fbpx
Thursday, April 15, 2021
Home Tags Bihar

Tag: bihar

बिहार विधानसभा चुनाव नतीजे लाइव: महागठबंधन और एनडीए में कड़ी टक्कर

0

बिहार विधानसभा चुनाव में जारी वोटों की गिनती में लगातार रुझान बदल रहे हैं। 243 सीटों के प्राप्त रुझानों में बीजेपी 77 सीटों पर, आरजेडी 61 सीटों पर, जेडीयू 52 सीटों पर, कांग्रेस 22 सीटों पर, भाकपा-माले 13 सीटों पर, वीआईपी छह सीटों पर, एलजेपी 4 सीटों पर और माकपा तीन सीटों पर आगे चल रही हैं, वहीं भाकपा, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, बसपा एवं एआईएमआईएम एक-एक सीट पर तथा निर्दलीय चार सीटों पर आगे चल रहे हैं। दिलचस्प बात यह है कि इस वक्त करीब 47 सीटों पर 100 वोटों से भी कम का अंतर चल रहा है।

एग्जिट पोल में महागठबंधन की जीत का अनुमान
बिहार विधानसभा चुनाव में अधिकांश एक्जिट पोल में आरजेडी नेता तेजस्वी यादव के नेतृत्व में पांच दलों के महागठबंधन को जीत हासिल होने का पूर्वानुमान व्यक्त किये जाने के बीच मंगलवार को मतगणना होगी । राज्य में मतगणना 38 जिलों के 55 मतगणना केंद्रों पर होगी और इसके परिणाम नीतीश कुमार सरकार का भविष्य तय करेंगे । नीतीश कुमार पिछले 15 वर्षो से बिहार के मुख्यमंत्री हैं।

महागठबंधन 103 सीटों पर और एनडीए 126 सीटों पर आगे

हरियाणा उपचुनाव: 10वे राउंड के बाद भी कांग्रेस ने बनाए रखी बड़त, योगेश्वर दत्त पीछे

हरियाणा उपचुनाव: 10वे राउंड के बाद भी कांग्रेस ने बनाए रखी बड़त, योगेश्वर दत्त पीछे

बिहार विधानसभा चुनाव: कल 8 बजे शुरू होगी मतगणना, 243 सीटों के आएंगे परिणाम

0

बिहार विधानसभा चुनाव के कल मंगलवार 10 नवंबर को मतगणना होगी। इसी के साथ इस बात का पता चल जाएगा कि बिहार में महागठबंधन की सरकाकर होगी या एनडीए? मुख्यमंत्री तेजश्वी यक़दव बनेंगे या फिर नीतीश कुमार।

मंगलवार को बिहार विधानसभा की सभी 243 सीटों पर मतगणना सुबह 8 बजे शुरू होगी। परिणामों का रुझान सुबह नौ बजे से आने की संभावना है जबकि वास्तविक परिणाम 2-3 बजे से सामने आने लगेंगे। चुनाव आयोग द्वारा राज्य के सभी 38 जिलों में 55 मतगणना केंद्र बनाए गए हैं।
null

चुनाव आयोग के अधिकारियों के मुताबिक, सबसे पहले बैलेट पेपर से डाले गए मतपत्रों की गणना होगी। सुबह 8:15 बजे ईवीएम से गणना की शुरुआत हो पाएगी। अधिकारियों का कहना है कि ईवीएम से एक राउंड की गणना करने में 15 से 20 मिनट का समय लगेगा। इसलिए पहला रुझान सुबह 8:30 बजे तक आने की संभावना है। मतगणना में लगभग 600 कर्मचारी लगाए गए हैं। कोविड-19 को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है। मतगणना में शामिल कर्मचारियों को कहा गया है कि 10 नवंबर की सुबह छह बजे तक मतगणना स्थल पर पहुंच जाएं ताकि समय से ईवीएम और मतपत्रों की गणना हो सके।

तमाम Exit Polls में महागठबंधन को स्पष्ट बहुमत, मुख्यमंत्री पद के लिए तेजस्वी बने पहली पसंद

0

बिहार विधानसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान खत्म होने के साथ ही विभिन्न मीडिया समूहों के एग्जिट पोल्स के नतीजे सामने आ गए हैं। जिनमें ज्यादातर समूह महागठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिलता हुआ दिखा रहा है। पोल्स में मुख्य बात यह है कि यहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पछाड़ते हुए तेजस्वी यादव पहली पसंद बनकर उभरे हैं।

एक्जित पोल्स के अनुसार महागठबंधन को 180 सीटों तक मिलने की संभावना है। जारी किए गए सर्वे में न्यूज 18- चाणक्य ने महागठबंधन को 180 सीटें मिलने का अनुमान लगाया है । वहीं एनडीए के हिस्से में 55 सीटें जाने की संभावना दी है।


इंडिया टुडे के लिए एक्सिस माइ इंडिया के सर्वे में महागठबंधन को 139 से 161 सीटें तक मिलने की संभावना जताई गई है। वहीं एनडीए का आंकड़ा 69 से 91 तक जा सकता है।


इसके अलावा एबीपी न्यूज-सी वोटर के सर्वे के मुताबिक महागठबंन के खाते में 108 से 131 सीटों की संभावना है वहीं एनडीए को 104 से 128 तक सीटें मिल सकती हैं।


रिपब्लिक- जन की बात के सर्वे में महागठबंधन के लिए 118 से 138 सीटों का अनुमान लगाया गया है और एनडीए के खाते में 91 से 117 सीटें जाती दिखाई गई हैं।


इसके अलावा टाइम्स नाउ- सी वोटर ने महागठबंधन के खाते में 120 और एनडीए के खाते में 116 सीटें जाने का अनुमान लगाया गया है

दैनिक भास्कर ने दिया एनडीए को बहुमत


हालांकि, बाकी सभी एग्ज़िट पोल से अलग दैनिक भास्कर के अनुमान में एनडीए को बिहार में बहुमत मिलता दिखाया गया है। भास्कर ने एनडीए को 120-127 सीटें मिलने का अनुमान लगाया है, जबकि महागठबंधन को 71-81 सीटें मिलने की बात कही गई है। वहीं इस एग्जिट पोल में एलजेपी के लिए अच्छी खबर है। एलजेपी को इसमें 12-23 सीटें दी गई हैं और अन्य पार्टियों को 19-27 सीटें मिलती बताई गई हैँ।

मुख्यमंत्री के लिए तेजस्वी पहली पसंद


एग्जिट पोल में महत्वपूर्ण बात यह है कि यहां मुख्यमंत्री पद के लिए पसंद में आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को पछाड़ दिया है। इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया के मुताबिक बिहार के 44 फीसदी लोगों की पसंद तेजस्वी यादव हैं। वहीं, इस रेस में नीतीश कुमार पीछड़कर 35 फीसदी पर पहुंच गए हैं। वहीं एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान को महज 7 फीसदी लोग ही मुख्यमंत्री का पसंद मानते हैं।

बता दें कि चुनाव संपन्न होने के बाद अब नतीजों के लिए सभी को 10 नवंबर का इंतजार है।

दिल्ली को पूर्ण राज्य और बिहार को मिले विशेष राज्य का दर्जा: नितीश कुमार

0

बिहार का मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने आज दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होते हुए दिल्ली को पूर्ण राज्य और बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग की है। कार्यक्रम में नितीश कुमार ने कहा कि हमारी पार्टी ने हमेशा ही दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग की है और इसी तरह हम बिहार के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग करते है।

बता दें अरविंद केजरीवाल काफी समय से दिल्ली कोे पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग कर रहे है। विधानसभा चुनाव के दौरान आम आदमी पार्टी के साथ ही भाजपा और कांग्रेस ने भी दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने का वादा किया था लेकिन विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद भाजपा ने इस मुद्दे पर यू टर्न मार लिया था।

Bihar And Jharkhand Death Increases To 51

0

Apart from car accidents which are the towering reason of death in many countries, the lightning during rainy reason is another. The state of Bihar and Jharkhand have witnessed 51 deaths where 9 others were severely injured due to lightning bolts says the state police on Wednesday.

Many people have suffered dead injuries having been struck by lightning at broad daylight. The highest number of deaths was reported from Jamui in Bihar with eight death. Aurangabad with seven, Bhagalpur, Banka and East Champaran (four each), Rohtas (three), Nawada, Nalanda and Katihar (two each) and Munger, Arwal and Gaya (one each) says the state Disaster Management department.

Each deceased person will be paid with Ex-gratia by the state in keeping with the government policy, while proper treatment will be ensured for the injured.

A similar situation was spotted in Jharkhand where two persons were injured when they were returning back from a pond after a bath. They stood under a road bridge when lightning struck them.

Every year people are dying due to natural calamity, a change is therefore needed to be established at the ground root level.

Encephalitis maniac in Bihar, Death toll rises to 57

0

The death toll of children due to suspected Acute Encephalitis Syndrome (AES) in Muzaffarpur on Friday went up to 57.

The State government has announced that it will open a new 100-bed ward for children, and six additional ambulances would be deployed for the government-run Sri Krishna Medical College and Hospital (SKMCH).

Earlier on Wednesday, a four-member team of doctors, led by Dr. Arun Sinha, visited the SKMCH, where children with symptoms of AES have been admitted. The team then issued guidelines and suggestions to local medical experts and doctors.

Though the State government had previously said the cause of death of small children, mostly from poor families, was hypoglycemia, or low blood sugar levels, experts and private doctors in Muzaffarpur told The Hindu that “AES is a broader aspect of hypoglycemia”.

What is Encephalitis?

Image Source: PainAssist.com

According to WHO, viral encephalitis is inflammation of the brain, caused by any one of a number of viruses. Symptoms include high fever, headache, sensitivity to light, stiff neck and back, vomiting, confusion and, in severe cases, seizures, paralysis and coma. Infants and elderly people are particularly at risk of severe illness. Arboviruses – viruses transmitted through insect bites – are among the most common causes of viral encephalitis, and include Japanese encephalitis and tick-borne encephalitis viruses.

Treatment

Encephalitis is usually a viral illness, which means that antibiotics are not used to treat viral infections. However, some antiviral drugs have been used to treat HSV infections, and some doctors may attempt to use antiviral drugs on other acute viral infections. No antiviral drugs to date are used to treat arboviral infections.

As mentioned previously, there are other nonviral causes (see above) of encephalitis, so the treatment for a given case depends on the doctor’s working diagnosis. If the encephalitis is due to non-viral causes, then other treatments, specific to the cause, are warranted. Many clinicians consult an infectious-disease, immunology, or cancer expert to help manage the various types of treatments. With the exception of herpes encephalitis, the mainstay of treatment is symptom relief. People with viral encephalitis are kept hydrated with IV fluids while monitoring for brain swelling. Anticonvulsants like lorazepam (Ativan) can be given for seizure control. Steroids have not been established as being effective although they may still be used in some cases. Diuretics may be used to lower intracranial pressure in individuals who have encephalitis and increased intracranial pressure.

मोदी कैबिनेट से बाहर जेडीयू, नीतीश कुमार ने बताया कारण

0

लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ लड़कर बिहार में 16 लोकसभा सीट जीतने वाली जेडीयू, नरेंद्र मोदी कैबिनेट से बाहर रही है। सरकार में जेडीयू के किसी भी सांसद को शामिल नही किया गया है। जिसके बाद मीडिया में कई तरह से सवाल पैदा होने लगे थे।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मुद्दे पर सफाई देते हुए कहा कि ” हमें जब बताया गया था कि हमारी पार्टी से किसी एक सांसद को मंत्री बनाया जाएगा तो मैंने कहा कि हमें यह नही चाहिए, फिर भी मैं एक बार पार्टी से बात करके बताऊंगा। मैंने पार्टी के नेताओं से बात की और उन्होंने भी कहा कि यह सही नही होगा कि हम सिर्फ प्रतीकात्मक रूप से सरकार में शामिल हों। जिसके बाद हमने मंत्री पद के लिए मना कर दिया। हम सरकार के साथ है और इससे दुखी नही है।

https://twitter.com/ANI/status/1134357791273971712

बिहार में बोले प्रधानमंत्री मोदी, एक तरफ वोट भक्ति और दूसरी तरफ देशभक्ति की राजनीति

0

बिहार के अररिया में एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने आज कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश मे आज एक तरफ वोटभक्ति की राजनीति हो रही है तो दूसरी तरफ देशभक्ति की।

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि “याद करिए 26/11 को मुम्बई में जब आतंकी हमला हुए था तब कांग्रेस सरकार ने क्या किया था ? तब देश के वीर जवानों ने पाकिस्तान में घुसकर बदल लेने की इजाजत मांगी थी लेकिन कांग्रेस सरकार ने उन्हें कुछ भी करने के लिए मन कर दिया।

कांग्रेस ने ऐसा इसलिए किया क्यों क्योंकि वो वोटेभक्ति की राजनीति करती है।

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि ” सबको पता था कि आतंकी पाकिस्तान से आए थे लेकिन कांग्रेस ने उन्हें सजा देने की बजाय हिंदुओं को आतंकी बताने पर ध्यान लगाया।

https://twitter.com/ANI/status/1119516297262452737?s=19

अंबानी का चौकीदार बनकर प्रधानमंत्री मोदी ने देश के चौकीदारों को किया बदनाम: राहुल गांधी

0

बिहार के सुपौल में एक जनसभा को संबोधित करते ह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज प्रधानमंत्री माफी पर जमकर हमला बोला। जनसभा में राहुल ने कहा कि बिहार के युवा पूरे देश मे जाकर बैंक, सरकारी दफ्तरों में चौकीदार का काम करते हैं। जो बिहार से चौकीदार बनकर जाता है वह ईमानदार होता है। अगर कोई बिहार का चौकीदार किसी बैंक में है तो उस बैंक में चोरी नहीं हो सकती।

राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए आगे कहा कि “जो व्यक्ति खुद को देश का चौकीदार कहता है असल में वह अनिल अंबानी का चौकीदार है। बिहार के युवा पूरे देश में देश की रक्षा करते हैं, ईमानदारी से ,धूप-आंधी-तूफान में, आधी रोटी खार, उन सबको एक चौकीदार ने बदनाम किया है।”

भाजपा छोड़ कांग्रेस की टिकट पर पटना साहिब से चुनाव लड़ेंगे शत्रुघन सिन्हा

0

बिहार में महागठबंधन की सभी पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे का एलान हो गया है। महागठबंधन में आरजेडी 40 में से 19 सीटों पर कांग्रेस 9 सीटों, RLSP 5 सीट जीतन राम मांझी की पार्टी हम 3 सीटों पर और VIP 3 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।
महागठबंधन में सीटों के बटवारे का ऐलान करते हुए आजेडी प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पुर्वे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि राजद 20, कांग्रेस 9 और रालोसपा 5 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे

महागठबंधन में सीटों के बटवारे का ऐलान करते हुए आजेडी प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पुर्वे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि राजद 20, कांग्रेस 9 और रालोसपा 5 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे।
इस बीच कांग्रेस ने अपने सभी 9 उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया है। भाजपा के बागी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा कांग्रेस के टिकट पर पटना साहिब से चुनाव लड़ेंगे। पिछले कई महीनों से वे राजद नेताओं के संपर्क में थे और रांची रिम्स में भर्ती लालू यादव से जाकर मुलाकात भी की थी। इस बात के भी कयास लगाए जा रहे थे कि वे राजद में शामिल हो सकते हैं. दरअसल, राजद नेता व लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने कहा था कि वे हमारे बड़े हैं और अगर पार्टी में आना चाहे तो उनका स्वागत है।

शत्रुघन सिन्हा के एलावा भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद भी कांग्रेस की टिकट पर दरभंगा से चुनाव लड़ेंगे।