Newbuzzindia: जेडीयू ने शनिवार को कहा कि वैश्विक स्तर पर मौजूदा आर्थिक हालात की स्थिति में भारत को पूर्व प्रधानमंत्री जैसे अर्थशास्त्री की जरूरत है। जेडीयू ने कहा कि ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन (ईयू) से अलग होने से पैदा हुए आर्थिक हालात के खेवनहार मनमोहन सिंह जैसे अर्थशास्त्री ही हो सकते हैं।

जेडीयू नेता अजय आलोक ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा, ‘एक तरीके से यह अच्छा है, अब भारत ब्रिटेन से सीधे सौदा कर सकेगा। हमारे बीच सैन्य संबंध सुधरेंगे। लेकिन ईयू के साथ ज्यादा फायदा था। इस फैसले से 800 भारतीय कंपनियों पर सीधा असर होगा।

यहां तक कि हमारे शेयर बाजार पर भी इसका प्रभाव पड़ा। उन्होंने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि हमारे वित्त मंत्री और मुख्य आर्थिक सलाहकार समझदारी से काम लेंगे। ऐसे समय में देश को मनमोहन सिंह जैसे अर्थशास्त्री की जरूरत होगी।’

बता दें कि शुक्रवार को हुए जनमत संग्रह में ब्रिटेन के 52 फीसदी लोगों ने ईयू छोड़ने के पक्ष में मतदान किया है। 2015-16 में भारत और ब्रिटेन के बीच द्विपक्षीय व्यापार 1400 करोड़ डॉलर का रहा। हालांकि ईयू के साथ द्विपक्षीय व्यापार में भारी गिरावट दर्ज की गई है।

वर्ष 2014-15 में ईयू और भारत के बीच 9850 करोड़ डॉलर का व्यापार हुआ था, जबकि 2015-16 में यह 8840 करोड़ डॉलर रहा।

Loading...

1 COMMENT

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.