Sunday, September 24, 2023
Home Tags Indore

Tag: Indore

युवक ने खुद को NCB अफसर बताकर रचाईं 7 शादियां, पत्नी के शक के बाद हुआ बड़ा खुलासा

0

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक युवक ने खुद को NCB का अफसर बताकर 7 महिलाओं से शादी कर ली। इंदौर के लसूड़िया थाने की पुलिस ने नारकोटिक्स विभाग के अधिकारियों की शिकायत पर इस युवक के खिलाफ पहले धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया था। वहीं अब इस नकली अफसर की ये सच्चाई सामने आई है।

इंद्रनाथ नाम का यह शख्स खुद को NCB का अफसर बताकर लोगों को धमकाता था, वहीं इसने झूठ बोलकर एक, दो नहीं बल्कि 7 महिलाओं से विवाह तक कर डाला। तीन महिलाओं से तो इसका तलाक तक हो चुका है, वहीं दो ने इसके खिलाफ रेप का केस दर्ज कराया है। अब एक पत्नी ने इसकी पोल खोली है। आरोपी युवक ने नारकोटिक्स विभाग का फर्जी आईडी कार्ड बनाकर और नारकोटिक्स विभाग में अधिकारी बताकर छत्तीसगढ़ की एक महिला से शादी की थी।

शादी करने के बाद युवती को इस पर शक होने लगा तो उसने पूरे मामले को लेकर इंदौर नारकोटिक्स विभाग को पत्र लिखकर जानकारी मांगी थी। नारकोटिक्स विभाग ने तमाम जांच करने के बाद लसूड़िया थाने पर इंद्रनाथ के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराया था। आरोपी की पत्नी छत्तीसगढ़ में डिप्टी रेंजर है।

पत्नी ने इंद्रनाथ की चोरी पकड़ ली। उसने युवक के फर्जी NCB के कार्ड को एनसीबी के दिल्ली ऑफिस भेजा। आरोपी ने इंदौर में पदस्थ होना बताया था इसलिए दिल्ली एनसीबी ने असलियत पता करने के लिए इंदौर एनसीबी को यह कार्ड भेजा। इंदौर एनसीबी ने जांच कर बताया कि यहां इस नाम का कोई कर्मचारी या अधिकारी हमारे यहां नहीं है। इसके बाद एनसीबी की इंदौर ब्रांच ने इंद्रनाथ उर्फ रोहित के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। इंद्रनाथ ने जबलपुर, कोलकाता, दिल्ली, पटना, झारखंड व नोएडा में भी इसी तरह से अफसर बन शादियां रचाई हैं। कुछ मामलों में पीड़िताओं ने शिकायत की, तो कुछ महिलाओं को इंद्रनाथ की हकीकत पता चली तो उन्होंने इंद्रनाथ से तलाक ले लिया।

पुलिस की जांच में पता चला है कि आरोपी इंद्रनाथ निवासी माघटोली ग्राम पंचायत नारायणपुर जिला जशपुर (छत्तीसगढ़) ने शादी के लिए वेबसाइट पर अपनी प्रोफाइल अपलोड की है। वह इंस्टाग्राम और फेसबुक पर ऐसी लड़कियों को सर्च करता था जो सिंगल हैं। इसके बाद उन्हें अपनी प्रोफाइल भेजकर इंप्रेस करता और मौका देखकर शादी का प्रस्ताव रख देता। भरोसे में लेकर गुपचुप तरीके से शादी कर लेता और फिर ड्यूटी पर जाने का कहकर पत्नी को छोड़कर चला जाता। समय-समय पर वह पत्नी से पैसा ठग लेता।

सीएम शिवराज ने की घोषणा- जानापाव में बनेगा महाकाल महालोक की तर्ज पर परशुराम लोक

0

इंदौर। 22 अप्रैल यानी कि परशुराम जयंती के अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह इंदौर के महू स्थित भगवान परशुराम की जन्मस्थली जानापाव कुटी पहुंचे। सीएम ने यहां भगवान परशुराम के दर्शन किए और सभा को संबोधित भी किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने बड़ी घोषणा भी की।

सीएम ने कहा कि भगवान परशुराम जन्म स्थली जानापाव में भी महाकाल लोक की तरह ही परशुराम लोक बनाया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि परशुराम धाम भी बनाया जाएगा। मध्यप्रदेश धन्य और गौरवशाली है कि भगवान परशुराम का जन्म हमारे प्रदेश के जानापाव में हुआ।

मुख्यमंत्री ने जनता को संम्बोधित करते हुए कहा कि समता समानता लाने के सबसे पहली पहल भगवान परशुराम ने की थी। उन्होंने ही भूमि आवंटन की पहल भी की थी, ताकि सभी को बराबरी का हक मिल सके। भगवान परशुराम के विचारों को आगे बढ़ाने के लिये हमने तय किया है कि मध्यप्रदेश में अब कोई आवासहीन नहीं रहेगा, सभी को पक्का मकान दिया जाएगा।

सीएम शिवराज ने बताया कि भगवान परशुराम की जन्म स्थली पर 10 करोड़ 59 लाख रुपये के विकास कार्य भी करवाए जा रहे हैं। इसके लिये राशि भी स्वीकृत कर दी गई है। परशुराम लोक और परशुराम धाम की रूपरेखा विद्वानों एवं प्रशासन के साथ मिलकर बनाई जाएगी।

फुटपाथ पर हॉकी खेल रहे खिलाड़ी, निगम ने हॉकी मैदान पर ही बना दिया कचरा स्टेशन…

0

भारत में खेलों के प्रति आज भी उतनी गंभीरता नहीं है जितनी गंभीरता होनी चाहिए। इस वजह से भारत आज भी खेलों के मामले में उन कई देशों से पीछे है जिनकी आबादी बेहद कम है। खेलों के प्रति देश मे किस तरह की लापरवाही की जाती है इसकी बानगी प्रदेश के इंदौर शहर में भी देखने को मिली है। इंदौर का प्रकाश हॉकी क्लब जिसने देश को कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी दिए हैं। आज यहां के भी हाल बेहाल होते नज़र आ रहे हैं।

दरअसल, 83 साल पुराने इस क्लब के युवा खिलाड़ी फुटपाथ पर खेलने के लिए मजबूर हैं। रेसीडेंसी के सामने बने इस क्लब के मैदान को नगर निगम ने कचरा ट्रीटमेंट प्लांट लगाने के लिए ले लिया है। इस कारण अब इस क्लब के खिलाड़ी डेली कालेज के सामने फुटपाथ पर खेलने के लिए मजबूर हैं। इन खिलाड़ियों में कई राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी भी हैं जो यहां अभ्यास कर रहे हैं।

खिलाड़ियों के अनुसार फुटपाथ पर अभ्सास के दौरान कई बार खिलाड़ियों को गंभीर चोंटें भी आ चुकी हैं। सड़क पर वाहन चलने के कारण हादसे का खतरा भी बना रहता है। प्रकाश हॉकी क्लब के सचिव देवकीनंदन सिलावट ने बताया कि हमारी तीसरी पीढ़ी इस क्लब का संचालन कर रही है। यहां रोज 150 खिलाड़ी अभ्यास के लिए आते हैं। यह क्लब रेसीडेंसी के सामने 1940 से मौजूद था, बाद में 2016 में इसे वहां से हटा दिया गया। 

प्रकाश हॉकी क्लब में 45 साल से बच्चों को हॉकी सिखा रहे एनआईएस कोच अशोक यादव ने बताया कि क्लब के 500 बच्चे राष्ट्रीय स्तर की स्पर्धाओं तक पहुंचे हैं। लेकिन प्रदेश सरकार की अनदेखी और रवैये से वे बेहद दुखी हैं। निगम ने कचरा स्टेशन के पास मिनी खेल मैदान बनाया है लेकिन वहां पर खिलाड़ी अभ्यास नहीं कर पाते। कोच यादव ने आगे बताया कि वहां पर पूरे समय कचरे की तेज बदबू आती है जिस वजह से वहां बैठना भी संभव नहीं हो पाता।
भारतीय हाकी टीम के कोच और अंतरराष्ट्रीय प्लेयर मीर रंजन नेगी भी यहां पर बच्चों को अभ्यास करवाने के लिए आते हैं। उन्होंने बताया कि हम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कई बार निवेदन कर चुके हैं लेकिन अब तक हमारी सुनवाई नहीं हुई।

हॉस्टल का खाना खाकर बीमार पड़ीं 22 छात्राएं, सेज यूनिवर्सिटी के मैनेजमेंट पर लगे गंभीर आरोप

0

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में गर्मी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। अप्रैल के महीने में जून जैसी गर्मी पड़ने के कारण शहर में कई लोग तरह-तरह की बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। इंदौर के राऊ थाना क्षेत्र में मौजूद सेज यूनिवर्सिटी में पढ़ने वालीं करीब 22 छात्राएं दूषित खाना खाने के कारण बीमार पड़ गईं। छात्राएं सेज यूनिवर्सिटी में पढ़ती हैं और यूनिवर्सिटी में बने कैंपस के हॉस्टल में ही रहती हैं।

बताया जा रहा है कि बीती रात उन्होंने जब कैंपस में मौजूद हॉस्टल के कैंटीन में खाना खाया तो थोड़ी ही देर बाद उनकी हालत बिगड़ने लगी और वह बीमार पड़ गईं। जानकारी ये भी मिली है कि तबियत ज़्यादा बिगड़ने के कारण कई छात्राएं तो बेहोश भी हो गईं थी। इस पूरे मामले की जानकारी जब हॉस्टल के वॉर्डन को लगी तो उन्होंने तत्काल छात्राओं को इलाज के लिए राऊ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। 9 छात्राओं को इलाज के बाद हालत में सुधार होने पर डिस्चार्ज कर दिया गया है, वहीं 13 छात्राएं अभी भी गंभीर स्थिति में अस्पताल में भर्ती हैं जिनका इलाज जारी है।

एक छात्रा के अनुसार उन्होंने देर रात हॉस्टल में खाना खाया था और जो खाना उन्होंने हॉस्टल की कैंटीन में सुबह खाया था वही खाना रात को भी हॉस्टल के प्रबंधक ने दिया। उसी दूषित खाने को खाने के थोड़ी देर बाद ही उन्हें उल्टियां और चक्कर आने लगे। वहीं हॉस्टल प्रबंधक का कहना है कि ये सभी छात्राएं बाहर खाना खाने गई थीं और उसके बाद वह बीमारी हुई हैं।

छात्राओं की हालत को देखते हुए अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि प्राथमिक तौर पर डिहाइड्रेशन की बात सामने आई है। फिलहाल पूरे मामले की पुलिस को भी सूचना दी गई है, लेकिन पुलिस के मुताबिक अभी किसी भी छात्रा की ओर से कोई शिकायत नहीं आयी है।

सूत्रों की माने तो आने वाले दिनों में इंदौर खाद्य विभाग की टीम भी हॉस्टल में जाकर मेस में मौजूद किचन की जांच पड़ताल कर सकती है, और खाद्य विभाग संबंधित हॉस्टल के प्रबंधक के खिलाफ भी कार्रवाई कर सकता है।

शर्मसार कर देने वाली घटना, सगे भाई ने किया नाबालिग बहन के साथ दुष्कर्म

0

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है, एक सगे भाई ने कथित तौर पर अपनी नाबालिग बहन को अगवा किया और फिर रिश्तेदार के घर ले जाकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। फिलहाल परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

परिजनों के अनुसार, उनकी 17 साल की नाबालिग लड़की घर से लापता हो गई थी। जब लड़की का काफी समय तक तलाश करने पर भी कुछ पता नहीं चला तो परिवार ने थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। किशोरी के लापता होने की खबर से पुलिस ने तुरंत लड़की की तलाश तेज कर दी। पुलिस के प्रयास के बाद कुछ ही घंटों में लड़की को बरामद कर लिया गया।

पुलिस द्वारा पूछताछ में किशोरी ने जो बताया उसे सुनकर सभी दंग रह गए। लड़की ने बताया कि उसके सगे भाई ने उसका अपहरण किया फिर दुष्कर्म को अंजाम दिया। पीड़िता के बयान के आधार पर आरोपी भाई को गिरफ्तार कर लिया है और उसके खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट सहित आईपीसी की कई अन्य धाराओं में केस दर्ज करके आगे की जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस इस मामले में रिश्तेदार की भूमिका की भी जांच कर रही है।

सोशल मीडिया पर की दोस्ती और फिर मिलने के बहाने बुलाकर किया रेप, बीमारी का बहाना बनाकर युवती से ऐंठे 2 लाख रुपए

0

इंदौर। सोशल मीडिया के ज़रिए दोस्ती और फिर ठगी आजकल आम है। कुछ ऐसा ही मामला इंदौर में सामने आया है जहां लसूड़िया क्षेत्र निवासी युवती से हिमाचल प्रदेश के एक युवक ने सोशल मीडिया पर दोस्ती की और फिर इंदौर आकर रेप किया। युवक ने बीमारी का बहाना बनाकर युवती से दो लाख रुपये भी ठग लिए।

युवक ने पैसे लेने के बाद युवती से संपर्क कम कर दिया। युवती को सोशल मीडिया से ही पता चला कि जगदीप नाम के इस शख्स के अन्य युवतियों के साथ भी संबंध हैं। युवती ने इस बारे में पूछा तो उसका युवक से विवाद हो गया और उसने बात भी बंद कर दी। इससे युवती का उस पर शक और बढ़ गया।

लसूड़िया क्षेत्र निवासी युवती से जगदीप नाम का युवक तीन साल से संपर्क में था। फेसबुक पर दोनों की पहचान हुई जो धीरे-धीरे दोस्ती में बदल गई। पिछले साल वह युवती से मिलने इंदौर आया और उसे एक होटल में बुलाया और उसके साथ रेप किया। युवती ने लसूड़िया थाने में हिमाचल प्रदेश निवासी जगदीप सिंह के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ रेप और ठगी की केस दर्ज कर लिया है।

पत्नी की हत्या कर मायके वालों को फोन करके कहा, छोरी को मार दिया है, उसे उठा ले जाओ

0

इंदौर। इंदौर के खजराना इलाके में एक महिला की पति ने हत्या कर दी। पत्नी की हत्या करने के बाद आरोपी पति ने पत्नी के परिवारवालों को फोन करके महिला की मौत की जानकारी दी और कहा कि तुम्हारी छोरी को मार दिया है, आकर उसे उठा ले जाओ। परिवार के लोग मौके पर पंहुचते तब तक मकान मालिक महिला को अस्पताल ले जा चुके थे, जहां पर महिला की मौत हो गई।

फिलहाल हत्या का कारण तो पता नहीं चला है, लेकिन महिला के परिवार के लोगों का आरोप है कि आरोपी पति महिला पर शक किया करता था।
रुखसार पति इरफान (28) को कल रात नाज़ुक हालत में इलाज के लिए एमवायएच लाया गया था जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। रुखसार के परिजनों के अनुसार आरोपी इरफान का कल उनके पास फोन आया था। फोन पर आरोपी ने बताया था कि तुम्हारी बेटी को मार दिया है। उसे आकर उठा लो।

आरोपी पति ने रुखसार के सिर पर पत्थर से वार किया जिसके बाद उसकी मौत हो गयी। घटना के बाद वह घर से बैग लेकर फरार हो गया। परिवार का कहना है कि उन्हें यह तो नहीं पता कि किस बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हुआ था। लेकिन इतना ज़रूर पता है कि आरोपी पत्नी पर शक किया करता था जिसके चलते वह अक्सर उसके साथ मारपीट भी करता था। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। फिलहाल आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू हो गई है।


परिवार का कहना है कि आरोपी इससे पहले भी रुखसार पर कई बार हमला कर चुका था। आरोपी दवा बाजार में काम करता था जहां से वो नशीली दवाइयां लाता और नशा करने के बाद बेदर्दी से पत्नी के साथ मारपीट करता था। बताया जा रहा है कि महिला गर्भवती थी।

नाबालिग के कपड़े उतारकर लगवाए धार्मिक नारे, घटनाक्रम का वीडियो वायरल

0

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर से एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में कुछ नाबालिक बच्चे दूसरे धर्म के एक 12 साल के बच्चे के कपड़े उतरवाकर जबरदस्ती उससे धार्मिक नारे लगवा रहे हैं। इस वीडियो के सामने आने के बाद इंदौर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मामला दर्ज कर लिया है और नाबालिक अभियुक्तों को पुलिस अभिरक्षा में ले लिया है।

जानिए पूरा मामला

इंदौर डीसीपी ने बताया कि कल लसूडिया थाने में फरियादी आए थे जिन्होंने शिकायत की थी कि उनके 12 साल के बच्चे को कुछ जान पहचान के नाबालिग बच्चे एक सुनसान जगह पर ले गए। वहां उनके बच्चे के कपड़े उतारकर उससे मारपीट की गई। उन्होंने आगे बताया कि बच्चे के साथ मारपीट के अलावा बच्चों ने उसका वीडियो भी बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है। डीसीपी ने कहा कि जानकारी मिलते ही पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी थी और आरोपी नाबालिगों पर आईपीसी और जुवेनाइल जस्टिस एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया गया है।

जानकारी के अनुसार इंदौर के लसूड़िया थाना क्षेत्र में स्टार चौराहे के पास कुछ नाबालिक बच्चे दूसरे धर्म के नाबालिक किशोर को खेलने के बहाने तालाब किनारे ले गए, जहां उन्होंने किशोर के कपड़े उतारे और उससे जबरन जय श्री राम, जय महाकाल जैसे धार्मिक नारे लगवाए।

नारे लगवाने वाले किशोरों ने इस पूरी घटनाक्रम का वीडियो भी बनाया जिसे उन्होंने बाद में सोशल मीडिया पर डाल दिया। वीडियो वायरल होने के बाद इसकी जानकारी मिलने पर शिकायत दर्ज कराई गई। वीडियो को लेकर पुलिस ने जनता से अपील की है कि वह सोशल मीडिया पर वीडियो को वायरल ना करें।

मध्यप्रदेश में बढ़ी कोरोना मरीजों की संख्या, ज्योतिरादित्य सिंधिया का बेटा भी कोरोना पॉजिटिव

0

देशभर में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसी क्रम में मध्यप्रदेश में भी कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है। कोरोना के दर्जनोभर मरीज हर दिन सामने आ रहे हैं। ग्वालियर में केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के बेटे महा आर्यमन सिंधिया भी कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं।

बताया जा रहा है महा आर्यमन को जय विलास पैलेस में ही आइसोलेट किया गया है और डॉक्टरों की टीम निगरानी करने में जुटी हुई है। महा आर्यमन सिंधिया के संपर्क में जो भी आया है उनको भी कोरोना टेस्ट के लिए कहा गया है। वहीं महा आर्यमन सिंधिया के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद अब केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित पूरे परिवार का भी कोरोना टेस्ट किया जाएगा।

बता दें महा आर्यमन सिंधिया पिछले एक सप्ताह से खांसी, गले में खराश के साथ-साथ बुखार से पीड़ित थे। उसके बाद उन्होंने ग्वालियर आकर कोरोना की जांच कराई जिसमें वे पॉजिटिव पाए गए हैं। कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद उन्हें सिंधिया के महल जय विलास पैलेस में ही आइसोलेट किया गया है।

महा आर्यमन सिंधिया के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनके सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं क्योंकि अभी हाल में ही उनके चंबल अंचल में कार्यक्रम थे और इन्हें लेकर ही वह ग्वालियर आए हुए थे लेकिन कोरोना पॉजिटिव होने के बाद अब सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं।

मप्र में हुआ कोरोना विस्फोट

  • बीते 24 घंटे में मिले 52 नए केस
  • एक्टिव केस का आंकड़ा हुआ 226
  • राजधानी भोपाल में रिपोर्ट हुए 16 नए केस
  • 94 हुई एक्टिव केसों की संख्या
  • इंदौर में 10, ग्वालियर में 7, राजगढ़ में 5, जबलपुर में 4 नए केस हुए रिपोर्ट
  • संक्रमण दर हुई5.7%

मध्य प्रदेश के 7 जिले रहेंगे लॉकडाउन, 45 जिलों में मिलेगी राहत

0

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज शाम प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि इंदौर के साथ भोपाल में 1 जून से कर्फ्यू नहीं खुलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरी शक्ति के साथ इस बात की कोशिश कर रहे हैं कि 1 जून से मध्यप्रदेश में जनजीवन सामान्य बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाए, परंतु आंकड़े बताते हैं कि मध्य प्रदेश के 7 जिले लॉकडाउन रहेंगे। शेष 45 जिलों में कर्फ्यू में ढील दी जाएगी।

बता दे कि इंदौर के अलावा भोपाल, सागर, रतलाम, रीवा, अनूपपुर तथा सीधी में लॉकडाउन जारी रहेगा। सीएम का कहना है कि इन जिलों की साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी से अधिक है। डब्ल्यूएचओ की गाइड लाइन के अनुसार साप्ताहिक औसत संक्रमण की दर 5 फीसदी से कम होने की स्थिति में ही कर्फ्यू में ढील दी जा सकती है।

यह भी कहा सीएम ने

  • 1 जून से कर्फ्यू में ढील देंगे, लेकिन अचानक न घर से निकलना है और न ही बड़े आयोजन करना है। इससे स्थिति बिगड़ सकती है।
  • वैज्ञानिक तरीके से लॉकडाउन खोला जाएगा। तीसरी लहर की भी बात आ रही है। अगर असावधान रहे तो संक्रमण बढ़ेगा। तीसरी लहर को नहीं आने देना है।
  • शादी-विवाह, धार्मिक आयोजन, राजनीतिक रैली जैसे बड़े आयोजन नहीं आयोजित होंगे।
  • समाज इसे अपना आंदोलन बनाए। धर्मगुरु अपने अनुयायियों को और राजनीतिक संगठन अपने कार्यकर्ताओं को अनुशासित रहने का संदेश दें।