Friday, September 24, 2021
Home Tags Indian National Congress

Tag: Indian National Congress

कमलनाथ और राहुल भैया विवाद में कूदे राजेंद्र सिंह, बोले अजय सिंह को नहीं देना चाहिए ऐसे बयान

0

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के उस बयान पर सियासत रुकने का नाम नहीं ले रही है जिस पर उन्होंने प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिरने का ठीकरा विन्ध्य पर फोड़ा था।

अब इस विवाद में मध्य प्रदेश विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष और सतना जिले के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता राजेंद्र सिंह भी कूद पड़े हैं राजेंद्र सिंह ने अजय सिंह राहुल भैया को समझाइश देते हुए कहा कि वह एक सीनियर नेता है उन्हें ऐसा ही बयान नहीं देने चाहिए अगर कुछ दिक्कत थी तो वह पार्टी हाईकमान को इस बारे में सूचित करते।

बता दें कि बीते महीने सतना दौरे पर आए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मीडिया से बातचीत में भारत महान नहीं बदनाम कह कर विवाद को हवा दे दी थी उसके बाद जब वह भोपाल पहुंचे तो उन्होंने ऑनलाइन बातचीत में कहा कि कांग्रेस सरकार गिरने का कारण विंध्य प्रदेश था अगर विन्ध्य में 15 से ऊपर सीटें आती तो सरकार बन जाती और सरकार आज भी चल रही होती।

कमलनाथ के इसी बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए 3 जून को सतना दौरे पर आए पूर्व नेता प्रतिपक्ष और विंध्य क्षेत्र के कद्दावर कांग्रेसी नेता अजय सिंह राहुल भैया ने कहा था कि कमलनाथ ने अपनी सरकार गिरने का ठीकरा विन्ध्य पर फोड़कर ठीक नहीं किया है उन्हें ऐसे बयान देते समय संयम रखना चाहिए क्योंकि ऐसे बयानों से कार्यकर्ताओं का मनोबल गिरता है, अजय सिंह ने यह भी कहा कि 2003 से लेकर 2013 तक के चुनाव में विन्ध्य हमेशा कांग्रेस को सीटें देता रहा है इसलिए यह नहीं कहा जा सकता कि सिर्फ विन्ध्य के कारण कमलनाथ की सरकार गिरी थी।

मध्यप्रदेश सरकार पर कमलनाथ ने किया हमला, कहा कि बीजेपी आपदा में भी अवसर निकाल रहीं है

0

मध्य प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के साथ ही नकली इंजेक्शन से हुई मौतों के मामले में कांग्रेस ने प्रदेश सरकार को कसूरवार ठहराया है । पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सरकार से सवाल किया है कि इन माफियाओं को किसका संरक्षण है ? और साथ ही कमलनाथ ने ऐसे लोगों पर कार्रवाई किये जाने की मांग की है।

कमलनाथ ने ट्वीट किया कि , “कोरोना की इस महामारी में मध्यप्रदेश में एक नये तरीक़े का माफिया सामने आया है वो है “ रेमडेसिविर माफिया “ ? जिसने इस संकट काल में कई लोगों की जाने ली है , कई ज़रूरतमंद लोगों को लूटा है , कई लोगों को ठगा है , कई परिवारों को बर्बाद किया है। आख़िर ऐसे माफ़ियाओ को किसका संरक्षण ?

उन्होंने आगे ट्वीट किया कि, ऐसे माफ़ियाओ पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो , ये मानवता व इंसानियत के दुश्मन। गाड़ दूँगा , टाँग दूँगा , लटका दूँगा लेकिन प्रदेश में माफिया ना गड रहे , ना टंग रहे , ना लटक रहे ? आपदा में भी अवसर…”

इंदौर का कद्दावर कांग्रेस नेता कर रहा था ऑक्सीमीटर की कालाबाजारी

0

इंदौर के राजेंद्र नगर पुलिस ने कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता यतिन्द्र वर्मा (यति) को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने एक स्टिंग ऑपरेशन के दौरान यतिन्द्र वर्मा को पकड़ा है। आरोपी कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों को ऑक्सीमीटर ब्लैक में बेच रहा था।

पुलिस ने कहा कि पकड़े गए आरोपी यतिन्द्र वर्मा कांग्रेस पार्टी का सक्रिय कार्यकर्ता है। पुलिस को शिकायत मिली थी कि आरोपी ऑक्सीफ्लोमीटर की कालाबाजारी कर रहा है। और 7 हजार में ऑक्सीफ्लोमीटर बेचता था।

बता दे कि आरोपी यतींद्र वर्मा को थाना प्रभारी ने खुद के परिवार के सदस्य के बीमार होने का हवाला दिया। उन्होंने आरोपी से ऑक्सीफ्लोमीटर मंगवाया। डिलीवरी के वक्त उसने थाना प्रभारी से 7 हजार रुपये मांगे। इसके बाद राजेंद्र नगर पुलिस ने आरोपी को रंगेहाथ पकड़ लिया।

पीएम मोदी को राहुल गांधी का खत, आपकी विफलता के कारण आई कोरोना की सुनामी, दिए यह सुझाव

0
rahul gandhi corona scam
rahul gandhi corona scam

राहुल गांधी ने शुक्रवार को पीएम मोदी को पत्र लिखकर सरकार की विफलता को कोरोना महामारी को कारण बताया। साथ ही राहुल ने सरकार से आग्रह किया कि कोरोना वायरस के सभी स्वरूपों का वैज्ञानिक तरीकों से पता लगाने के साथ ही पूरी दुनिया को इस बारे में अवगत कराया जाए तथा सभी भारतीय नागरिकों को जल्द से जल्द टीका लगाया जाए।

गरीबों की तुरंत करें आर्थिक मदद

राहुल गांधी ने कहा कि सरकार की ‘विफलता’ के कारण देश एक बार फिर से राष्ट्रीय स्तर के लॉकडाउन के मुहाने पर खड़ा हो गया है। ऐसे में गरीबों को तत्काल आर्थिक मदद दी जाए ताकि उन्हें पिछले साल की तरह पीड़ा से नहीं गुजरना पड़े। पत्र में राहुल गांधी ने कहा, ‘‘मैं आपको एक बार फिर पत्र लिखने के लिए विवश हुआ हूं क्योंकि हमारा देश कोविड सुनामी की गिरफ्त में बना हुआ है।


देश की पीड़ा को समझें पीएम मोदी: राहुल गांधी

कांग्रेस नेता ने कहा कि  इस तरह के अप्रत्याशित संकट में भारत के लोग आपकी सबसे बड़ी प्राथमिकता होने चाहिए। मैं आपसे आग्रह करता हूं कि आप देश के लोगों को इस पीड़ा से बचाने के लिए जो भी संभव हो, वह करिए।’’उन्होंने कहा कि दुनिया के हर छह लोगों में से एक व्यक्ति भारतीय है। 

कोरोना को लेकर राहुल ने जताई चिंता

पत्र में राहुल ने कहा कि इस महामारी से अब यही पता चला है कि हमारा आकार, आनुवांशिक विविधता और जटिलता से भारत में इस वायरस के लिए बहुत ही अनुकूल माहौल मिलता है कि वह अपने स्वरूप बदले तथा अधिक खतरनाक स्वरूप में सामने आए। मुझे डर इस बात का है कि जिस ‘डबल म्यूटेंट’ और ‘ट्रिपल म्यूटेंट’ को हम देख रहे हैं, वह शुरुआत भर हो सकती है। उनके मुताबिक, इस वायरस का अनियंत्रित ढंग से प्रसारित होना न सिर्फ हमारे देश के लोगों के लिए घातक होगा, बल्कि शेष दुनिया के लिए भी होगा।


केंद्र पर लगाए कई आरोप
कांग्रेस नेता ने  प्रधानमंत्री को सुझाव दिया, ‘‘इस वायरस एवं इसके विभिन्न स्वरूपों के बारे में वैज्ञानिक तरीके से पता लगाया जाए। सभी नए म्यूटेशन के खिलाफ टीकों के असर का आकलन किया जाए। सभी लोगों को तेजी से टीका लगाया जाए। पारदर्शी रहा जाए और शेष दुनिया को हमारे निष्कर्षों के बारे में अवगत कराया जाए।’’राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार के पास कोविड के खिलाफ टीकाकरण को लेकर कोई स्पष्ट रणनीति नहीं हैं और सरकार ने उसी समय इस महामारी पर विजय की घोषणा कर दी जब यह वायरस फैल रहा था।


राहुल गांधी ने दिया गरीबों की मदद का सुझाव
कांग्रेस नेता ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि इस स्थिति को देखते हुए कमजोर तबकों के लोगों को वित्तीय मदद और खाद्य सामाग्री उपलब्ध कराई जाए ताकि लॉकडाउन के कारण गरीबों को उस पीड़ा को न झेलना पड़े जो उन्हें पिछले साल के लॉकडाउन के समय झेलनी पड़ी थी। उन्होंने कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में पूरे सहयोग का भरोसा दिलाते हुए कहा कि इस संकटकाल में विभिन्न पक्षों को विश्वास में लिया जाए ताकि सब मिलकर भारत को सुरक्षित रखने के लिए काम कर सकें।

कमलनाथ ने बीजेपी सरकार पर लगाया गंभीर आरोप, कहा नेता और कार्यकर्ता कर रहे है इंजेक्शन की कालाबाजारी

0

मध्य प्रदेश के जिला इंदौर पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बीजेपी सरकार पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना से हो रही मौत के लिए केन्द्र और राज्य सरकार दोनो ही जिम्मेदार है। इन्होंने लाशों पर राजनीति की है। इन्हें जनता की कोई चिंता नहीं।

कमलनाथ ने प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन की किल्लत और कालाबाजरी को लेकर भाजपा नेताओं पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता रेमडिसिवर इंजेक्शन की काला बाज़ारी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि प्रशासन भी राजनीति पर उतर आई है। रेमडेसिविर के इंजेक्शन बीजेपी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को बांटा जा रहा है जो ब्लैक में बेच रहे है। और आरोप लगाया कि उन्होंने इसे भी व्यापार बना लिया है। कमलनाथ ने कहा कि मैं हर संभव मदद कर रहा हूं जहाँ रेमडिसिवर इंजेक्शन मिल रहे है मंगवा रहा हूं।

West Bengal Election:जहां राहुल गांधी ने की रैली, वह सीटें भी नहीं बचा पाई कांग्रेस, हुई जमानत जब्त

0

पश्चिम बंगाल चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने इतिहास की सबसे बुरी हार का सामना किया है यहां पर कांग्रेस को एक भी सीट पर सफलता हासिल नहीं हुई है। कई सीटर तो ऐसी है जहां पर कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने रैली की थी वहां पर कांग्रेस उम्मीदवार अपनी जमानत भी नहीं बचा पाए।

इस बार के पश्चिम बंगाल चुनाव में भले ही सीधी लड़ाई भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के बीच सिमट कर रह गई हो लेकिन तीसरे मोर्चे के तौर पर कांग्रेस और लेफ्ट ने गठबंधन जरूर किया लेकिन एक भी सीट पर सफलता हासिल नहीं कर पाए।

कांग्रेस और लेफ्ट गठबंधन के कई उम्मीदवारों का हाल तो इतना भी बुरा था कि जहां पर राहुल गांधी ने रैलियां की वहां पर उम्मीदवार अपनी जमानत तक नहीं बचा पाए कांग्रेस लिफ्ट गठबंधन के 85% उम्मीदवारों की जमानत तक जब्त हुई है।

आजादी के बाद बंगाल में यह पहला मौका है जब बंगाल की सत्ता में लगभग 60 साल तक सत्तासीन रहे लेफ्ट और कांग्रेस पार्टी को एक भी सीट नहीं मिली इस बार बंगाल में 292 सीटों पर चुनाव हुए थे 2 सीटों पर उम्मीदवारों की निधन के कारण चुनाव रद्द हो गए थे 292 सीटों में ममता बनर्जी की पार्टी को 213 सीटें तो भाजपा को 77 मिली हैं वही एक सीट निर्दलीय उम्मीदवार को तो एक सीट राष्ट्रीय सेक्युलर मजलिस पार्टी को मिली है।

आपको बता दें कि बंगाल की 292 सीटों पर हुए चुनाव में तीसरे मोर्चे यानी लेफ्ट और कांग्रेस के 49 उम्मीदवार ही अपनी जमानत बचा पाने में सफल हुए हैं बाकी 85% उम्मीदवार तो जमानत भी नहीं बचा पाए।

जहां राहुल ने की रैली वही जमानत जप्त

कांग्रेस वाले गठबंधन के उम्मीदवारों के लिए राहुल गांधी ने मटियारा नक्सलवाड़ी और गोलपोखर में सभाएं की थी जहां उम्मीदवारों को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा और दोनों उम्मीदवारों की जमानत जप्त हो गई। आपकी जानकारी के लिए बता दें मटियारा नक्सलवाड़ी एक दशक से कांग्रेस का गढ़ रहा है जहां पर मौजूदा विधायक शंकर मालाकार इस बार तीसरे नंबर पर आए हैं।

मध्यप्रदेश से राज्यसभा सांसद ने लगाया सरकार पर गंभीर आरोप, प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

0

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह(digvijay singh) ने प्रधानमंत्री(prime minister) नरेंद्र मोदी(narendra modi) को देशभर में हो रहे जानलेवा कोरोना वायरस संक्रमण के बीच ऑक्सीजन(oxygen), रेमडेसिविर इंजेक्शन (remdisivir injection) और कोरोना वैक्सीन(corona Vaccine) की कमी के बाद अब जांच की किट की शॉर्टेज पर पत्र लिखा है। उन्होंने कहा कि किस तरह सैंपल लेने के लिए किटों की कमी के कारण ईयरबड्स का इस्तेमाल किया जा रहा है। कांग्रेस नेता ने पीएम को 6 अहम बिंदुओ पर कार्य करने का सुझाव भी दिया है।

प्रधानमंत्री मोदी को संबोधित पत्र में दिग्विजय सिंह ने लिखा कि , ‘पिछले कुछ महीनों में अप्रत्याशित रूप से कोरोना के मामलों में वृद्धि हुई है। पिछले साल फरवरी में ही राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को सुनामी जैसी स्थिति के लिए तैयार रहने की चेतावनी दी थी। हालांकि दुर्भाग्य है कि सरकार कोरोना के गंभीर खतरों को तब समझ नहीं पाई और आज अस्पतालों में बेड्स, ऑक्सीजन, रेमडेसिविर इंजेक्शन और यहां तक कि फैबिफ्लू 800 एमजी टैबलेट्स की भी कमी है।’

दिग्विजय सिंह ने बताया कि उनकी R T- P C R टेस्ट ईयरबड्स से लिया गया है। यह एक चिंता का विषय है कि पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके व वर्तमान में राज्य सभा सांसद की पद पर बैठे व्यक्ति को RT-PCR जांच के लिए जूझना पड़ रहा हो और जांच के लिए लैब से ईयरबड्स भेजे जा रहे हों।

दिग्विजय सिंह ने नरेंद्र मोदी को दिए 6 अहम सुझाव

1. केंद्र सरकार को गरीब और मध्यम वर्ग के परिवारों के चिकित्सा बिलों के भुगतान के लिए राज्यों को फंड जारी करना चाहिए।

2. दैनिक आधार पर अस्पतालों में ऑक्सीजन सप्लाई को मॉनिटर किया जाना चाहिए।

3. रेमडिसिवर इंजेक्शन जिसे एक्सपोर्ट के लिए रखा गया था उसे तुरंत ट्रांसपोर्ट कर कमी वाले राज्यो, शहरों में भेजा जाना चाहिए। मुझे जानकारी मिली है कि इसके लिए DGCI की मंजूरी चाहिए, जो तत्काल देना चाहिए।

4. प्रत्येक पीएचसी और सिविल डिस्पेंसरी में कोरोना वैक्सीन उपलब्ध करवाया जाना चाहिए और फिलहाल कोई निर्यात नहीं किया जाना चाहिए।

5. 24 घंटे ऑक्सीजन सप्लाई और जरूरी दवाओं जैसे रेमेडेसिविर और फैबिफ्लू 800 एमजी टैबलेट्स की आपूर्ति को मॉनिटर करने के लिए कंट्रोल रूम बनाए जाने चाहिए।

6. प्रत्येक पीएचसी और सिविल डिस्पेंसरी में आरटी-पीसीआर टेस्टिंग किट्स की उपलब्धता सुनिशचित किया जाना चाहिए। 

दिग्विजय सिंह ने यह भी लिखा है की इस आपात स्थिति में हम सबको इस बात का एहसास होना चाहिए कि हम किन परिस्थितियों से गुजर रहे हैं। राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को उन्होंने गैरजरूरी बताया है और कहा कि केंद्र को लॉकडाउन का फैसला राज्यों पर छोड़ देना चाहिए।

इस आपात स्थिति से निपटने के किए उन्होंने प्रधानमंत्री से सर्वदलीय बैठक बुलाने की भी अपील की है। कांग्रेस नेता ने चिट्ठी के साथ ही एक नोट भी भेजा है जिसमें रेमडेसिविर इंजेक्शन की शॉर्टेज को खत्म करने के किए जरूरी उपायों पर कदम उठाने की बात की गई है।

“द- मोह” में मुख्यमंत्री ने की अपील, वोट डालने के लिए निकले बाहर

0

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लोगों को घरों में रहने की अपील करते हुए तो आपने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को सुना होगा। लेकिन दमोह पहुंचते ही उनके विचार कैसे बदल जाते हैं यह किसी ने सोचा नहीं होगा।

बीते दिनों कोरोना को लेकर चिंता जताने वाले शिवराज सिंह चौहान आज दमोह उपचुनाव में रंग बदलते नजर आए। हर बार उन्होंने मध्य प्रदेश की जनता से अपील की थी कि सभी घर पर रहे और सुरक्षित रहें लेकिन शुक्रवार को दमोह रैली में यह कहते हुए नजर आए कि ज्यादा से ज्यादा लोग बाहर निकलों और बीजेपी को जिताने में पूरी ताकत लगा दो।

पूरे प्रदेश की जनता के सामने सोशल डिस्टेंसिंग की दुहाई देने वाले मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को उपचुनाव की रैली में जो बयानबाजी की वो बेहद हैरान कर देने वाली है। उनकी इस रैली में न तो सोशल डिस्टेंसिंग दिखी और न ही कोरोना का खौफ था। रैली के संबोधन के दौरान शिवराज को न तो मध्य प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी का ख्याल रहा और न ही अस्पतालों में बेड और दवाइंयों की समस्या का।

मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि प्यार से यदि मनाया जाए तो पत्थर भी पिघल जाता है। सभी कार्यकर्ता बाहर निकलें, अधिक से अधिक लोगों को भाजपा के जीतने के लाभ बताएं! उन्हें भाजपा को आशीर्वाद देने के लिए अनुरोध करें। इतना ही नहीं सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि चुनाव में अब केवल आठ दिन बचे हैं। भाजपा को जिताने में पूरी ताकत लगा दो। घरों से बाहर निकल जाओ, यह चुनाव आपको ही लड़ना है।

शिवराज ने अपने ट्वीट में लिखा कि बीजेपी जहाँ पर सबसे अधिक वोट से जीतेगी, वहां सबसे पहले मैं आऊंगा। हर कार्यकर्ता पार्टी के लिए लड़ता है और पार्टी देश के लिए लड़ती है। यह चुनाव पार्टी के मान-सम्मान की लड़ाई है। भाजपा कार्यकर्ताओं की मां है। हर कार्यकर्ता को अपनी मां के दूध की लाज रखना है।

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने बीजेपी सरकार पर लगाया बड़ा आरोप, कहा ध्यान सिर्फ अभियान चलाने पर है कोरोना पर नहीं

0

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने सरकार पर आरोप लगाया कि वह कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने में असफल रही है। प्रदेश में लगातार संक्रमण बढ़ता जा रहा है। इससे मरीजों की ना सिर्फ मृत्यु हो रही है और उन्हें अस्पतालों में इलाज भी नहीं मिल रहा है। फीवर क्लिनिकों में जांच तक नहीं हो रही है। जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य आग्रह कार्यक्रम को जनता का ध्यान मोड़ने का अभियान करार दिया।

पत्रकारवार्ता में पटवारी ने कहा कि पिछले एक साल से सरकार को रोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर अभियान चला रही है लेकिन उसका असर कहीं नजर नहीं आ रहा है। इसके बावजूद सरकार प्रभावी कदम नहीं उठा रही है। मंत्री बंगाल और दमोह विधानसभा के चुनाव में व्यस्त हैं।इसी के साथ साथ मुख्यमंत्री अभियान पर अभियान चलाए जा रहे हैं।

जिला आपदा प्रबंधन समूह में विपक्ष के विधायकों को नहीं रखा गया है और ना ही सर्वदलीय बैठक बुलाकर इस समस्या से निपटने के लिए कोई पहल की गई । अवैध शराब को लेकर जीतू पटवारी ने कहा कि आए दिन अवैध और जहरीली शराब से लोगों की मृत्यु हो रही है। सरकार माफिया के खिलाफ कार्रवाई करने का दावा तो करती है पर हकीकत कुछ और ही नजर आती है। 

ज्योतिरादित्य सिंधिया को मिला बड़ा झटका ,दमोह उपचुनाव में प्रचार करेंगे भाजपा सांसद केपी यादव

0

मध्यप्रदेश में होने वाले दमोह उपचुनाव के लिए बीजेपी से गुना सांसद केपी यादव चुनाव प्रचार कर रहे हैं। बीजेपी द्वारा केपी यादव को प्रचार में बुलाए जाने को लेकर प्रदेश की राजनीति गरमा गई है।पिछले लोकसभा चुनाव में ज्योतिरादित्य सिंधिया को हराकर सांसद बने केपी यादव को ऐसे समय में प्रचार के लिए बुलाया गया है जब खबरें आ रही है कि पार्टी ने सिंधिया को चुनाव से दूर रहने का निर्देश दिया है।

चुनाव प्रचार में आने पर रोक लगाने की वजह से सिंधिया इतने खफा हो गए कि उन्होंने अपने अन्य कार्यक्रमों तक को रद्द कर दिए है। बीजेपी द्वारा केपी यादव को प्रचार में उतारने के बाद कांग्रेस को सिंधिया को घेरने का बैठे-बिठाए मुद्दा मिल गया है। 

कांग्रेस ने इस मामले पर तंज कसते हुए कहा है कि शिवराज के चूल्हे में नई राख दिख रही है। मध्यप्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट किया, ‘सिंधिया को हराने वाले गुना सांसद केपी यादव दमोह में प्रचार कर रहे हैं, और सिंधिया के दमोह प्रवेश पर प्रतिबंध है। “शिवराज के चूल्हे में नई राख दिख रही है”

माना जा रहा है कि कांग्रेस द्वारा गद्दार और बिकाऊ करार दिए जाने के बाद सिंधिया की छवि को नकारात्मक मानते हुए बीजेपी चाहती है कि उनके बिना ही चुनाव प्रचार किया जाए। ताकि कांग्रेस को गद्दार और बिकाऊ वाले मुद्दे पर ज्यादा बोलने का मौका न मिल पाए।