Newbuzzindia : रिलांयस ग्रुप के चेयरपर्सन मुकेश अंबानी ने अपने जियो 4जी के विज्ञापन में पीएम मोदी की तस्वीर छापने के अनुमति नहीं ली थी। सूचना और प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने गुरुवार को राज्यसभा में यह जानकारी दी।

दरअसल शुक्रवार को सदन में इस बारे में सरकार से प्रश्‍न किया गया कि क्या जियो के विज्ञापन में मोदी की तस्वीर छापने के लिए सरकार से अनुमति मांगी गई थी?

जिसके जवाब में सरकार ने कहा है कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने रिलायंस जियो को प्रिंट या इलेक्ट्रॉनिक विज्ञापनों के लिए प्रधानमंत्री की तस्वीर का इस्तेमाल करने की मंजूरी नहीं दी थी।

राठौड़ के अनुसार, विज्ञापन एवं दृश्य प्रचार निदेशालय (प्रसारण मंत्रालय की मीडिया इकाई) सरकारी नीतियों और कार्यक्रमों पर विज्ञापन जारी करने वाली केंद्र की नोडल एजेंसी है। निदेशालय निजी संस्थाओं के लिए विज्ञापन जारी नहीं करता है।

मुकेश अम्बानी पर होगी कार्यवाही?

बिना इजाजत जियो के विज्ञापनों के लिए पीएम मोदी की तस्वीर के इस्तेमाल पर कार्रवाई होगी या नहीं, इस पर राठौर ने बताया कि इससे जुड़ा कानून (राजकीय प्रतीक (अनुचित प्रयोग का निषेध) अधिनियम 1950), उपभोक्ता मामले, खाद्य, सार्वजनिक वितरण मंत्रालय की निगरानी में है।

इससे पहले जियो के विज्ञापनों में पीएम मोदी की तस्वीर इस्तेमाल करने के बाद सवालों में घिरे रिलायंस प्रमुख मुकेश अंबानी ने दलील दी थी कि पीएम मोदी मेरे भी पीएम है। उनका सपना मेरा और पूरे देश का सपना है।

अब देखना दिलचस्प होगा कि बिना इजाजत पीएम की तस्वीर इस्तेमाल करने के लिए मुकेश अंबानी पर कोई कार्रवाई होती है या नहीं।

Loading...