Home Tags Rahul gandhi

Tag: Rahul gandhi

कांग्रेस का बड़ा एलान, 2019 में सरकार बनी तो देश के सभी किसानों का कर्जा होगा माफ

0

कांग्रेस पार्टी ने गुरुवार को लोकसभा चुनाव को लेकर बड़ा एलान करते हुए कहा कि अगर कांग्रेस पार्टी 2019 में जीत दर्ज करके सरकार बनाती है तो देश के सभी किसानों का सारा कर्जा माफ करने का काम करेगी। यह एलान उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष राज बब्बर ने उत्तर प्रदेश कांग्रेस के पिछड़ा वर्ग विभाग का सम्मेलन में किया। इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने कहा, प्रदेश का किसान, कारीगर और बुनकर समाज कांग्रेस के झंडे के साथ आ रहा है। खुद को पिछड़े वर्ग का बताने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओबीसी समाज को केवल ठगा है। उनकी समस्याओं का कोई समाधान नहीं किया है।

राज बब्बर ने आगे कहा कि अभी जहां कांग्रेस की सरकारें हैं, उन राज्यों में किसानों का कर्जा माफ किया गया है। कांग्रेस यह वादा करती है कि 2019 में जब कांग्रेस की सरकार बनेगी तो फिर एक बार पूरे देश के किसानों का कर्जा माफ किया जाएगा।

वहीं इस मौके पर पिछड़ा वर्ग विभाग के राष्ट्रीय को-ऑर्डिनेटर और प्रदेश प्रभारी अनिल सैनी ने कहा कि पिछड़ा वर्ग की आबादी प्रदेश में 54 प्रतिशत से ज्यादा है, लेकिन उन्हें शासन-सत्ता और प्रशासन में उनकी आबादी के आधार पर प्रतिनिधित्व नहीं मिलता है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पिछड़े वर्ग के समाज पर भरोसा जताया है और आश्वस्त किया है कि पदाधिकारियों की नियुक्ति और टिकट वितरण पर पिछड़ा वर्ग का पूरा ख्याल रखा जाएगा। कांग्रेस लोकसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र तैयार कर रही है। इसमें पिछड़ा वर्ग के लिए काफी कुछ होगा।

एसपी छोड़ कांग्रेस में हुए शामिल


कांग्रेस पिछड़ा वर्ग के नेता एकेश लोधी ने इस दौरान कई नेताओं की जॉइनिंग कराई। एसपी छोड़कर कांग्रेस में आने वालों में प्रवेश राजपूत, प्रभुदयाल कठेरिया, विनोद राजपूत, योगेश राजपूत, ओंकार सिंह, प्रमोद महाजन, योगेश प्रताप सिंह, केशव सिंह, जसराम सिंह समेत अन्य लोग थे।

जब अफ्गानी सांसद ने राते हुए राहुल गांधी से बोला, हमारे देश में बहस बंदूक से होती है।

0

राहुल गांधी ने बुधवार को अपने फेसबुक पोज पर अफगानिस्तान सांसद से हुई मुलाकात के बारे में बताया। राहुल ने लिखा कि एक दिन उन्होंने संसद की विजिटर गैलेरी में अफगानिस्तान के कुछ सांसदों को बैठे देखा। उन्होंने सोचा कि ये सांसद विदेश से आए हैं और हम लोग शोर-शराबा कर रहे हैं।

संसद का कार्यक्रम देखने के बाद वह मेरे कार्यालय में आए। मैंने खेद जताया कि वे लोग हंगामे के कारण संसद में अच्छी चर्चा नहीं देख पाए। इस पर एक अफगान सांसद रोने लगी, तो वह हैरान थे। उन्होंने पूछा क्या हुआ, तो सांसद ने कहा कि उनके देश में बहस बंदूक से होती है।

जिसके बाद राहुल ने लिखा कि लोकतंत्र ही हमारी सबसे बड़ी ताकत है और हमें हर कीमत पर इसकी रक्षा करनी होगी।

दि ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर पर सियासत तेज, इन मशहूर हस्तियों ने तोड़ी चुप्पी

0

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार संजय बारू की किताब पर आधारित अनुपम खेर की फिल्म द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर पर सियासत खत्म होने का नाम नही ले रही है। फिल्म के ट्रेलर रिलीज होते ही इस विवाद की शुरुआत हुई जब भारतीय जनता पार्टी ने इसे अपने ऑफिशियल ट्रिटर हैंडल से शेयर किया। वहीं विवाद बढ़ते ही भाजपा-कांग्रेस के साथ कई मशहूर हस्तियां अब इस विवाद में कूद पड़ी है। फिल्म 11 जनवरी को रिलीज होनी है और लगता है कि उसके पहले सह विवाद थमने वाला नही है। कांग्रेस इस फिल्म को भाजपा की साजिश बता रही है तो भारतीय जनता पार्टी का कहना है कि यह फिल्म डॅा मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार संजय बारू की किताब पर आधारित है, जब इस किताब पर उस समय विवाद नही हुआ तो अब क्यों?

आईए देखते है फिल्म पर अभी तक आई प्रमुख बयान

सुरजीत सिंह कोहली( मनमोहन सिंह के भाई )-

दुनिया मनमोहन सिंह की क्षमता को जानती है और कांग्रेस सरकार में उनके 10 साल के कार्यकाल में उनके काम को देखा है। मैं हैरान हूं कि कैसे कोई उनकी छवि खराब करने के बारे में सोच सकता है, इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता। यह विपक्ष का प्लान है कि लोकसभा चुनाव से पहले डॉक्टर सिंह को खराब नजरिए से पेश किया जाए। बीजेपी ने पीएम रहते हुए भी उनके स्वतंत्र अधिकारों को लेकर छवि खराब करने की कोशिश की थी। जब उन्हें कांग्रेस के खिलाफ कुछ नहीं मिला तो उन्होंने 2019 में सत्ता में आने के बाद डॉ साहब की छवि खराब करने की कोशिश की।

दलजीत सिंह कोहली(भाजपा में शामिल मनमोहन सिंह के भाई)-

देश के लिए उनकी सत्यनिष्ठा या उनके काम को लेकर कोई सवाल या शक किया ही नहीं जा सकता।

एच डी देवगौड़ा (पूर्व प्रधानमंत्री)-

‘मैं नहीं जानता किसने इसकी इजाजत दी और क्यों? सच कहूं तो मैं इस तथाकथित ‘एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के बारे में नहीं जानता, बल्कि मुझे लगता है कि मैं भी ’एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ हूं’

अनुपम खेर (अभिनेता)-

केन्द्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड फिल्म को देख चुकी है और अब रिलीज से पहले किसी को देखने का हक नहीं, फिर भी मैं कहता हूं कि अगर डॉ. मनमोहन सिंह जी फिल्म को रिलीज होने से पहले देखना चाहेंगे तो हम सिर्फ उनके लिए ही इस बात पर तैयार हो सकते हैं।

कैप्टन अमरिंदर सिंह(पंजाब के मुख्यमंत्री)-

भाजपा ने जिस प्रकार फिल्म के ट्रेलर का उपयोग अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कर रही है और इसे भाजपा के नेता प्रचारित कर रहे हैं, इससे उनकी निराशा साफ झलकती है। भाजपा ने जनसमर्थन खो दिया है। यही कारण है कि वह अब इस तरह की सस्ती राजनीति पर उतर आई है। डॉ. सिंह के कटु आलोचक भी कभी ऐसी गलती नहीं कर सकते थे, जैसे भाजपा कर रही है।

अहमद पटेल( वरिष्ट कांग्रेस नेता)-

यह तिकड़मबाजी से ज्यादा कुछ नहीं है। भाजपा के पास बहुत पैसा है और वह इस बात में व्यस्त है कि इसका दुरुपयोग कैसे किया जाए। वह जो करना चाहते हैं उन्हें करने दीजिए। ऐसी फिल्में आती-जाती रहती हैं, हम इस पर टिप्पणी नहीं करना चाहते।’

जितने पैसे प्रधानमंत्री ने अपने दोस्तों के माफ किए उतने में बनते 40 एम्स अस्पताल : राहुल गांधी

0
राहुल गांधी की फाइल फोटो

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दोस्तों के 41 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा माफ कर दिए, इतने पैसों में गरीबों के लिए काफी काम हो सकते थे। तुकबंदी करते हुए राहुल ने लिखा, ’’चौकीदार का भेष, चोरों का काम, बैंकों के 41,167 करोड़, सौंपे जिगरी दोस्तों के नाम।’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने लिखा कि इतने रुपये में मनरेगा के एक साल का खर्च निकल जाता, तीन राज्यों के किसानों का कर्ज माफ हो जाता, देश में 40 नए एम्स अस्पताल खुल जाते।

दरअसल राहुल गांधी पिछले कई समय से प्रधानमंत्री मोदी पर कुछ चुनिंदा द्योगपतियों का कर्ज माफ करने का आरोप लगा रहे हैं। वहीं तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज करने बाद कांग्रेस ने तीनों राज्यों में किसानों का कर्ज माफ कर दिया है। जिसके बाद भाजपा दबाव में आ गई है।

जंबूरी मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे कमलनाथ, तैयारियां तेज

0
madhya pradesh congress chief kamalnath
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ कल प्रदेश के 18वे मुख्यमंत्री के तौर पर जंबूरी मैदान में शपथ लेंगे। जिसको लेकर प्रदेश प्रशासन की तैयारियां जोरों पर चल रही है। इस भव्य समारोह में बड़ी तादाद में लोगों के आने की संभावनाएं है। जिसके लिए सरकारी प्रेस में लगभग 2000 से ज्यादा कार्ड छापे जा रहे है। कमलनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में कई बड़ी हस्तियां शामिल होंगी। कमलनाथ स्वयं विशिष्ट अतिथियों को आने का न्यौता दे रहे हैं। बताया जा रहा है कि समारोह में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी, बसपा प्रमुख मायावती, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का नाम फाइनल हो चुका है। तो वहीं समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी संपर्क किया जा रहा है। पार्टी इस कार्यक्रम के जरिए कार्यकर्ताओं को बदलाव का संदेश देना चाहती है। 15 साल बाद सत्ता में हो रही वापसी के मद्देनजर शासन को उम्मीद है कि बड़ी संख्या में सोमवार को कार्यकर्ता भोपाल आएंगे।

सोनिया गाँधी भी होंगी शामिल, पचौरी बोले यह ‘सौभाग्य की बात’

कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह को लेकर अन्य दलों के नेताओं के साथ-साथ अब यूपीऐ अध्यक्ष सोनिया गाँधी भी शामिल होंगी। कमलनाथ के विशेष आमंत्रण पर आ रही सोनिया गाँधी के साथ ही प्रियंका गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस कई वरिष्ठ कांग्रेस नेता भी भोपाल आ रहे है। सोनिया गांधी के शपथ ग्राह समारोह में पहुंचने को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी ने कहा कि सोनिया गांधी का आना हमारे लिए सौभाग्य की बात। पचौरी ने कहा कि कमलनाथ एक बेहतरीन मुख्यमंत्री साबित होंगे।

एसपीजी, अधिकारीयों और कांग्रेस नेता ले रहे जायजा

राजधानी में कल होने वाले इस भव्य आयोजन को लेकर सुरक्षा तैयारियां भी जारों पर है। दिल्ली से भोपाल पहुंची एसपीजी ने शनिवार को जंबूरी मैदान में सुरक्षा इंतजामों का जायजा लिया। इसके साथ ही स्थानीय अधिकारी और कांग्रेस के नेता भी सुरक्षा इंतजामों का जायजा लेते नजर आए।

फेक न्यूज: किसानों की कर्जमाफी पर यू-टर्न लेते हुए राहुल गाँधी का विडियो वायरल

0

मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भाजपा को हराने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी का एक विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। विडियो में राहुल गाँधी चुनाव जीतने के बाद कर्जमाफी के वादे पर यू-टर्न मारते हुए कह रहे है कि किसानों की समस्या के लिए कर्ज माफ़ी कोई समाधान नही है। इस विडियो को भाजपा समर्थकों के साथ ही आम जनता भी काफी शेयर कर रही है। विडियो शेयर करते हुए लोग कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी पर किसानों को धोका देने का आरोप भी लगा रहे है।

वहीं इस विडियो की पड़ताल करने के बाद पता चला है कि यह फेक विडियो है। दरअसल विडियो के पहले हिस्से में राहुल गाँधी एक चुनावी सभा में 10 दिन के अंदर किसानों का कर्ज माफ़ करने की बात कर रहे है, यह विडियो असली है। राहुल गाँधी ने पाँचों चुनावी राज्यों में किसानों की कर्जमाफी को एक बड़ा चुनावी मुद्दा बनाया था। वहीं विडियो का दूसरा हिस्सा तीनों राज्यों में कांग्रेस की जीत के बाद राहुल गाँधी की प्रेस वार्ता का क्लिप किया हुआ हिस्सा है। दरअसल प्रेस वार्ता में एक पत्रकार के सवाल का जवाब देते हुए राहुल गाँधी ने कहा था कि “मैंने अपने भाषणों में बोला की क़र्ज़ माफ़ी एक सपोर्टिंग स्टेप है। क़र्ज़ माफ़ी सोल्युशन नहीं है। सोल्युशन ज़्यादा काम्प्लेक्स होगा। सोल्युशन किसानों को सपोर्ट करने का होगा, इंफ़्रास्ट्रक्चर बनाने का होगा, टेक्नोलॉजी देने का होगा और सोल्युशन, फ्रैंकली मैं बोलूं, सोल्युशन आसान नहीं है, सोल्युशन चल्लेंजिंग चीज़ है और हम उसको करके दिखाएंगे। बट वो, उसमे, किसानों के साथ हमें काम करना पड़ेगा, देश की जनता के साथ काम करना पड़ेगा, और वो हम करेंगे।”

गौरतलब है कि इस फेक विडियो को सोशल मीडिया पर काफी शेयर किया जा रहा है। भाजपा समर्थक पेजों के साथ ही केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी इस फेक को अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर किया है।

छत्तीसगढ़: भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और राफेल के मुद्दे पर राहुल गाँधी का बीजेपी पर हमला

0
congress president rhaul gandhi during his rally at kabirnagar in chhattisgarh
छत्तीसगढ़ के कबीरधाम में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी

छत्तीसगढ़ के कबीरधाम में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने छत्तीसगढ़ की रमन सरकार और केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. राहुल गाँधी ने इस दौरान भ्रष्टाचार, महंगाई, नोटबंदी, बेरोजगारी और राफेल जैसे मुद्दों पर बीजेपी सरकार पर हमला बोला. देखें राहुल गाँधी द्वारा कबीरधाम में कही गयी मुख्य बातें-

  • जब नरेन्द्र मोदी जी भ्रष्टाचार की बात करते हैं तो जनता के मन में बात आती है कि ये वही आदमी है जो राफेल मामले में 30,000 करोड़ रुपये अपने मित्र अनिल अंबानी की जेब में डाल दिया
  • भ्रष्टाचार शब्द नहीं बोल सकते नरेन्द्र मोदी जी, क्योंकि उनके मुख्यमंत्री भ्रष्ट हैं, मुख्यमंत्री का बेटा भ्रष्ट है, मुख्यमंत्री की पत्नी भ्रष्ट हैं और खुद प्रधानमंत्री भ्रष्ट हैं 
  • छत्तीसगढ़ के युवा 15 साल से रोजगार ढूंढ रहे हैं, बाकी प्रदेशों में जा रहे हैं। छत्तीसगढ़ में सरकारी पोस्ट खाली पड़े हैं, यहां आउटसोर्सिंग लागू है
  • हम आपके पैसे को सरकारी स्कूल और सरकारी अस्पताल में लगाना चाहते हैं। भाजपा के लोग अस्पतालों, कॉलेज, यूनिवर्सिटी को प्राईवेट कर देते हैं
  • सरकारी नौकरी के पद खाली पड़े हुए है और भाजपी सरकार नौकरीयां बाहरी लोगों को दे रही है। कांग्रेस की सरकार आएगी तो सभी खाली पदों को भरेगी और छत्तीसगढ़ के युवाओं को राजगार देगी

मध्यप्रदेश चुनाव : भाजपा-कांग्रेस आज जारी कर सकती है टिकट

0

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर आज भाजपा और कांग्रेस टिकटों का ऐलान कर सकती है। टिकटों को लेकर राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर के नेताओं के बीच दिल्ली में हो रही लगातार बैठकों में ये कयास लगाए जा रहें है कि टिकटों की घोषणा जल्द ही हो सकती हैं। दोनों ही पार्टियों में सीटों को लेकर अंर्तविरोध देखा जा रहा है। मीटिंग के दौरान बड़े नेताओं के भी आपस में भिड़ने की खबरें लगातार बनी हुई हैं।

भाजपा की मीटिंग धर्मेंद्र प्रधान की अध्यक्षता में खत्म हो चुकी है वहीं कांग्रेस की मीटिंग राहुल गांधी के नेतृत्व में फिलहाल अभी भी जारी है। दोनों पार्टियों में सीटों को लेकर पार्टी नेताओं के बीच धमासान को विशेष तौर पर ध्यान दिया जा रहा है। आपको बता दें कि मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को एक चरण में पूरे प्रदेश में चुनाव होने वालें हैं। वहीं 11 दिसंबर को इस चुनाव के परिणाम भी आ जाएंगे।

भाजपा की सीटों को लेकर दिल्ली स्थित धर्मेंद्र प्रधान के घर में बैठकों का सिलसिला आखिर कार  खत्म हो चुका है। जहां राष्ट्रीय स्तर के नेताओं और प्रदेश के नेताओं के बीच लगातार बैंठक हो रही थी, जिसमें प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह, राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय, चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर, प्रभात झा समेत कई बड़े नेताओं के बीच सीटों के मंथन का दौर समाप्त हो चुका है और जल्द ही भाजपा अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर सकती है।

मध्यप्रदेश कांग्रेस पार्टी की फिलहाल मीटिंग अभी जारी है, जहां प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष ज्योर्तिरादित्य सिंधिया मौजूद है। टिकट बटवारे को लेकर दिग्विजय सिंह और सिंधिया बे बीच भिड़ने की भी खबर वायरल हो रही थी। लेकिन बाद में सिंधिया ने इस बात का खंडन करते हुए कहा कि इस प्रकार की कोई भी विवाद हमारे बीच नहीं हुआ है।

Exclusive: दिग्विजय सिंह से झड़प की खबरों का सिंधिया ने किया खंडन

0

मध्यप्रदेश कांग्रेस में गुटबाजी की ख़बरें एक बार फिर सामने आ रही है. कल दिग्विजय सिंह की एक चिट्ठी सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी थी. चिट्ठी में दिग्विजय सिंह ने सोनिया गाँधी से टिकट बटवारे वो लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की थी. हालाँकि दिग्विजय सिंह ने इस चिट्ठी पर सफाई देते हुए इस चिट्ठी को फर्जी करार दे दिया था.

मीडिया में फैली सिंधिया-दिग्विजय में झड़प की खबर

मीडिया आज सुबह-सुबह सुबह खबर आई की देर रात स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में दिग्विजय सिंह और सिंधिया के बीच झड़प हो गयी थी. टिकट बटवारे को लेकर दिग्विजय सिंह और सिंधिया राहुल गाँधी के सामने ही बहस करने लगे. प्रदेश के दोनों दिग्गज नेताओं के बीच हुई इस लड़ाई के कारण राहुल गाँधी भी काफी नजर हो गए है.


सिंधिया ने किसी भी विवाद का किया खंडन

मीडिया में ख़बरें आने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिग्विजय सिंह से किसी भी विवाद का खंडन किया है. सिंधिया के करीबी सू्त्रों के मुताबिक कल रात स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में उनका दिग्विजय सिंह से कोई विवाद नहीं हुआ. 

Update: दिग्विजय सिंह ने भी किया किसी भी तरह के विवाद का खंडन


ज्योतिरादित्य सिंधिया के बाद अब दिग्विजय सिंह ने भी ज्योतिरादित्य सिंधिया से किसी भी तरह के विवाद का खंडन किया है। दिग्विजय सिंह ने अपने ट्विटर अककॉउंट पर लिखा कि “मीडिया में यह गलत खबर चलाई जा रही है कि मेरे और सिंधिये जी के बीच कोई विवाद हुआ है जिसमे राहुल गांधी जी को बीच बचाव करना पड़ा। मध्यप्रदेश कांग्रेस के हम सभी नेता एक है और इस भ्रष्ट भाजपा सरकाकर को मध्यप्रदेश में हारने के लिए प्रतिबद्ध है।


https://twitter.com/digvijaya_28/status/1057991702785351681?s=19

गुलाब सिंह किरार मामला : कांग्रेस ने पल्ला झाड़ किया सिंधिया को आगे

0

व्यापम घोटाले में आरोपी गुलाब सिंह किरार ने मंगलवार को कांग्रेस की सदस्यता ली थी। एक दिन बाद ही किरार की सदस्यता कांग्रेस की समस्या बन गई। दरअसल राहुल गांधी के दो दिवसीय मालवा-निमाड़ दौरे में गुलाब सिंह किरार समेत नरसिंहपुर के तेंदूखेड़ा विधायक संजय शर्मा के अलावा इंदौर क्षेत्र के एक पूर्व विधायक कमलापत आर्य ने कांग्रेस का दामन थामा था, पर बुधवार को कांग्रेस किरार से पल्ला झाड़ते द्खिाई दी। 

गुलाब सिंह किरार का मामला :

गुलाब सिंह किरार पर व्यापम घोटाले में मुख्य आरोपी जगदीश सागर को पैसे देने का आरोप है। दरअसल गुलाब सिंह किरार अपने बेटे शक्ति प्रताप सिंह को एडमिशन दिलाने के लिए जगदीश को पैसे दिए थे। उन पर ग्वालियर के झांसी रोड थाने में मामला दर्ज होने के बाद से वे लंबे समय तक फरार थे। गुलाब सिंह शिवराज के खास थे, जिस कारण शिवराज ने उन्हें राज्य पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का अध्यक्ष और राज्यमंत्री का दर्जा दिया था। लेकिन व्यापमं घोटाले में नाम आने के बाद किरार को पार्टी ने निलंबित कर दिया था।

गुलाब सिंह किरार

कांग्रेस ने झाड़ा पल्ला :

शिवराज सरकार पर खुल कर व्यापम घोटाले का आरोप लगाने के बाद राहुल गांधी ने व्यापम के आरोपी किरार को इंदौर में कांग्रेस की सदस्यता दिलाई, इसके साथ ही किरार और राहुल गांधी की फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। कांग्रेस मीडिया सेल की चेयरमैन शोभा ओझा का कहना है कि ‘किरार सिर्फ सिंधिया से मिलने आए थे। पार्टी में वो शामिल नहीं हैं।’ शोभा ओझा के इस बयान के बाद सिंधिया के लिए ये समस्या का कारण बनती नजर आ रही है।

सोशल मीडिया पर जुड़ें

38,180FansLike
0FollowersFollow
1,256FollowersFollow
1FollowersFollow
1,256FollowersFollow
783FollowersFollow

Recent Posts

708 POSTS0 COMMENTS
143 POSTS0 COMMENTS
47 POSTS0 COMMENTS
1 POSTS0 COMMENTS
0 POSTS0 COMMENTS
0 POSTS0 COMMENTS