Saturday, June 19, 2021
Home Tags Maharashtra

Tag: Maharashtra

Maharashtra , महाराष्ट्र

मध्यप्रदेश से अब इन राज्यों के लिए परिवहन सेवा स्थगित

0

मध्य प्रदेश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच सरकार ने चार राज्यों के बीच स्थगित की गई परिवहन सेवा की अवधि को एक बार फिर बढ़ा दिया है।

बता दे कि परिवहन विभाग ने आदेश जारी कर मध्यप्रदेश से महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के बीच स्थगित की गई बस परिवहन सेवा की तारीख को आगे बढ़ाते हुए 23 मई कर दिया है।

प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार कमी आ रही है। पिछले 24 घंटे में 7,571 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं। पॉजिटिविटी रेट 10 दिन में 18% से घटकर 11% पर आ गया है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 5 जिले दतिया, भिंड, मुरैना, अशोकनगर और गुना में 50-50 से भी कम केस दर्ज किए गए।

कोरोना का कहर जारी, 24 घंटे में आए रिकॉर्ड 1,68,912 नए मामले

0
Special Coverage of Corona Virus in India by Newbuzzindia
Special Coverage of Corona Virus in India by Newbuzzindia

देश में कोरोना के मामले रिकॉर्ड तेजी से बड़ रहे है। पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 1,68,912 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,35,27,717 हुई। 904 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 1,70,179 हो गई है। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 12,01,009 है और डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 1,21,56,529 है।

रेमडेसिविर के निर्यात पर लगाया प्रतिबंध

कोविड-19 मामलों में हालिया उछाल के मद्देनजर, भारत ने रविवार को स्थिति में सुधार होने तक रेमडेसिविर इंजेक्शन और एक्टिव फार्मास्युटिकल इंग्रीडिएंट्स (एपीआई) के निर्यात पर रोक लगा दी है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि रेमडेसिविर की मांग में अचानक बढ़ोतरी के बाद यह कदम उठाया जा रहा है, जिसका इस्तेमाल कोविड-19 रोगियों के इलाज में किया जाता है।

दिल्ली में हालत नाज़ुक

राजधानी दिल्ली में कोरोना का कहर पूरे जोरों पर है। बीते 24 घंटे की बात करें तो दिल्ली में कोरोना ने 10,000 का आंकड़ा पार कर लिया है, जिसे लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चिंता भी जाहिर की है और नाइट कर्फ्यू के साथ-साथ कुछ और पाबंदियां भी लागू की गई हैं।

महाराष्ट्र में लग सकता है लॉकडाउन

महाराष्ट्र में कोरोना की बेकाबू स्पीड के बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सख्त लॉकडाउन का संकेत दिया है। दो दिन के अंदर वह इसकी घोषणा कर सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक, रविवार को टास्क फोर्स की विशेष बैठक बुलाई गई है। चर्चा है कि कोरोना की चेन तोड़ने के लिए 8 दिन या फिर 15 दिनों का सख्त लॉकडाउन लगाया जा सकता है। हालांकि, इस पर पर आखिरी फैसला रविवार और सोमवार को होने वाली कई बैठकों के बाद ही लिया जाएगा।

मोहन भागवत हुए कोरोना से संक्रमित

0

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rss) प्रमुख(head) मोहन भागवत(mohan bhagwat) कोरोना वायरस(corona virus) से संक्रमित हो गए हैं और उन्हें नागपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि भागवत को कोविड वार्ड में भर्ती किया गया है और उनकी स्थिति स्थिर है। आरएसएस के ही एक सूत्र ने यह बताया कि संघ चीफ के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि की है। बता दें कि देश में पिछले 24 घंटे में 1 लाख 30 हजार से ज्यादा कोविड-19 के नए मरीज मिले हैं।

गौरतलब है कि नागपुर, पुणे और मुंबई जैसे महानगर कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कोरोना पर राज्यों के मुख्यमंत्रीयों से चर्चा की थी और इस महामारी से निपटने के लिए उपाय सुझाए थे।

दिलीप वलसे पाटिल बने महाराष्ट्र के गृह मंत्री

0

अनिल देशमुख की ओर से सोमवार को महाराष्ट्र के गृह मंत्री पद से इस्तीफा दिए जाने के बाद एनसीपी नेता दिलीप वलसे पाटिल को यह जिम्मेदारी दी जा रही है। महाराष्ट्र राज्य सरकार ने यह जानकारी दी।

बता दे कि महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था । मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने बीते दिनों एक चिट्ठी लिख कर अनिल देशमुख पर 100 करोड़ रुपये की वसूली करने का आरोप लगाया था। और इसी के बाद से ही अनिल देशमुख हर किसी के निशाने पर थे।

सोमवार को बॉम्बे हाईकोर्ट ने उनके खिलाफ सीबीआई जांच को मंजूरी दी, तब अनिल देशमुख ने इस्तीफा देने की बात कही थी और उसके बाद उन्होंने अपना इस्तीफा सौपा।

बता दें मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को एक पत्र लिखा था, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख चाहते थे कि पुलिस अधिकारी बार और होटलों से हर महीने 100 करोड़ रुपये की वसूली करके उन्हें पहुंचाएं। इसके साथ ही परमबीर सिंह ने बॉम्बे हाई कोर्ट में एक पीआईएल फाइल की थी, जिसमें उन्होंने अनिल देशमुख पर लगाए आरोपों के लिए सीबीआई जांच की मांग की थी।

भारत में पहली बार आए 1 लाख से ज़्यादा कोरोना के मामले

0

भारत में कोरोना की नई लहर अब पूरी तरह से बेकाबू हो गई है। कोरोना पर पार पाना अब राज्य सरकारों के बस की बात नहीं लग रही है। तमाम कदम उठाने के बावजूद भारत में रविवार को कोरोना के एक लाख से ज़्यादा मामले सामने आए। देश भर में रविवार को कोरोना के 1 लाख 3 हज़ार मामले सामने आए। यह पहली बार किसी एक दिन में सबसे ज़्यादा आया हुआ मामला है।

दिल्ली में रविवार को चार हजार से ज़्यादा मामले सामने आए। देश भर में आए एक लाख नए मामलों में से 57 हज़ार मामले ऐसे थे जो कि केवल महाराष्ट्र से थे। महाराष्ट्र में रविवार को 57,074 लोग कोरोना से संक्रमित हुए।

महाराष्ट्र में रविवार को कोरोना से 222 लोगों की मौत हो गई। वहीं महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के 30 लाख से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। कोरोना का ऐसा रूप लेता देख महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने लॉकडाउन लागू करने का फैसला कर लिया। महाराष्ट्र में सप्ताहांत में शुक्रवार रात 8 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक लॉकडाउन लागू रहेगा।

मुख्यमंत्री शिवराज का बड़ा बयान, कहा महाराष्ट्र के बाद अब छत्तीसगढ़ की भी सीमाओं को किया जाएगा सील

0

मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस बेकाबू हो गया है। संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। लगभग 30 जिलों में कोरोना वायरस के 20 से ज्यादा केस मिले हैं। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि छत्तीसगढ़ से लगी राज्य की सीमाएं सील कर दी गई है। इससे पहले महाराष्ट्र से लगी सीमा पहले ही सील हो चुकी थी।

शिवराज सिंह चौहान ने बढ़ते कोरोनावायरस को लेकर कहा कि जरूरत पड़ी तो उन जगहों पर लॉकडाउन लगाया जाएगा जहां 20 से ज्यादा संक्रमित पाए जाएंगे। सरकार का अनुमान है कि अप्रैल के आखिर तक कोरोना अपने पीक पर पहुंच सकता है। इसे देखते हुए सरकार ने बड़ा फैसला लिया है और कहा कि कोरोना के फीवर क्लिनिक दुबारा बनाये जाएंगे।

प्रदेश में पहला कोरोना संक्रमित 18 मार्च को जबलपुर में मिला था। इसके बाद से यह संख्या हर दिन बढ़ती गई लेकिन वर्ष 2020 में सितंबर से नवंबर का महीना ज्यादा घातक रहा। इस अवधि में एक से दो लाख संक्रमितों की संख्या महज 71 दिन में ही पूरी हो गई थी।

भले ही प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही हो, लेकिन सरकारी बुलेटिन के मुताबिक मौत की संख्या नियंत्रित है। प्रदेश में पहले एक लाख मरीजों पर मौत की संख्या 1901 थी, जबकि दूसरे एक लाख मरीजों पर 1330 लोगों की मौत हुई थी। अब तीसरे एक लाख संक्रमितों के मुकाबले मरने वालों का आंकड़ा 805 है। यानी प्रदेश में मृत्यु दर कम है जबकि संक्रमण दर अधिक है।

दिल्ली के आनंद विहार की तरह मुंबई के बांद्रा पर जुटी हजारों की भीड़

0

30 अप्रैल तक जारी लॉकडाउन के बावजूद महाराष्ट्र में आज शाम बांद्रा स्टेशन पर हजारों प्रवासियों की भीड़ जुट गई। मौके पर जुटे कई लोगों के पास बांद्रा स्टेशन से ट्रेन खुलने का मेसेज आया था। इसके बाद यहां हजारों की भीड़ जुट गई। सभी लोग अपने घर जाने के लिए जुटे थे। कोरोना के खतरे के कारण देशभर में लॉकडाउन लागू है। आज ही पीएम मोदी ने इसे 3 मई तक बढ़ाने का ऐलान किया है। इस बीच मुंबई के बांद्रा में हजारों लोग सड़क पर उतर आए जो प्रवासी मजदूर बताए जा रहे है और घर भेजे जाने की मांग कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने भी दिया था अफवाहों से बचने की सलाह


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार सुबह 10 बजे राष्ट्र के नाम संबोधन किया और देश में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा कर दी। पीएम ने अपने संबोधन में देश की जनता से अफवाहों से बचने की सलाह दी थी। लेकिन मुंबई की घटना ने सबको चौंका दिया है।

सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केस


भारत में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केस महाराष्ट्र से ही आ रहे हैं। ऐसे वक्त में मुंबई में ऐसी भीड़ वहां के सरकार और प्रशासन की नाकामी है। घोषणा के बाद महाराष्ट्र सरकार या फिर प्रशासन उन मजदूरों को आश्वासन नहीं दे पाई जिसकी वजह से हजारों की तादाद में प्रवासी मजदूर वहां एकजुट हो गए।

ओड़िशा और पुंजाब के बाद इस बड़े राज्य ने भी 30 अप्रैल तक बढाया लॉकडाउन

0

ओडिशा और पंजाब की तरज पर अब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी अपने राज्य में लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ाने की घोषणा कर दी है। शनिवार को इसकी घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘महाराष्ट्र में लॉकडाउन 30 अप्रैल तक जारी रहेगा। हम ऐसे मुश्किल हालात में भी देश को रास्ता दिखाने से पीछे नहीं हटेंगे।’

कोरोना वायरस ने पूरे देश में सबसे ज्यादा महाराष्ट्र को प्रभावित किया है। राज्य में कोरोना वायरस के अब तक 1,874 मामले सामने आए हैं और यहां 110 मरीजों की मौत हो चुकी है। अब तक करीब 188 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं।

गौरतलब है की इससे पहले पंजाब और ओड़िशा के मुख्यमंत्री लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ाने का ऐलान कर चुके है। वहीं आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी मुख्यमंत्रियों के साथ हुई विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में पूरे देश में लॉकडाउन को बढ़ाने के संकेत दिए है।

महाराष्ट्र में विधायकों की खरीद फरोख्त रोकने शरद पवार ने तैयार किया मास्टर प्लान

0
Image of ncp chief sharad pawar with congress president sonia gandhi

महाराष्ट्र में शिवसाना और भाजपा का साथ टूटने के बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लग चुका है। वहीं शिवसेना अब कांग्रेस और एनसीपी के साथ गठबंधन में सरकार बनाने के प्रयास में लग गई है। राष्ट्रपति शासन लगने के बाद राज्य में विधायकों की खरीद फरोख्त के कयास लगाए जा रहे है। जिसे रोकने के लिए एनसीपी प्रमुख ने प्लान तैयार किया है।

एनसीपी नेता और पूर्व डिप्टी सीएम अजित पवार ने कहा कि अगर कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना का कोई विधायक टूटा तो तीनों दल मिलकर उस बागी विधायक के खिलाफ जॉईंट उम्मीदवार उतारेंगे। मुझे भरोसा है कि हम तीन दल मिलकर एक उम्मीदवार खड़ा करेंगे तो कोई माई का लाल जीत नहीं सकता।

शिवसेना और भाजपा के रिश्ते खराब होने के बाद से एनसीपी-कांग्रेस नई रणनीति बनाने में जुटी है। मुंबई में कांग्रेस-एनसीपी की प्रेस कांफ्रेंस में शरद पवार ने कहा, “हम महाराष्ट्र में दोबारा चुनाव नहीं चाहते। कांग्रेस से चर्चा पूरी होने के बाद शिवसेना से बात होगी। हमें किसी तरह की जल्दबाजी नहीं है।“

एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल ने कहा, दोनों दलों के वरिष्ठ नेताओं ने मौजूदा हालात पर चर्चा की। शिवसेना ने पहली बार कांग्रेस और एनसीपी के साथ आधिकारिक रूप से संपर्क किया था। इतने महत्वपूर्ण मुद्दे को लेकर सभी बिंदुओं पर स्पष्टता होनी चाहिए। आज इसी संदर्भ में बैठक हुई। इसी मुद्दे पर आगे की नीति तय की जाएगी।

महाराष्ट्र में कांग्रेस के समर्थन के बाद महागठबंधन की सरकार बनना लगभग तय

0

महाराष्ट्र में पूरे दिन बातचीत, बैठक और विचार- विमर्श के दौर के बाद आखिरकार कांग्रेस ने शिवसेना को समर्थन का पत्र दे दिया है। समाचार चैनल एबीपी न्यूज़ के हवाले से यह खबर प्राप्त हुई है।

बता दें कि आज शाम लगभग 5 बजे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी से संपर्क करके सरकार बनाने के लिए समर्थन मांगा था। जिसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष ने महाराष्ट्र कांग्रेस के विधयकों से बातचीत की।

विधायकों से बातचीत करने के बाद कांग्रेस ने शिवसेना को समर्थन पत्र दे दिया है।

बता दें कि शिवसेना को आज शाम 7:30 बजे तक गवर्नर के सामने सरकार बनाने का दावा पेश करना है। वहीं एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने पहले ही साफ कर दिया था कि वह समर्थन देने पर फैसला कांग्रेस प्रमुख से बात करने के बाद लेंगे।

ऐसे में कांग्रेस के समर्थन के बाद महाराष्ट्र में शिवसेना- एनसीपी और कांग्रेस की गठबंधन सरकार बनने का रास्ता साफ हो गया है।