fbpx
Monday, April 19, 2021

100 करोड़ लेने के मामले में Zee न्यूज़ के संपादक को सुप्रीम कोर्ट की फटकार !

Newbuzzindia: सुप्रीम कोर्ट ने समाचार चैनल Zee News के दो सम्पादकों को उद्योगपति नविन जिंदल से 100 करोड़ लेने के मामले में कड़ी फटकार लगाते हुए कहा है कि वह अपनी वॉइस सैंपल अदालत में जह करवाएं।  

सुप्रीम कोर्ट ने कोर्ट ने दोनों को दो हफ्तों के अंदर उनके वॉइस सैंपल जमा करने को कहा है। इससे पहले सुधीर चौधरी की ओर कहा गया था कि इस उगाही के दौरान की रिकॉर्डिंग में इनकी अावाज नही है।

गौरतलब है की साल 2012 मे उद्योगपति नवीन जिंदल की ओर से जी न्यूज़ के इन दोनो संपादकों पर आरोप लगाया गया था कि इन्होने जिंदल स्टील एवं पावर लिमिटेड को ब्लैकमेल करने की कोशिश की। जिसके बाद इन दोनों सम्पादकों को जेल भी जाना पड़ा था। 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

ताजा समाचार

इंदौर के एक परिवार ने 16 लाख चुकाए तब मिले शव

मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh) के इंदौर(indore) के पांच लोगों के परिवार में से तीन की कोरोना के चलते मौत हो गई। बाकी दो सदस्यों में...

राजस्थान में 3 मई तक लगा लॉकडाउन लागू, जानें क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए 19 अप्रैल से 3 मई तक के लिए लॉकडाउन लगाने...

जहां ऑक्सीजन की कमी पूरे देश भर में है, वहीं ऑक्सीजन टैंकर की हो रही है पूजा

मध्य प्रदेश में कोरोना से महामारी मची हुई है। ना ऑक्सीजन मिल रहा है और ना ही बेड। ऐसे में इंदौर में ऑक्सीजन टैंकर...

Related Articles

जहां ऑक्सीजन की कमी पूरे देश भर में है, वहीं ऑक्सीजन टैंकर की हो रही है पूजा

मध्य प्रदेश में कोरोना से महामारी मची हुई है। ना ऑक्सीजन मिल रहा है और ना ही बेड। ऐसे में इंदौर में ऑक्सीजन टैंकर...

क्यों कोरोना के लक्षण के बाद भी रिपोर्ट आती है नेगेटिव, जानिए कारण

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर तेजी से फैल रही है। यह बुजुर्गों के साथ-साथ बच्चों और युवाओं के लिए भी...

हिमाचल सरकार रेमडिसीवीर इंजेक्शन की सप्लाई को लेकर मध्यप्रदेश सरकार को कर सकती है मदद

मध्य प्रदेश के विधायक अजय विश्नोई ने मुख्यमंत्री से सहयोग लेकर हिमाचल प्रदेश की दवा निर्माता कंपनी से इंजेक्शन की उपलब्धता सुनिश्चित की है।...