Monday, August 2, 2021
Home Tags Bhopal

Tag: Bhopal

मध्यप्रदेश को डब्ल्यूएचओ की तरफ से मिले 100 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर

0

मध्य प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है। डब्ल्यूएचओ ने प्रदेश को 100 ऑक्सीजिन कन्संट्रेटर दिए है। भोपाल पहुंचे कॉन्संट्रेटर्स को प्रदेश के अलग अलग अस्पतालों में भेजा जाएगा।

बता दे कि इस मौके पर मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि सरकार कोविड को नियंत्रण करने की लगातार कोशिश कर रही है। यहां लगभग 600 ब्लैक फंगस के मामले सामने आए है। इसलिए ब्लैक फंगस के मरीजों को मुफ्त इलाज दिलाने की कोशिश की जा रही है।

उन्होंने कहा कि आज दिनभर मेडिकल कॉलेज के डीन्स और एक्सस्पर्ट से चर्चा होगी। कोरोना पॉजिटिव और पोस्ट कोविड मरीजों की निशुल्क नेजल एंडोस्कोपी होगी।

पूर्व मंत्री उमंग सिंघार के लिए सोनिया का लिखा गया सुसाइड लेटर हुआ वायरल

0

पूर्व मंत्री उमंग सिंघार का केस एक नया मोड़ ले चुका है। बता दे कि सोनिया भारद्वाज आत्महत्या मामले में पुलिस ने पूर्व मंत्री के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। अब इस मामले में सोशल मीडिया में एक पत्र वायरल हो रहा है जिसे सोनिया भारद्वाज का सुसाइडल नोट बताया जा रहा है।

बता दे कि ये कथित पत्र में महिला ने पूर्व मंत्री को लेकर कई बातें लिखी है। और साथ ही साथ अपने बेटे आर्यन को भी उसने पत्र में संबोधित किया है। हालांकि हमारी वेबसाइट इस कथित सुसाइडल नोट के सत्यता की पुष्टि नहीं करता।

दरअसल पूर्व मंत्री उमंग सिंघार महिला आत्महत्या के बाद सामने आए थे और उन्होंने ही बताया था कि वे दोनोंं जल्दी ही शादी करने वाले थे। वहीं महिला के बेटे ने कहा कि उसकी मां और सिंघार की मुलाकात मेट्रोमोनियल साइट के जरिये हुई थी।

ये रहा पत्र

नेताओं की फटकार के बाद चिरायु अस्पताल आया बैकफुट पर, आयुष्मान योजना के तहत होगा इलाज

0

चिरायु अस्पताल प्रबंधन दुबारा फटकार लगने के बाद बैकफुट पर आया और मरीज से लिए गए 2 लाख रूपय को लौटा दिया। जानकारी है कि अब मरीज का इलाज आयुष्मान कार्ड से ही होगा।

बता दे कि आयुष्मान योजना के तहत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कार्ड धारी कोरोना मरीजों का निजी अस्पतालों में निशुल्क इलाज का आदेश दिया था। और चिरायु अस्पताल भी रजिस्टर्ड अस्पतालों की सूची में शामिल है। 

योगेन्द्र रघुवंशी ने कहा कि उन्होंने चिरायु अस्पताल में आयुष्मान कार्ड देकर उन्हें आयुष्मान योजना के तहत उनकी दादी को भर्ती करने का आग्रह किया था। लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने इंकार कर दिया था। उन्हें कहा कि चिरायु अस्पताल में आयुष्मान कार्ड नहीं चलता। जिसके बाद योगेन्द्र ने पैसों का इंतजाम कर 2 लाख रुपये अस्पताल में जमा करवाएं।

योगेंद्र ने बताया कि राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और डॉ प्रभुराम चौधरी ने चिरायु अस्पताल प्रबंधन को फटकार लगाई। फटकार के बाद प्रबंधन ने सरजू बाई रघुवंशी के 2 लाख रुपय लौटा दिये। बता दे कि उनका इलाज अब आयुष्मान योजना के तहत किया जाएगा।

पूर्व मंत्री उमंग सिंघार ने भोपाल आईजी को लिखा पत्र

0

आत्महत्या वाले कांड में पूर्व मंत्री उमर सिंघार ने निष्पक्ष जांच के लिए भोपाल आईजी को पत्र लिखा है। उन्होंने FIR दर्ज करने के पहले इस मामले की निष्पक्ष और पारदर्शी एजेंसी के द्वारा जांच कराए जाने की मांग की है।

बता दें कि शाहपुरा थाने में उमर सिंघार के खिलाफ आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज है। घर पर मिले सुसाइड नोट और महिला के बेटे और नौकर के बयानों के आधार पर धारा 306 के तहत मामला दर्ज किया है।

दरअसल सुसाइड नोट में महिला ने ऐसी कई कुछ बातें लिखी है जिससे प्रताडना की पुष्टि होती है। हालांकि मंत्री का कहना है कि हम शादी करने वाले थे। मैं इस कोरोना के चलते अपने छेत्र में निरंतर काम कर रहा था और मझे इसकी कोई जानकरी नही है कि उसने आत्महत्या क्यों की है।

पूर्व मंत्री उमंग सिंघार पर आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला हुआ दर्ज

0

भोपाल: पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार के बंगले पर उनकी महिला मित्र के आत्महत्या केस में उनपर मामला दर्ज कर लिया गया है। सुसाइड नोट, महिला के बेटे और नौकर के बयानों के आधार पर धारा 306 के तहत मामला दर्ज किया गया है। महिला के बेटे और नौकरों ने माना की सिंघार और महिला के बीच नोकझोक होती थी।

शाहपुरा थाने में उमंग सिंघार के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है। सुसाइड नोट में भी लिखी थी महिला ने कुछ ऐसी बातें जिससे पुलिस को प्रताड़ना के आरोप मिले हैं। आपको बता दे कि रविवार शाम, उमंग सिंघार के शाहपुरा के बंगले में महिला ने आत्महत्या की थी।

आज महिला का अंतिम संस्कार भोपाल के कोलार स्थित सनखेड़ी में अंतिम संस्कार किया। जहां अंतिमसंस्कार में शामिल होने के लिए उमंग सिंघार भी पहुंचे। इस दौरान वे महिला की मां को गले लगा कर भावुक हो गए और पूर्व मंत्री ने महिला से रिश्ते को लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी।

पूर्व मंत्री उमंग सिंघार ने मीडिया से बात करते हुए बोले कि मौत की खबर सुनकर स्तब्ध हैं। अपने रिश्ते के बारे में बात करते हुए बोले कि सोनिया एक अच्छी मित्र थी और भविष्य में वे दोनों परिवार मिलकर शादी करने वाले थे। कौन नहीं चाहता गृहस्थ जीवन हो। वहीं भाजपा द्वारा बार बार महिला की मौत पर सवाल उठाने को लेकर कहा कि क्या कारण है सरकार परेशान कर रही है? उनके बेटे और उनकी मां को बार-बार बयान करवा रही है। सरकार सीधे-सीधे मामले पर पॉलिटिक्स करना चाह रही है। शनिवार को सोनिया से आखिरी बार बात हुई थी और तब तक सब ठीक था। उन्होंने आगे यह भी बोला कि पुलिस इस मामले में जो सहयोग चाहेगी वह दूंगा।

मृतक महिला पूर्व मंत्री से करने वाली थी शादी,पुलिस की तहकीकात अभी भी है जारी

0

मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री उमंग सिंघार अब खतरे में पढ़ सकते है। दरअसल रविवार को उनले बंगले पर उनकी गर्लफ्रेंड सोनिया भारद्वाज ने खुदकुशी कर ली थी और एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। मिली जानकारी में ये भी पता चला है कि मंत्री अक्सर अपने दिल्ली दोहरे पर सोनिया से मिला करते थे। सूत्रों से ये भी पता चला कि है दोनों किसी दिल्ली के बड़े होटल में मिला करते थे।

वहीं ASP राजेश सिंह भदौरिया ने कहा कि अब तक की पूछताछ में पता चला है कि सिंघार जल्द ही सोनिया से शादी करने वाले थे। उन दोनो की पहचान एक मेट्रिमोनियल वेबसाइट के माध्यम से हुई थी। बता दे कि पुलिस अब यह जानने में लगी है कि ऐसा क्या हुआ कि सिंघार की अनुपस्थिति में सोनिया ने सुसाइड ही कर ली। और साथ ही सुसाइड नोट में उसने इशारों में बात की है लेकिन किसी को सीधे जिम्मेदार क्यों नहीं लिखा।

जानकरी मिली है कि पुलिस ने सुसाइड नोट मृतक की मां को दिखाया है। इसके अलावा इसमें राइटिंग एक्सपर्ट की भी मदद ली जा रही है। हालांकि अब इस मामले में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का भी बयान आया है। उनका कहना है कि सोनिया के पिता नहीं हैं। और उनकी मां भोपाल आ गई हैं।

ASP राजेश सिंह भदौरिया ने आगे कहा कि सोनिया और विधायक उमंग सिंघार करीब 2 साल से संपर्क में थे। बता दे कि वे करीब एक महीने से भोपाल में उनके ही बंगले में ठहरी हुई थी। पुलिस इस मामले में सिंघार के परिजनों से भी पूछताछ कर रही है।

वहीं बता दे कि उमंग सिंघार सोनिया के अंतिम संस्कार के लिए शमशान घाट भी पहुंचे है। वहां पहुच कर उमंग सिंघार ने उसकी मां को गले से लगाया।

रेमडेसिविर की कालाबाजारी को लेकर बीजेपी ने किया पलटवार, कहा कांग्रेस के नेता है शामिल और आरोप हमपर लगाती है

0

मध्य प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन कालाबाजारी को लेकर सियासत तेज हो गई है। दिग्विजय सिंह द्वारा सीएम शिवराज के साथ इंजेक्शन कालाबाजारी के आरोपी का फोटो ट्विटर में पोस्ट करने के बाद बीजेपी ने पलटवार किया है। बीजेपी ने कहा कालाबाजारी और नकली रेमडेसिविर के मामले मे कांग्रेस के नेता शामिल है और आरोप हमपर लगा रहे है।

बता दे कि बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार लगातार ऐसे लोगों पर रासुका की कार्रवाई कर ही रही है। उन्होंने ये भी कहा कि किसका फोटो किसके साथ है ये सवाल नहीं लेकिन ऐसे लोगों पर कार्रवाई हो रही है या नहीं वो बड़ा सवाल है।

वहीं इस मामले को लेकर चिकित्सा मंत्री विश्वास सारंग भी मैदान में आ गए है। उन्होंने दिग्विजय के ट्वीट पर कहा कि आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई हमारी सरकार ने की है अब कोई किसी के साथ फोटो खिंचवा लें लेकिन अपराध करेगा तो कार्रवाई की जाएगी।

Corona curfew extends till May 24 in Bhopal

0

Bhopal: The continuous surge in covid 19 cases has led extension of corona curfew in the district till May 24. The district collector of Bhopal Avinash Lavania issued the order on Sunday in this regard.

The Corona curfew was imposed in Bhopal since April and now it has been extended in order to stop spread of corona pandemic. According to the order issued by the Bhopal collector, the corona curfew is extended in the areas under the Bhopal Municipal Corporation and Berasia town till 6 am on May 24.

The movement of vehicles for essential services will be allowed. People engaged in vaccination drive or going for vaccination and other medical emergencies will be allowed.

One month has been passed since corona curfew was declared but the positivity rate remained at 20%. As of Saturday, Bhopal’s COVID-19 caseload stood at 1,14,848 while the death toll stood at 899.

मध्यप्रदेश में खोले जाएंगे पोस्ट कोविड सेंटर

0

मध्य प्रदेश अब कोरोना के साथ साथ ब्लैक फंगस से भी परेशान है। देखा जा रहा है कि कोरोना से ठीक होने के बाद कई मरीजों को ब्लैक फंगस का सामना करना पड़ रहा है। बीते 3 दिनों में इसके मरीजों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। इससे निपटने के लिए सरकार अब प्रदेश में पोस्ट कोविड सेंटर शुरू करने जा रही है।

सीएम शिकराज ने कहा कि ब्लैक फंगस के इजाल के लिए भोपाल में हमीदिया और जबलपुर मेडिकल कॉलेज में अलग इसके लिए अलग वार्ड बनाए जा रहे थे। लेकिन अब प्रदेश के सभी पांचों मेडिकल कॉलेज में ब्लैक फंगस के इलाज के लिए अलग वार्ड बनाया जाएगा। उनमें इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर और रीवा के भी मेडिकल कॉलेज शामिल है।

सीएम ने निर्देश देते हुए कहा है कि  कोरोना संक्रमण अभी और 2 से 3 साल तक चल सकता है। ऐसे में सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में मैनेजमेंट सुधार समेत बचाव के संसाधन और कार्यक्रम को स्थायी करने की बहुत जरूरत है।

मोबाइल खरीदने के लिए भाई और बहन में हुआ झगड़ा, गुस्से में बहन ने लगाई बड़े तालाब में छलांग

0

राजधानी भोपाल के बड़े तालाब में शनिवार की सुबह लगभग 6:15 बजे एक युवती ने छलांग लगा दी। वहीं छलांग लगाने के बाद वाकिंग कर रहे लोगों ने जब युवती को देखा तो तुरंत वीडियो बनाने लगे और उसकी हौसला अफजाई करने लगे। बता दें कि युवती ने छलांग उसके भाई कारण लगाई थी। उसका उसके भाई से झगड़ा हो गया था और उससे गुस्सा होकर उसने बड़े तालाब में छलांग लगा दी। जिसके बाद युवती के भाई ने उसे बचाने के लिए छलांग लगा दी। उसी दौरान जीवन रक्षा के गोताखोर मौके पर पहुंच गए और युवक युवती को बाहर निकाला।

बता दे कि युवती के कूदने के बाद लोग वीडियो बनाकर कई देर तक युवती का हौसला अफजाई करते रहे और उसे तैरने का तरीका भी बताते रहे। जिसके चलते की युवती डूबे ना और उसी दौरान उसके भाई ने भी छलांग लगा दी और उसे बचाया। जब तक यह सूचना गोताखोरों को मिली तब जल जीवन रक्षक के गोताखोर मौके पर पहुंच गए और फिर युवती को बचा लिया गया। वहीं थोड़ी देर बाद तुरंत पुलिस मौके पर पहुंच गई और युवती को हिरासत में ले लिया और इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया जहां उसका इलाज जारी है।

बताया जा रहा है कि युवती एयरपोर्ट रोड की रहने वाली है और उसका उसी के भाई से झगड़ा हो गया था। जिसके बाद उसने आकर बड़े तलाव में करीब छलांग लगा दी। झगड़े का कारण मोबाइल बताया जा रहा है। युवती के पास कैमरे वाला मोबाइल नहीं था और वह युवती कैमरे वाले मोबाइल के लिए माता-पिता से बात कर रही थी। उसी दौरान भाई आ गया और कहा कि मैं तुझे मोबाइल दिला दूंगा। लेकिन लॉकडाउन तो खुल जाए उसके बाद मोबाइल की दुकान खुलेगी तो मैं कैमरे वाला मोबाइल दिला दूंगा। इसी बात को लेकर दोनों भाई बहन में झगड़ा हुआ और वह स्कूटी उठाकर सीधे वीआईपी रोड पहुंच गई और छलांग लगा दी। जिसके बाद उसका भाई भी पीछे-पीछे आया और उसने भी युवती को बचाने के लिए पानी में छलांग लगा दी।