Wednesday, August 10, 2022
Home Tags Narendra modi

Tag: narendra modi

कश्मीर में हो रही पंडितों की हत्या, सरकार खामोश, विरोध प्रदर्शन के बाद कल से शुरू करेंगे सामूहिक पलायन

0

कश्मीर में चल रही टारगेट किलिंग के कारण वह रह रहे कश्मीरी पंडितों में भय का माहौल है। पिछले कुछ हफ्तों से एक के बाद एक हत्या की वारदात सामने आ रही है। गुरुवार को आतंकियों ने एक हिंदू बैंक मैनेजर को गोलियों से भून दिया। घाटी में इससे पहले भी कई लोगों की टारगेट किलिंग की गई। इन सब घटनाओं से डरे अब कश्मीरी पंडितों ने घाटी से सामूहिक पलायन करने का ऐलान किया है। कल (3 जून) कश्मीरी पंडित घाटी से एक साथ पलायन करेंगे।

इससे पहले कश्मीरी पंडितों ने घाटी में हो रही हत्यों को लेकर आपात बैठक बुलाई। बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। कश्मीरी पंडितों ने घाटी में चल रहे प्रदर्शनों को तत्काल बंद करने का ऐलान किया है। इसके साथ ही कश्मीरी पंडितों ने कश्मीर से पलायन करने का भी ऐलान कर दिया है। उनका कहना है कि अब कश्मीर में रह रहे अल्पसंख्यकों के सामने कोई और विकल्प नहीं बचा है। इसलिए उन्हें पलायन करना होगा। बैठक में सभी लोगों से बनिहाल की नवयुग सुरंग के पास इकट्ठा होने के लिए कहा गया है।

गौरतलब है कि घाटी में रह रहे कश्मीरी पंडित पिछले 22 दिनों से सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। उनका कहना है कि उन्हें घाटी से सुरक्षित निकाला जाए। पिछले कई दिनों से घाटी से टारगेट किलिंग खबरें आ रही हैं। आज ही आतंकियों ने कुलगाम में एक बैंक मैनेजर पर फायरिंग की। इस हमले में बैंक मैनेजर विजय कुमार की मौत हो गई। इससे पहले 31 मई को कुलगाम में आतंकियों ने महिला टीचर रजनीबाला की गोली मारकर हत्या कर दी थी। वहीं 12 मई को जम्मू कश्मीर के बडगाम में आतंकियों ने राजस्व विभाग के एक अधिकारी को गोली मारी। तहसील ऑफिस में घुसकर आतंकियों ने राहुल भट्ट नाम के अधिकारी को निशाना बनाया था। राहुल की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।

महँगाई की मार: मार्च 2022 में महंगाई दर 14.55% पर रहने का अनुमान, मार्च 2021 में थी 7.89%

0

पेट्रोल-डीज़ल, गैस, राशन और सब्जी के दामें में लगी आग के कारण देश में भीषण महंगाई दस्तक दे चुकी है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, मार्च 2022 में थोक महंगाई दर बढ़कर 14.55 फीसदी तक पहुंच चुकी है। जो फरवरी में 13.11 फीसदी और जनवरी में 12.96 फीसदी रही थी।


आलू- प्याज़ की कीमत में भारी तेज़ी

आंकड़ों के मुताबिक आलू की थोक महंगाई दर में तेज उछाल देखने को मिला है। आलू की महंगाई दर 14.78 फीसदी से बढ़कर 24.62 फीसदी पर पहुंच चुकी है। वहीं प्याज की थोक महंगाई -26.37 फीसदी से बढ़कर -9.33 फीसदी हो गई। वहीं अंडे, मांस की थोक महंगाई दर भी 8.14 फीसदी से चढ़कर 9.24 फीसदी हो गई है।

पेट्रोलियम पदार्थ हुए महंगे

बड़ती महंगाई का मुख्य कारण पेट्रोलियम पदार्थों की मंहगाई दर में व्रद्धी को बताया जा रहा है जो बढ़कर 83.56 फीसदी पर पहुंच गई, जबकि फरवरी में यह आंकड़ा 55.17 फीसदी पर था। 


सरकार की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, देश में थोक महंगाई दर पूर्व में जताए गए अनुमान से भी अधिक रही है। 

जनता को महंगाई का एक और झटका, CNG की कीमतों में हुआ इजाफा

0

जनता को महंगाई का एक और झटका लगा है। इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड ने दिल्ली में CNG की कीमत 2.5 रुपए प्रति किलोग्राम बढ़ाकर 66.61 रुपए प्रति किलोग्राम कर दी है। गाजियाबाद, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में CNG की कीमत 69.18 रुपये प्रति किलोग्राम कर दी गई है। गुरुग्राम में कीमत 74.94 रुपये प्रति किलोग्राम की गई है।

फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम

भारतीय तेल कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल के दामों में आज 6 अप्रैल को एक बार फिर इजाफा किया गया है. दोनों ही वाहन ईंधनों की कीमत में 80-80 पैसे प्रति लीटर का इजाफा किया गया है. इसके साथ ही राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 105.41 रुपये प्रति लीटर जबकि डीजल 96.67 रुपये प्रति लीटर पहुंच गया है.

नेहरू संग्रहालय का नाम अब होगा पीएम म्यूजियम, 14 अप्रैल को पीएम मोदी करेंगे उद्धघाटन

0

नई दिल्ली स्थित नेहरू संग्रहालय (नेहरू मेमोरियल म्यूजियम) का नाम अब ‘प्रधानमंत्री संग्रहालय’ होगा। तीन मूर्ति भवन पर बने इस ‘प्रधानमंत्री संग्रहालय’ का उद्घाटन पीएम नरेंद्र मोदी 14 अप्रैल को डॉ बाबासाहेब अंबेडकर के जन्मदिन के मौके पर करेंगे। बता दें कि इस नेहरू मेमोरियल म्यूजियम में अब तक केवल भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू से जुड़ी यादों को संजोया गया था, मगर इसे प्रधानमंत्री संग्रहालय नाम देने के बाद देश के सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों से जुड़ी यादों को अब इस म्यूजियम में जगह दी जाएगी।

प्रधानमंत्री ने मंगलवार को भाजपा के संसदीय दल की बैठक में तीन मूर्ति भवन परिसर में बन रहे पूर्व प्रधानमंत्रियों के संग्रहालय के महत्व को रेखांकित किया और सांसदों से कहा कि यह एनडीए गठबंधन की ही सरकार है, जिसने सभी पूर्व प्रधानमंत्रियों के योगदान का सम्मान किया है। बैठक में प्रधानमंत्री ने सभी सांसदों से सामाजिक न्याय को समर्पित ‘सामाजिक न्याय पखवाड़ा’ के तहत अपने-अपने संसदीय क्षेत्रों में छह अप्रैल से विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करने को कहा। साथ ही उन्होंने पार्टी सांसदों से अनुसूचित जाति व जनजातियों के लिए चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रचार करने को भी कहा।

14 अप्रैल को संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉक्टर भीमराव आंबेडकर की जयंती पर पूर्व प्रधानमंत्रियों के संग्रहालय के उद्घाटन से पहले बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्रियों के संग्रहालय का उल्लेख करते हुए कहा कि भले ही इसमें भाजपा का एक प्रधानमंत्री हो, लेकिन देश के हर एक प्रधानमंत्री का योगदान महत्वपूर्ण है और उसका सम्मान किया जाना चाहिए।

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा, ‘हमारे तो एक ही हैं, बाकी उनके हैं …। वह किसी भी दल के रहे हों, फिर भी हमने पूर्व प्रधानमंत्रियों के योगदान को सम्मान दिया है। हमें दलगत भावना से ऊपर उठकर सभी प्रधानमंत्रियों का सम्मान करना चाहिए। आप सभी को यहां जाना चाहिए।’ बता दें कि भाजपा अक्सर यह आरोप लगाती रही है कि आजादी के बाद अधिकांश समय कांग्रेस ने देश पर शासन किया और वह सिर्फ गांधी-नेहरू परिवार के प्रधानमंत्रियों का ही गुणगान करती रही थी जबकि अन्य के साथ उसका व्यवहार ठीक नहीं रहा।

राहुल का पीएम मोदी पर हमला, बताई पीएम की Daily To Do List

0

कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर महंगाई को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर देश में तेल की बढ़ती कीमतों, गैस के दाम में बढ़ोतरी, बेरोज़गारी, सरकारी कंपनी को बेचने और किसानों के मुद्दों को लेकर प्रधानमंत्री मोदी पर हमला बोला है।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर बताया है कि पीएम मोदी का हर दिन क्या करने का काम रहता है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा” प्रधानमंत्री की Daily To-Do List”

1. पेट्रोल-डीज़ल-गैस का रेट कितना बढ़ाऊँ

2. लोगों की ‘खर्चे पे चर्चा’ कैसे रुकवाऊँ

3. युवा को रोज़गार के खोखले सपने कैसे दिखाऊं

4. आज किस सरकारी कंपनी को बेचूँ

5. किसानों को और लाचार कैसे करूँ

बता दें कि पिछले 9 दिन में बुधवार को 8वीं बार पेट्रोल डीजल के दामों में इजाफा किया गया। चौंकाने वाली बात ये है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट के बावजूद भारत में पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे हैं।

भारत के मशहूर वायरोलॉजिस्ट शाहिद जमील ने कोविड पैनल के चेयरमैन पद से दिया इस्तीफा

0

कोरोना के इस कठिन समय में देश के मशहूर वायरोलॉजिस्ट शाहिद जमील ने वैज्ञानिकों के सलाहकार समूह के फोरम से इस्तीफा दे दिया है। यह फोरम कोरोना वायरस के विभिन्न वैरिएंट का पता लगाने के लिए गठित किया गया था। बताया जा रहा है कि उन्हें SARS-CoV-2 वायरस के जीनोम स्ट्रक्चर की पहचान करने हेतु वैज्ञानिक सलाहकार ग्रुप का प्रमुख बनाया गया था। लेकिन उन्होंने इस पद से इस्तीफा दे दिया।

बता दे कि जमील ने कई हफ्तों पहले कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के सरकार के तौरतरीकों पर सवाल उठाए थे। वहीं कोरोना संकट के बीच डॉ शाहिद जमील को सरकार की ओर से अहम जिम्मेदारी दी गई थी।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जमील ने कहा है कि इसकी वजह बताना उनकी मजबूरी नहीं है। हालांकि मंत्रालय की सचिव रेणु स्वरूप ने इस बारे में कोई प्रतिक्रिया अभी नहीं दी है।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के वैरिएंट B.1.617 को भारत में कोरोना की दूसरी भयानक लहर का सबसे बड़ा जिम्मेदार माना जा रहा है।

RSS प्रमुख मोहन भागवत ने इस परिस्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार और जनता को कहा लापरवाह

0

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुखिया मोहन भागवत ने शनिवार को कोरोना को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना की पहली लहर के बाद जनता के साथ सरकार और प्रशासन लापरवाह हो गए थे । इसी के चलते कोरोना की दूसरी लहर नुकसान की वजह बनी।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मोहन भागवत ने आगे कहा कि कोरोना महामारी मानवता के सामने चुनौती है । हमें गुण-दोष की चर्चा किए बिना एक टीम के रूप में काम करना चाहिए। हम एक टीम के रूप में काम करे और अपने काम को तेज करके इस चुनौती को दूर कर सकते है।

उन्होंने कहा कि हमें पॉजिटिव रहना होगा और मौजूदा परिस्थिति में खुद को कोरोना नेगेटिव रखने के लिए सावधानियां बरतनी होंगी। वर्तमान परिस्थितियों में बेफिजूल बयान देने से भी बचना चाहिए। यह परीक्षा का समय है लेकिन हमें एकजुट रहना होगा और एक टीम की तरह कार्य करना होगा।

कोविड के वर्तमान हालात पर आरएसएस प्रमुख ने आगे कहा कि सफलता और विफलता अंतिम नही है जारी रखने का साहस मायने रखाता है। उन्होंने आगे कहा कि हम इस परिस्थिति का सामना कर रहे है क्योंकि सरकार,प्रशासन और जनता, सभी कोविड की पहली लहर के बाद लापरवाह हो गए थे।

कोरोना की दवा 2डीजी अगले हफ्ते से होगी उपलब्ध

0

देश में कोरोना वायरस का कहर अभी भी जारी है और इस बीच वैक्सीनशन पर अधिक जोर दिया जा रहा है। देश में अभी कोवैक्‍सीन या कोविशील्‍ड वैक्सीन लगाई जा रही है। रूस में निर्मित स्पूतनिक V के टीके भी बाजार में जल्दी ही उपलब्ध हो जाएंगे। इसके अलावा कोरोना की एक और वैक्सीन बाजार में आने वाली है जिससे कोरोना से लोगों को काफी राहत मिल सकती है।

दरअसल रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन के अधिकारियों के कहा कि कोरोना की दवा 2 डीजी की 10,000 खुराक का पहला खेप अगले सप्ताह से बाजार में उपलब्ध हो जाएगा। ये दवा कोरोना के मरीजों को जल्द ठीक करती है और उसके साथ साथ उनकी ऑक्सीजन पर निर्भरता कम करती है।

बता दे कि डीआरडीओ के निर्माताओं ने कहा है कि दवा निर्माता अपने उत्पादन पर तेजी लाने पर काम कर रहे हैं जिससे भविष्य में कोई परेशानी ना हो। आपको बता दें कि इस दवा को डीआरडीओ की एक टीम ने विकसित किया है। संकट के इस समय में वरदान मानी जा रही इस दवा को तैयार करने के पीछे तीन वैज्ञानिकों की मेहनत रही है जिनमे डॉ. सुधीर चांदना, डॉ. अनंत नारायण भट्ट और डॉ. अनिल मिश्रा शामिल है।

2-डीजी (2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज) दवा को ऐसे समय मंजूरी मिली है जब भारत कोरोना वायरस की महामारी की दूसरी लहर से घिरा हुआ है और देश के स्वास्थ्य अवसंरचना पर भारी दबाव है। खास बात यह है कि यह दवा पाउडर के रूप में पैकेट में आती है, इसे पानी में घोलकर पीना होता है।

इस दवा को लेकर रक्षा मंत्रालय ने कहा था कि कोविड-19 की चल रही दूसरी लहर की वजह से बड़ी संख्या में मरीजों को ऑक्सीजन और अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत पड़ रही है। इस दवा से अधिक लोगों के बचने की उम्मीद है क्योंकि यह दवा संक्रमित कोशिकाओं पर काम करती है। यह कोविड-19 मरीजों के अस्पताल में भर्ती रहने की अवधि भी कम करती है।

स्पुतनिक V की पहली खुराक हैदराबाद में आज एक व्यक्ति को लगाई, मार्किट में आने पर होगी इसकी इतनी कीमत

0

कोरोना से जूझ रहे भारत के लिए अच्छी खबर सामने आई है। देश में अब कोवैक्सीन और कोविशील्ड के अलावा अब स्पुतनिक V को लगाने की शुरूआत हो गई है। जानकरी के अनुसार हैदराबाद में आज को स्पुतनिक V की पहली खुराक एक व्यक्ति को लगाई गई है।

बता दें कि भारत में डॉ. रेड्डी लैब ने स्पुतनिक V वैक्सीन की आयात की है। भारत पहुंचने के बाद आज इसकी कीमत भी तय हो गई है। स्पुतनिक V की एक खुराक की कीमत 995.40 रुपये होगी। वहीं अगले सप्ताह से ये वैक्सीन बाजार में भी उपलब्ध होगी।

डॉ. रेड्डी लैब ने कहा कि स्पुतनिक V का निर्माण भारत में होगा और इसलिए उसकी कीमत इतनी रखी गई है। गौरतलब है कि इस साल फरवरी में इस वैक्सीन के ट्रायल परिणामों को दि लांसेट में छापा गया था जिसके बाद इसे सुरक्षित और प्रभावशाली बताया गया है।

अब 12 से 16 हफ़्तों के बीच लगाई जाएगी कोविशील्ड की दूसरी खुराक : NTAGI

0

कोरोना के चलते भारत में लोगों का टीकाकरण हो रहा है। लेकिन कहीं न कहीं टीकाकरण के लिए पर्याप्त वैक्सीन नहीं मिल पा रही है। जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र सरकार ने मोदी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि 12 लाख लोगों को वैक्सीन के दूसरे डोज का इंतजार है। 

बता दे कि सरकार के राष्ट्रीय टीकाकरण तकनीकी सलाहकार समूह(NTAGI) ने कोविशील्ड टीके की दो खुराकों के बीच अंतर बढ़ाकर 12-16 हफ्ते करने की सिफारिश की है और इसे सरकार ने स्वीकार कर लिया है। इसके अनुसार अब कोविशील्ड वैक्सीन की दो खुराक के बीच गैप 6-8 सप्ताह से बढ़ाकर 12-16 सप्ताह किया गया है।

सरकारी परामर्श समिति ने ये भी कहा कि कोविड-19 से पीड़ित रह चुके लोगों को स्वस्थ होने के बाद 6 माह तक वैक्सीन नहीं लगवाना चाहिए।इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को वैक्सीन का हर विकल्प दिया जा सकता है। साथ ही साथ स्तनपान करवाने वाली महिलाएं बच्चे को जन्म देने के बाद किसी भी समय टीका लगवा सकती हैं। 

वहीं दिल्ली सरकार ने बुधवार को कहा था कि उन्हें 100 सेंटर सिर्फ इसलिए बंद करने पड़े क्योंकि उनके पास पर्याप्त टीका नहीं है। इसके साथ ही सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने कहा है कि अगस्त से लगभग 10 करोड़ टीके का उत्पादन शुरू हो जाएगा।