Advertisements
Home Tags Narendra modi

Tag: narendra modi

पीएम की प्रेस कॉन्फ्रेंस, खोदा पहाड़ निकली चुहिया : कांग्रेस का पलटवार

0

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा की गई पहली और आखरी प्रेस कॉन्फ्रेंस पर पलटवार करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष रणदीप सिंह सुरजेवाला ने प्रेस वार्ता को संबोधित किया।

वार्ता में राफेल के मुद्दे पर राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह प्रेस कांफ्रेंस कर रहें। मैंने पीएम मोदी से राफेल को लेकर सवाल पूछा था। मैं उन्हें भ्रष्टाचार पर बहस की चुनौती दी थी, लेकिन उन्होंने मुझसे बहस नहीं की।

राफेल के साथ ही 15 लाख के मुद्दे पर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा कि “हमने पीएम मोदी के झूठ को उजागर किया है। हमने बताया कि वह 15 लाख रुपये नहीं दे सकते हैं। 23 तारीख को पता लग जाएगा कि जनता क्या चाहती है। वैसे प्रधानमंत्री मोदी से सवाल क्यों नहीं किया जाता है।”

पीएम की पहली प्रेस वार्ता, खोदा पहाड़-निकली चुहिया: रणदीप सिंह सुरजेवाला
कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी प्रधानमंत्री मोदी की प्रेस वार्ता पर हमला बोलते हुए कहा, “मोदीजी की पहली और आखिरी प्रेसवार्ता, अमित शाह की बैसाखी बना। खोदा पहाड़, निकली चुहिया। 1 घंटे का भाषण, पत्रकारों के चेहरे पर थकान, पत्रकारिता पर बहुत सारा प्रवचन, 1 सवाल नहीं, 1 जबाब नहीं।”

Advertisements

बिहार में बोले प्रधानमंत्री मोदी, एक तरफ वोट भक्ति और दूसरी तरफ देशभक्ति की राजनीति

0

बिहार के अररिया में एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने आज कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश मे आज एक तरफ वोटभक्ति की राजनीति हो रही है तो दूसरी तरफ देशभक्ति की।

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि “याद करिए 26/11 को मुम्बई में जब आतंकी हमला हुए था तब कांग्रेस सरकार ने क्या किया था ? तब देश के वीर जवानों ने पाकिस्तान में घुसकर बदल लेने की इजाजत मांगी थी लेकिन कांग्रेस सरकार ने उन्हें कुछ भी करने के लिए मन कर दिया।

कांग्रेस ने ऐसा इसलिए किया क्यों क्योंकि वो वोटेभक्ति की राजनीति करती है।

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि ” सबको पता था कि आतंकी पाकिस्तान से आए थे लेकिन कांग्रेस ने उन्हें सजा देने की बजाय हिंदुओं को आतंकी बताने पर ध्यान लगाया।

अंबानी का चौकीदार बनकर प्रधानमंत्री मोदी ने देश के चौकीदारों को किया बदनाम: राहुल गांधी

0

बिहार के सुपौल में एक जनसभा को संबोधित करते ह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज प्रधानमंत्री माफी पर जमकर हमला बोला। जनसभा में राहुल ने कहा कि बिहार के युवा पूरे देश मे जाकर बैंक, सरकारी दफ्तरों में चौकीदार का काम करते हैं। जो बिहार से चौकीदार बनकर जाता है वह ईमानदार होता है। अगर कोई बिहार का चौकीदार किसी बैंक में है तो उस बैंक में चोरी नहीं हो सकती।

राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए आगे कहा कि “जो व्यक्ति खुद को देश का चौकीदार कहता है असल में वह अनिल अंबानी का चौकीदार है। बिहार के युवा पूरे देश में देश की रक्षा करते हैं, ईमानदारी से ,धूप-आंधी-तूफान में, आधी रोटी खार, उन सबको एक चौकीदार ने बदनाम किया है।”

चौकीदारों से मोदी संवाद के कवरेज़ को लेकर चैनलों की चतुराई भी देखे चुनाव आयोग: रविश कुमार

0

प्रधानमंत्री मोदी ने रेडियो के ज़रिए चौकीदारों से बात की। कार्यक्रम रेडियो का था मगर उसे टीवी के लिए भी बनाया गया। इसे सभी न्यूज़ चैनलों पर लगातार दिखाया गया। सभी चैनलों पर एक ही कवरेज़ रहा और एक ही एंगल से सारे वीडियो दिखे। किसी चैनल ने अपने दर्शकों को नहीं बताया कि स्क्रीन पर जो वीडियो आ रहा है, वो किसका है। बीजेपी की तरफ से प्रसारित हो रहा है या न्यूज़ एजेंसी ए एन आई की तरफ से। क्या ए एन आई विपक्ष के कार्यक्रम को भी इसी तरह से कवर करता है और चैनल दिखाते हैं?

यही नहीं जो चौकीदार खड़े दिख रहे हैं वो किसकी कंपनी के हैं। उन कंपनियों का क्या बीजेपी से क्या नाता है। एक कंपनी है एस आई एस जिसके संस्थापक आर के सिन्हा हैं, जो भाजपा के राज्य सभा सांसद हैं। क्या चैनलों ने बताया कि विजुअल में जो गार्ड दिख रहे हैं को वो एस आई एस के हैं और इनके संस्थापक बीजेपी के सांसद हैं? चैनलों ने आपको नहीं बताया। क्या चुनाव आयोग को इसकी जांच नहीं करनी चाहिए कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के लिए कहीं एस आई एस के गार्ड को आदेश तो जारी नहीं किया गया। बाकी गार्ड किस कंपनी के थे और क्या उनका संबंध बीजेपी नेताओं से था, दर्शक नहीं जान सका।

एंकर बार बार कहते रहे कि प्रधानमंत्री ने 25 लाख चौकीदारों से संवाद किया। मगर किसी ने नहीं बताया कि वे यह बात किस आधार पर कह रहे हैं। प्रधानमंत्री के संबोधन के दौरान चैनलों के स्क्रीन पर गार्ड दिखाए गए, उनकी कुल संख्या 500 भी नहीं होगी। हर जगह पचीस तीस गार्ड बैठे हुए नज़र आए। तो मीडिया को कहना चाहिए कि यह बीजेपी का दावा है कि 25 लाख चौकीदारों को संबोधित किया गया। हमने अपनी तरफ से संख्या की पुष्टि नहीं की है।

पहला सवाल यही था कि ” सर मेरा एक सवाल था आपसे, हम गांव के गरीब परिवार से आते हैं, इज्जत ही हमारी पूंजी है। कई महीनों की मेहनत से सम्मान और भरोसा जीतते हैं। राजनीति के चलते हुए हमें चोर कहा गया है। हम जहां काम करते हैं, वहां हमें शक की नज़र से देखा रहा है। देश के सारे जवान भी चौकीदार हैं, क्या वे भी चोर हैं। मन बहुत दुखी हो रहा है, इसलिए आपसे ये सवाल की हूं।”

यूपी के फर्रूख़ाबाद की रेणु पीटर ने यह सवाल किया था। सवाल की बनावट से ज़ाहिर होता है कि पूछने वाले को लिख कर दिया गया था। जिसे हम पत्रकारों की भाषा में प्लांट कहते हैं। पिछले दो दिनों से सिक्योरिटी गार्ड अपने कम वेतन, निम्न जीवन स्तर की बात कर रहे है। सरकारी चौकीदार समय से वेतन न मिलने की शिकायत कर रहे हैं। किसी ने अपने मुद्दे की बात नहीं रखी। क्या वाकई ऐसा हो सकता है।

( डिस्क्लेमर: यह लेख पत्रकार रविश कुमार के फेसबुक पेज से साभार लिया गया है. लेख में दिए विचार लेखक के नीजी विचार है )

Video: पुलवामा हमले पर कांग्रेस ने माफी सरकार से पूछे 10 प्रश्न

0

कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आज कांग्रेस दफ्तर में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए मोदी सरकार कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला। प्रेस वार्ता में सुरजेवाला ने सरकार से 10 प्रश्न भी पूछे।

वीडियो में देखें सुरजेवाला की प्रेस वार्ता के प्रमुख अंश

लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी का भाषण लाईवः भाजपा की बुराई करते करते लोग देश की बुराई करने लगते हैं

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय लोकसभा में भाषण देते हुए राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव का जवाब दे रहे हैं। अपने भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि जब एक गरीब ने दिल्ली की सल्तनत को चुनौती दी तो कांग्रेस इसे पचा नहीं पा रही है।

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम लिए बगैर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इनके लिए AD का मतलब आफ्टर डायनेस्टी और BC का मतलब बिफोर कांग्रेस है। प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि दुख होता है कि लोग मोदी और बीजेपी की आलोचना करते-करते लोग देश की बुराई करने लगते हैं।

हमारे लाईव ब्ल़ॉग पर पढ़ें प्रधानमंत्री मोदी का लोकसभा में भाषण और उस से जुड़ी अन्य लाईव अपडेट्स

भवानीपटना से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लाईवः चौकीदार चोर है, नवीन पटनायक रिमोट कंट्रोल है

0

ओडिशा के भवानीपटना में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मैं यहां पर एक नेता के तौर पर नहीं, बल्कि परिवार के सदस्य के रूप में आया हूं। यूपीए की सरकार ने ओडिशा के लिए बेहतर काम किया, ओडिशा के लोगों के हितों की रक्षा की। केंद्र की मोदी सरकार किसान और अदिवासी विरोधी है। किसानों के लिए 17 रुपये प्रतिदिन की राशि का ऐलान कर मोदी सरकार अपना पीठ थपथपा रही ही। मोदी जी उद्योगपति मित्रों को हजारों करोड़ बांट रहे हैं और किसानों को सिर्फ 17 रुपये दे रहे हैं। रैली के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंच से राज्य के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और भारतीय जनता पार्टी, दोनो पर हमला बोला। राहुल ने कहा कि नवीन पटनायक जी और भाजपा आपसे आपकी जमीन छीनना चाहते हैं। कांग्रेस पार्टी, भूपेश बघेल, निरंजन पटनायक जी, ये सभी आदिवासियों की जमीन की रक्षा करेंगे। आपका जो हक है, चाहे वो जीमन हो या फिर आपका जंगल उसे हम दिलाएंगे।

लाईव ब्लाग पर पढ़े राहुल गांधी की भवानीपटना रैली की हर अपडेट

हां, भाजपा ने चुनाव जीतने के लिए मेरा इस्तेमाल कियाः अन्ना हजारे

0

हां, भाजपा ने 2014 में मेरा इस्तेमाल किया। हर कोई जानता है कि लोकपाल के लिए मेरा आंदोलन ही था जिसने भाजपा और आम आदमी पार्टी को सत्ता में पहुंचाया। लेकिन अब मैंने उनसे सब संबंध खत्म कर दिए हैं। 30 जनवरी से अपने गांव रालेगण-सिद्धि में भूख हड़ताल पर बैठे समाजसेवी अन्ना हजारे ने मीडिया को संबोधित करते हुए बात कही। अन्ना हजारे ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार केवल देश के लोगों को गुमराह कर रही है और देश को निरंकुशता की ओर अग्रसर कर रही है। केन्द्र के साथ ही महाराष्ट्र सरकार पर भी हमला बोलते हुए अन्ना ने कहा कि भाजपा की अगुवाई वाली महाराष्ट्र सरकार पिछले चार सालों से झूठ बोल रही थी। यह झूठ कब तक जारी रहेगा? राज्य सरकार का दावा है कि मेरी 90 प्रतिशत मांगें भी गलत हैं। इस सरकार ने देश के लोगों को निराश किया है।

समाजसेवी हजारे ने आगे कहा कि वह लोग जिनको 2011 और 2014 में उनके आंदोलन को लाभ हुआ, अब उन्होने इन मांगों से मुंह मोड़ लिया और पिछले पांच वर्षों में उन्हें लागू करने के लिए कुछ नहीं किया। अन्ना ने भाजपा की तरफ इशारा करते हुए कहा कि वह कहते रहते हैं कि केंद्र और राज्य सरकार के मंत्री आएंगे और मेरे साथ मुद्दों पर चर्चा करेंगे। लेकिन मैं उन्हें मना कर देता हूं क्योंकि इसेसे लोग भ्रमित होंगे। वह लोग पहले खुद निर्णय लें और मुझे लिखित रूप में सब कुछ दें क्योंकि मैने उनके आश्‍वासनों पर विश्‍वास खो दिया है।

मंत्रियों सहित मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री फडणवीस

भूख हड़ताल पर बैठे अन्ना हजारे से मिलने मंगलवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह और रक्षा राज्यमंत्री सुभाष भामरे उनके गांव रालेगन सिद्धी पहुंचे। इससे पहले भी राज्य सरकार के प्रतिनिधियों के साथ अन्ना की बैठक हुई थी। हालांकि, ये दोनो मुलाकातें बेअसर नजर आईं, क्योंकि अन्ना हजारे से साफ तौर पर कहा है कि वे अपनी भूख हड़ताल फिलहाल खत्म करने वाले नहीं हैं। अन्ना के आंदोलन पर राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि केंद्र और राज्य ने हजारे की मांगों पर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है। उनकी मांगों के अनुसार, हमने राज्य में लोकायुक्तों के कार्यान्वयन के लिए एक संयुक्त समिति नियुक्त की है। इसी प्रकार केंद्र ने भी लिखित में अपना आश्‍वासन दिया है। मुझे यकीन है कि वह महाराष्ट्र के लोगों की इच्छा का सम्मान करते हुए वे जल्द से जल्द अनशन खत्म करेंगे।

समर्थन में उतरीं शिवसेना-मनसे

इस बीच हजारे का समर्थन करते हुए शिवसेना ने कहा कि सरकार को एक बुजुर्ग इंसान के जीवन के साथ नहीं खिलवाड़ नहीं करना चाहिए। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने एक बयान में कहा कि उपवास के बजाय, हजारे को भ्रष्टाचार के खिलाफ एक आंदोलन का नेतृत्व करना चाहिए और उनकी पार्टी पूरी ईमानदारी के साथ उनका समर्थन करेगी। उधर, मनसे भी हजारे के समर्थन में उतर आई है। मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने सोमवार को हजारे से मुलाकात भी की। बैठक के बाद राज ने कहा कि हजारे को अपना उपवास खत्म कर देना चाहिए और इसके बजाय भाजपा सरकार को आड़े हाथ लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैंने उनसे कहा कि इन लोगों के लिए अपनी जान जोखिम में न डालें।

यशवंत सिन्हा का मोदी पर निशाना, बोले- भाजपा में कोई नहीं उठा सकता उनके खिलाफ आवाज

0

भाजपा के वरिष्ठ नेता रह चुके पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा इन दिनों खुलकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ बोल रहे हैं। लोकसभा चुनाव से पहले अब विपक्ष के साथ ही भाजपा के अपने नेता भी प्रधानमंत्री मोदी की आलोचना कर रहे है। शत्रुघन सिन्हा, अरुण शौरी, यशवंक सिन्हा के साथ ही अब केंद्र मंत्री नितिन गडकरी के बयान भी अब पार्टी के लिए मुश्किल खडी कर रहे हैं। इसी बाच अब यशवंत सिन्हा ने एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी ने सबको मैनेज करके रखा हुआ है। कोई भी उनके खिलाफ आवाज नहीं उठा सकता। लोकसभा चुनाव 2014 का जिक्र करते हुए सिन्हा ने कहा कि उस समय देश की जनता ने पार्टी को जबरदस्त जनादेश दिया था और वो भाजपा की ऐतिहासिक जीत थी इसमें कोई शक नहीं है लेकिन पीएम मोदी ने लोगों के विश्‍वास के साथ धोखा किया और सब बर्बाद कर दिया।

लालकृष्ण आडवाणी के दौर को याद करते हुए सिन्हा ने कहा कि तब ऐसा कुछ नहीं था। तब सब साथ मिलकर चलते थे। हर कोई पार्टी में अपनी बात रखता था। कई मुद्दों पर चर्चा होती थी और हर खबर पर ध्यान दिया जाता था लेकिन मोदी ने सब बिखेर दिया।

नोटबंदी के मुद्दे पर बोलते हुए सिन्हा ने कहा कि मोदी के इस फैसले से जनता का उनसे मोहभंग हुआ। 1000 के बदले 2000 का नोट लाई, इसमें क्या तर्कसंगत था। छोटे व्यापारियों को नुकसान हुआ लेकिन मोदी ने उनका हाल जानने या समझने तक की कोशिश नहीं की।

बता दें कि सिन्हा भाजपा के बागी नेता बन चुके हैं। हाल ही के दिनों में उन्होंने सपा और बसपा को गठबंधन में कांग्रेस को शामिल करने की सलाह दी थी। उनका कहना था कि अगर मोदी को सत्ता से हटाना है तो उत्तर प्रदेश में तीनों एकसाथ हो जाओ।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दिल्ली में की प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात

0

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज नई दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की है।

सोशल मीडिया पर जुड़ें

38,102FansLike
0FollowersFollow
1,217FollowersFollow
1FollowersFollow
1,256FollowersFollow
794FollowersFollow

ताजा ख़बरें