हार है जो ख़रीद-फ़रोख़्त से सत्ता हथियाने के लिये कुख्यात है।

दरअसल दमोह में बीजेपी की हार शिवराज सरकार के एक साल के कार्यकाल पर जनता का मत है। ये हार बताती है कि बीजेपी ने पिछले एक साल में प्रदेश को कैसी सरकार दी है।

अधिकारियों का दबाव नहीं झेल पाए भोपाल के टीकाकरण अधिकारी, दिया इस्तीफा

0

भोपाल के जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ कमलेश अहिरवार ने कार्य मे अत्यधिक दबाव के चलते अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी भोपाल को लिखे पत्र में डॉक्टर अहिरवार ने लिखा कि वह कार्य का अत्यधिक दबाव नहीं झेल पा रहे हैं इस कारण वह अपने पद से इस्तीफा देते हैं हालांकि उनके इस्तीफे पर कई प्रकार के सवाल भी उठ रहे हैं।

सूत्रों की माने तो जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ कमलेश अहिरवार पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का एवं प्रशासनिक अधिकारियों का अत्यधिक दबाव है जिसके कारण वह इस्तीफा दिए हैं।

आपको बता दें इसके पहले भी इंदौर में प्रभारी सीएमएचओ और एक बीएमओ ने भी इस्तीफा दे दिया था हालांकि बाद में उन्होंने कलेक्टर पर आरोप भी लगाए थे और कलेक्टर के इस्तीफे की मांग करी थी जिसके बाद इंदौर के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट और अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के हस्तक्षेप से वह है पुनः काम पर वापस लौट आई है।

मध्यप्रदेश में अब मुख्यमंत्री करेंगे ऑक्सीजन सप्लाई की ऑडिट

0

मध्य प्रदेश में कोरोना बेकाबू है और उसके कारण ऑक्सीजन की कमी और कालाबाजारी की खबरे आ रही है। ऐसे में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में अब ऑक्सीजन की भी ऑडिट होगी। उन्होंने कहा कि किस जिले में कितनी ऑक्सीजन की जरुरत है और कितनी आपूर्ति हो रही है, कितनी ऑक्सीजन कहां जा रही है इसका भी अधिकारियों को हिसाब किताब रखना होगा।

दरअसल प्रदेश में ऑक्सीजन डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम गड़बड़ चल रहा है। ऑक्सीजन की वितरण प्रणाली पर सीएम नाराज हो गए। अधिकारियों के साथ चल रही बैठक में उन्होंने अपनी नाराजगी जाहिर की। सीएम ने अधिकारियों को दो टूक कहा कि जिले ऑक्सीजन की डिमांड पहले बताएं। ल

बता दे कि व्यवस्थाओं में गड़बड़ी सामने आने के बाद अब सीएम माइक्रो मॉनिटरिंग करेंगे। सीएम ने समीक्षा के लिए जिलों को तीन ग्रुप A, B और C में बांट दिया है।

ग्रुप A में है ये जिले

इंदौर, उज्जैन, रतलाम, टीकमगढ़, धार, अनूपपुर, झाबुआ, नीमच, देवास, निवाड़ी, मंदसौर, खरगोन, शाजापुर, आगर, मालवा, अलीराजपुर, बड़वानी, खंडवा, बुरहानपुर जिले है।

ग्रुप B में है ये जिले

 भोपाल, ग्वालियर, बैतूल, दतिया, विदिशा, सीहोर, मुरैना, शिवपुरी, होशंगाबाद, अशोक नगर, रायसेन, राजगढ़, गुना, हरदा, श्योपुर, भिंड जिले है।

ग्रुप C में है ये जिले

जबलपुर, रीवा, नरसिंहपुर, सिंगरौली, सीधी, पन्ना, सतना, सागर, शहडोल, कटनी, छतरपुर, सिवनी, मंडला, बालाघाट, उमरिया, डिंडोरी, छिंदवाड़ा और दमोह जिले शामिल है।

शिवराज सरकार के मंत्री गोपाल भार्गव ने खोली प्रदेश के स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल, डॉक्टर की भर्ती के लिए निजी खर्च पर जारी किया विज्ञापन

0

मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार के लोक निर्माण विभाग पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव ने सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की पोल खोलकर रख दी है।

भार्गव ने अपने ग्रह क्षेत्र गढ़ाकोटा में कोविड-19 केअर सेंटर में मरीजों की सेवा के लिए खुद के खर्चे पर एक विज्ञापन सोशल मीडिया पर जारी किया है जो चर्चा का विषय बन गया है।

भार्गव के विज्ञापन पर कांग्रेस को भी भाजपा पर निशाना साधने का मौका मिला तो कांग्रेस ने भी लगे हाथों सरकार को खरी खोटी सुना डाली कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट कर शिवराज सरकार को प्रधान स्वास्थ्य सेवाओं के लिए घेरना शुरू कर दिया उन्होंने लिखा 16 वर्षों के भाजपा ने शिवराज सरकार में स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की यह स्थिति कि एक वरिष्ठ मंत्री को अपने क्षेत्र में डॉक्टर की भर्ती निजी खर्चे पर करनी पड़े।

दरअसल भाजपा नेता और 8 बार के विधायक गोपाल भार्गव ने अपने गृह क्षेत्र गढ़ाकोटा में कोविड-19 सेंटर खोलने के लिए एक विज्ञापन अपने अधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट से पोस्ट किया है जिसमें इस बात का जिक्र है कि वह अपने निजी खर्च पर एक डॉक्टर रखना चाह रहे हैं जिसकी वेतन ₹200000 के साथ रहना खाना आना जाना और एक गाड़ी की व्यवस्था है।

मध्यप्रदेश के कैबिनेट मंत्रियों को मिली ये ज़िम्मेदारियां

0

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कैबिनेट के साथियों के साथ बैठक में कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु राज्य स्तर पर मंत्रीगणों को कार्य सौपे है।

मंत्री गोपाल भार्गव
प्रदेश में कोविड केयर सेंटर और ऑक्सीजन प्लांट के निर्माण की कार्रवाई को समय सीमा में पूर्ण कराने का कार्य देखेंगे।

मंत्री तुलसीराम सिलावट
इंदौर में राधा स्वामी सत्संग व्यास परिसर में बन रहे 2000 बिस्तर के अस्पताल का प्रभावी संचालन और इसी प्रकार के अन्य कोविड-केयर सेंटर का निर्माण देखेंगे।

मंत्री विजय शाह
प्रदेश में होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को मेडिकल किट ब्रोशर का वितरण, दिन में दो बार कॉल चिकित्सा सलाह को सुनिश्चित करेंगे। इस कार्य में स्वास्थ्य विभाग की टीम और नगरीय प्रशासन की टीम भी रहेगी और इसके समन्वय प्रभु राम चौधरी , भूपेंद्र सिंह और ओपीएस भदौरिया रहेंगे।

मंत्री भूपेंद्र सिंह
बीना रिफाइनरी के पास बन रहे 1000 बिस्तर के निर्माण का क्रियानवयन।

मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह
प्रदेश में कोविड केयर सेंटर्स में रह रहे मरीजों को मेडिकल किट, बब्रॉशर का वितरण, चिकित्सा सलाह योग प्राणायाम भोजन आदि की सुविधाएं सुनिश्चित करेंगे।

मंत्री विश्वास सारंग
भोपाल में विभिन्न संस्थाओं के सहयोग से कोविड केयर सेंटर का निर्माण और भोपाल के अस्पतालों में बिस्तर बढ़वाने का कार्य देखेंगे।

मंत्री डॉ महेंद्र सिंह सिसोदिया
प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए आवश्यक उपाय, गांव में होम आइसोलेशन और कोविड-19 सेंटर में मरीजों को मेडिकल किट , ब्रॉशर का वितरण देखेंगे ,
इस कार्य में मंत्री रामखेलावन पटेल का सहयोग रहेगा।

मंत्री उषा ठाकुर
जन अभियान परिषद के सहयोग से मैं कोरोना वालंटियर अभियान का प्रभावी क्रियान्वयन और वॉलिंटियर का कोरोना कार्यों में प्रभावी उपयोग ।

मंत्री अरविंद भदौरिया
प्रदेश में राज्य के बाहर से ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति के विषय में संबंध में समन्वय।

मंत्री राम किशोर कांवरे
राज्य के एक करोड़ परिवारों को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए काढ़े के निशुल्क वितरण की व्यवस्था और योग से निरोग अभियान का प्रभावी क्रियान्वयन देखेंगे।

मंत्री ओपीएस भदौरिया नगरों में कोविड संक्रमण रोकने के उपाय, नगरों का सैनेटाईजेशन, नगरों में होम आइसोलेशन की व्यवस्था,नगरों में मेडिकल किट का वितरण देखेंगे।

मंत्री राजवर्धन सिंह दात्तीगांव उद्योगों से ऑक्सीजन की आपूर्ति के संबंध में समन्वय देखेंगे।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने की बड़ी घोषणा, कहा सभी को मुफ्त में लगेगी वैक्सीन

0

 मध्य प्रदेश में कोरोना के हालात देखते हुए सरकार ने ऐलान किया है कि राज्य में 1 मई से 18 या इससे अधिक उम्र के सभी लोगों को मुफ्त कोरोना टीका लगाया जाएगा। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में इस फैसले पर मुहर लगाई गई है। इससे पहले बीजेपी शासित उत्तर प्रदेश और असम सरकार ने सभी को मुफ्त कोरोना टीका लगाने का ऐलान किया है।

बता दे कि 19 अप्रैल को केंद्र सरकार ने घोषणा की कि 1 मई से 18 और इससे अधिक उम्र के लोगों को भी कोरोना का टीका लगाया जाएगा। राज्य सरकारों और प्राइवटे अस्पतालों को भी उत्पादकों से वैक्सीन खरीद की छूट दी गई है। ऐसे में केंद्र सरकार की ओर से जारी आदेश के मुताबिक, वैक्सीन कंपनियां 50 फीसदी आपूर्ति केंद्र सरकार को देंगी तो 50 फीसदी राज्य सरकारों और खुले बाजार में बेचने की छूट दी गई है।

दरअसल सीमर इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने कहा कि राज्य सरकारों को कंपनी 400 रुपए प्रति डोज के हिसाब से टीका देगी वहीं निजी अस्पतालों को 600 रुपए प्रति डोज के हिसाब से आपूर्ति की जाएगी। इस बीच कई राज्य सरकारों ने सभी को मुफ्त करोना टीका देने का ऐलान किया है।

मुख्यमंत्री शिवराज ने लगाया आरोप, कहा कुछ अधिकारियों ने रोके प्रदेश में आने वाले ऑक्सीजन टैंकर

0

मध्य प्रदेश में चल रही ऑक्सीजन की कमी के बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को आरोप लगाया कि कुछ राज्यों के अधिकारी उनके राज्यों से मध्य प्रदेश में आ रहे ऑक्सीजन के टैंकर रोक रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह अनुचित है एवं अपराध भी है।

शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया कि , ‘‘कोविड-19 संक्रमण की विषम परिस्थितिया बनी हुई हैं, संकटकाल है। ऑक्सीजन संजीवनी है। ऐसे में कुछ राज्यों के अधिकारी ऑक्सीजन के टैंकर रोक रहे हैं, जो अनुचित है और अपराध भी है।’’

उन्होंने आगे लिखा, ‘‘कल (रविवार को) मध्यप्रदेश राज्य के ऑक्सीजन टैंकरों को अन्य राज्यों में कुछ अधिकारियों द्वारा रोका गया। इससे समय बर्बाद होता है और इस दौरान कुछ मरीजों की जान जाने का खतरा बना रहता है।’’

चौहान ने यह भी कहा, ‘‘मैं राज्यों के मुख्यमंत्रियों से अपील करता हूँ कि ऐसे अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें, जो संजीवनी ऑक्सीजन के टैंकरों को अकारण रोक रहे हैं।’

मध्यप्रदेश बीजेपी के विधायक को राजश्री की चिंता ने किया परेशान

0

मध्य प्रदेश में कोरोना ने मौत का तांडव मचा रखा है। प्रदेश में ऑक्सीजन की और रेमडेसीवीर इंजेक्शन की किल्लत है। इन सब के बीच बीजेपी के विधायक ने राजश्री गुटखा की कालाबाजारी को लेकर चिंता जताई है। बीजेपी नेता ने कलेक्टर को पत्र लिखकर गुटखे की कालाबाजारी रोकने की मांग की है।

टीकमगढ़ विधानसभा क्षेत्र से विधायक राकेश गिरी गोस्वामी है। कलेक्टर को संबोधित पत्र में लिखा है कि, ‘कोविड- 19 की इस विषम परिस्थिति में लॉकडाउन तथा कर्फ्यू लगे होने के कारण जूली जैन द्वारा मौके का नाजायज फायदा उठाते हुए राजश्री गुटखा की कमी बताकर व्यापक स्तर पर मनमाने दामों पर कालाबाजारी की जा रही है।

कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने ट्वीट किया कि, ‘अरे कौन है ये आदमी? लोगों को ऑक्सीजन नही मिल रही, ये गुटखा लिए फिर रहे हैं। लोग तड़प रहे हैं, मर रहे हैं, ये राजश्री के पाउच गिन रहे हैं। ये भाजपाई, दिन-ब-दिन नज़रों से गिर रहे हैं।’

वहीं पीयूष मिश्रा ने ट्वीट किया, ‘भाजपा विधायक हो तो ऐसा जो अपनी प्रजा की सबसे ज़रूरी चीज़ ‘राजश्री गुटखा’ के लिए जंग लड़ रहा है.. उसे मरीज, अस्पताल, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर जैसे चीजों के लड़ना ज़रूरी नही लगता?’

बता दे कि ऑक्सीजन की भयंकर किल्लत है, रेमडेसीवीर इंजेक्शन की मारामारी है तब स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ करने के बजाए सत्तारूढ़ पार्टी के विधायक को सबसे ज्यादा चिंता किसी चीज की है तो वह राजश्री गुटखा है।

कालाबाजारी करने वालों पर NSA लगाएगी राज्य सरकार- मुख्यमंत्री

0

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के रोकथाम और उपाय के लिए कलेक्टर्स की बैठक ली और चर्चा की।

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने जिला कलेक्टर को निर्देश दिए की वो अपने जिले के प्रत्येक नगर,गांव,मोहल्ला और कस्बा के निवासियों से चर्चा करके विश्वास में लेकर 30 अप्रैल तक घर से ना निकलने की अपील करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कलेक्टर किस बात की सुनिश्चित करें कि लोग घरों से अनावश्यक बाहर ना निकले अगर कोई बहुत जरूरी काम है या कुछ सामान लेने जाना है तो समान लेकर तुरंत अपने घर वापस आ जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण की चैन तोड़ना अत्यंत आवश्यक है इसलिए कलेक्टर इस को अच्छे से समझ लें कि उनके जिलों में 24 घंटे में रिपोर्ट मिल जाए। साथ ही ऐसे व्यक्ति जिन्होंने जांच हेतु सैंपल दिया हुआ है वो रिपोर्ट आने तक घर से बाहर न निकल पाए इस पर भी कलेक्टर ध्यान दें।

मुख्यमंत्री ने बैठक के दौरान कलेक्टर्स को कालाबाजारी करने वालों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून(NSA) पर कार्यवाही करने की बात कही है।

आपको बता दें इसके पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी राज्य में ऑक्सीजन,बेड,इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वालों पर NSA के तहत मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए है।