Home Tags Priyanka Gandhi

Tag: Priyanka Gandhi

जंबूरी मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे कमलनाथ, तैयारियां तेज

0
madhya pradesh congress chief kamalnath
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ कल प्रदेश के 18वे मुख्यमंत्री के तौर पर जंबूरी मैदान में शपथ लेंगे। जिसको लेकर प्रदेश प्रशासन की तैयारियां जोरों पर चल रही है। इस भव्य समारोह में बड़ी तादाद में लोगों के आने की संभावनाएं है। जिसके लिए सरकारी प्रेस में लगभग 2000 से ज्यादा कार्ड छापे जा रहे है। कमलनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में कई बड़ी हस्तियां शामिल होंगी। कमलनाथ स्वयं विशिष्ट अतिथियों को आने का न्यौता दे रहे हैं। बताया जा रहा है कि समारोह में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी, बसपा प्रमुख मायावती, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का नाम फाइनल हो चुका है। तो वहीं समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी संपर्क किया जा रहा है। पार्टी इस कार्यक्रम के जरिए कार्यकर्ताओं को बदलाव का संदेश देना चाहती है। 15 साल बाद सत्ता में हो रही वापसी के मद्देनजर शासन को उम्मीद है कि बड़ी संख्या में सोमवार को कार्यकर्ता भोपाल आएंगे।

सोनिया गाँधी भी होंगी शामिल, पचौरी बोले यह ‘सौभाग्य की बात’

कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह को लेकर अन्य दलों के नेताओं के साथ-साथ अब यूपीऐ अध्यक्ष सोनिया गाँधी भी शामिल होंगी। कमलनाथ के विशेष आमंत्रण पर आ रही सोनिया गाँधी के साथ ही प्रियंका गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस कई वरिष्ठ कांग्रेस नेता भी भोपाल आ रहे है। सोनिया गांधी के शपथ ग्राह समारोह में पहुंचने को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी ने कहा कि सोनिया गांधी का आना हमारे लिए सौभाग्य की बात। पचौरी ने कहा कि कमलनाथ एक बेहतरीन मुख्यमंत्री साबित होंगे।

एसपीजी, अधिकारीयों और कांग्रेस नेता ले रहे जायजा

राजधानी में कल होने वाले इस भव्य आयोजन को लेकर सुरक्षा तैयारियां भी जारों पर है। दिल्ली से भोपाल पहुंची एसपीजी ने शनिवार को जंबूरी मैदान में सुरक्षा इंतजामों का जायजा लिया। इसके साथ ही स्थानीय अधिकारी और कांग्रेस के नेता भी सुरक्षा इंतजामों का जायजा लेते नजर आए।

जन्मदिन पर जाने प्रियंका गांधी की कुछ ऐसी बातें जो बनाती है उन्हें खास ।

0

देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी के सबसे बड़े सियासी परिवार का एक चेहरा आखिर क्यों नेपथ्य में रहने के बावजूद करिश्माई नजर आता है?
आखिर क्या वजह है कि गाहे-बगाहे इस चेहरे को एक मुकम्मल जिम्मेदारी देने की बात जोर-शोर से उठती है? कांग्रेस के इस करिश्माई चेहरे का नाम प्रियंका गांधी है.
जब कभी कांग्रेस की अपने ही गढ़ में सांस टूटने लगती है तो प्रियंका किसी संजीवनी सी नजर आने लगती हैं.
आज प्रियंका गांधी का जन्मदिन है और हम आपको बता रहे है प्रियंका गांधी की कुछ ऐसी बातें जो है बहुत खास।

5दादी इंदिरा की झलक

प्रियंका में कई लोगों को दादी इंदिरा दिखाई देती हैं. प्रियंका अपनी सहज मुस्कुराहट और आत्मीयता से लोगों को अपनी तरफ खींचती है. अपनी स्वाभाविक संवाद शैली की वजह से वह अपनों के बीच इंदिरा की मानिंद नजर आती हैं.

Back

गुजरात चुनाव के बाद इस बड़े मुद्दे पर पूरे देश में आंदोलन करेगी कांग्रेस !

0

राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष बन गए है। 18 दिसंबर को गुजरात चुनाव के परिणाम आने है। परिणाम चाहे जो भी हो लेकिन राहुल गांधी ने जिस तरह से गुजरात चुनाव लड़ा उससे कांग्रेस कार्यकर्ताओं में एक नई ऊर्जा जरूर आ गयी है। कांग्रेस के सभी नेता राहुल गांधी के नेतृत्व में एक नई लड़ाई लड़ने के लिए तैयार हो चुके है। कांग्रेस भी इस ऊर्जा को कायम रखना चाहती है और आगे की रणनीति पर काम शुरू कर चुकी है। 
महिला आरक्षण के मुद्दे पर पूरे देश में करेगी आंदोलन
गुजरात चुनाव के परिणाम आने के बाद कांग्रेस लोकसभा और विधानसभा में महिलाओं के लिए 33% आरक्षण के मुद्दे को लेकर पूरे देश में आंदोलन करने की तैयारी कर रही है। महिला कांग्रेस द्वारा आयोजित एक दिवसीय कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने यह रणनीति तैयार की है।

हिमाचल महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुशीला नेगी के अनुसार पार्टी ने पंचायती राज संस्थानों तथा नगर निकायों में महिलाओं को अधिक से अधिक आरक्षण दिलवाया है। इसके चलते आज महिलाएं समाज में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर देश की तरक्की में अपना हाथ बंटा रही है।

महिला आरक्षण बिल पर कोई अगर-मगर नही चलेगा: राहुल गांधी
कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी दो टूक कहा कि महिला आरक्षण के मुद्दे पर कोई अगर-मगर नही चलेगा। जिस तरह हमने जीएसटी के मुद्दे पर सरकार पर दबाव बनाया था उससे भी ज्यादा दबाव हम महिला आरक्षण बिल के मुद्दे पर बनाएंगे।
महिला कांग्रेस के इस कार्यक्रम में भारतीय महिला कांग्रेस की अध्यक्षा सुष्मिता देवी के साथ-साथ पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार, कांग्रेस नेत्री गीरीजा ब्यास व प्रियंका चतुर्वेदी सहित हिमाचल से प्रभा वर्मा, संतोष शर्मा, मीना कश्यप, रीता गुलेरिया, सुमन चौधरी, सरोज नेगी, शकुंतला पांटा, शशि बहल व विद्या नेगी शामिल रहीं। 

यूपी चुनाव के बाद बोले कांग्रेस महासचिव, प्रियंका गांधी के लिए रास्ता खाली करें राहुल !

0

Newbuzzindia : ​उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव 2017 के नतीजे में कांग्रेस को मिली हार के बाद पार्टी के खराब प्रदर्शन का ठीकरा पार्टी उपाध्यक्ष राहलु गांधी पर फोड़ा जा रहा है। कांग्रेस पार्टी के महामंत्री और महासचिव उमेश पंडित ने यूपी में कांग्रेस की हार के लिए राहुल गांधी को जिम्मेदार ठहराया है। खबरों के मुताबिक, उमेश पंडित ने कहा, ‘राहुल गांधी यूपी की हार के लिए जिम्मेदार हैं, उन्होंने यह भी कहा कि प्रशांत किशोर को बीजेपी ने प्लांट करके कांग्रेस में भेजा था।’ 

उमेश पंडित ने राहुल गांधी की टीम पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी की टीम जो लोग हैं वह सही नहीं हैं। उस टीम पर सही फीडबैक ना देने का भी आरोप लगाया गया। उमेश पंडित ने कहा कि या तो राहुल गांधी अपनी टीम बदलें, या खुद को बदलें या फिर कांग्रेस के बाकी लोगों और प्रियंका गांधी के लिए रास्ता खाली कर दें।

उमेश पंडित पहले भी चर्चा में रहे चुके हैं। उन्होंने विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी नेता वरुण गांधी को कांग्रेस में शामिल करने की बात कही थी। तब उमेश पंडित ने कहा था कि वरुण गांधी को बीजेपी में सम्मान नहीं मिल रहा इसलिए उन्हें कांग्रेस में लाया जाना चाहिए। इसके अलावा चुनावी पोस्टर्स में प्रियंका गांधी को इंदिरा का रूप भी बता चुके हैं।

ख़त्म हुआ इंतजार, अब एक मंच से मोदी पर हमला  बोलेंगी डिंपल यादव और प्रियंका गांधी !

0

Newbuzzindia : ​उत्तर प्रदेश विधानसभा के चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कड़ा जवाब देने के लिए कांग्रेस की स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी वाड्रा अब रायबरेली की सभा के बाद समाजवादी पार्टी की नेता और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव के साथ मिलकर चुनाव प्रचार को गति देने के लिए संयुक्त सभा करने की योजना बना रही हैं। उतर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ लखनऊ में जिस तरह दो बार संयुक्त प्रेस कान्फ्रेंस किया था उसी तरह कांग्रेस प्रियंका और डिंपल को एक साथ मंच पर उतारना चाहती है ताकि जनता को अधिक से अधिक आकर्षित किया जा सके।
प्रियंका और डिंपल कर सकती हैं संयुक्त रैली

कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि राहुल और अखिलेश की संयुक्त प्रेस कांफ्रेस का दोनों दलों को बहुत फायदा मिला था इसी तरह पार्टी चाहती है कि इन दोनों महिलाओं को उतार कर गठबंधन को मजबूत बनाया जाए। दोनोंं महिला नेताएं अपनी सभा में भीड़ को आकर्षित कर रही हैं। सूत्रों का कहना है कि आजमगढ़ एवं पूर्वांचल के इलाके में प्रियंका और डिंपल संयुक्त रैली कर सकती हैं। रायबरेली में प्रियंका ने जिस तरह मोदी पर निशाना साधा है उस से पता चलता है कि प्रियंका इस गठबंधन को और आक्रामक बना कर जनता को अपनी ओर आकर्षित कर सकती हैं।
प्रियंका का जादू अभी भी बरकरार

आज उत्तर प्रदेश के तीसरे चरण का मतदान होने के बाद यह गठबंधन चौथे चरण पर आपना ध्यान केन्द्रित कर रहा है। राज्य में सात चरण में मतदान होना है और अभी केवल दो चरण ही हो पाए हैं। सूत्रों का कहना है कि महिला नेता के चुनाव प्रचार में उतरने से मतदाता उनकी बातों को ध्यान से सुनते हैं। भाजपा के साथ हेमामालिनी और उमा भारती स्टार प्रचारक हैं लेकिन वे उतने प्रभाव शाली वक्ता नहीं हैं, इसलिए डिंपल और प्रियंका उन पर भरी पड़ती हैं। डिंपल भी जहां जहां प्रचार कर रही हैं जनता उनकी बात सुनने के लिए आ रही है, प्रियंका का जादू तो अभी भी बरकरार है ही। उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख राजबब्बर कह चुके हैं कि प्रियंका 150 सीटों के लिए चुनाव प्रचार कर सकती हैं।

प्रियंका गांधी से मिले अखिलेश यादव , साथ चुनाव लड़कर उत्तरप्रदेश जीतेंगे सपा और कांग्रेस !

0

Newbuzzindia : सपा में चल रहे घमासान के बीच अखिलेश यादव ने प्रियंका गांधी से मुलाकात की है । मुलाकात में कांग्रेस और सपा के बीच गठबंधन पर बात की गई ।गठबंधन की राह में रोड़ा बनाने वाली ताकतें कमजोर हो गई हैं। राज्य में चुनाव की घोषणा के तत्काल बाद चुनावी समझौते का ऐलान हो सकता है।
सपा और कांग्रेस के बीच बनने से पहले ही बिखरने की आशंका में डूब रहे चुनावी गठबंधन को अखिलेश की मजबूती का सहारा मिल गया है। अखिलेश यादव को सियासी मजबूती मिली तो गठबंधन के सहयोगियों के बांछें खिल गई हैं। लेकिन फिलहाल कोई भी दल खुलकर कुछ बोलने से बच रहा है। लेकिन माना जा रहा है कि चुनाव की घोषणा के साथ ही राज्य में चुनावी गठबंधन की कवायद तेज हो जाएगी। उसी समय इसकी घोषणा हो सकती है।

समाजवादी पार्टी के नेता व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चुनावी गठबंधन के बयान के बाद राजनीतिक अटकलों का बाजार गरमा गया था। लेकिन गठबंधन के आकार लेने के पहले ही सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने यह कहकर हवा निकाल दी कि समाजवादी पार्टी अकेले दम पर चुनाव लड़ेगी। उसका किसी दल से कोई समझौता नहीं होगा। इसके बावजूद कांग्रेस समेत अन्य छोटे दलों को अखिलेश यादव पर गठबंधन के बनाये जाने पर पूरा भरोसा था।

पिछले एक पखवारे से समाजवादी पार्टी के भीतर मचे घमासान को लेकर गठबंधन की संभावनाएं क्षीण होने लगी थीं। लेकिन सपा की कलह अपने चरम पर पहुंच गई और पार्टी की कमान अखिलेश यादव के हाथों में पहुंच गई है। मुलायम सिंह यादव को नये राष्ट्रीय अधिवेशन का आयोजन कर हाशिये पर डाल दिया गया है। इसके बाद अखिलेश यादव अपने मनमाफिक फैसला लेने को स्वतंत्र हो गये हैं। इससे संभावित गठबंधन के सहयोगी दलों को पूरी उम्मीद बंध गई है।

सपा के साथ कांग्रेस और राष्ट्रीय लोकदल के समझौते की उम्मीद को बल मिला है। इन दलों के एक साथ आ जाने से राज्य में मुस्लिम मतों के बीच होने वाले बिखराव को रोका जा सकता है। सपा के दोफाड़ होने के बाद कांग्रेस के नेता गठबंधन को खारिज नहीं कर रहे हैं। कांग्रेस की ओर से कहा गया है कि उनकी पार्टी प्रदेश की सभी 403 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयार है। हालांकि केंद्रीय नेतृत्व के स्तर पर अभी दोनों ओर से कोई वार्ता नहीं हो पाई है।

सपा की ओर से पिछले सप्ताह लगभग चार सौ सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नाम की घोषणा के बाद कांग्रेस गठबंधन न होने की संभावना से निराश जरूर थी। लेकिन समाजवादी पार्टी के भीतर की कलह के निर्णायक मोड़ तक पहुंचने से उसके गठबंधन के हितैषियों के चेहरे खिल गये हैं। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के लगातार संपर्क में रहते हैं। उनकी मानें तो सपा और कांग्रेस के बीच चुनावी समझौता होना लगभग तय है। इसमें कहीं कोई विवाद नहीं है। उन्हें पूरी उम्मीद है कि राज्य विधानसभा चुनाव में भाजपा को चुनौती के लिए गठबंधन पूरी ताकत से उतरेगा।

इंदिरा गांधी जिताएंगी कांग्रेस को शहडोल चुनाव !

0

Newbuzzindia : सुनने में आपको अजीब जरूर लग रहा होगा । आप सोच रहे होंगे की स्वर्गवासी इंदिरा गांधी कांग्रेस को शहडोल उपचुनाव कैसे जितवाएंगी । यह हम आपको बताते है । दरअसल मध्यप्रदेश की शहडोल सीट पर 19 नवंबर को उपचुनाव होने है । 19 नवंबर को इंदिरा जी का जन्मदिन भी आता है । वहीं 19 नवंबर को कांग्रेस में दूसरी इंदिरा गांधी कहे जाने वाली प्रियंका गांधी की सक्रिय राजनीति में एंट्री होनी है ।

शहडोल लोकसभा सीट से इंदिरा जी और कांग्रेस का एक गहरा नाता रहा है । इंदिरा जी ने अपने शाशनकाल में शहडोल का दौरा करते हुए कांग्रेस नेता कमलनाथ को अपना तीसरा बेटा बताया था । वही कमलनाथ इस समय शहडोल चुनाव में कांग्रेस का प्रचार भी कर रहे है ।  शहडोल जिले में इंदिरा गांधी जी के नाम से गर्ल्स कॉलेज भी मौजूद है ।

इंदिरा जी के जन्मदिन पर सक्रिय राजनीति में उतरेंगी इंदिरा गांधी ।
कांग्रेस नेता शुरू से ही प्रियंका गांधी में इंदिरा जी की छवी देखते है । प्रियंका गांधी के बोलने का तरीका , प्रियंका गांधी की शक्ल सब इंदिरा गांधी से मिलता जुलता है । तभी कांग्रेस में उन्हें दूसरी इंदिरा गांधी कहा जाता है । इंदिरा गांधी के जन्मदिन पर प्रियंका गांधी की एंट्री भी शहडोल चुनाव में कांग्रेस को बढत दिला सकती है ।

कांग्रेस के सभी दिग्गज एकजुट होकर कर रहे है प्रचार ।
इस समय कांग्रेस के सभी दिग्गज नेता शहडोल चुनाव में कांग्रेस का प्रचार कर रहे है । माहौल बनाने के लिए कांग्रेस के दिग्गज नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद कमलनाथ, कांतिलाल भूरिया, मोहन प्रकाश, प्रदेश अध्यक्ष अरूण यादव, राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा समेत कई नेताओं की फौज सड़क पर उतरी।

2014 की मोदी लहर के पहले था कांग्रेस का कब्ज़ा

शहडोल सीट पर अब तक 16 लोकसभा चुनाव में 5 बार बीजेपी और 6 बार कांग्रेस की जीत हुई है । 2014 की मोदी लहर के पहले शहडोल सीट पर कांग्रेस पार्टी का कब्ज़ा था । कांग्रेस पार्टी की राजेश नादिनी सिंह शहडोल से सांसद थीं ।

आज भी ग्रामीण इलाके में इंदिरा जी और कांग्रेस की लोकप्रयिता कम नही हुई है । देखना यह है कि क्या कांग्रेस इंदिरा जी के नाम को शहडोल उपचुनाव में भुना पाती है ।

सपा में चल रहे विवाद का फायदा उठाएगी कांग्रेस , प्रियंका – प्रशांत ने तैयार किया “मास्टर प्लान” ।

0

Newbuzzindia: भारत के सबसे बड़े राजनैतिक पार्टी में चल रहे विवाद ने उत्तरप्रदेश की राजनीती में भूचाल ला दिया है । यही कारण है कि कांग्रेस इस मौके को भुनाना चाहती हैं । कांग्रेस को उत्तरप्रदेश की सत्ता से बाहर हुए 27 साल हो चुके है ।

समाजवादी पार्टी में चल रही अंतर्कलह का फायदा लेने के लिए राहुल गांधी के निर्देश पर प्रशांत किशोर ने अपनी टीम लगा दी है ।  प्रशांत किशोर की टीम यह सुनिश्चित करेगी की कितने पूर्व सांसद,विधायक, और वर्तमान सपा पदाधिकारी,विधायक इस लड़ाई में अपने आप को असहज महसूस कर रहे है ।

प्रशांत किशोर की बनाई इस टीम का काम यह होगा की ऐसे लोगो को पार्टी में शामिल करवाये और फिर इसका फायदा यूपी चुनाव में पार्टी को मिले।

प्रियंका गांधी ने भी इसके लिए कमर कस ली है वो भी इस पूरे घटनाक्रम पर लगातार नज़र रखे हुई है और इसके लिए वो प्रशांत किशोर के संपर्क में भी है।

प्रियंका के आने से कई गुना बढ़ेगी कांग्रेस की ताकत : शीला दीक्षित

0

Newbuzzindia: उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार शीला दीक्षित ने कहा है कि प्रदेश में राहुल गांधी के ‘शक्तिशाली’ अभियान में प्रियंका गांधी के आने से कांग्रेस की ताकत ‘कई गुना’ बढ़ जाएगी और सीमापार सेना की तरफ से किए गए लक्षित हमलों का सियासी लाभ उठाने के बीजेपी के किसी भी तरह के प्रयास को जनता खारिज कर देगी.

उत्तर प्रदेश में अगले साल की शुरूआत में विधानसभा चुनाव होने हैं और इसके मद्देनजर शीला यहां का धुंआधार दौरा कर रही हैं. उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया कि वह उत्तर प्रदेश का सांप्रदायिक रूप से ‘ध्रुवीकरण’ की कोशिश कर रही है और ऐसा करने के लिए समान नागरिक संहिता के विवादास्पद मुद्दे को हवा दे रही है.

78 साल की शीला ने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी किसान यात्रा के जरिए पार्टी कार्यकर्ताओं का हौसला बखूबी बढ़ाया है और अगर प्रियंका सक्रिय भागीदारी करने का फैसला लेती हैं तो यह पार्टी के लिए चमत्कार जैसा काम करेगा.

सियासी रूप से महत्वपूर्ण इस राज्य की सत्ता से पार्टी बीते 27 साल से बाहर है. कांग्रेस की तैयारियों के बारे में उन्होंने कहा कि पार्टी चुनाव के लिए क्षेत्र विशेष के घोषणा पत्र लाने पर विचार कर रही है क्योंकि हर इलाके की अपनी समस्या होती है. उन्होंने कहा कि इस बात के स्पष्ट संकेत हैं कि राज्यभर में पार्टी फिर से खड़ी हो रही है.

उन्होंने दावा किया कि चुनाव में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलेगा हालांकि अगली सरकार बनाने में कांग्रेस महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी. उन्होंने संकेत दिए कि चुनाव के बाद पार्टी को बसपा या सपा के साथ गठबंधन बनाने में कोई आपत्ति नहीं है.

उत्तरप्रदेश में कांग्रेस की जीत के लिए 19 नवंबर से मैदान में उतरेंगी प्रियंका गांधी..!

0

Newbuzzindia: यूपी में 26 दिन तक किसानों और नौजवानों के बीच जाकर अपनी नीतियों का बखान वाले राहुल गाँधी के बाद कोंग्रेस अब इस स्टार प्रचारक को मैदान में उतारने जा रही है ।

आपको बता दें कि कांग्रेस का यह चेहरा होगा प्रियंका गाँधी वाड्रा का जो 19 नवंबर से यूपी में अपने चुनावी दौरे की शुरुआत करेंगी. कहा जा रहा है कि राहुल ने जिस तरह से किसानों से संवाद कर उनकी समस्याएं जान प्रयास किया. उसी तरह से प्रियंका भी कई सभाएं और रोड शो करके यूपी को आकर्षित करने की कोशिश करेंगी.

जानकारी के मुताबिक लगातार पार्टी के वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ताओं की मांग को देखते हुए प्रियंका गांधी को चुनाव प्रचार का जिम्मा दिया जा रहा हैं. पार्टी नेताओं नेताओं का यह कहना है कि अगर यूपी में होने वाले 2016 विधानसभा चुनाव में राहुल गांधी के साथ-साथ प्रियंका गांधी को भी मैदान में उतार दिया जाए तो इसका चुनावी माहौल पर व्यापक असर पड़ेगा। 

इस मामले में जिलाध्यक्ष विनय प्रधान और जिला प्रवक्ता अभिमन्यु त्यागी बताया कि पार्टी के आला नेताओं के फैसले के तहत प्रियंका गांधी महीने से यूपी में सभा और रोड शो करना शुरू कर देंगी.

सोशल मीडिया पर जुड़ें

38,180FansLike
0FollowersFollow
1,256FollowersFollow
1FollowersFollow
1,256FollowersFollow
783FollowersFollow

Recent Posts

708 POSTS0 COMMENTS
143 POSTS0 COMMENTS
47 POSTS0 COMMENTS
1 POSTS0 COMMENTS
0 POSTS0 COMMENTS
0 POSTS0 COMMENTS