Newbuzzindia : मोदी सरकार द्वारा NDTV पर लगाए गए बैन के खिलाफ Newbuzzindia ने भी 9 नवंबर को बंद रहने की घोषणा कर दी है । रविश कुमार का प्राइम टाइम देखने के बाद मैंने न सिर्फ सवाल करने की ठानी है बल्कि सवाल का जवाब देने का भी फैसला किया है । रविश कुमार का प्राइम टाइम देखने के बाद राजभक्तों ने भी रविश जी की बात मानते हुए सवाल करने का फैसला किया है । राजभक्त पूछ रहे है कि “आखिर क्यों करें रवीश कुमार का समर्थन ?”

मैंने सोचा की इस सवाल का जवाब देने की कोशिश करता हूँ । वैसे तो इन राजभक्तों को समझाना भैंस के आगे बीन बजाने जैसा है । फिर भी सांप के आगे बजाने से डर लगता है तो सोचा भैंस के आगे ही बजा लूँ । वैसे तो आप रवीश कुमार और राजभक्तों को जानते ही होंगे । रवीश कुमार को कुछ लोग नक्सलवादी , आतंकवादी , देशद्रोही और पाकिस्तानी एजेंट भी कहते है । वहीं राजभक्तों को मैंने यह नाम अभी अभी दिया है । राजभक्तों को देशभक्त और राष्ट्रवादी भी कहा जाता है ।

भारत एक लोकतान्त्रिक देश है । लोकतंत्र में 4 स्तंभ होते है । विधायिका, कार्यपालिका, न्‍यायपालिका वहीं चौथा स्तंभ पत्रकारिता को कहा जाता है । आप खुद ही सोचिये की अगर आपके 4 पहिया वाहन का एक टायर पंचर हो जाए तो क्या आपकी कार चलेगी ? नही चलेगी ना ? चलिए अगर आप चला भी लिए तो यह आपकी तानाशाही होगी ।

अब पहले सवाल उठता है कि जब सभी न्यूज़ चैनल ने पठानकोट पर एक जैसी रिपोर्टिंग की तो फिर सिर्फ NDTV पर बैन क्यों ? इसके कई कारण मेरे सामने आए । सही है या गलत यह आप ही सोचिये –

1- क्योंकि NDTV इंडिया जादू -टोना , करिश्मा ,चमत्कार जैसी खबरें नहीं दिखाता।

2- क्योंकि NDTV इंडिया चपड़गंजू बाबाओं को लाकर दिन का राशिफल और भविष्य नहीं दिखाता।

3- क्योंकि NDTV इंडिया जब सारे चैनल सास बहू और साज़िस, झगड़े चला रहे होते हैं तो वह देश से जुडी और खबरें चला रहा होता है।

4- क्योंकि NDTV इंडिया इंटरटेंमेंट के किन चैनलों TRP कहाँ पहुंची ,कौन सा सीरियल इस सप्ताह हिट जायेगा ,कौन सा पिछले सप्ताह फ्लॉप रहा ,ये सब नहीं दिखता।

5- क्योंकि NDTV इंडिया आपको सवाल करने को कहता है, किसी भी खबर पर आँख मूदकर भरोसा करने से रोकता है।

6-क्योंकि NDTV इंडिया सरकार की गलत नीतियों को खुलकर बिना चाटुकारिता के दिखाता है।

7- क्योंकि NDTV इंडिया दलितों पर अत्याचार ,आदिवासियों का मुद्दा ,ब्राह्मणवाद और संघ की करतूतों को बेझिझक दिखाता है।

8-क्योंकि NDTV इंडिया आम जनता को(not bhakts) निष्पक्ष चैनल लगता है और सेकुलरिज्म की बात करता है।

9-क्योंकि NDTV इंडिया सरकार की चाटुकार नहीं है।

10- और सबसे अहम् और महत्वपूर्ण ये की NDTV इंडिया के एंकर Ravish kumar को बेस्ट एंकर का महा महीम राष्ट्रपति से अवार्ड मिलता है !

अब अगर इस बात पर NDTV पर बैन लगाना सही है तो फिर में भी इस बैन का समर्थन करता हूँ ।
“भारत माता की जय”

Loading...