Home Tags Indian National Congress

Tag: Indian National Congress

भाजपा ने नही निभाया वादा, अब कांग्रेस बनाएगी “राम वन गमन पथ”

0

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने श्रीलंका दौरे के दौरान मध्यप्रदेश में सीता माता का भव्य मंदिर बनाने की घोषणा की थी। तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि जिस जगह से रावण ने मां सीता को बंदी बनाया था उसी जगह यह मंदिर बनाया जाएगा।

घोषणा किये हुए सालों हो गए लेकिन इस वादे पर कोई अमल नही किया गया। जिसके बाद अब मध्यप्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री पीसी शर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री चौहान पर हमला बोला है।

शर्मा ने कहा कि “पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने श्रीलंका दौरे के दौरान सीता माता का विशाल मंदिर बनाने की घोषणा करके बहुत वाहवाही लूटी थी लेकिन आज तक कुछ नही हुआ। हमने ‘राम वन गमन पथ’ पर काम शुरू कर दिया है। भाजपा सिर्फ वादे और घोषणाएं करती है, हम सारे धार्मिक कार्यों को पूरा करते है।”

भारत-चीन बॉर्डर पर बढ़ते तनाव को लेकर कांग्रेस ने लोकसभा में दिया स्थगन प्रस्ताव

0

कांग्रेस ने आज लोकसभा में भारत-चीन बॉर्डर पर बढ़ते तनाव को लेकर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव पेश किया है।

बता दें कि पिछले काफी दिनों से भारतीय सीमा के अंदर चीनी सैनिकों के द्वारा घुसपैठ की खबरें आ रही है।

कुछ दिनों पहले खबरें आई थी कि चीनी जवानों ने छह जुलाई को दलाई लामा के जन्मदिवस के मौके पर कुछ तिब्बतियों द्वारा तिब्बती झंडे फहराए जाने के बाद पिछले सप्ताह एलओसी पार की।

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने शनिवार को इस मामले पर सफाई देते हुए कहा था कि लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में चीन ने कोई घुसपैठ नहीं की है।
कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने लोकसभा में “भारतीय सीमा में चीनी घुसपैठ” पर स्थगन नोटिस दिया है।

9 अगस्त को अहमदाबाद कोर्ट के सामने पेश होंगे राहुल गांधी, कोर्ट ने भेजा समन

0

राहुल गांधी को अहमदाबाद की एक अदालत ने 9 अगस्त को पेश होने को लेकर समन भेजा है। अप्रैल को एक चुनावी रैली में गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ उनकी कथित टिप्पणी को लेकर दायर मानहानि के मुकदमे के सिलसिले में यह समन जारी किया गया है।

क्या है पूरा मामला ?

राहुल ने मध्यप्रदेश में चुनावी रैली के दौरान अमित शाह के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्प्णी करते हुए उन्हें ‘हत्या का आरोपी’ कहा था। राहुल ने 23 अप्रैल को हुई इस रैली में अमित शाह के खिलाफ हत्या के मामले का हवाला देकर राहुल गाँधी ने हमला बोला था। इस मामले में शाह पांच साल पहले बरी हो चुके हैं। राहुल ने शाह के बेटे जय शाह पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे।

रैली में अमित शाह पर हमला बोलते हुए राहुल ने कहा था, “हत्या के आरोपी भाजपा अध्यक्ष अमित शाह… वाह! क्या आपने जय शाह का नाम सुना है? वह जादूगर हैं, उन्होंने तीन महीने में 50 हजार रुपये को 80 करोड़ रुपये में बदल दिया।”

एक गैंगस्टर शोहराबुद्दीन शेख के कथित फर्जी मुठभेड़ से जुड़े मामले में अमित शाह का नाम आया था। ये मामला 2005 का है। हालांकि 2014 में कोर्ट ने कहा कि उन्हें शाह के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला है।

सरकार को अस्थिर करना भाजपा की आदत बन गई है: सिद्धारमैया

0
former chief minister of karnataka siddaramaiah
Image of former chief minister of karnataka siddaramaiah, tweeted by @ani

कर्नाटक का सियासी संग्राम लाइव, जानें पल पल की अपडेट

कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन के 15 विधायकों के इस्तीफे के बाद शुरु हुई सियासी लडाई आज भी जारी है। इस्तीफा दे चुके ज्यादातर विधायक मुंबई जाकर होटल में रुके हुए है। कांग्रेस भाजपा पर विधायकों की खरीद फरोख्त का आरोप लगा रही है तो वही भाजपा इस मामले में अपना हाथ होने के इंकार कर रही है। कांग्रस ने आज सर्कुलर जारी करते हुए सभी विधायकों को विधायक दल की बैठक में पहुंचने को कहा है। कांग्रेस को उम्मीद है कि इस्तीफा देने वाले कुछ विधायक आज वापिस आ सकते है।

कर्नाटक की इस सियासी लड़ाई की पल-पल की अपडेट से जुड़े रहने के लिए पढ़ते रहें हमारा यह लाइव ब्लाग

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद और बीके हरिप्रसाद आज बेंगलुरु जाएंगे।

हमने राज्य में विकास नहीं होने के कारण विधायक पद से इस्तीफा दिया है। कर्नाटक सीएम विधायकों को बताए बिना विदेश यात्रा पर चले जाते है, राज्य में कोई काम नहीं हुआ। हम यहां 2 दिन रुकेंगे और फिर लौटेंगे।

जेडीएस नेता नारायण गौड़ा, मुंबई में

कुल 10 विधायकों (कांग्रेस-जेडीएस) ने स्पीकर और कर्नाटक के राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। हम अभी भी कांग्रेस पार्टी में हैं लेकिन हमने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। हमें किसी मंत्री पद की उम्मीद नहीं है।

मुंबई में कांग्रेस नेता एसटी सोमशेखर

​​सरकार को अस्थिर करना भाजपा की आदत रही है। यह अलोकतांत्रिक है, लोगों ने भाजपा को सरकार बनाने के लिए जनादेश नहीं दिया। लोगों ने हमें ज्यादा वोट दिए हैं। जेडी (एस) और कांग्रेस दोनों को एक साथ 57% से अधिक वोट मिले है।

सिद्धारमैया, कांग्रेस

इस बार न केवल बीजेपी की राज्य शाखा बल्कि अमित शाह और नरेंद्र मोदी जैसे राष्ट्रीय स्तर के नेता भी शामिल हैं। उनके निर्देश पर सरकार को अस्थिर करने के प्रयास किए गए हैं। यह लोकतंत्र और लोगों के जनादेश के खिलाफ है। वे पैसे और पद की पेशकश कर रहे हैं।

सिद्धारमैया, कांग्रेस

उन्होंने बीजेपी के साथ सांठगांठ की, मैंने उनसे वापस आने और अपना इस्तीफा वापस लेने का अनुरोध किया है। हमने उन्हें अयोग्य ठहराने के लिए स्पीकर के समक्ष याचिका दायर करने और इस्तीफा स्वीकार नहीं करने का अनुरोध करने का फैसला किया है।

सिद्धारमैया, कांग्रेस

हम अध्यक्ष से भी दलबदल विरोधी कानून के तहत कानूनी कार्रवाई करने का अनुरोध कर रहे हैं। हम अपने पत्र में उनसे अनुरोध कर रहे हैं कि वे न केवल उन्हें अयोग्य घोषित करें बल्कि उन्हें 6 साल के लिए चुनाव लड़ने से भी रोकें।

सिद्धारमैया, कांग्रेस

वर्तमान राजनीतिक घटनाक्रम से मेरा कोई संबंध नही है। मैं संविधान के अनुसार काम कर रहा हूं। अब तक किसी भी विधायक ने मुझसे मिलने का समय नही माँगा है। अगर कोई मुझसे मिलना चाहता है, तो मैं अपने कार्यालय में उपलब्ध रहूंगा।

कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष, के आर रमेश कुमार

​​गृहमंत्री राजनाथ सिंह कह रहे हैं कि ‘हम कहीं परेशान नहीं हैं, हमें सरकार गिराने में कोई दिलचस्पी नहीं है, हम इस बारे में नहीं जानते हैं’। बीएस येदियुरप्पा भी यही कह रहे हैं, लेकिन वह अपने पीए को हमारे सभी मंत्रियों को लेने के लिए भेज रहे हैं।

डीके शिवकुमार, कांग्रेस

अपनी विफलता के लिए किसी पर भी आरोप लगाना कांग्रेस का स्वभाव बन गया है। उनके विधायकों ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। हम स्थिति की निगरानी कर रहे हैं और उसी के अनुसार निर्णय लेंगे।

केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी

बेंगलुरु में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कब्बन पार्क से राजभवन तक मार्च निकाला।

विधायकों के इस्तीफे स्वीकारने से जुड़े प्रश्न पर बोले विधानसभा अध्यक्ष, ” इस मामले में कुछ नियम हैं,उन के अनुसार फैसला लिया जाएगा। मुझे जिम्मेदारी के साछ फैसला लेना होगा। इस मामले में किसी समय-सीमा का उल्लेख नहीं किया गया है।

10 जुलाई को अमेठी दौरे पर जाएंगे राहुल गांधी

0

न्यूज ऐजेंसी ऐएनआई के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 10 जुलाई, बुधवार को अमेठी के दौरे पर जाएंगे। लोकसभा चुनावों में अमेठी लोकसभा से भाजपा नेत्री स्मृति ईरानी के हांथों मिली हार के बाद यह राहुल गाँधी का पहले अमेठी दौरा होगा. इससे पहले राहुल ने अपनी लोकसभा वायनाड का दौरा किया था.

सूत्रों के अनुसार राहुल गाँधी अमेठी में जनसंपर्क कार्यक्रम के दौरान जनता से मिलेंगे और साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक ले सकते है.

राहुल गाँधी पर दिए विवादित बयान के बाद बड़ी सुब्रमण्यम स्वामी की मुश्किलें, 2 एफआईआर दर्ज

0

भाजपा नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी द्वारा दर्ज किये गये मानहानि केस मामले में राहुल गांधी को पटना हाई कोर्ट द्वारा जमानत दिए जाने के बाद अब छत्तीसगढ़ पुलिस ने कांग्रेस नेता राहुल गाँधी के खिलाफ विवादित बयान देने को लेकर भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी के खिलाफ शिकायत दर्ज की है।

छत्तीसगढ़ के साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा बारांबकी में भी इसी मामले में एक और एफआईआर दर्ज की गई।

कांग्रेस नेता और छत्तीसगढ़ के प्रभारी पीएल पुनिया ने इस मामले पर कहा कि “हमने उनकी टिप्पणी पर कोतवाली नगर बाराबंकी में एफआईआर दर्ज की है,

दरअसल सुब्रमण्यम स्वामी ने कुछ दिनों पहले विवादित बयान देते हुए कहा था की कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी कोकेन का सेवन करते हैं। जिसके खिलाफ कांग्रेस नेताओं ने केस दर्ज करवाया है ।

स्वामी की प्रतिक्रिया

आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा नेता और राज्यसभा संसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, “मुझे आश्चर्य है कि छत्तीसगढ़ पुलिस ने मेरे खिलाफ कथित रूप से यह मामला दर्ज किया है। यह एफआईआर बेवकूफी है क्योंकि पुलिस ने सत्यता की जांच के लिए डोप टेस्ट नहीं किया था। ”

छत्तीसगढ़ के पत्थलगांव पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज करवाने वाले जिला कांग्रेस अध्यक्ष पवन अग्रवाल ने कहा कि भाजपा नेता को इस तरह का बयान देने का कोई अधिकार और तथ्य नहीं था।

“स्वामी खुद जानते हैं कि उनका बयान राहुल गांधीजी का अपमान करने के लिए जानबूझकर दिया गया बयान था। स्वामी जानते हैं कि उनका बयान राजनीतिक दलों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा दे सकता है और लोगों को भड़का सकता है। इस तरह के बयान से लोगों में शांति भंग हो सकती है।”

इन धाराओं के तहत दर्ज हुआ केस

बता दें कि पुलिस ने भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान), 505 (2) (किसी भी वर्ग या समुदाय के व्यक्ति को उकसाने का इरादा) के तहत मामला दर्ज किया है।

कर्नाटक में बड़ी कांग्रेस-जेडीएस सरकार की मुश्किलें, लगभग 8 विधायकों ने दिया इस्तीफ़ा

0
Image of congress president rahul gandhi and cm of karnataka hd kumaraswamy

कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन की मुश्किलें कम होने का नाम नही ले रही. आज के ताजा राजनैतिक घटनाक्रम में कांग्रेस और जेडीएस के लगभग 8 विधायकों ने अपनी विधानसभा सदस्यता से इस्तीफ़ा दे दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो अगर विधानसभा अध्यक्ष ने उनके इस्तीफे को स्वीकार कर लिया, तो जेडीएस – कांग्रेस की सभा में संख्या 111 हो जाएगी। वहीं भाजपा के पास इस समय सदन में 105 विधायक हैं।

इन विधायकों ने दिया है इस्तीफ़ा

मीडिया मीडिया चल रही रिपोर्ट्स के अनुसार इस्तीफ़ा देने वालों में कांग्रेस विधायक रमेश जारकीहोली, बीसी पाटिल, महेश कुमटल्ली, प्रथापसौदा पाटिल, शिवराम हेब्बार, सुब्बा रेड्डी शामिल है वहीं जेडीएस विधायकों में एच विश्वनाथ, नारायण गौड़ा और के गोपालैया का नाम सामने आ रहा हैं।

कांग्रेस विधायकों का एक अन्य दल जिसमें रामलिंग रेड्डी, सौम्या रेड्डी, एन मुनिरत्ना, एसटी सोमशेखर और बैराठी बसवराज शामिल है, ने भी विधानसभा स्पीकर से मुलाकात की। हालांकि, दोनों दलों ने बार-बार कहा है कि गठबंधन को कोई खतरा नहीं है और सरकार अपना पूरा कार्यकाल पूरा करेगी।

लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद छाए खतरे के बादल

हाल ही में हुए लोकसभा चुनावों में, कांग्रेस और जेडीएस ने कर्णाटक में सत्ता दल होने के बावजूद बेहद ही ख़राब प्रदर्शन किया। वहीं भाजपा ने लोकसभा की 28 में 25 सीटें जीतने में कामयाबी मिली थी। जिसके बाद कयास लगाए जा रहे थे की भाजपा जल्द ही कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों को तोड़कर राज्य की सत्ता पाने की कोशिश करेगी।

लोकसभा में सोनिया गांधी ने मजदूरों के लिए उठाई आवाज़, याद दिलाई पंडित नहरू की बात

0
image of upa chairperson sonia gandhi speaking at loksabha

लोकसभा में आज यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रेलवे की 6 इकाइयों के कंपनीकरण का मुद्दा उठाते हुए कहा कि पहले चरण में रायबरेली की कोच फैक्ट्री का कंपनीकरण किया जा रहा है जो कि निजीकरण की शुरुआत है। सोनिया गांधी ने आगे कहा कि यह देश की अमूल्य संपत्ति को कौड़ियों के दाम चंद निजी हाथों के हवाले करने शुरुआत है। इससे हजारों मजदूर बेरोजगार हो जाएंगे।

रायबरेली की कोच फैक्ट्री को मुद्दा उठाते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि सरकार ने इस प्रयोग के लिए रायबरेसी की मॉर्डन कोच फैक्ट्री को भी चुना है। जिसमें बुनियादी क्षमता से ज्यादा उत्पादन हो रहा है और ये रेलवे का सबसे आधुनिक रेलवे कारखाना है। यह सबसे अच्छी इकाइयों में जानी जाती है। सोनिया गांधी ने कहा कि इसमें 2 हजार मजदूरों और कर्मचारियों की मेहनत लगी है लेकिन अब उन परिवारों को भविष्य खतरे में है।

पंडित नहरू की बात दिलाई याद

लोकसभा में सोनिया गांधी ने कहा कि पंडित नेहरू ने सार्वजनिक उद्योगों को आधुनिक भारत का मंदिर कहा था और आज इस तरह के मंदिर खतरे में है। आज कुछ खास पूंजीपतियों और उध्दयोगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए ऐसे उद्योगों को संकट में डाल दिया गया है।

सोनियो गांधी ने आगे कहा कि एचएएल, एमटीएनएल के साथ क्या हो रहा है यह किसी से छुपा नहीं है। सार्वजनिक क्षेत्र की सभी कंपनियों की रक्षा की जाए।

हार की जिम्मेदारी लेते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कमलनाथ ने दिया इस्तीफा, राहुल गांधी के साथ कि बैठक

0

लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद एक और राहुल गांधी राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके और पार्टी नए अध्यक्ष की तलाश कर रही है। तो वहीं दूसरी ओर पार्टी के कई वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता भी राहुल गांधी के समर्थन में इस्तीफा दे रहे है।

ज्ञात हो कि हरियाणा में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ हुई बैठक में राहुल गांधी ने कहा था की चुनाव के बाद आए नतीजों के बाद हार की जिम्मेदारी लेते हुए किसी भी महासचिव या प्रदेश अध्यक्ष ने इस्तीफा नही दिया। जिसके बाद कांग्रेस के लगभग 200 से ज्यादा नेता इस्तीफा दे चुके है।

इसी बीच अब बड़ी खबर आई है कि हार की जिम्मेदारी लेते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी अपने इस्तीफे राहुल गांधी के समक्ष रख दिये है। हालांकि अभी तक उनके इस्तीफे को मंजूर नही किया गया है।

आज पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ हुई बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए अशोक गहलोत ने कहा कि “राहुल जी के साथ हुई बैठक में मैंने और कमलनाथ जी ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा देने की पेशकश की। इस्तीफे नतीजे घोषित होने वाले दिन ही दे दिए गए थे। मुख्यमंत्रियों को हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा देना चाहिए, बाकी फैसला पार्टी हाईकमान को करना है।”

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोहन मारकम को बनाया छत्तीसगढ़ कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज शुक्रवार को छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पड़ पर मोहन मारकम की नियुक्ति कर दी। छत्तीसगढ़ के कोंडागांव से विधायक मोहन मारकम बस्तर इलाके से आते है और छत्तीसगढ़ के बड़े आदिवासी नेता है।

बता दें कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा मुख्यमंत्री पद संभालने के बाद से ही नए अध्यक्ष की तलाश शुरू हो गई थी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस पद के लिए मोहन मारकम से साथ ही मनोज मंडावी से मुलाकात की। इस बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और प्रभारी पीएल पुनिया भी शामिल थे।

सोशल मीडिया पर जुड़ें

37,996FansLike
0FollowersFollow
1,202FollowersFollow
1FollowersFollow
1,256FollowersFollow
792FollowersFollow

ताजा ख़बरें