Newbuzzindia: योगगुरु रामदेव ने गुरुवार को कहा कि अगर हम देश में शांति लाना चाहते हैं, तो पहले हमें पीओके में स्थित आतंकी कैंप ध्वस्त करने होंगे। बता दें, रविवार(18सितंबर) को कश्मीर के उरी सेक्टर में हुए आतंकी हमले के बाद से भारत और पाकिस्तान में तनातनी की स्थिति बनी हुई है। उरी में आतंकियों ने एक सेना कैंप पर हमला कर दिया था।

इस हमले में 18 जवान शहीद हो गए थे और एक दर्जन से ज्यादा घायल हो गए थे। इसके बाद से भारत में पाकिस्तान के खिलाफ आवाज उठाई गई। सरकार ने भी पाकिस्तान के खिलाफ अपना विरोध जाहिर किया।

बुधवार को विदेश मंत्रालय ने भारत में पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब किया। विदेश सचिव एस जयशंकर ने अब्दुल बासित को बताया कि जिन आतंकियों ने उरी में हमला किया था, वे पाकिस्तान से ताल्लुक रखते हैं। उन्हें आतंकियों के पास से मिले सामान के बारे में भी बताया गया। उरी सेक्टर में हमला करना वाले आतंकियों के पास से पाकिस्तान में बनी दवाईयां, खाने के पैकेट और ग्रेनेड बरामद हुए थे।

इसके अलावा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने बुधवार को भारत के खिलाफ यूएन की जनरल एसेंबली के सेशन में अपने भाषण में भारत पर निशाना साधा। शरीफ ने आठ जुलाई को सुरक्षा बलों के साथ एक मुठभेड़ में मारे गये वानी का हवाला एक ‘युवा नेता’ के रूप में दिया और कहा कि वह ‘ताजा कश्मीरी इन्तिफादा, एक लोकप्रिय और शांतिपूर्ण स्वतंत्रता आंदोलन के प्रतीक के रूप में उभरे हैं…।’

इसके बाद भारत ने इसका विरोध किया। शरीफ के बयाने के बाद भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने उनकी तुलना हिज्बुल मुजाहिद्दीन के कमांडर से की है। यूएन की जनरल एसेंबली के 71वें सेशन में पाकिस्तान प्रधानमंत्री के भाषण पर निशाना साधते हुए माधव ने कहा कि नवाज शरीफ वहां पाकिस्तान के सुप्रीम कमांडर की तरह नहीं, बल्कि हिज्बुल मुजाहिद्दीन के सुप्रीम कमांडर की तरह बोल रहे थे।

Loading...