Friday, September 24, 2021
Home Tags Corona update

Tag: corona update

भोपाल के इस ऑटो वाले ने बचाई 10 लोगों की जान

0

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के चलते हाहाकार मचा हुआ है। मरीज अस्पतालों में भटक रहे हैं।ऐसे में राजधानी भोपाल के एक ऑटो ड्राइवर अपने काम से दूसरों के लिए सेवा की मिसाल पेश कर रहा है। अपने ऑटो को चलते-फिरते एंबुलेंस में तब्दील कर जावेद खान नाम का शख्स अब तक 8-10 लोगों की जान बचा चुका है।

बता दे कि 18 साल से ऑटो चला रहे जावेद खान के पास ज्यादा संसाधन नहीं है। ऐसे में परिवार के लोगों ने उन्हें कहा कि अपने ऑटो को एंबुलेंस बना लें। तब उन्होंने कुछ दवाएं और सैनिटाइजर के साथ ऑक्सिजन का एक सिलिंडर साथ में रखा और लोगों का मदद करने के लिए बाहर निकल गए।

दरअसल जावेद ने कहा कि वे अपने पैसों से ऑक्सिजन का सिलिंडर भराते हैं। इसमें उन्हें 3-4 घंटों का समय लगता है और हर बार 600 रुपये खर्च होते है। उन्होंने ये भी कहा कि अगर उधार लेकर ये काम करना पड़े तो भी कोई दुख नहीं होगा।

कोरोना से लड़ने के लिए भारत को मिली सफलता, इस दवा को मिली मंज़ूरी

0

भारत में कोरोना की रफ्तार काफी तेज हो गई है। इस बीच कोरोना को मात देने के मिशन को रफ्तार देने के लिए भारत सरकार की ओर से बड़ा कदम उठाया गया है। बता दे कि शुक्रवार को भारत के ड्रग्स रेगुलेटर की ओर से Zydus की Verafin को मंजूरी दे दी गई है।  इस Verafin का इस्तेमाल कोरोना पीड़ितों के इलाज में किया जा सकेगा।

दरअसल शुक्रवार को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने जायडस की इस ड्रग को मंजूरी दी है। जायडस का दावा है कि इसके इस्तेमाल के बाद 7 दिन में 91.15 फीसदी कोरोना पीड़ितों का RT-PCR टेस्ट नेगेटिव आया है। इस एंटीवायरल ड्रग के इस्तेमाल से कोरोना मरीजों को राहत मिलती है और लड़ने की ताकत मिलती है। कंपनी ने ये भी दावा किया है कि कोरोना होने के शुरुआती वक्त में अगर Virafin दी जाती है, तो मरीज को कोरोना से उबरने में मदद मिलेगी और कम तकलीफ होगी।

अभी ये ड्रग्स सिर्फ डॉक्टर की सलाह के बाद ही किसी मरीज को दी जाएगी, इन्हें अस्पतालों में उपलब्ध कराया जाएगा। कंपनी ने इस ड्रग का भारत के करीब 25 सेंटर्स पर ट्रायल किया था, जिसमें अच्छे नतीजे देखने को मिले है। बताया जा रहा है कि इस ड्रग को लेने के 7 दिन बाद कोरोना मरीज में अंतर देखने को मिले है। और RT-PCR कोविड टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

मध्यप्रदेश में पिछले 20 दिनों में कोरोना संक्रमण 5 गुना बढ़ा

0

प्रदेश में कोरोना संक्रमण रोकने में तमाम सरकारी प्रयास कमजोर साबित हो रहे हैं। बता दे पिछले 20 दिनों में प्रदेश में हर दिन मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। सरकार ने संक्रमण की चैन तोड़ने के लिए ने क्या कुछ नहीं किया, ज्यादा संक्रमण वाले शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में जनता कर्फ्यू लगाया, मास्क न पहनने वालों के खिलाफ सख्ती दिखाई फिर भी संक्रमण कम नहीं हो रहा है।

दरअसल सरकार ने अस्पतालों में बिस्तर, ऑक्सीजन, रेमडेसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति बढ़ाई, निजी अस्पतालों से मुफ्त इलाज के लिए अनुबंध किया और मामूली लक्षण वाले मरीजों के लिए कोरोना केयर सेंटर शुरू किए गए हैं। उसके बाद भी देखा जा रहा है कि संक्रमण में रुकावट नहीं आ रही है।

बहराल लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण ने प्रदेश में हाहाकार मचा दिया है। हम यदि पिछले 20 दिन की बात करें, तो 1 अप्रैल को प्रदेश में संक्रमण के 2546 नए मामले आए थे। उस दिन प्रदेश में 18 हजार 57 संक्रमित लोग थे। यह आंकड़ा महज 20 दिन में 5 गुना बढ़ गया है।

बता दे कि बढ़ते संक्रमण और अस्पतालों में जगह कम पड़ने की स्थिति बनने पर सरकार ने प्राइवेट अस्पतालों से अनुबंध किया, तो सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या भी बढ़ाई। 14 अप्रैल को 37 हजार बिस्तर थे, जो बढ़कर 40 हजार हो गए हैं। इसी के साथ साथ 50 जिलों में 109 कोविड केयर सेंटर खोले गए है।

नरेंद्र मोदी ने किया देश को संबोधित, कहा लॉकडाउन सबसे अंतिम विकल्प

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने देश के नाम संबोधन किया। उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि कठिन से कठिन समय में भी हमें धैर्य नहीं खोना चाहिए। किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए हम सही निर्णय ले और सही दिशा में प्रयास करे तभी हम विजय हासिल कर सकते है।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं देश के सभी डॉक्टरों, मेडिकल स्टाफ, पैरा मेडिकल स्टाफ को धन्यवाद करता हूं। मोदी ने कहा कि जिन लोगों ने अपने को खोया है, मैं उनके परिजनों को प्रति संवेदना जताता हूं। चुनौती बड़ी है लेकिन हमें मिलकर अपने संकल्प और हौसले के साथ इसको पार करना है।

राज्य सरकार को लॉकडाउन से बचने की करी अपील

उन्होंने राज्यों से अनुरोध किया है लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के रूप में रखे। जनता से अपील करते हुए कहा कि दवाई के साथ साथ कड़ाई भी जरूरी है और इसे अपना मंत्र बना लेना चाहिए।

नहीं पढ़े लॉकडाउन की नौबत

मोदी ने कहा कि लॉकडाउन सबसे आखिरी विकल्प है। उन्होंने युवा साथियों से अनुरोध करते हुए कह कि वो अपने क्षेत्र में छोटी-छोटी कमेटिया बनाएं जिससे लोगों के बीच जागरूकता बढ़े।

सरकारी अस्पताल में फ्री मिलेगी वैक्सीन

बता दे कि पहले की तरह आगे भी सभी सरकारी अस्पताल में फ्री में वैक्सीन मिलती रहेगी। सभी इसका लाभ उठा सकेंगे। सभी का प्रयास जीवन बचाने के लिए है।

श्रमिकों का जीते भरोसा

मोदी ने कहा कि 18 वर्ष के उम्र के लोगों को तेजी से वैक्सीन उपलब्ध होगी।श्रमिकों को भी वैक्सीन तेजी से दिया जाएगा। राज्य सरकार श्रमिकों का भरोशा जताए रखे। और यह भी कहा कि वो जहा है वहीं रहे उन्हें वहां वैक्सीन भी मिलेगी और काम भी।

कोरोना वैक्सीन को लेकर भारत की बॉयोटेक कंपनी ने कही ये बड़ी बात

0

देश मे बढ़ते कोरोना संक्रमण के मद्देनजर सरकार ने 18 साल के अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाने का फैसला किया है। लेकिन अब वैक्सीन की उत्पादन क्षमता पर सवाल उठाया जा रहा है। ऐसे में भारत बायोटेक की तरफ से बयान आया है कि साल में कोवैक्सीन की 70 करोड़ खुराक बढ़ाई जा सकती है।

कंपनी ने बताया कि भारत बायोटेक कम समय में कोवैक्सीन बनाने की क्षमता का विस्तार करने में सक्षम है। इसका मुख्य कारण विशेष रूप से डिज़ाइन किये गए BSL-3 सुविधाओं की उपलब्धता है। कंपनी ने यह भी कहा कि टीका निर्माण में क्षमता विस्तार एक लंबी प्रक्रिया है। जिसके लिए कई करोड़ रुपये और कई वर्षों के निवेश की आवश्यकता होती है।

बता दें कि कोवैक्सीन को दुनिया के कई देशों में आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिली है। इसके साथ ही 60 के करीब देशों में बातचीत जारी है। मैक्सिको, फिलीपींस, ईरान, पैराग्वे, ग्वाटेमाला, निकारागुआ, गुयाना, वेनेजुएला, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे सहित कई अन्य देशों में आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिली है।

इंदौर के एक परिवार ने 16 लाख चुकाए तब मिले शव

0

मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh) के इंदौर(indore) के पांच लोगों के परिवार में से तीन की कोरोना के चलते मौत हो गई। बाकी दो सदस्यों में से भी एक कोरोना संक्रमित(corona infection) है। इंदौर में पादरी परिवार ने रविवार को दस दिन से भी कम समय में तीसरे सदस्य का अंतिम संस्कार किया है। माता पिता, बेटा बहू और एक पोता समेत पांच सदस्य हुआ करते थे। परिवार के चार सदस्यों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है जिसमे से तीन की मौत हो चुकी है।

बताया जा रहा है कि 10 दिनों के भीतर परिवार के मुखिया 86 वर्षीय पादरी ए जे सैमुअल, 83 वर्षीय उनकी पत्नी कुंजम्मा सैमुअल और बेटा जॉनसन सैमुअल की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गई है। जॉनसन की पत्नी शोबी जॉनसन आइसोलेटेड और उनका बेटा फिलोमन जॉनसन कोरोना संक्रमित है, जिसका इलाज अभी भी निजी अस्पताल में चल रहा है। 

बता दे कि मार्च के अंतिम सप्ताह में पादरी के बेटे जॉनसन सैमुअल का हल्का सा बुखार हो गया था, जिसे सामान्य सर्दी बुखार मानते हुए परिवार ने 61 वर्षीय सॉफ्टवेयर इंजीनियर जॉनसन सैमुअल को डॉक्टर से सामान्य दवा दिलवा दी। तबीयत में सुधार नहीं होने के बाद कोरोना जांच करवाई। 1 अप्रैल को जॉनसन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

2 अप्रैल को जॉनसन को अस्पताल में भर्ती कराया। 3 अप्रैल को जॉनसन के पिता और 6 अप्रैल को मां को भर्ती कराया गया। तीनों के इलाज पर अच्छा खासा पैसा खर्च हुआ, लेकिन किसी को भी बचाया नहीं जा सका। शोबी 16 लाख से ज्यादा रुपये का अस्पताल का बिल चुकाकर भी अपनों को नहीं बचा पाई। अभी जॉनसन का बेटा संक्रमित है, जिसका इलाज चल रहा है और शोबी घर में आइसोलेट हैं। 

Corona Update: भोपाल में सरकारी आंकड़ों से इतर आज इतनी हुई मौतें

0

राजधानी में कोरोना की भयावह होती जा स्थिति के बीच आज एकबार फिर कोरोना प्रोटोकॉल से अंतिम संस्कारों में इजाफा हुआ है।

भदभदा श्मशान घाट पर शव जलाने के लिए बनाए गए नए स्टैंड


राजधानी भोपाल में आज 119 लोगों का कोरोना प्रोटोकॉल के तहत हुआ अंतिम संस्कार किया गया जो कल 112 था।

आज भदभदा विश्रामघाट में 69, सुभाष नगर में 40 शवों का कोरोना प्रोटोकॉल से हुआ अंतिम संस्कार हुआ तो वही 10 लोगों को कब्रिस्तान में दफनाया गया।

आज भोपाल में 6900 लोगों से कोरोना सैंपल जांच के लिए भेजे गए जिसमे 1669 लोगो की कोरोना संक्रमण रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
सरकारी आंकड़े में आज भोपाल में सिर्फ 4 मौतें दिखाई गई है।

मध्यप्रदेश के मंत्री ने कोरोना की स्थिति को लेकर दिया अजीब बयान, कहा प्रदेश में ALL IS WELL है

0

मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh) में कोरोना(corona) का डर लगातार लोगों को सता रहा है। किसी को बेड नहीं मिल रहा, कोई ऑक्सीजन(oxygen) के बिना अस्पताल में दम तोड़ दे रहा है और ऐसे में प्रदेश के मंत्री हरदीप सिंह डंग(minister hardeep singh dang) बिल्कुल खुशनुमा माहौल में रहे हैं। एक पत्रकारवार्ता(press conference) में अस्पताल में अव्यवस्थाओं को लेकर जब उनसे सवाल किया गया तब मंत्री ने जवाब दिया कि अस्पताल में सारी चीजें ठीक हैं। सिर्फ निगेटिव माहौल बनाया जा रहा है। अस्पताल में सारी चीजों की आपूर्ति सही समय से हो रही है।

उन्होंने यह तर्क दिया कि मैंने लोगों से बात की है। किसी को कहीं से भी परेशानी नहीं है। सिर्फ लोग सुनी सुनाई बातों पर यकीन कर रहे है। अस्पताल में सारी व्यवस्थाएं मौजूद हैं। उन्होंने यह भी कहा कि जो लोग कह रहे हैं कि ऑक्सीजन और इंजेक्शन नहीं मिल रहा है वह सिर्फ हवा बाज़ी कर रहे है।

वहीं, मंत्री के वीडियो पर दिग्विजय सिंह ने कहा है कि इनको जरा अस्पताल ले जाकर घुमाओ, इन्हें समझ में आ जाएगा कि अस्पतालों की स्थिति क्या है।

Corona Update: सरकारी आंकड़ों से इतर आज में भोपाल में इतनी लाशों का हुआ अंतिम संस्कार

0

भोपाल:-(Bhopal) में कोरोना(Corona) संक्रमण ने तेज रफ्तार पकड़ ली है। कोरोना की दूसरी लहर ने इस शहर को 1984 के भोपाल गैस कांड के उस दौर की याद दिलाना शुरू कर दी है जिसके बारे में पुराने शहर के लोग बात भी करना पसंद नहीं करते।

आज भोपाल के 2 श्मशान घाटों और 1 कब्रिस्तान में 112 लाशों को कोरोना प्रोटोकॉल के तहत जलाया और दफनाया गया।

आंकड़े इस प्रकार हैं

भदभदा में 72
सुभाष विश्राम घाट में 30
झदा कब्रिस्तान में 10

इसके उलट सरकारी आंकड़ों में आज सिर्फ 4 व्यक्तियों की मौत ही दर्शाई गई है।

सैंपल और पॉजिटिव मरीजों की संख्या

आज दिनाँक 15 अप्रैल को भोपाल में 6192 लोगों की कोरोना जांच की गई और सैंपल जांच के लिए भेजे गए जिसमे 1681 लोगो की कोरोना संक्रमण रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

मध्यप्रदेश कांग्रेस के पूर्व मंत्री बीजेपी सरकार के खिलाफ कर रहे है आंदोलन

0

मध्य प्रदेश में कोरोना बेकाबू हो गया है। वहीं भोपाल में भी हालत गंभीर है। भोपाल में सोमवार को ऑक्सीजन की कमी से पांच कोरोना मरीजों की मौत हो गई थी। लेकिन सरकार बार बार दावा कर रही है कि राज्य में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है।

ऐसे में मध्यप्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आज मिंटो हॉल में गांधी जी की प्रतिमा के नीचे खाली ऑक्सीजन सिलिंडर लेकर अपना विरोध जता रहे है। विधायक पी सी शर्मा, पूर्व मंत्री जीतू पटवारी, विधायक कुणाल चौधरी तीनों ही सरकार के खिलाफ मोर्चा लेकर बैठे है।

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने ट्वीट किया कि , मध्य प्रदेश में ऑक्सीजन की डिमांड और सप्लाई में बड़ा अंतर है। भयावह स्थिति है। ऑक्सीजन की कमी से जानें जा रही है। .@narendramodi साँसों से आत्मनिर्भर करो मध्य प्रदेश को !

उन्होंने यह भी लिखा कि ,मध्यप्रदेश में ऑक्सीजन की कमी को लेकर आज भोपाल में मिंटो हॉल स्थित गांधी प्रतिमा स्थल पर गांधीवादी तरीके से प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री @narendramodi जी से मध्यप्रदेश में ऑक्सीजन भेजने का अनुरोध कर रहा हूं।

मध्य प्रदेश सरकार दावा कर रही है कि राज्य में ऑक्सीजन की मात्रा पर्याप्त है। लेकिन भोपाल के 20 से ज्यादा अस्पतालों में ऑक्सीजन को लेकर अफरा-तफरी मची हुई है।