fbpx
सोमवार, मार्च 8, 2021
होम टैग्स Crime

टैग: crime

अपराध

बिहार के गया में एटीएम उखाड़ ले गए चोर

0
@ani द्वारा ट्वीट की गई तस्वीर

बिहार के गया में मंगलवार को चोरों ने एक एटीएम मशीन को चुरा लिया। गया के एसपी सिटी अनिल कुमार ने बताया, “चोरों के एक समूह ने एटीएम चुराया था, जिसे बाद में एक कार से बरामद कर लिया गया है। प्रथम दृष्टया लगता है कि चोर मशीन से नगदी निकालने में नाकाम रहे हैं। मामले की जांच जारी है।”

https://twitter.com/ANI/status/1092703616673013760?s=19

आजादी के 70 साल बाद देश को अचानक क्यों पड़ी मसूका की जरुरत ?

0

7 जुलाई  को नई दिल्ली के संविधान क्लब में भीड़ द्वारा की जा रही लोगों की हत्या को दूर करने के लिए मसूका (मानव सुरक्षा कानून)  पेश किया गया था।

यह कानून नेशनल कैम्पेन अगेन्स्ट मोब लिंचिंग द्वारा प्रस्तावित किया गया है . नेशनल कैम्पेन अगेन्स्ट मोब लिंचिंग की स्थापना देश के कुछ युवा नेताओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने मिलकर की है, जिनमे  तहसीन पूनावाला, शेहला राशिद,शेहजाद पूनावाला , कन्हैया कुमार और जिग्नेश मेवानी शामिल है . पिछले कुछ महीनों में देश के अन्दर भीड़ द्वारा लोगों की हत्या किये जाने के बाद यह कानून पेश किया गया है .

मसूका की मांग को लेकर प्रदर्शन करते हुए टीम मसूका के सदस्य
मसूका की मांग को लेकर प्रदर्शन करते हुए टीम मसूका के सदस्य

 

 

 

मासुका समिति में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील संजय हेगड़े की अध्यक्षता में अनास तनवीर और प्रांजल किशोर भी शामिल हैं।

 

प्रस्तावित कानून का उद्देश्य कमजोर व्यक्तियों को प्रभावी सुरक्षा प्रदान करना, अपराध करने वाले लोगों को दंडित करना, और पीड़ितों और उनके परिवारों के लिए पुनर्वास और क्षतिपूर्ति प्रदान करना है।

एक नीजी चैनल से बातचीत के दौरान समीति के संस्थापक तहसीन पूनावाला ने कहा था की  “हमने भीड़ द्वारा की जा रही  हत्याओं को एक गैर-जमानती अपराध बनाने का प्रस्ताव दिया है और इसके तहत दोषी ठहराए गए लोगों के लिए आजीवन कारावास की सजा का प्रस्ताव है  । यह भी अनिवार्य है कि न्यायिक जांच के दौरान संबंधित क्षेत्र के स्टेशन हाउस ऑफिसर को आरोपों से बरी ना हो जाने तक के लिए  निलंबित कर दिया जाना चाहिए। यह प्रावधान रखा गया है क्योंकि अगर 100 लोगों की भीड़ एक क्षेत्र में प्रवेश कर रही है और किसी से दुर्व्यवहार कर रही  है, तो यह क्षेत्र के संबंधित पुलिस अधिकारी की सहमति के बिना नहीं हो सकता है। ”

 

 

मसूका की जरुरत क्यों  ..?

 

यह सब जाने के बाद आपके दिमाग में कई सवाल उत्पन्न हो रहे होंगे . जैसे, आजादी के 70 साल बाद देश में अचानक ऐसा क्या हुआ जो देश को मसूका की जरुरत पड़ रही है ? दरअसल इस सवाल का जवाब आपको हाल ही में हुई घटनाओं से मिलेगा . पिछले कुछ समय में देश को भीड़ का एक बहुत ही भयानक चेहरा देखने को मिला . कहीं गौरक्षा के नाम पर तो कहीं देशभक्ति ने नाम पर भीड़ द्वारा लोगों की हत्या की जा रही है .

जुनैद का नाम तो आप लोगों ने सुना ही होगा . 17 वर्षीय जुनैद जब ईद की खरीददारी करके अपने घर बल्लभगढ़ जा रहा था तभी भीड़ द्वारा उसकी हत्या कर दी गयी . ट्रेन में सीट पर हुए विवाद पर भीड़ द्वारा हत्या जैसे गंभीर अपराध को अंजाम दिया गया . ऐसी ही और भी कई घटनाएँ है जैसे बीफ के शक में अख़लाक़ की हत्या और रोहित वेमुला की रहस्यमय मौत .

 

कांग्रेस नेता और टीम मसूका के सदस्य शेहजाद पूनावाला का कहना है की ” मैं आरएसएस को पसंद नहीं करता , लेकिन अगर भीड़ द्वारा आरएसएस के कार्यकर्ता की हत्या की जा रही है तो हम मसूका कानून के द्वारा वहां भी न्याय सुनिश्चित करने के लिए आवेदन करेंगे ”

मसूका को लेकर सरकार का रुख अभी तक सामने नही आया है . यह देखना बाकी है की भीड़ द्वारा लोगों की हत्या पर सरकार कब हरकत में आती है और मसूका को संसद और विधान सभा में पेश करती है .

अगर आप भी मसूका कानून का समर्थन करते है और मसूका कानून को लागू करवाने में टीम मसूका का साथ देना चाहते है तो Twitter पर शेहजाद पूनावाला  , तहसीन पूनावाला , पंखुरी पाठक  और शेहला रशीद आदी से संपर्क कर सकते है .

Video : मुँह बोली बेटी के साथ सेक्स करते पकड़ा गया बलात्कारी बाबा रामरहीम !

0

हरयाणा में कोहराम मचाने वाला बलात्कारी बाबा राम रहीम पर आए दिन सनसनीखेज खुलासे हो रहे है । डेरा सच्चा सौदा प्रमुख रामरहीम पर अपने आश्रम में रह रही लड़कियों के साथ यौन शोषण करने के आरोप है । जिसके चलते सीबीआई कोर्ट ने उन्हें दो मुकदमों में 10-10 साल की सजा सुनाई है ।
अपने आश्रम में तमाम सुख सुविधाओं के बीच आईआशी के साथ रहने वाले बाबा राम रहीम अब जेल की काल कोठरी में रहने के लिए मजबूर है । राम रहीम को अब ना तो 56 भोग मिलेंगे और ना ही मिनरल वाटर मिलेगा । बाबा को अब जेल में बाकी आम कैदियों की तरह रहना पड़ेगा ।

इसी बीच बाबा राम रहीम पर एक और सनसनी खेज आरोप लगा है । एक हिंदी न्यूज़ चैनल के अनुसार कोर्ट जाते वक्त बाबा रामरहीम अपनी मुंह बोली बेटी हनीप्रीत के साथ सेक्स कर रहे थे । कुछ सालों पहले हनीप्रीत के पति ने भी बाबा पर हनीप्रीत के साथ अवैध संबंध रखने के आरोप लगाए थे ।

कोर्ट जाते वक्त गाड़ियों का काफिला लेकर आए बाबा रामरहीम की पोल खोलते हुए न्यूज़ चैनल के रिपोर्टर ने बताया कि बाबा की गाड़ी में बहुत ही आपत्तिजनक चीजें पाई गई । रिपोर्टर के अनुसार गाडी के पीछे ज्यादातर मेडिकल समान , महिलाओं का सामान और साथ ही कुछ अंतर्वस्त्र भी पाए गए , बड़ी तादात में यहाँ पे दवाइयां भी पाई गई ।  देखने पर पता चलता है कि कार में बाबा अपने साथ एक डिस्पेंसरी ही लेकर चल रहे थे ।

वीडियो में दावा किया गया है कि बाबा अपने साथ गाड़ी में सेक्स से जुड़ी दवाई और कंडोम आदि लेकर चल रहे थे ।
बाकी जानकारी के लिए नीचे दिए गए वीडियो को देखें..

 

क्या अब स्कूल यूनिफॉर्म का रंग भी हो जाएगा भगवा! पढ़िए बड़ी खबर

0

यूपी के सीएम की कुर्सी पर काबिज होने के बाद से योगी आदित्यनाथ धड़ाधड़ फैसले ले रहे हैं। यूपी के विकास के लिए योगी लगभग हर रोज अलग-अलग विभागों के अफसरों और मंत्रियों के साथ मीटिंग कर रहे हैं। सरकारी योजनाओं का लाभ आम जनता तक पहुंचे इसे लेकर वे बेहद गंभीर हैं। बीते दिनों बेसिक शिक्षा विभाग की हुई प्र‍ेजेंटेशन के दौरान कुछ ऐसा वाक्या घटित हुआ जिससे यह साफ़ है कि सीएम योगी जनता के लिए काम करना चाहते हैं।

भगवा वेश में आतंकी कर रहे है यूपी में हमले की तैयारी।

0

यूपी में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए आतंकी संगठनों ने भगवा चोले को ढाल बनाया है। आतंकी संगठनों ने किशोर उम्र के आतंकियों को साधु और तांत्रिक के वेश में प्रशिक्षित कर यूपी में उतार दिया है। यह लोग प्रमुख धार्मिक स्थलों के अलावा प्रतिष्ठित संस्थानों को भी निशाना बनाने की तैयारी में हैं। एमपी पुलिस की इंटेलिजेंस यूनिट से जानकारी मिलने के बाद यूपी की सुरक्षा शाखा ने सभी जोन के आईजी, रेंज के डीआईजी, जिलों के कप्तान व एएसपी रेलवे को अलर्ट कर दिया है। इसके अलावा शुक्रवार की रात से खुफिया एजेंसियों को भी चौकन्ना कर दिया गया है।
क्या हैं इनपुट्स?
एमपी इंटेलिजेंस से मिले इनपुट के मुताबिक, आतंकी वारदात के लिए यूपी में भेजे गए युवा 17-18 साल के हैं। इन लोगों को हिंदू धर्म के रीति-रिवाजों की ट्रेनिंग दी गई है। यह लोग साधु संतों व तांत्रिकों के वेश में रहते हैं। इसी साल फरवरी में 20-25 युवाओं को आतंकी संगठनों ने भारत-नेपाल बॉर्डर से यूपी में भेज दिया है। यूपी में घुसने के बाद इन लोगों ने हिंदू बहुल शहरों में हिंदू बस्तियों में ठिकाना बना लिया है। पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों से बचने के लिए आतंकी अपना हिंदू नाम रखकर किराए के मकान में रहने की योजना लेकर दाखिल हुए हैं। अयोध्या, काशी, मथुरा के अलावा आगरा का ताज महल, इलाहाबाद और लखनऊ की हाई कोर्ट बिल्डिंग, विधान भवन, सचिवालय के अलावा प्रमुख प्रतिष्ठान, रेलवे स्टेशन और भीड़ भाड़ वाले बाजार इनके निशाने पर हैं।

ऑपरेशन कृष्णा इंडिया से है ताल्लुक

पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई ने हिंदू रीति रिवाजों का प्रशिक्षण देकर एजेंटों को हिंदू आबादी में प्रवेश करवाने के लिए ऑपरेशन कृष्णा इंडिया शुरू किया था। इन एजेंटों को भी उसी का हिस्सा माना जा रहा है। आईएसआई की योजना इन एजेंटों को साधु वेश् में धार्मिक स्थलों में स्थापित करने की है, ताकि वह अपना काम आसानी से कर सकें। उसके बाद यह लोग धार्मिक विद्वेष फैलाने के साथ ही किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की रणनीति बना सकते हैं।

इस्लामिक स्टेट मॉड्यूल से भी मिले इनपुट

इसी साल मार्च में एमपी, लखनऊ व कानपुर से गिरफ्तार इस्लामिक स्टेट के खुरासान मॉड्यूल के एजेंट्स और मास्टरमाइंड गौस मोहम्मद से भी इंटेलिजेंस को अहम इनपुट मिले हैं। गौस मोहम्मद लखनऊ में करन खत्री बनकर किराए के मकान में रह रहा था। इसके अलावा 12 सितंबर 2014 को बिजनौर में हुए आईईडी ब्लॉस्ट की घटना में मारे गए सिमी आतंकियों (खंडवा जेल से फरार हुए थे) के हाथ में भी कलावा और माथे पर तिलक मिला था। जेल से फरार होने के बाद इन लोगों ने हिंदू नामों से बिजनौर में किराए का मकान लिया था। फिलहाल खुफिया एजेंसियां अब यूपी में दाखिल एजेंट्स को भी इन्हीं आतंकियों की कड़ी का हिस्सा मानकर छानबीन कर रही हैं।

गोंडा में दलित ने की आत्महत्या, गोहत्या के आरोप से बंद था हुक्का-पानी।

0

यूपी में गोंडा में गलती से गाय की हत्या करने वाले एक दलित नौजवान ने खुदकुशी कर ली. 18 साल के रामू को गांववालों के बहिष्कार का सामना करना पड़ रहा था.
ट्रेन के सामने कूदा रामू
पुलिस को रामू का शव शनिवार की सुबह इटियाथोक थाना क्षेत्र के बहलोलपुर गांव के पास मिला. गांववालों के मुताबिक वो घास काटने की बात कहकर घर से निकला था. कुछ देर बाद ही उसकी मौत की खबर मिली. हालांकि उसके पास से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं किया गया.

गलती से हुई थी बछड़े की हत्या
रामू गोपालपुर बरंडी गांव में अपनी मां और तीन भाइयों के साथ रह रहा था. मजदूरी से पेट पालने वाले रामू की अभी शादी भी नहीं हुई थी. तीन दिन पहले खूंटा गाड़ते वक्त उसका हथौड़ा गलती से बछड़े के सिर पर जाकर लगा जिसके बाद उसकी मौत हो गई.

बहिष्कार कर रहे थे गांववाले
घटना के बाद गांववालों की कई बैठकें हुईं. ये फैसला किया गया कि पंचायत के आखिरी फैसले तक रामू का बायकॉट किया जाएगा. गांव के रिवाज के मुताबिक गोहत्या करने वाले शख्स को साल भर के लिए गांव से बाहर अकेले रहना होता है. इस दौरान उसे खाना भी खुद ही बनाना पड़ता है. बछड़े की मौत के बाद गांव के लोग रामू से बोलचाल नहीं कर रहे थे.

इंसाफ के लिए बुलाई गई थी पंचायत
रामू की मां बहिष्कार के बाद अपने बेटे की परेशानी से वाकिफ थी. वो बेटे की बेगुनाही साबित करने के लिए पंचायत बुलाने की तैयारी कर रही थी. इस सिलसिले में गांव की प्रधान से मिलने के करीब घंटे भर बाद ही उसे बेटे की मौत की खबर मिली.

कन्हैया ने लिखा आंबेडकर के नाम खत, साधा मोदी सरकार पर निशाना।

0

कल संविधान जनक बाबा भीमराव आंबेडकर की जयंती थी, ऐसे में जेएनयू के पूर्व छात्र नेता कन्हैया कुमार ने एक खत लिखा। उसने अपने खत में लिखा कि आपको क्रांतिकारी नीला और लाल सलाम, आपको यह खत इसलिए लिख रहा हूं क्योंकि इस मौके पर मैं आपके दिल का हाल जानना चाहता हूं। मैं जानना चाहता हूं कि आपको कैसा लगता है जब कोई बातें आपकी करे और संविधान को लागू करने की बजाए मनुस्मृति को लागू करने की कोशिश करे।
इस खत में कन्हैया ने आत्म सम्मान, न्याय और समानता जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने खत में कहा कि आज समाज के लोग डर में जी रहे हैं उनसे उनकी आजदी को छीनी जा रही है। वहीं पंजाब विश्वविद्यालयों मामले को लेकर भी खत में चिंता जताई है और कहा कि फीस वृद्धि का विरोध करने पर छात्रों के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज कराया जा रहा है।
कन्हैया ने खत में बाबा भीमराव आंबेडकर से शिकायत करते हुए कहा कि आपने जो इस समाज को रास्ता दिखाया था। आज समाज उससे भटकाया जा रहा है, लेकिन हम आपको यह विश्वास दिलाते हैं कि हम आपकी बताई आजादी को हासिल करके रहेंगे।
वहीं, रोहित वेमूला को याद करते हुए कन्हैया ने खत में लिखा कि आप हमारे जैसे कई युवाओं के लिए प्रेरणा के स्त्रोत हैं, लेकिन विश्वविद्यालयों में ऐसी परिस्थितियां पैदा की जा रहीं हैं कि जिसमें रोहित जैसे बेहद प्रतिभावान छात्रों की जीवन जीने की इच्छा तक को मार दिया जा रहा है।

भाजपा सरकार नही चाहती राम मंदिर निर्माण काँग्रेस के पूर्व प्रधानमंत्री ने तैयार कर रखी थी मंदिर निर्माण की रूपरेखा: दिग्विजय सिंह

0

Newbuzzindia : कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने अयोध्या में राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि अयोध्या की विवादित जमीन पर कभी मस्जिद थी ही नहीं। उन्होंने कहा कि विश्व हिंदू परिषद ने जिसे मस्जिद बताकर गिराया था वो मंदिर था और इसके प्रमाण भी मिले है।

दिग्विजय सिंह ने कहा कि भाजपा मंदिर निर्माण कराना ही नहीं चाहती है। उन्होंने बताया कि 1996 में कांग्रेस सरकार बन जाती तो मंदिर निर्माण हो गया होता। पूर्व प्रधानमंत्री नरसिंम्हा राव ने राम मंदिर निर्माण की रूपरेखा तैयार कर ली थी।

इस मौके पर गौ-हत्या पर भी दिग्विजय सिंह ने बयान दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस गौ-हत्या के खिलाफ है। वो चाहते है कि देशभर में गौ-हत्या बंद हो। लेकिन इस मामले में भाजपा का दोहरा चरित्र है। दिग्विजय ने कहा कि केरल में भाजपा नेता ने मतदाताओं से कहा है कि वो उन्हें जिता देंगे तो उनके लिए अच्छे बीफ की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा गोवा, अरूणाचल और मणिपुर में बीजेपी की सरकार है, तो फिर वहां गौ-हत्या क्यो हो रही है।
गोटेगांव में परमहंसी आश्रम पहुंचे एमपी के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने ईवीएम मशीन की निष्पक्षता पर खड़े किए सवाल करते हुए उसे भाजपा की साजिश बताया वही बैलेट पेपर से मतदान करने की वकालत की।

महिलाओं के सम्मान में भाजपा मैदान में, सेक्स रैकेट चला रही थी भाजपा की महिला नेता, जबरन करवाती थी देह व्यापार।

0

महिलाओं के सम्मान की बात करने वाली भारतीय जनता पार्टी की महिला नेता ने महिलाओं को रोज़गार प्रदान करने का नया तरीका ही इज़ाद कर दिया एव जबरन महिलाओं से देह व्यापार करवाते हुए पकड़ी गयी। प्रतापगढ़ जिले की बीजेपी की महिला नेता और पूर्व सभासद सेक्स रैकेट का कारोबार प्रतापगढ़ में चला रही थी और पुलिस को कानों कान खबर नहीं हुई।

राष्ट्रीय महिला आयोग में जब एक युवती ने जबरन देह व्यापार कराने की शिकायत दर्ज कराई तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। महिला ने प्रतापगढ़ के मीरा भवन की रहने वाली पूर्व सभासद और बीजेपी नेता रमा मिश्रा के खिलाफ देह व्यापार का आरोप लगाया है।

दिल्ली के गोविंदपुरी थाने में भाजपा नेत्री रमा मिश्रा समेत पांच पर देह व्यापार का केस दर्ज किया गया है। साल 2015 से जनपद के साथ गैर जनपदों में भी देह व्यापार का धंधा चल रहा था।

वहीं पुलिस ने इस संबंध में कार्रवाई करते हुए जब बीजेपी नेता के घर पर छापेमारी की, तो वह फरार हो गई। पुलिस बीजेपी नेता की तलाश में जुटी है।

पीएम मोदी और अमित शाह की आलोचना पर इतिहासकार रामचंद्र गुहा को मिल रहे है धमकी भरे ईमेल।

0

इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने मंगलवार को कहा कि बीजेपी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करने के चलते उन्हें कई धमकी भरे ईमेल आए हैं। इन ईमेल में उन्हें ‘दिव्य महाकाल’ से सजा की चेतावनी दी गई है। फोन पर बातचीत में उन्होंने बताया कि बीते तीन-चार दिनों में उन्हें दर्जनों ईमेल मिले हैं। सभी में एक जैसी ही बात लिखी है साथ ही इनमें पत्रकारों और नेताओं को मार्क किया गया है। एक ईमेल उन्होंने हमारे साथ भी साझा किया।

इस संबंध में उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘कई लोगों ने मुझे एक जैसे ईमेल भेजे हैं जिसमें उन्होंने चेताया है कि बीजेपी की आलोचना करने के लिए मैं दिव्य महाकाल की सजा के लिए तैयार रहूं। मुझे यह भी चेतावनी दी गई है कि मैं नरेंद्र मोदी और अमित शाह की आलोचना न करूं क्योंकि दिव्य शक्ति महाकाल ने उन्हें दुनिया बदलने के लिए चुना है और आशीर्वाद दिया है।’

उन्होंने कहा, ‘जब मुझे कई मेल मिले तो मुझे लगा कि इन्हें ट्विटर पर डाल दूं, ताकि दूसरे लोगों को आंशिक रूप से रोक सकूं।’

इन ईमेल्स में गुहा के बीते सालों में दिए गए कई बयानों का हवाला दिया गया है। दिसंबर 2015 में गुहा ने मौजूदा सरकार को बुद्धिजीवियों का विरोध करने वाली देश की अब तक की सबसे बड़ी सरकार करार दिया था। बीते साल नवंबर में टाइम्स लिटरेचर फ़ेस्टिवल में उन्होंने कहा था कि उन्हें पूर्व पीएम इंदिरा गांधी और पीएम मोदी में समानताएं दिखती हैं।

यह मामला जून 2016 में गुहा के ‘द टेलीग्राफ’ अखबार में लिखे एक कॉलम से शुरू हुआ था। इसमें उन्होंने लिखा था, ‘इंदिरा गांधी की तरह ही नरेंद्र मोदी एकाकी हैं।’ इसमें उन्होंने अमित शाह की तुलना संजय गांधी से करते हुए लिखा था, ‘उन्हें भी सत्ता का लोभ है।’