Sunday, September 24, 2023
Home Tags Kamal nath

Tag: kamal nath

कर्नाटक के बाद अब एमपी फतह के लिए जुटी कांग्रेस, पांच गारंटी के साथ मैदान में उतरेंगे कमलनाथ

0

भोपाल। कर्नाटक में कांग्रेस की जीत के बाद मध्यप्रदेश में भी कांग्रेस के हौंसले बुलंद है। कर्नाटक में कांग्रेस ने जिस फॉर्मूले की मदद से बीजेपी को मात दी है अब उसी फॉर्मूले को मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी चुनाव लड़ने जा रही है। विधानसभा चुनाव में जनता से पांच गारंटी के वादे के साथ पार्टी पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ की हनुमान भक्त वाली छवि को जनता के बीच भुनाने की तैयारी में है। कर्नाटक में कांग्रेस की जीत की इबारत लिखने वाले सुनील कानुगोलू अब कर्नाटक चुनाव के बाद मध्यप्रदेश में पूरी तरह सक्रिय होंगे और पूरी चुनावी रणनीति तैयार करेंगे।

बताया जा रहा है कि कर्नाटक में कांग्रेस की प्रचंड जीत के लिए पार्टी के चुनावी घोषणा पत्र में किए गए वादे की बड़ी भूमिका मानी जा रही है। यहीं कारण माना जा रहा है कि कर्नाटक में जीत के बाद राहुल गांधी ने कहा कि चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने जनता से जो 5 प्रमुख वादे किए गए हैं उस सभी वादों पर सरकार बनते ही काम शुरू हो जाएगा।

दरअसल कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पांच गारंटी वादे के साथ चुनावी मैदान में गई थी। कांग्रेस पार्टी ने अपने घोषणापत्र में वादा किया था कि राज्य की परिवार की हर महिला मुखिया को हर महीने 2,000 रुपये भत्ता दिया जाएगा, बेरोजगार स्नातकों को दो साल के लिए 3,000 रुपये प्रति माह और बेरोजगार डिप्लोमा धारकों को 1,500 रुपये हर महीने दिए जाएंगे।

वहीं कांग्रेस ने कर्नाटक के लोगों को गृह ज्योति योजना के माध्यम से 200 यूनिट मुफ्त बिजली देने का ऐलान किया था। अन्नभाग्य योजना के तहत 10 किलो चावल मुफ्त देने के साथ अगले 5 सालों में किसान कल्याण के लिए 1.5 लाख रुपये, फसल नुकसान की भरपाई के लिए 5000 करोड़ रुपये और नारियल किसानों और अन्य के लिए MSP सुनिश्चित करने का भी ऐलान किया था।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में जीत के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि कांग्रेस की जीत जनता की जीत है। हमें आगे बहुत कुछ करना है। हमें वादे निभाने हैं, हमारी 5 गारंटी हम पूरी करेंगे।कर्नाटक में जिस तरह से कांग्रेस ने स्थानीय मुद्दों के उठाकर बीजेपी को करारी मात दी है। अब उसी तर्ज पर अब मध्यप्रदेश में कांग्रेस स्थानीय मुद्दों को जनता के बीच ले जाकर चुनाव लड़ने की तैयारी में है।

जानकारी के अनुसार कर्नाटक में जीत के बाद मध्यप्रदेश में कांग्रेस में चुनाव की रणनीति तैयार करने को लेकर बैठकों का सिलसिला तेज हो गया है। चुनाव में पार्टी के वचन पत्र को अंतिम रूप देने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के निवास पर पार्टी के बड़े नेताओं की बैठक हुई। मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार बनाने पर नारी सम्मान योजना के तहत महिलाओं को 1500 रु देने का वादा करने के साथ 500 में गैस सिंलेंडर का वादा कर रही है।

मध्यप्रदेश में भी कांग्रेस विधानसभा चुनाव में कांग्रेस युवा वोटरों को साधने के लिए रोजगार देने का वादा करने के साथ सत्ता में आने पर बेरोजगारी भत्ता देने का वादा करने जा रही है। पार्टी अपने वचन पत्र में सत्ता आने पर बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने के साथ-साथ दो से ढाई हजार तक बेरोजगारी भत्ता देने का वादा कर सकती है।

एमपी में कांग्रेस किसान वोट बैंक को साधने के लिए कर्जमाफी का वादा करने जा रही है। बताया जा रहा है कि पार्टी किसानों का बिजली बिल आधा करने, किसानों को फसल का उचित मूल्य देना , फसल में नुकसान होने पर उचित मुआवजा देने का वादा भी किया है।

बता दें कि वह कर्नाटक विधानसभा चुनाव में बीजेपी के कट्टर हिंदुत्व के कार्ड और बजरंग दल विवाद को बजरंग बली से जोड़ने के बाद कांग्रेस ने सॉफ्ट हिंदुत्व का कार्ड खेलते हुए सत्ता में आने पर पूरे प्रदेश बजरंग बली के मंदिर बनवाने की घोषणा की थी। ठीक वैसे ही मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी के हिंदुत्व कार्ड को चुनौती देने के लिए कांग्रेस सॉफ्ट हिंदुत्व का कार्ड खेलने की तैयारी में है। चुनाव के लिए अपने वचन पत्र में पार्टी प्रदेश में राम वन गमन पथ का निर्माण करने, समस्त पंचायतों में गौशाला खोलने, नर्मदा परिक्रमा पथ का विकास करने, धार्मिक नगरों को पवित्र घोषित करने का वादा लोगों से करने जा रही हैं।

बीजेपी नेताओं को होगी जेल ! कांग्रेस अपने वचन पत्र में जारी करेगी करप्शन की सूची

0

भोपाल। मध्यप्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियां अपने चरम पर है। दोनों ही मुख्य पार्टियां अपनी-अपनी तैयारियों में जुटी हुई है। इसी बीच एमपी कांग्रेस अपना वचन पत्र तैयार कर रही है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस के वचन पत्र में बीजेपी नेताओं को जेल भेजने का वचन देगी।

बता दें कि कांग्रेस अपने आने वाले वचन पत्र में करप्शन का मुद्दा लेकर आएगी। इसके अलावा वचन-पत्र में सरकारी विभागों में करप्शन की सूची जारी की जाएगी और जिन नेताओं पर आरोप है उन्हें जेल भेजने का वचन देगी। इसके अलावा कांग्रेस पुराने मामले फिर से खोलने का भी वचन देगी।

इस बारे में जानकारी देते हुए पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने बताया कि जिस दिन कांग्रेस सरकार आएगा उसी दिन जिन्न बाहर निकलेगा। यह जिन्न घोटालों का होगा जो बाहर आएगा। इसमें व्यापमं, सिंहस्थ, पेंशन और बीजेपी सरकार ने जितने अन्य घोटाले किए है सब बाहर आएंगे।

सज्जन वर्मा के बयान और वचन पत्र पर पलटवार करते हुए बीजेपी प्रवक्ता राजपाल सिंह सिसोदिया ने कहा कि कांग्रेस हमेशा द्वेष से काम करती है। 15 महीने में बीजेपी कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज किए गए, मकान तोड़े गए। कांग्रेस एक ऐसी पार्टी है जो वोट नहीं मिलने पर जनता से भी बदला लेती है। जनता को सब दिखता है और हमें जनता पर पूरा विश्वास है कि वे कांग्रेस को नहीं चुनेगी।

कांग्रेस में शामिल होने पर BJP ने मेघा परमार को ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ के ब्रांड एंबेसडर पद से हटाया

0

भोपाल। मेघा परमार बेहद जाना पहचाना नाम है। मेघा एवरेस्ट फ़तह करने वाली मध्यप्रदेश की इकलौती बेटी हैं। लेकिन शिवराज सरकार ने ‘बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ’ के ब्रांड एंबेसडर पद से हटा दिया गया। महिला बाल विकास विभाग ने इस सम्बन्ध में आदेश भी जारी कर दिया है। बता दें, यह आदेश मेघा परमार के कांग्रेस में शामिल होने के दूसरे दिन जारी किया गया है। 

मेघा जेंडर चैंपियंस की ब्रांड एंबेसडर भी थी। वहां से भी उन्हें हटा दिया गया है। दरअसल मेघा ‘बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ’ की ब्रांड एंबेसडर थीं, लेकिन वे 9 मई को छिंदवाड़ा में ‘नारी सम्मान योजना’ की लॉन्चिंग के मौके पर कांग्रेस में शामिल हो गई थीं। इसके ठीक दूसरे दिन यानी 10 मई को महिला बाल विकास ने उन्हें ‘बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ’ के ब्रांड एंबेसडर पद से हटाने का आदेश जारी कर दिया।

कमलनाथ ने लॉन्च की ‘नारी सम्मान योजना’, 1500 रुपये प्रतिमाह देने का किया वादा, CM शिवराज पर कसा तंज

0

छिंदवाड़ा। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 9 मई मंगलवार को छिंदवाड़ा में ‘नारी सम्मान योजना’ लॉन्च की। इस योजना के बारे में बताते हुए कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश की हर महिला के बारे में सोचती है और इसलिए सभी को 1500 रुपये हर माह दिए जाएंगे और 500 रुपये में गैस सिलेंडर दिया जाएगा। कमलनाथ ने कार्यक्रम के दौरान जनता से सवाल किया कि मैं आप सभी से कुछ पूछना चाहता हूं, माता बहनों को हर महीने 1500 रूपये चाहिए, कर्मचारियों को पुरानी पेंशन चाहिए, सौ रुपये में सौ यूनिट बिजली चाहिए, किसानों को कर्ज माफी चाहिए, युवाओं को रोजगार और उद्योग चाहिए। अगर आप सभी को ये सब चाहिए तो कांग्रेस का साथ दीजिए।

कार्यक्रम के दौरान कमलनाथ बीजेपी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि शिवराज जी अब समय आ गया है। पांच महीने बचे हैं और जनता सामने है। मध्यप्रदेश की जनता आपको प्यार से विदा करेगी और घर बिठाएगी। एक बार फिर मध्यप्रदेश विधानसभा में कांग्रेस का झंडा लहराएगा। कमलनाथ ने बात आगे कहा कि 2018 में हमने जनता के वोट से सरकार बनाई थी और 2020 में बीजेपी ने सौदेबाजी से सरकार बनाई। इस दौरान उन्होंने ये भी कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने पर कोयले की उन कंपनियों की लीज़ कैंसिल की जाएगी, जहां अब खदानें बंद हो गई हैं और उन पर कब्जा किया हुआ है। उनकी लीज़ निरस्त करके वो जमीन गरीबों को आवास के लिए दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि शिवराज जी के कान बेरोजगार नौजवानों की पुकार नहीं सुन सकते क्योंकि उनके कान बंद हैं, उनकी आंखें किसानों की बदहाली देखने के लिए बंद हैं। उनके आंख-कान बंद हैं लेकिन मुंह चलता है। आने वाले 5 महीने में चुनाव हैं और इसीलिए अब शिवराज जी जगह-जगह जा रहे हैं। वो घोषणाओं की मशीन बन गए हैं, झूठ की मशीन बन गए हैं। कमलनाथ ने सीएम शिवराज को घेरते हुए कहा कि शिवराज जी मुख्यमंत्री तो क्या हैं, ये तो शिलान्यास मंत्री हैं, ये भूमिपूजन मंत्री हैं। उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री बहुत व्यस्त हैं। उनका एक हाथ भ्रष्टाचार में और दूसरा अत्याचार में व्यस्त है।

उन्होंने कार्यक्रम के दौरान सीएम शिवराज से सवाल किया कि शिवराज जी जनता को जवाब दें कि बीजेपी ने 18 साल के शासनकाल में क्या दिया। सिर्फ महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, घर-घर में शराब और आदिवासियों को अत्याचार दिया है। वहीं कांग्रेस की संस्कृति जोड़ने की रही है लेकिन आज हमारी संस्कृति पर हमला हो रहा है। हमारी माताओं-बहनों ने हमेशा सामाजिक मूल्यों की रक्षा की है। भारत अपने सामाजिक मूल्य पर टिका है और आज आपको फिर इसका रक्षक बनना पड़ेगा।

पूर्व मुख्यमंत्री ने महिलाओं से आह्वान किया कि आप सिर्फ अपना घर मत देखिए, आने वाली पीढ़ियों के बारे में सोचिए कि आपको कैसा प्रदेश और देश उन्हें सौंपना है, क्योंकि आज यही हमारी सबसे बड़ी चुनौती है। कांग्रेस ने महिलाओं का हमेशा सम्मान किया है। इसलिए कांग्रेस ने महिलाओं के लिए आरक्षण का कानून बनाया, घरेलू हिंसा के खिलाफ कानून बनाना, पहली महिला प्रधानमंत्री पहली राष्ट्रपति कांग्रेस के शासनकाल में ही बनी हैं।

कमलनाथ ने कहा कि मुझे मध्यप्रदेश और छिंदवाड़ा की जनता पर पूरा विश्वास है। वो धैर्य रखकर सही निर्णय लेगी। वैसे भी अब शिवराज सरकार के पास पुलिस, पैसा और प्रशासन के अलावा बचा ही क्या है। 5 महीने में बीजेपी पुलिस , पैसा और प्रशासन का जितना उपयोग कर सकती है कर ले, क्योंकि अब जनता बीजेपी और सीएम शिवराज को पहचान चुकी है और आगामी विधानसभा चुनाव में वो उन्हें आईना भी दिखा देगी।

‘लाड़ली बहना योजना’ बनाम ‘नारी सम्मान योजना’, महिलाओं को साधने में जुटे राजनैतिक दल

0

भोपाल। विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (CONGRESS) महिला मतदाताओं को लुभाने में जुटी हुई हैं। प्रदेश में महिलाओं की योजना पर बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने आ गई हैं। बीजेपी महिलाओं के लिए लाड़ली बहना योजना लेकर आई है, तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस नारी सम्मान योजना लॉन्च करने जा रही है। इसी को लेकर कमलनाथ ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बढ़ती महंगाई से जनता परेशान है खासतौर से महिलाएं अधिक प्रभावित हैं।

इसलिए कांग्रेस महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए नारी सम्मान योजना लेकर आई है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ 9 मई को छिंदवाड़ा से नारी सम्मान योजना की शुरुआत करेंगे। महिला कांग्रेस पूरे प्रदेश मैं घर-घर जाकर योजना के आवेदन भरवाएगी। योजना के अंतर्गत एलपीजी सिलेंडर 500 रुपये, महिलाओं को प्रति माह 1500 रुपये देने का वादा करेगी। नारी सम्मान योजना के आवेदन पत्र में आवेदक का नाम, आधार क्रमांक, आयु, वर्ग, मोबाइल नंबर, जन्मतिथि, समग्र आईडी और विधानसभा घर के पते की जानकारी देनी होगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लाड़ली बहना योजना के अंतर्गत महिलाओं को प्रति माह एक हज़ार रुपये दे रहे हैं। वहीं कांग्रेस ने 1500 रुपये देने की घोषणा की है। कर्नाटक में कांग्रेस ने 2 हज़ार रुपये देने का ऐलान किया है। पीसीसी चीफ कमलनाथ ने कहा कि महंगाई से सबसे ज्यादा प्रभावित महिलाएं हैं।

हम नारी सम्मान योजना शुरू कर रहे हैं जिसके तहत महिलाओं को 500 रुपये का एलपीजी सिलेंडर मिलेगा और हर महीने 1,500 रुपये दिए जाएंगे। हमारी सरकार बनने पर हमारे कार्यकर्ता जगह-जगह जाकर फॉर्म भरवाएंगे। बीजेपी कांग्रेस अब महिला वोटरों को साधने में जुट चुकी हैं। दोनों पार्टियां महिला मतदाताओं को लुभाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं।

BJP नेताओं में नाराज़गी ! दीपक जोशी के बाद कई बड़े नाम होंगे कांग्रेस में शामिल- कमलनाथ

0

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) ने विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी को बड़ा झटका दिया है। दीपक जोशी के कांग्रेस में शामिल होने को लेकर उन्होंने कहा कि दीपक जोशी तो सिर्फ ट्रेलर मात्र हैं, बीजेपी के कई बड़े नेता जल्द ही कांग्रेस में शामिल होंगे। दरअसल, 6 मई को बीजेपी के दिग्गज नेता रहे दीपक जोशी ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया।

दीपक जोशी पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता स्व. कैलाश जोशी के बेटे हैं। वह शिवराज सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। जोशी का कांग्रेस में जाना बीजेपी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। इसके साथ ही ऐसी भी चर्चा है कि बीजेपी के कई और बड़े नेता भी कांग्रेस के संपर्क में हैं और जल्द ही कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।

कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि प्रदेश में भ्रष्टाचार बढ़ा है। प्रदेश के एक करोड़ युवा बेरोजगार हैं। देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी प्रदेश में हैं। योजनाओं का फायदा जनता को नहीं मिल रहा। कर्मचारी हड़ताल कर रहे हैं। कमलनाथ ने अपने कार्यकाल के कामों को गिनाते हुए बहनों को 1500 रुपये प्रतिमाह, गैस सिलेंडर 500 रुपए में देने की भी बात कही। ये बात कमलनाथ ने सिवनी जिले के उड़ेपानी में कार्यकर्ताओं और मंडल पदाधिकारियों से संवाद करते हुए कही। उन्होंने कार्यकर्ताओं को चुनाव की तैयारी में जुटने का निर्देश भी दिया।

मिशन 2023 : MP में भाजपा और कांग्रेस ने करवाया सर्वे, चौंकाने वाले परिणाम आए सामने

0

भोपाल। इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसे देखते हुए शिवराज सिंह चौहान और कमलनाथ ने सर्वे कराया है। पहले चुनाव से जुड़े सर्वे (Survey) पार्टियां ही करवाती थीं लेकिन अब तो नेता-मंत्री भी सर्वे करवाने लगे हैं। इन दिनों भोपाल के राजनीतिक गलियारों में जिन सर्वे की चर्चा है वो हैं, शिवराज सरकार की तरफ से कराए गए सर्वे, मध्य प्रदेश पुलिस की शाखा इंटेलिजेंस का सर्वे या रिपोर्ट, कांग्रेस नेता कमलनाथ के सर्वे और संघ के सर्वे है।

इनमें शिवराज और कमलनाथ कुछ महीनों के अंतराल में विधानसभा वार सर्वे कराते हैं, जिसमें मुद्दों के साथ-साथ प्रत्याशियों की लोकप्रियता जांची जाती है। कमलनाथ ने पिछले स्थानीय निकाय चुनाव में अपने सर्वे के आधार पर ही टिकट दिए थे, जिसमें कांग्रेस ने नगर निगम के चुनावों में बेहतर प्रदर्शन किया था। वो अपना सर्वे सभी टिकट चाहने वालों के सामने रखकर सच्चाई से रूबरू कराते हैं।

कमलनाथ के सर्वे में कांग्रेस की दोबारा दमदार वापसी बताई जा रही है वहीं शिवराज के सर्वे में सरकार बनाने लायक विधायक जीतकर आने का दावा किया जा रहा है। हालांकि पहले इंटेलिजेंस और संघ के सर्वे में बीजेपी की हालत नाज़ुक दिख रही थी मगर अब बीजेपी वापसी करती दिख रही है। इसका क्रेडिट शिवराज की लाडली बहना योजना को दिया जा रहा है।

CM शिवराज ने कहा दिग्विजय और कमलनाथ ने मध्यप्रदेश को किया तबाह

0

भोपाल। मध्यप्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले आरोप-प्रत्यारोप का दौर अब शुरू हो गया है। भाजपा और कांग्रेस के दिग्गज नेता अब आमने-सामने आ गए हैं। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ‘मैं बीजेपी और संघ के लिए कोरोना हूं’ वाले बयान पर अब सीएम शिवराज और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने जमकर हमला बोला है।

दिग्विजय सिंह के खुद के कोरोना वायरस बताने पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि ये व्यक्ति हानिकारक है, इतना तो तय हो गया है। लोग कहते हैं ये वायरस तो ISI से आया है। कोरोना वायरस तो चीन से आया था, उस लिहाज से भी यह व्यक्ति हानिकारक है। खुद को इन्होंने कोरोना वायरस साबित कर लिया है।

भाजपा नेता ने कहा कि कमलनाथ ने तो कोविड-19 के दौरान मध्यप्रदेश की जनता को छोड़ दिया था कि जो करना है करो। कोविड आज पूरी तरह से कंट्रोल में है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दिग्विजय सिंह और कमलनाथ ने मिलकर मध्यप्रदेश को तबाह कर दिया। दिग्विजय सिंह ने बिल्कुल ठीक तुलना की है। कोरोना वायरस ने जितना नुकसान पहुंचाया था, उससे कई गुना ज्यादा नुकसान दिग्विजय और कमलनाथ ने मध्यप्रदेश को पहुंचाया है। मुझे तो आश्चर्य होता है कि तुलना के लिए उन्हें और कोई वायरस नहीं मिला। कोरोना वायरस से हाहाकार मच गया था, लोगों की जिंदगी अस्त व्यस्त हो गई थी। इसके अलावा अर्थव्यवस्था भी चरमरा गई थी। ये तो मोदी जी थे जिनके नेतृत्व में दो-दो वैक्सीन बनी।

बता दें कि इंदौर में पिछले दिनों कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को कोरोना वायरस बताया था और कहा था उनका जन्म चीन में होना चाहिए। मंत्री तुलसी सिलावट के सवाल पर पलटवार करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा इंदौर के लोग जानते हैं कि तुलसी सिलावट ने कैसे काम किया। वह कितने धंधों में शामिल हैं और उससे कितना पैसा कमाते हैं ये सबको पता है। इसलिए मैं भाजपा और संघ के लिए कोरोना वायरस हूं।

डिंडोरी में हुए प्रेग्नेंसी टेस्ट पर कमलनाथ ने जताई आपत्ति, महिला आयोग को लिखा पत्र

0

डिंडोरी। मध्यप्रदेश के डिंडोरी जिले में हुए मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के कार्यक्रम के दौरान हुए प्रेग्नेंसी टेस्ट के मामलें को लेकर पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ ने राष्ट्रीय महिला आयोग को एक पत्र लिखा है। कमलनाथ ने पत्र में युवतियों के प्रति चिंता जताते हुए इस प्रकार के आपत्तिजनक टेस्ट पर गंभीर सवाल उठाए हैं। पत्र में कमलनाथ ने लिखा है कि मध्यप्रदेश सरकार का यह कृत्य महिलाओं की निजता और उनके मौलिक अधिकारों का हनन है।

कमलनाथ ने अपने पत्र में लिखा है कि डिंडोरी जिले में 22 अप्रैल, 2023 को राज्य सरकार की ओर से मुख्यमंत्री कन्या विवाह कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें सूचनाओं के माध्यम से पता चला है कि कार्यक्रम के लिए मेडिकल टेस्ट के नाम पर सैकड़ों युवतियों का प्रेग्नेंसी टेस्ट कराया गया है।

उन्होंने सरकार पर तंज कसते हुए लिखा कि जिस प्रदेश में सरकार ही महिलाओं को बेआबरू करने पर उतारू हो, वहां अपराधियों के हौसले बुलंद होना कोई अप्रत्याशित घटना नहीं है। यही कारण है कि मध्यप्रदेश लम्बे समय से महिलाओं के खिलाफ अपराध में अव्वल है। शिवराज सरकार महिला अत्याचारों के खिलाफ मौन है।

कमलनाथ ने इस पर आपत्ति दर्ज कराते हुए पत्र में लिखा है कि युवतियों को सार्वजनिक तौर पर इस तरह अपमानित करना बेहद शर्मनाक है। ये नारी अस्मिता और भारतीय संस्कृति के खिलाफ है। जिन गरीब बेटियों ने अपने विवाह संस्कार का सपना देखा था, उन्हें अपनी जिंदगी के सबसे खुशनसीब दिन ऐसा सरकारी दुर्व्यवहार देखना सरकार के लिए डूब मरने जैसा है।

वीरांगना दुर्गावती, रानी अवंती बाई लोधी और महारानी अहिल्याबाई जैसी देवियों ने जिस भूमि को अपने तप से सींचा, वहीं मातृ शक्ति के साथ ऐसी अपमानजनक बर्बरता समूची नारी जाति के आत्म सम्मान के खिलाफ है।

बता दें पीसीसी अध्यक्ष ने इस मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग से अनुरोध करते हुए लिखा है कि डिंडोरी में महिलाओं के खिलाफ हुए इस अपमानजनक और गैरकानूनी कृत्य की विस्तृत और उच्च स्तरीय जांच कराई जाए और दोषी व्यक्तियों के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई की जाए।

मिशन 2023 – चुनावी रणनीति बनाने में जुटी भाजपा, बंद कमरे में हो रही चर्चा

0

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में आगामी 2023 के विधानसभा चुनाव ( Assembly Elections) की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इसी बीच गुरुवार को भोपाल (Bhopal) के भाजपा कार्यालय (Bjp Office ) में दो बड़ी बैठकों की खबर सामने आई है। इस बैठक में बूथ विस्तार और सशक्तिकरण के साथ मोर्चों के आगामी कार्यक्रम को लेकर रणनीति बनाई जा रही है।

सूत्रों की मानें तो इस बैठक में विधानसभा और 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर लेकर बूथ एक्शन प्लान बनाया जा रहा है, जिसमें करीब 64 हजार से ज्यादा बूथों का बूथ एक्शन प्लान तैयार होगा। हर बूथ का माइक्रो मैनेजमेंट किया जाएगा।

बता दें कि बूथ एक्शन प्लान में 51% वोट शेयर की प्लानिंग की जाएगी। हर एक बूथ पर वोट शेयर 51% करने की प्लानिंग की जाएगी। 4 मई से 14 मई तक 64 हजार से अधिक बूथों का, बूथ एक्शन प्लान तैयार होगा। 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारी भी शुरू हो गई है। इसी कड़ी में 15 मई से 15 जून तक भाजपा का हर सांसद घर-घर जाकर संवाद करेगा।

मन की बात कार्यक्रम में मध्यप्रदेश भाजपा ने ये तय किया है कि लगभग 64 हजार 100 बूथों पर समाज के प्रबुद्ध, प्रभावी और विशेष तरह के काम करने वाले लोगों को सम्मानित किया जाएगा। इसके अलावा प्रदेश में आम लोगों को कनेक्ट करने के लिए 25 हज़ार स्थानों पर अलग से मन की बात का आयोजन किया जाएगा।

गुरुवार शाम को सभी सांसदों और विधायकों की बैठक में विस्तृत दिशा निर्देश आलाकमान देगा। फिलहाल भाजपा में मोर्चा अध्यक्ष और जिलाध्यक्षों और जिला प्रभारियों की बैठक खत्म हो गई है। बैठक में पीएम मोदी के मन की बात के 100वें एपिसोड पर होने वाले कार्यक्रम को लेकर जरूर दिशा निर्देश दिए हैं। एमपी के 65 हजार से ज्यादा बूथों पर 30 अप्रैल को मन की बात का प्रसारण होगा। हर बूथ पर मन की बात के दौरान भाजपा के 100 कार्यकर्ता मौजूद रहेंगे।

इसके साथ ही स्थानीय वरिष्ठ नागरिकों सहित समाज के विशिष्ठ नागरिकों को भी मन की बात में शामिल करने के निर्देश दिए हैं। सूत्रों की मानें तो इस बैठक में जिलाध्यक्षों को भाजपा के आगामी कार्यक्रमों में रूठे कार्यकर्ताओं को भी जोड़ने के निर्देश दिए हैं। वहीं जिलाध्यक्षों को नाराज कार्यकर्ताओं को भी मानने के निर्देश दिए हैं।

जानकारी के अनुसार इस बैठक में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव, संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा और मोर्चों के राष्ट्रीय पदाधिकारी सहित जिला अध्यक्ष, जिला प्रभारी और मोर्चा प्रभारी शामिल हैं।