संगठन के कामकाज से बुरी तरह नाराज भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पंजाब में विधानसभा चुनाव के लिए नई टीम तैयार करेंगे। दरअसल शनिवार को हुई बैठक में राज्य के ज्यादातर नेताओं ने शिरोमणि अकाली दल (शिअद) से नाता तोड़ने की सलाह तो दी, मगर अपने दम पर अधिकतम 60 सीटों पर ही चुनाव लड़ने की हिम्मत जुटा पाए।

पार्टी ने प्रदेशाध्यक्ष पद के लिए न कहने वाले पूर्व सांसद और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू को किसी भी रूप में राज्य में पार्टी का चेहरा बनाने का मन बनाया है। इसके लिए सिद्धू के समक्ष अप्रैल में राज्यसभा की खाली होने वाली सीट पर चुनाव लड़ने की पेशकश की जाएगी।

गौरतलब है कि राज्य में शिअद से गठबंधन बनाए रखने के लिए पार्टी के शीर्ष नेता सक्रिय हुए हैं। बताते हैं कि शनिवार को राज्य के उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल की पार्टी अध्यक्ष शाह के साथ बैठक कराने में गृह मंत्री राजनाथ सिंह और वित्त मंत्री अरुण जेटली की भूमिका अहम रही। जेटली ने आलाकमान को सिद्धू को मना लेने का भी भरोसा दिया है। शनिवार की बैठक से साफ हो गया है कि राज्य में भाजपा-शिअद गठबंधन बरकरार रखेगा, मगर भाजपा इस बार शिअद पर अधिक से अधिक सीट हासिल करने का दबाव डालेगी।

#NewBuzzIndia #NewBuzzMedia

Loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.