Friday, September 24, 2021

योगी आदित्यनाथ से नाराज हुए मोदी शाह, बढ़ सकती हैं मुश्किलें?

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले क्या भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व और खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह नाराज है? यह ऐसा सवाल है जो कल से हर उस व्यक्ति के मन मे उठ रहा है जो राजनीति को थोड़ा बहुत भी समझता है।

यूपी में फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव के बीच राज्य में चुनावी सरगर्मियां तेजी से बढ़ रही है राज्य की सियासत भी चुनावी मोड में नजर आने लगी है यही कारण है कि चुनाव से ठीक पहले होने वाले सियासी उठापटक और दलबदल भी अक्सर देखे जाने लगे हैं।

इस बीच एक ऐसी खबर आई है जिसे सुनकर भाजपा ऑरकुस के केंद्रीय नेतृत्व की छटपटाहट साफ़ दिखाई देने लगी है खबर है कि 2017 के चुनाव में गृह मंत्री अमित शाह ने भले ही योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का ताज पहना दिया था लेकिन अब वही शाह योगी को पसंद नहीं करते हैं इसकी वजह उत्तर प्रदेश में लगातार हो रही हत्याएं घपले घोटाले के साथ-साथ योगी का कमजोर प्रशासन भी माना जा रहा है जिसमें कई ऐसे फैसले लिए गए जो बाद में भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के लिए किरकिरी का सबब बन गए।

योगी से अमिता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नाराजगी का एक कारण यह भी है कि वह सत्ता और संगठन के बीच आपसी समन्वय बनाने में नाकाम साबित हुए हैं ताजा सर्वे की मानें तो यूपी के 7 परसेंट से ज्यादा विधायक योगी आदित्यनाथ को हटाने के पक्ष में है वह नहीं चाहते कि योगी मुख्यमंत्री बने रहें क्योंकि इससे आगामी चुनाव में उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

बीते दिनों भाजपा के संगठन प्रभारी और आर एस एस के प्रमुख पदाधिकारियों ने भी योगी सरकार के कामकाज का फीडबैक लिया था जिसमें भी नेगेटिव फीडबैक ही मिला था जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खास ब्यूरोक्रेट रहे एक पूर्व आईएएस को उपमुख्यमंत्री पद पर बिठाकर सत्ता और संगठन के बीच में सामंजस्य बनाने की बात सामने आई थी लेकिन वह बात आई गई हो गई।

मुख्यमंत्री से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री किस कदर नाराज हैं इसकी बानगी कल देखने को मिली जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जन्म दिवस के दिन भी प्रधानमंत्री और गृह मंत्री ने उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं देना तक मुनासिब नहीं समझा जबकि कल ही इन दोनों ने कई ट्वीट अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए लेकिन दोनों प्रमुख नेताओं को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का जन्मदिन याद नहीं आया इसे राजनीतिक पंडित शुभ संकेत नहीं मान रहे हैं।

आपको बता दें कि पिछले दो सालों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने योगी आदित्यनाथ को न केवल अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से बधाई दी थी बल्कि योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी को रिप्लाई कर धन्यवाद भी दिया था। वहीं मीडिया की कुछ खबरों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फोन कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जन्मदिन की बधाई दी है।

आपको बता दें कि इसके पहले योगी आदित्यनाथ के हर जन्मदिन पर प्रधानमंत्री और गृहमंत्री उन्हें सोशल मीडिया पर विश किया करते थे लेकिन इस बार उन्होंने ऐसा नहीं किया इसका एक कारण यह भी हो सकता है कि बीते कई दिनों से उत्तर प्रदेश में सरकार में फेरबदल की कई संभावनाएं जताई गई लेकिन अभी तक उसमें अमल नहीं हुआ है हो सकता है कि भाजपा का शीर्ष नेतृत्व योगी की कार्यशैली और उनके क्रियाकलापों से खुश ना हो इस कारण भी वहीं से किनारा करना चाह रहा है ताकि आने वाले चुनाव में भाजपा अपना स्टैंड क्लियर कर सके।

ताजा समाचार

Related Articles