Thursday, December 2, 2021
Home Tags Islam

Tag: islam

भारत में रहने के लिए मुसलमानों को अपनाना होगा हिन्दू धर्म : विश्व हिंदू परिषद्

0

भारत में रहना है तो “जय श्री राम” कहना है । यह नारा सुने आपको काफी समय हो गया होगा । विश्व हिंदू परिषद् ने इस नारे की आवाज फिर बुलंद करते हुए नया विवाद खड़ा कर दिया है । विश्व हिंदू परिषद् ने कहा है कि ” मुस्लिमों को अगर भारत में रहना है तो हिन्दू धर्म अपनाना होगा”

Newbuzzindia: न्यूज वेबसाइट Coastaldigest.com की रिपोर्ट के मुताबिक विश्व हिंदू परिषद के ज्वाइंट सेक्रेट्री सुरेंद्र कुमार जैन ने रविवार को ‘हिंदू जाया घोष’ मीटिंग में मुसलमानों के खिलाफ अपने कट्टरपंथी विचारधारा का प्रदर्शन करते हुए सभी मुसलमानों को हिंसक बताया और कहा, ‘मुस्लिमों में कुछ ऐसे ग्रुप हैं, जो कि एक दूसरों को नफरत करते हैं। सुन्नी शियाओं को मारते हैं और शिया सुन्नियों को मारते हैं।

मुस्लिम देशों में कोई शांति नहीं है। दुर्भाग्यवश, वे लोग इस देश में भी शांति भंग करना चाहते हैं।’ साथ ही जैन ने मुस्लिमों से कहा कि उनके पैतृक हिंदू ही थे। अगर वे इस्लाम को छोड़कर हिंदू धर्म अपना लेते हैं तो विश्व हिंदू परिषद उनकी पूरी सुरक्षा करेगा। अगर मुस्लिम भारत में रहना चाहते हैं तो मुस्लिमों को पैंगबर मोहम्मद की जगह, श्रीराम के रास्तों पर चलना होगा।’

गौरतलब है कि सुरेंद्र कुमार जैन पहले भी विवादित बयान देते रहे हैं। उन्होंने अप्रैल महीने में दारुल उलूम देवबंद पर बैन लगाने की मांग की थी। जैन ने देवबंद को आतंक की फैक्ट्री करार दिया था। बता दें, दारुल उलूम देवबंद ने भारत माता की जय को मुस्लिम विरोधी बताया था। उसके बाद जैन ने फतवा जारी करने वाली मौलवी के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की थी।

जब बांग्लादेश और पाकिस्तान में ट्रिपल तलाक बैन है, तो भारत में क्यों नहीं ? : तस्लीमा नसरीन

0

NewBuzzIndia: अपने नास्तिक रवैये की वजह से हमेशा विवादों में रहने वाली बांग्लादेशी साहित्यकार तस्लीमा नसरीन ने एक निजी टीवी चैनल को अपना इंटरव्यू दिया और ट्रिपल तलाक को ले कर के अपनी राय स्पष्ट की।
NDTV को दिए अपने इंटरव्यू में तस्लीमा ने कहा कि, जब बांग्लादेश और पाकिस्तान में ट्रिपल तलाक को बंद कर दिया गया है तो भारत में अब तक ऐसा क्यों नहीं हुआ ?

NDTV के इस tweet को तस्लीमा ने retweet किया है। उनके इस समर्थन के विरोध में एक बहुत बड़ा तबका खड़ा हो सकता है पर यह बात सोचने और समझने की है कि मुस्लिम बहुसंख्यक देशों में भी जब ट्रिपल तलाक जैसी कुप्रथा को ठंडे बस्ते में बंद कर दिया गया है, तो भारत में ये राजनीतिक मुद्दा क्यों बना पड़ा है।
उन्होंने अपने इंटरव्यू में आगे कहा कि आज पाकिस्तानी कलाकारों को भारत में बैन किया गया है, हो सकता है आगे आने वाले दिनों में उन्हें बैन कर दिया जाए।

https://twitter.com/ndtv/status/788760073472348160?p=v

25 करोड़ भारतीय मुस्लिमों ने पाकिस्तान को मिटाने की खायी ‘कसम’ !

0

Newbuzzindia: भारतीय सेना ने उरी अटैक का डटकर जवाब दिया है और पाकिस्तान की जड़े हिलाकर रख दी है। जहाँ एक तरफ पाकिस्तान बौखलाया हुआ है वहीँ दूसरी तरफ भारत के मुस्लिम पाकिस्तान की ईंट से ईंट बजाने के लिए एकजुट हो गए है।

ऑल इंडिया इमाम संगठन के चीफ डॉ. उमेर इलयासी ने बुधवार को अखिल भारतीय इमाम संगठन की तरफ से आयोजित सर्व धर्म संसद के आयोजन में कहा, जिस तरह से पाकिस्तान हमारे देश की मुखालफत कर रहा है इसके खिलाफ हमने आवाज बुलंद की है।

//ws-in.amazon-adsystem.com/widgets/q?ServiceVersion=20070822&OneJS=1&Operation=GetAdHtml&MarketPlace=IN&source=ac&ref=tf_til&ad_type=product_link&tracking_id=newbuzzindia-21&marketplace=amazon&region=IN&placement=B000GIQT2O&asins=B000GIQT2O&linkId=84810b66e15968a25307e90f3fa13536&show_border=false&link_opens_in_new_window=false&price_color=333333&title_color=0066C0&bg_color=FFFFFF
हिंदुस्तान 125 करोड़ लोगों का देश है। भारत के 25 करोड़ मुसलमान ही पूरे पाकिस्तान को काफी है। पाकिस्तान ने आतंकवादियों को भेजकर हमारे देश के सोते हुए सैनिकों पर कायरता का परिचय देते हुए हमला किया है। हम सभी लोगों ने इसकी निंदा की है हमने पाकिस्तान से कहा ऐ पाकिस्तान अब बेनकाब हो गया है। पाकिस्तान में जो आतंकवादी अड्डे बने है अब वक्त आ गया है कि भारत उन्हें हमला कर नष्ठ करें। जो आतंकवादी हिंदुस्तान के अंदर आकर अपना इस तरह का काम करता है हम उसे भारत में दफनाने की जगह नही देंगे। भारत इसको बर्दाश्त नहीं करेगा।

आपको बता दे कि इस सर्व धर्म संसद का आयोजन उत्तरप्रदेश के मुजफ्फरपुर में आल इंडिया इमाम संगठन की ओर से किया था । इस धर्म संसद में सभी धर्म गुरुओं ने भाग लिया और सभी धर्मों के लोग इस धर्म संसद के साक्षी बने। वहीँ इस मौके पर सभी धर्मों के लोगों ने एक जुट होकर रहने की बात की।

भाजपा विधायक ने दी खुली धमकी, कहा ‘अगर बकरीद पर हमारी भावनाएं आहत हुई तो अंजाम बुरे होंगे।’

1

NewBuzzIndia: हमेशा विवादों में रहने वाले बीजेपी के विधायक टी राजा सिंह ने बकरीद आने पर सरकार और पुलिस प्रशासन को खुली चेतावनी दे दी है। राजा सिंह ने कहा है कि ‘हमारी धार्मिक भावनाओं का सम्मान न किया गया तो खतरनाक हालात पैदा हो सकते हैं।’ राजा सिंह ने ऐसा बकरीद के मौके पर कथित तौर से होने वाली बैलों की बलि का उल्लेख करते हुए ऐसा कहा।

एक वीडियो में उन्होंने कहा कि तेलंगाना सरकार और पुलिस सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन कर रहे हैं। बता दें कि राजा सिंह इससे पहले बीफ खाने वालों पर हो रहे हमले को सही ठहराते हुए हमलावरों का समर्थन भी कर चुके हैं।

युवाओं को सबसे ज्यादा लुभाने वाले ‘पोकेमोन’ गेम के खिलाफ जारी हुआ फ़तवा !

0

Newbuzzindia: कुछ ही दिनों में युवाओं के दिल पर राज करने वाला गेम ‘पोकेमोन’ पर इस्लाम धर्म के संरक्षकों ने तलवार लटका दी है।

बरेली की आलहजरत दरगाह ने ‘पोकेमोन’ गेम के खिलाफ फतवा जारी करते हुए कहा है कि ‘पोकेमोन इस्लाम धर्म के खिलाफ है। पोकेमोन शैतानों को बढ़ावा देता है साथ ही यह इबादत में खलल भी डालता है। पोकेमोन से जान का भी खतरा होता है।’
जानकारी के अनुसार ये फतवा बरेली के आलहजरत दरगाह के मुफ़्ती सलीम नूरी ने जारी किया है जिससे पोकेमोन की प्रतिष्ठा और वैश्विकता पर असर पड़ सकता है।
आपको बता दे की पोकेमोन के लांच होने के दो दिन में ही सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए थे, जिसके बाद से यह पूरे विश्व में ख़ासा फ़ेमस हो गया और उसके बाद ही पोकेमोन खेलते हुए कई लोगो की जान जाने की खबरें भी आई थी।

​हिंदुस्तान में नफरत फ़ैलाने वाले मदरसों को बंद कर देना चाहिए : तारेक फ़तेह

0

Newbuzzindia: पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार तारिक फ़तेह ने आज बड़ा बयान दिया है । तारेक फ़तेह का कहना है कि मदरसे हिंदुस्तान में नफरत फैला रहे है । फ़तेह का बयान इसलिए भी बड़ा कहा जा रहा है क्योंकि वह एक मुसलमान है और पाकिस्तान से ताल्लुक रखते है ।

गौरतलब है कि तारिक फ़तेह ज़ी न्यूज़ के प्रोग्राम “ताल ठोक के” में पैनल डिस्कशन कर रहे थे । प्रोग्राम में आज मदरसों द्वारा “मिड डे मील” का बहिष्कार करने पर बहस चल रही थी । प्रोग्राम के दौरान जी न्यूज़ के पत्रकार रोहित सरदाना ने तारेक फ़तेह से सवाल किया कि क्या मदरसों द्वारा मिड डे मील का बहिष्कार करना सही है ..?

जवाब में तारेक फ़तेह ने कहा कि मुसलमानों को अल्पसंख्यकों के रूप में भारत से ज्यादा अधिकार किसी देश में नही दिए गए है । फ़तेह ने कहा कि मदरसों में ये सिखाया जाता है कि इस्लाम सबसे बड़ा धर्म है और बाकी सब धर्म बेकार है । फ़तेह ने कहा कि मदरसे हिंदुस्तान में सिर्फ नाफ्तार फ़ैलाने का काम कर रहे है और इन्हें हिंदुस्तान में जल्द से जल्द बंद करवा देना चाहिए ।
गौरतलब है कि हाल में मध्यप्रदेश के कुछ मदरसों ने मिड डे मील का त्याग ये कहते हुए कर दिया की मिड डे मील बनाने के बाद हिन्दू रीति रिवाजों द्वारा इसका भोग लगाया जाता है । 

समाज के ख़ास वर्ग से मुसलमानों को बचाने के लिए बनना चाहिए SC-ST एक्‍ट जैसा कानून !

0


Newbuzzindia: जिस तरह अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति को लोगो के उत्पीड़न से बचाने के लिए अनुसूचित जाति एवं जनजाति (उत्पीड़न रोकथाम) अधिनियम बनाया गया है उसी तरह मुसलामानों को समाज के एक खास वर्ग से बचाने के लिए भी एक एक्ट बनाना चाहिए, जिससे मुसलमान अपने आप को सुरक्षित महसूस करे। यह बात समाजवादी पार्टी के महाराष्ट्र के अध्यक्ष अबु आजमी ने कही है। 
आजमी ने कहा कि ‘उत्पीड़न रोकथाम अधिनियम की तर्ज पर एक ऐसा ही कानून मुसलमानों के लिए भी बनाया जाना चाहिए क्योंकि वे समाज के कुछ खास वर्ग के हाथों उत्पीड़न और उनकी अपमानजनक टिप्पणियों का सामना करते हैं।’
इसी दौरान उन्होंने मनसे प्रमुख राज ठाकरे पर भी निशाना साधा और उनके राज ठाकरे द्वारा कहे गए बयान का भी विरोध किया जिसमें उन्होंने कहा था कि अधिनियम रद्द कर दिया जाना चाहिए क्योंकि वह असंवैधानिक है।

आजमी ने यह भी कहा कि ‘मुसलमानों और धार्मिक प्रमुखों को आईएस की निंदा करनी चाहिए क्योंकि यह आतंकवादी संगठन इस्लाम के लिए धब्बा है और वह इस धर्म की छवि खराब कर रहा है।’

मध्य प्रदेश में बीफ के अफवाह पर  दो मुस्लिम महिलाओं से हुई मार पीट गया, पुलिस देखती रही तमाशा

0

NewBuzzIndia:   

देश में बीफ को ले कर के लोगों के बीच रोष काम होने का नाम नहीं के रहा। अभी दादरी में हुई घटना की आग शांत हुई नहीं कि मध्य प्रदेश के मंदसौर में बीफ के शक में दो मुस्लिम महिलाओं से मार पीट का मामला सामने आया। गोरक्षक महिलाओं से मार पीट कर रहे थे, गालियां दे रहे थे तो वही खड़े लोग और पुलिस चुप्पी साढ़े पूरे प्रकरण की मूक दर्शक बनी रही। यह घटना मंदसौर के रेलवे स्टेशन की है। 

महिलाएं मदद के लिए आवाज़ लगाती रही और लोग उन्हें पीटती हुई महिलाओं के तमाशबीन बन कर देखते रहे। पूरा माजरा देख रहे लोग वीडियो बनाने में मशगूल थे। घटना के सामने एक वीडियो में महिलाओं के साथ गौरक्षकों के मारपीट करते हुए देखा जा सकता है। वहां पुलिस भी मौजूद है। पुलिस ने बीच बचाव करने की कोशिश की, लेकिन भीड़ से दोनों महिलाओं को नहीं छुड़ा पाई। लोग वहां गो माता की जैकारा करते रहे और महिलाओं को लात घूसों और थप्पड़ से मरते रहें।



Also Read: शिक्षा के भगवाकरण के खिलाफ भोपाल में FTII चेयरमैन गजेंद्र चौहान को छात्रों ने दिखाए काले झंडे और लगाए “गजेंद्र चौहान मुर्दाबाद” के नारे..





पुलिस सूत्रों के की माने तो महिलाओं के पास 30 किलो मीट मिला है। साथ ही पुलिस ने दावा किया है कि स्थानीय डॉक्टरों की जांच में सामने आया है कि  वह  मीट गाय का नहीं बल्कि भैंस का था। हालांकि, दोनों महिलाओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी क्योंकि उनके पास मीट बेचने का अनुमति नहीं थी। लेकिन पुलिस ने महिलाओं के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया। राज्य के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा , ‘कोई भी कानून अपने हाथ में नहीं ले सकता। इसकी जांच की जाएगी।’ खैर मंत्री जी की बात में कितना दम है ये तो समय बताएगा।

दादरी कांड: अकलाख के बेटे ने लगाया आरोप, ‘जांच के लिए भेजने से पहले बदला गया मीट।’

0

NewBuzzIndia


 उत्तर प्रदेश के दादरी कांड में विवाद कम होता नहीं दिख रहा है। पहले फॉरेंसिक रिपोर्ट में पाया गया कि अकलाख के घर में गाय नहीं बल्कि बकरी का मांस था। एक साल बाद रिपोर्ट बिलकुल उलट आई कि नहीं वो गाय का ही मांस था। जिसके वजह से हिंदूवादी संगठनों ने अकलाख के परिवार को मिली मुआवजे की राशि को वापस करने की मांग करने लगे। कोर्ट ने भी यह आदेश दिया कि अकलाख मुआवजे की राशि वापस कर दे। 
Also Read: ‘भाजपा के साथ गठबंधन में हमारे 25 साल ‘बर्बाद’ हुए।’

ऐसे में मोहम्मद अकलाख के बेटे ने यह आरोप लगाया कि मथुरा की लैब में टेस्ट करने के लिए जो मीट भेजा गया था उसे वहां भेजे जाने से पहले ही बदल दिया गया था। इस सिलसिले में वह बुधवार को यूपी के डीपीजी जावेद अहमद से मिल सकते हैं। जावेद से मिलकर सरताज उस मीट को देखना चाहते हैं जिसका सैंपल लैब में भेजा गया था। सरताज ने आगे कहा कि वह अपने पिता अखलाक और परिवार के बाकी 6 लोगों पर दर्ज FIR के खिलाफ अपील करने के लिए इलाहबाद हाई कोर्ट जाएंगे। उनके परिवार पर FIR 14 जुलाई को दर्ज हुई थी जिसमे गोहत्या और पशु क्रूरता का मामला दर्ज किया गया है।
वहीं अखलाक के परिवार के वकील मोहम्मद असद हयात ने कहा कि अकलाख के घर से जब्त की गई मीट के साथ छेड़छाड़ किया गया है। उन्होंने कहा, ‘पुलिस ने बॉक्स जब्त करते वक्त उसे सील नहीं किया था। जब उसे जिले के पशु चिकित्सा विभाग में भेजा गया था तो रिपोर्ट में आया था कि वह मटन है। डिपार्टमेंट ने प्लास्टिक के बॉक्स में पुलिस को मीट सौंपा और पुलिस ने एक बर्तन में उसे मथुरा लैब भेजा था।’

शंकराचार्य का दावा, संघ ने अयोध्या में मस्ज़िद नहीं बल्कि मंदिर को तोड़ा था

2

NewBuzzIndia: 

 ज्योतिष्पीठ के शंकराचार्य स्वरूपानन्द सरस्वती ने रविवार को हरिद्वार में  बाबरी मस्जिद विध्वंस को लेकर आरएसएस पर जबर्दस्त निशाना साधा है। उन्होंने संघ पर हमला करते हुए कहा कि आरएसएस ने मस्जिद नहीं बल्कि हिंदुओं के मंदिर को ही गिरा दिया। क्योंकि वहां कभी मस्जिद थी ही नहीं। उन्होंने आगे कहा कि, वो हिंदुओं के नेता हैं और वे अयोध्या में भगवान राम के मंदिर का निर्माण करेंगे।

Also Read: कैराना के बाद अब अलीगढ़ से हुआ हिंदुओं का पलायन, प्रशासन केवल आश्वासन दे रहा है 



शंकराचार्य ने सरसंघचालक  मोहन भागवत पर भी हमला करते हुए कहा कि, भागवत ने कहा था की वे अयोध्या में आदर्श राम का मंदिर बनवाने की बात करती है जबकि हम भगवान् राम का मंदिर बनाएंगे। उन्होंने कहा की हिन्दू समाज वो करेगा जो हम कहेंगे। क्योंकि हिंदुओं के नेता शंकराचार्य होते हैं पर ज्योतिष पीठ का शंकराचार्य हम हैं। उन्होंने दावा किया की मंदिरों को तोड़ने का काम औरंगज़ेब का था।