उप्र के ग़ाज़ीपुर में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि तीन राज्यों में सरकार बदलते ही यूरिया के लिए लाठियां चलने लगी हैं। कर्नाटक में कर्ज माफी का किसानों को लालीपाप पकड़ा दिया गया। लाखों किसानों का कर्ज माफ होना था लेकिन सिर्फ आठ सौ लोगों को फायदा मिला। किसानों के साथ किस तरह का धोखा हो रहा है, उसे समझना चाहिए। जिनका कर्ज माफ नहीं हुआ, उनके पीछे पुलिस छोड़ दी गई है। तात्कालिक लाभ के लिए जो वादे और फैसले होते हैं, उनसे देश का फायदा नहीं होता। कांग्रेस ने 2009 के चुनाव से पहले भी कर्ज माफी का वादा किया था लेकिन किसानों को धोखा दिया गया।

इस पर प्रतिक्रिया में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने प्रदेश में चुनाव प्रचार के दौरान भी विभिन्न सभाओं में प्रदेश की जनता को भ्रमित व गुमराह करने वाली तमाम वो बातें कही जो सत्य से परे थी। जनता पर इनका कोई असर नहीं पढ़ा। चुनाव परिणाम से सब स्पष्ट हो गया। जनता ने कांग्रेस के प्रति विश्वास व्यक्त किया। अब मोदी ने प्रदेश की नवनिर्वाचित कांग्रेस की सरकार की छवि बिगाड़ने का प्रयास किया है।

नाथ ने कहा कि मोदी जी को राजनीतिक मतभिन्नता छोड़ प्रदेश की 12 दिन की कांग्रेस की सरकार की दिल खोलकर प्रशंसा करना चाहिये थी कि सरकार ने किसानों के 2 लाख तक के कर्ज़ माफ़ी की घोषणा पूरी कर अपना वादा निभाया। उन्होंने यूरिया संकट पर भी अपने संबोधन में ग़लतबयानी की। उन्हें तो इस पर भी प्रदेश सरकार के तूफ़ानी व सतत प्रयासों की तारीफ़ करना थी, जिसके कारण इस संकट पर काफ़ी हद तक क़ाबू पा लिया गया। यूरिया संकट प्रदेश सरकार की देन नहीं है। हम इस पर शुरू से ही कोई राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप नहीं करना चाहते है। यह हमारी नाकामी नहीं , यह केन्द्र सरकार का विषय है। हमें हमारी माँग के अनुरूप आपूर्ति हो जाती तो यह संकट कभी होता ही नहीं।

नाथ ने कहा कि मैंने अधिकारियों को खुलेआम चेताया था कि मेरी सरकार किसानों की सरकार है। यूरिया की लाइन में लगे किसानों के ऊपर लाठियाँ या किसी प्रकार का दमन में बर्दाश्त नहीं करूँगा। यह पूर्व की भाजपा सरकार नहीं है, जिसमें किसानों के सीने पर गोलियाँ तक दाग़ी गई थीं।

नाथ ने कहा कि जहाँ तक कालाबाज़ारी की बात है तो यह शिवराज सरकार के समय से धड़ल्ले से जारी रही और कालाबाज़ारियों को खुला संरक्षण मिलता रहा लेकिन यह हमारी सरकार में यह बिलकुल नहीं चलेगा। यूरिया- खाद की कालाबाज़ारी कांग्रेस सरकार में बिल्कुल नहीं चलेगी। कोई कितना भी बड़ा हो, यदि इसमें लिप्त हो तो उस पर कड़ी कार्यवाही की जाए। हमारी सरकार में कालाबाज़ारी जेल में होंगे।

Loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.