Saturday, October 23, 2021
Home Tags Bjp

Tag: bjp

योगी आदित्यनाथ से नाराज हुए मोदी शाह, बढ़ सकती हैं मुश्किलें?

0

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले क्या भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व और खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह नाराज है? यह ऐसा सवाल है जो कल से हर उस व्यक्ति के मन मे उठ रहा है जो राजनीति को थोड़ा बहुत भी समझता है।

यूपी में फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव के बीच राज्य में चुनावी सरगर्मियां तेजी से बढ़ रही है राज्य की सियासत भी चुनावी मोड में नजर आने लगी है यही कारण है कि चुनाव से ठीक पहले होने वाले सियासी उठापटक और दलबदल भी अक्सर देखे जाने लगे हैं।

इस बीच एक ऐसी खबर आई है जिसे सुनकर भाजपा ऑरकुस के केंद्रीय नेतृत्व की छटपटाहट साफ़ दिखाई देने लगी है खबर है कि 2017 के चुनाव में गृह मंत्री अमित शाह ने भले ही योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का ताज पहना दिया था लेकिन अब वही शाह योगी को पसंद नहीं करते हैं इसकी वजह उत्तर प्रदेश में लगातार हो रही हत्याएं घपले घोटाले के साथ-साथ योगी का कमजोर प्रशासन भी माना जा रहा है जिसमें कई ऐसे फैसले लिए गए जो बाद में भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के लिए किरकिरी का सबब बन गए।

योगी से अमिता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नाराजगी का एक कारण यह भी है कि वह सत्ता और संगठन के बीच आपसी समन्वय बनाने में नाकाम साबित हुए हैं ताजा सर्वे की मानें तो यूपी के 7 परसेंट से ज्यादा विधायक योगी आदित्यनाथ को हटाने के पक्ष में है वह नहीं चाहते कि योगी मुख्यमंत्री बने रहें क्योंकि इससे आगामी चुनाव में उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

बीते दिनों भाजपा के संगठन प्रभारी और आर एस एस के प्रमुख पदाधिकारियों ने भी योगी सरकार के कामकाज का फीडबैक लिया था जिसमें भी नेगेटिव फीडबैक ही मिला था जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खास ब्यूरोक्रेट रहे एक पूर्व आईएएस को उपमुख्यमंत्री पद पर बिठाकर सत्ता और संगठन के बीच में सामंजस्य बनाने की बात सामने आई थी लेकिन वह बात आई गई हो गई।

मुख्यमंत्री से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री किस कदर नाराज हैं इसकी बानगी कल देखने को मिली जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जन्म दिवस के दिन भी प्रधानमंत्री और गृह मंत्री ने उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं देना तक मुनासिब नहीं समझा जबकि कल ही इन दोनों ने कई ट्वीट अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए लेकिन दोनों प्रमुख नेताओं को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का जन्मदिन याद नहीं आया इसे राजनीतिक पंडित शुभ संकेत नहीं मान रहे हैं।

आपको बता दें कि पिछले दो सालों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने योगी आदित्यनाथ को न केवल अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से बधाई दी थी बल्कि योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी को रिप्लाई कर धन्यवाद भी दिया था। वहीं मीडिया की कुछ खबरों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फोन कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जन्मदिन की बधाई दी है।

आपको बता दें कि इसके पहले योगी आदित्यनाथ के हर जन्मदिन पर प्रधानमंत्री और गृहमंत्री उन्हें सोशल मीडिया पर विश किया करते थे लेकिन इस बार उन्होंने ऐसा नहीं किया इसका एक कारण यह भी हो सकता है कि बीते कई दिनों से उत्तर प्रदेश में सरकार में फेरबदल की कई संभावनाएं जताई गई लेकिन अभी तक उसमें अमल नहीं हुआ है हो सकता है कि भाजपा का शीर्ष नेतृत्व योगी की कार्यशैली और उनके क्रियाकलापों से खुश ना हो इस कारण भी वहीं से किनारा करना चाह रहा है ताकि आने वाले चुनाव में भाजपा अपना स्टैंड क्लियर कर सके।

राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के लापता होने का पोस्टर हुआ वायरल

0

मध्य प्रदेश में कोरोना और ब्लैक फंगस के कहर के बीच बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के विदेश जाने की खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि सिंधिया चार दिन ही पहले प्राइवेट जेट से दुबई के लिए रवाना हो गए है। जिसके बाद ग्वालियर में एक पोस्टर तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें जगजीत सिंह द्वारा गाई मशहूर गजल “चिट्ठी न कोई संदेश, जाने वह कौन सा देश, जहां तुम चले गए” लिखा हुआ है।

बता दे कि इस पोस्टर को ग्वालियर से कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने भी साझा किया है। पाठक ने शायराना अंदाज में तंज कसते हुए ट्वीट किया, ‘मत ढूंढो इन्हें संकट के समय मध्य प्रदेश में, सिंधिया जी अपने निजी कार्यों से हैं विदेश में। अपने शहर में जब सब कुछ सामान्य हो जाएगा, इनका कारवाँ तभी यहाँ आएगा। आप तो बैठिए दुबई, जनता है भरोसे राम के, अभी चुनाव थोड़ी है अभी आम लोग आपके क्या काम के।’

प्रदेश की समस्त जनता को निवेदक बताने वाले इस पोस्टर में लिखा गया है कि, ‘महाराज कहां हो आप? भारतीय जनता पार्टी की सरकार मौत के आंकड़ें छिपा रही है। आपके उसूलों पर आंच कब आएगी, आप सड़क पर कब उतरेंगे?’ इसी के साथ 80 के दशक का मशहूर गजब चिट्ठी न कोई संदेश, जाने वो कौन सा देश जहां तुम चले गए लिखा हुआ है।

वहीं कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट किया, ‘जनता चौखट से बाहर निकले तो डंडा, —और ये महाराज बहादुर दुबई की सैर पर..? शिवराज जी, आपके नेताओं को जनता से कोई सरोकार क्यों नहीं बचा..?भारत में उतरने को सड़कें थीं कम, इसलिये दुबई में जनसेवा करेंगे हम।’

दरअसल सिंधिया के विदेश जाने की बात सामने आने के बाद लोगों के मन में एक यह सवाल भी है कि जब अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध लगे हुए हैं तो सिंधिया दुबई कैसे गए? दरअसल, एयर बबल के तहत अंतरराष्ट्रीय उड़ानें चल रही हैं। इस व्यवस्था के तहत चयनित देशों के बीच द्विपक्षीय विमानों का संचालन हो रहा है।

कमलनाथ पर हुई एफआईआर के बाद मध्यप्रदेश कांग्रेस के नेताओं में दिखा आक्रोश, शिवराज के खिलाफ खोला है मोर्चा

0

मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ के खिलाफ भोपाल में एफआईआर दर्ज होने के बाद कांग्रेस नेताओं ने बीजेपी को कोरोना संक्रमण से हुई अब तक की मौतों के लिए जिम्मेदार ठहराया है। कांग्रेस इस मामले को लेकर अब सीएम शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करवाएगी।

बता दे कि पूरा कांग्रेस खेमा अब सक्रिय हो गया है। कांग्रेस के पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा है कि एफआईआर उन लोगों पर होनी थी जिनके कारण इतनी मौतें हुई है। उन्होंने कहा कि जनता के सामने सरकार का असली चेहरा आ रहा है। इसी को लेकर प्रदेशभर में मुख्यमंत्री के खिलाफ कांग्रेस केस दर्ज करवाएगी।

वहीं अरुण यादव ने ट्विटर पर ट्वीट किया है कि एफआईआर सीएम शिवराज की तिलमिलाहट को बताता है। उन्होंने लिखा कि सरकार ने मौत के हजारों आंकड़े छुपाए है। पूरी कांग्रेस कमलनाथ द्वारा सरकार पर लगाए आरोपों का समर्थन करती है.

पूर्व सीएम कमलनाथ की शिकायत करने पहूंची बीजेपी प्रतिनिधि मंडल

0

मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ के बयान के खिलाफ रविवार को भोपाल में बीजेपी प्रतिनिधि मंडल ने ज्ञापन सौपा है। भोपाल के एएसपी ने कहा कि थाना प्रभारी को ज्ञापन दिया गया है और सबूतों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि कमलनाथ ने कोरोना को लेकर शुक्रवार को एक प्रेस वार्ता के दौरान कहा था कि दुनियाभर में देश की पहचान इंडियन कोरोना के नाम से बन गई है। इसी बयान के बाद राजनीति गर्मा गई जिसके चलते आज उनके खिलाफ ज्ञापन सौपा गया है।

कमलनाथ ने ये भी कहा था कि इसकी शुरुआत चीनी कोरोना से हुई थी। अब यह भारतीय वेरिएंट कोरोना है। आज भारत के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री कोविड-19 के भारतीय संस्करण से डरते है। और हमारे ही देश के वैज्ञानिक इसे भारतीय संस्करण कह रहे है। सिर्फ बीजेपी के सलाहकार ही नहीं मान रहे।

उन्होंने मौत के आकड़ो पर कहा कि मैंने गणना की है, अखबारों में 26 जिलों की जानकारी थी और बाकी जिलों से जानकारी जुटा रहा हूं । मार्च और अप्रैल में दाहगृहों में लगभग एक लाख 27 हजार शव पहुंचे थे। उन्होंने ये दावा किया कि इनमें से 80 फीसदी लोगों की मौत कोविड की वजह से हुई थी।

जबलपुर के बीजेपी नेता ने किया कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन, महिला कांस्टेबल से की अभद्रता

0

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री की कही बातों का और कोरोना से रोक ठाम के लिए जो नियम बनाये गए है उनका बीजेपी कार्यकर्ताओं पर असर नहीं हो रहा है।दरअसल जबलपुर में बीजेपी के मंडल महामंत्री और उनका साथी बिना मास्क के ही घूम रहे थे। जब पुलिस की महिला कांस्टेबल ने उन्हें रोका तब वे दोनों अभद्रता पर उतर आए।

बता दे कि बीजेपी मंडल महामंत्री पुष्पराज पटेल, रंजीत ठाकुर, ऋषभ दास में से दो बिना मास्क के निकल रहे थे। वहां पुलिस की चेकिंग लगी थी। उन्हें देख वहां मौजूद लेडी कांस्टेबल गरिमा ने तीनों को रोक बिना मास्क में मिलने पर चालान बनाने की बात कही। यही सुनकर महामंत्री हंगामा करने लगे। धमकी देते हुए कहा कि वर्दी उतरवा कर घर पर बैठा दूंगा। साथ में चिल्ला-चिल्ला ये भी कहा कि यहीं एसपी और कलेक्टर को बुलाओ तभी यहां से उठेंगे।

बिना मास्क में नजर आने वाले बीजेपी नेताओं पर कार्रवाई की उम्मीद की जा रही थी लेकिन हुआ इसके विपरीत। अधिकारियों ने अपने ही लोगों को फटकार लगा दी। फिर माफी मंगाते हुए समझौता करवा दिया।

गरिमा ने सफाई देते हुए कहा कि वह अपनी ड्यूटी कर रही हैं। बिना मास्क मिलने पर सभी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। उनके साथ मौजूद दूसरे पुलिसकर्मी पदाधिकारियों के सामने भीगी बिल्ली बन गए थे। जानकरी मिली है कि पदाधिकारियों ने पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से इसकी शिकायत कर दी। ल

जहां वैक्सीन की कमी पूरे देश मे हो रही है वहीं बीजेपी सांसद अपने घर बुलवाकर करवा रहें है वैक्सीनशन

0

मध्य प्रदेश के उज्जैन में कोरोना संक्रमण के मामले हर दिन बढ़ते जा रहे है। पूरे देश में लोग वैक्सीन लगाने के लिए अपना समय स्लॉट बुक करवाने में लगे है। वहीं सांसद अनिल फिरोजिया अपने घर पर बने कार्यालय पर ही समर्थकों के साथ टीका लगवा रहे हैं। सांसद के इस रवैये पर विपक्ष हमलावर हो गया ।  

बता दे कि विपक्षी दलों ने इस मुद्दे को लेकर अपना मोर्चा खोल दिया है। उज्जैन के कांग्रेस विधायक महेश परमार ने आरोप लगाते हुए कहा कि शहर में जो वैक्सीनेशन सेंटर चल रहे है उसे सांसद आवास में खोल देना चाहिए। विधायक का आरोप है कि लोग वैक्सीन लगवाने के लिए इधर से उधर भटक रहे है और सांसद अपने अधिकार का दुरुपयोग कर रहे है।

वहीं जवाब देते हुए सांसद फिरोजिया ने कहा कि जिन लोगों को टीका लगाया गया है वह सभी समाजसेवी है और ये लोग लगातार लंगर चलाकर जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध करा रहे है। सांसद ने आगे कहा कि यहां पर वैक्सीन लगवाने वाले सभी लोगों ने अपना रिजस्ट्रेशन पहले ही करा लिया था। इस पर हंगामा खड़ा करने की जरूरत क्या है। 

मध्यप्रदेश सरकार पर कमलनाथ ने किया हमला, कहा कि बीजेपी आपदा में भी अवसर निकाल रहीं है

0

मध्य प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के साथ ही नकली इंजेक्शन से हुई मौतों के मामले में कांग्रेस ने प्रदेश सरकार को कसूरवार ठहराया है । पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सरकार से सवाल किया है कि इन माफियाओं को किसका संरक्षण है ? और साथ ही कमलनाथ ने ऐसे लोगों पर कार्रवाई किये जाने की मांग की है।

कमलनाथ ने ट्वीट किया कि , “कोरोना की इस महामारी में मध्यप्रदेश में एक नये तरीक़े का माफिया सामने आया है वो है “ रेमडेसिविर माफिया “ ? जिसने इस संकट काल में कई लोगों की जाने ली है , कई ज़रूरतमंद लोगों को लूटा है , कई लोगों को ठगा है , कई परिवारों को बर्बाद किया है। आख़िर ऐसे माफ़ियाओ को किसका संरक्षण ?

उन्होंने आगे ट्वीट किया कि, ऐसे माफ़ियाओ पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो , ये मानवता व इंसानियत के दुश्मन। गाड़ दूँगा , टाँग दूँगा , लटका दूँगा लेकिन प्रदेश में माफिया ना गड रहे , ना टंग रहे , ना लटक रहे ? आपदा में भी अवसर…”

कोरोना से मुकाबला करने के लिए ट्विटर कंपनी ने भारत को दिए 1.5 cr dollar

0

ट्विटर ने भारत में कोविड-19 संकट का मुकाबला करने के लिए 1.5 करोड़ डॉलर दिए है। ट्विटर के सीईओ जैक पैट्रिक डोर्सी ने सोमवार को ट्वीट किया कि यह राशि तीन गैर-सरकारी संगठनों- केयर, एड इंडिया और सेवा इंटरनेशनल यूएसए को दान की गई है।

उन्होंने कहा कि सेवा इंटरनेशनल एक हिंदू आस्था आधारित मानवीय और गैर-लाभकारी सेवा संगठन है। सेवा इंटरनेशनल के हेल्प इंडिया डिफीट कोविड-19 अभियान के तहत ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, वेंटिलेटर, बायपैप मशीनों जैसे जीवन रक्षक उपकरणों को खरीदा जाएगा।’

उन्होंने आगे कहा कि सेवा की प्रशासनिक लागत लगभग पांच प्रतिशत है जिसका अर्थ है कि दान में मिले प्रत्येक 100 डॉलर सें 95 डॉलर उन लोगों पर खर्च किया जाता है। ह्यूस्टन मुख्यालय वाले सेवा यूएसए ने अब तक भारत में कोविड-19 राहत कार्यों के लिए 1.75 करोड़ अमरीकी डालर जुटाए है।

झूठ बोलने, भय और भ्रम फैलाने की मशीन हैं कमलनाथ- नरोत्तम मिश्रा

0

मध्यप्रदेश सरकार के प्रवक्ता एवं गृह और जेल मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर जुबानी हमला बोलते हुए उन्हें झूठ बोलने,भय और भ्रम फैलाने की मशीन बताया है।

प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में गृहमंत्री मिश्रा ने कहा सच है कि कमलनाथ ने बहुत आदेश निकाले, लेकिन ट्रांसफर उद्योग को छोड़कर उनका एक भी आदेश अमल में नहीं आया।

मिश्रा ने कमलनाथ से पूछा है कि वो कोई एक किसान बता दें, जिसका 2 लाख का कर्ज माफ हुआ हो। कोई एक बेरोजगार बता दें जिसे बेरोजगारी भत्ता दिया हो। मैं आपका अभिनंदन करूंगा।

मिश्रा के कहा ‘यदि आपको झूठ बोलने और भ्रम-भय फैलाने की मशीन देखना हो, तो कमलनाथ जी के बयान लीजिये’ कमलनाथ के आदेश केवल फाइलों तक सीमित थे और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आदेश जनता तक सीमित रहते हैं।

मिश्रा ने कहा आज कमलनाथ का एक बयान आया है कि आयुष्मान योजना के संबंध में आदेश उन्होंने दिये थे। ये कैसा आदेश था, जिससे एक व्यक्ति को इलाज नहीं मिला? मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कभी अपने आप को भगवान नहीं माना, वह हमेशा कहते हैं कि मध्यप्रदेश मेरा मंदिर है, साढ़े सात करोड़ जनता भगवान है और शिवराज इसका पुजारी है।

मिश्रा ने कहा कि कमलनाथ जी आपकी जानकारी अधूरी है, आयुष्मान योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने लागू की थी, जिसमें 60-40 प्रतिशत राशि का अनुपात था। हमारे मुख्यमंत्री ने इसके संबंध में कल कहा और आज आदेश अमल में आ गया। ऐसी सरकार होती है और यह काम के तरीके होते हैं।

मिश्रा के अनुसार मुख्यमंत्री की इस योजना में सीटी स्केन, वेंटीलेटर, आईसीयू फ्री हैं और 90 प्रतिशत लोग इसमें शामिल हैं। एक कार्ड पर किसी परिवार के जितने लोग हैं वह सभी शामिल हैं। आज 90 प्रतिशत आबादी इसमें शामिल हो गई है।

मिश्रा ने कहा कि एक बार फिर कमलनाथ प्रदेश में भ्रम के माध्यम से भय फैलाने का काम कर रहे हैं। इससे पहले यही लोग कमलनाथ और इनके दिल्ली वाले नेताओं ने टीकाकरण पर भ्रम फैलाया था और कहा था कि प्रधानमंत्री जी ने टीका क्यों नहीं लगवाया?

बीजेपी का कार्यकर्ता झूठ फैलाने में हुआ नाकाम,सामने आया बंगाल हिंसा का एक और सच

0

पश्चिम बंगाल में चुनावी नतीजे आने के बाद से भड़की हिंसा में अबतक राज्य के अलग-अलग हिस्सों में 17 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से BJP ने अपने 9 कार्यकर्ताओं की मौत का दावा कर रही है। वहीं TMC 7 कार्यकर्ताओं की।

वहीं एक वीडियो शेयर किया जा रहा है जिसमें आंगन में पड़े अपने पिता की को बेटी पानी पिलाने की कोशिश कर रही है और गिरकर रोने लगती है। इस वीडियो को बंगाल हिंसा का बताया जा रहा है। संदीप ठाकुर नाम के एक यूज़र ने ये वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि राष्ट्रपति शासन लगाकर बंगाल को सेना के हाथ में दे देना चाहिए।

दरसअल ये आंध्रप्रदेश का वीडियो है। इसका पश्चिम बंगाल में हो रही हिंसा से कोई लेना-देना नहीं है। इंडिया टुडे में छपी एक रिपोर्ट में बताया गया है कि कोरोना पीड़ित की बेटी एक बोतल में पानी भरकर अपने पिता को देने के लिए जा रही है लेकिन उसकी मां उसे इस डर से रोक रही है । 50 वर्षीय शख्स ने अपनी बेटी और पत्नी के सामने अंतिम सांस ली।

https://www.indiatoday.in/coronavirus-outbreak/story/heartbreaking-wailing-daughter-fights-mother-water-covid-positive-father-andhra-pradesh-village-1799040-2021-05-05