Monday, August 2, 2021
Home Tags Crime Branch Bhopal

Tag: Crime Branch Bhopal

पेट्रोल पंप का कर्मचारी निकला चोरी का मास्टरमाइंड ,दोस्त के साथ मिलकर उड़ाए लाखों रुपए

0

राजधानी भोपाल के ऐशबाग थाना क्षेत्र अंतर्गत चोरी की घटना सामने आई है जहां पर पुलिस ने चोरी का 3 घंटे में ही पर्दाफाश कर दिया। बता दें कि पुल बोगदा स्थित एक पेट्रोल पंप पर चोरी की गई जिसके सीसीटीवी फुटेज भी सामने आए है। जिसमें चोरी की घटना करते हुए चोर के हुआ है और गुल्लक से पैसे निकालते हुए सीसीटीवी कैमरे में दिखाई दिया है।

ऐशबाग थाने में पदस्थ एस आई निलेश अवस्थी ने जानकारी दी कि जैसे ही सूचना मिली हमने मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत सीसीटीवी फुटेज देखी। और सीसीटीवी फुटेज में चोर द्वारा काला कलर का टोपी वाला कोट पहनकर आते हुए दिखाई दिया। और फिर वहां पर सोया हुआ कर्मचारी भी पेट्रोल पंप का दिखाई दिया और उसकी पीठ के पीछे से चोरी हो गई। उसके बाद शक कर्मचारी पर हुआ उसे हिरासत में लिया और पूछताछ की।

इस पूरी चोरी का मास्टरमाइंड पेट्रोल पंप का कर्मचारी ही था। अपने दोस्त के साथ मिलकर चोरी की घटना को अंजाम दिया और ₹120000 गुल्लक से निकाल लिए। जब यह सूचना पुलिस का गई तो पुलिस ने पेट्रोल पंप कर्मचारी को संदिग्ध मानते हुए उससे कड़ाई से पूछताछ की। उसने सारी वारदात कबूली और उसके बाद उसका साथी जिस ने चोरी की थी उसे भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

क्राइम ब्रांच भोपाल की बड़ी कार्यवाही, रेमडेसिविर इन्जेक्शन की कालाबाजारी करते हुए 04 आरोपियों को किया गिरफ्तार

0

क्राइम ब्रांच भोपाल की टीम ने कोरोना महामारी के बीच बड़ी कार्यवाही की है। क्राइम ब्रांच की टीम को विश्वश्नीय मुखबिर ने सूचना दी की शाहजहानाबाद इस्लामी गेट पर कुछ लडके कोरोना दवा के इन्जेक्शन को ब्लैक में बेचने के लिये खडे है। जिन्हे ऊची कीमत पर बेचा जा रहा है। सूचना मिलने पर क्राइम ब्रांच ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

मामला राजधानी भोपाल का है जहाँ पर क्राइम ब्रांच ने शाहजहांबाद इस्लामी गेट पर दबिश देकर 04 लोगों को गिरफ्तार किया है पकड़े गए आरोपियों के नाम शमी खान निवासी शाहजहानाबाद,अखलाख खान निवासी डीआईजी बंगला,डॉ एहशान खान निवासी एमआईजी कॉलोनी करोंद और नोमान खान निवासी शाहजहानाबाद हैं।

क्राइम ब्रांच ने जब विश्वस्त मुखबिर की सूचना पर इन चारों की तलाशी ली तो इनके कब्जे से 04 नग रेमडेसिविर इन्जेक्शन जिनका इस्तेमाल कोरोना मरीज के इलाज में किया जाता है मिले जिनके संबंध में दस्तावेज मांगे गये तो आवश्यक दस्तावेज न होना बताया गया और कालाबाजारी करते पाये जाने से विधिवत जप्त किये गये।

पुलिस ने ओरापीगणों के विरूद्ध अपराध क्रमांक 122/2021 धारा 269, 270 भादवि धारा 53/57 आपदा प्रबंधन अधिनियम, धारा 3 महामारी अधिनियम, धारा 3/7 आवश्यक वस्तु अधिनियम, धारा 5/13 म.प्र. ड्रग कन्ट्रोल अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। विवेचना जारी है।

ऐसे मिले थे इंजेक्शन

पूछताछ में आरोपीगणों ने बताया कि हम लोगों को रेमडेसिविर इन्जेक्शन शाहजहानाबाद निवासी नोमान खान से 07 हजार रूपये प्रतिनग के हिसाब से दिए थे। जिन्हे हम लोग जरूरतमंद कोरोना मरीजों को 12 हजार से 18 हजार रूपये में बेचकर लाभ अर्जित करने की नियत से इन्जेक्शन बेचने की फिराक में खडे थे।