fbpx
मंगलवार, जनवरी 19, 2021

अगस्तावेस्टलैंड घोटाला : अरुण जेटली ने माना, नही है किसी के खिलाफ पुख्ता सबूत !

Newbuzzindia: अगस्तावेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाले को लेकर कांग्रेस नेताओं को निशाना बनाए जाने के आरोपों के बीच वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सफाई दी है। NDTV से खास बाचतीत में जेटली ने कहा कि हम किसी को व्यक्तिगत रूप से टारगेट नहीं कर रहे हैं, लेकिन जब डील के लिए रिश्वत दी गई तो रिश्वत लेने वाले भी तो होंगे।

हम इसी सच को दुनिया के सामने लाना चाहते हैं, हालांकि किसी को पकड़ने के लिए हमारे पास पर्याप्त सबूत नहीं हैं। हमारा इरादा सिर्फ सच्चाई को सामने लाने का है न कि इसके पीछे कोई राजनीतिक मंशा है। अगस्तावेस्टलैंड को ब्लैकलिस्ट करने के सवाल पर जेटली ने कहा कि यूपीए सरकार ने कभी अगस्ता को ब्लैकलिस्ट किया ही नहीं था।

अरुण जेटली : आरोपों को बेबुनियाद बताकर दूसरी शंकाओं को जन्म देते हैं
मैं समझता हूं कि उन्हें आरोपों को बेबुनियाद नहीं बताना चाहिए। ये बिल्कुल सत्य है कि उन्होंने खुद कॉन्ट्रैक्ट रद्द किया था, इसका मतलब कुछ गलत था। जब वे आरोपों को बेबुनियाद बताते हैं तो वे दूसरी शंकाओं को जन्म देते हैं। आरोपों को बेबुनियाद बताने की बजाय उन्हें सच सामने लाने के लिए जांच में सहयोग करना चाहिए, जिससे साबित हो कि वह दोषी नहीं हैं।

घूस लेने वाले इटली में, उन्हें सजा हो चुकी है
सरकार की नीति बहुत साफ है। ऐसा कोई नहीं है, जिसे हम व्यक्तिगत तौर पर निशाना बनाना चाहते हैं, लेकिन सच्चाई सामने आनी चाहिए। यह सच्चाई है कि पैसों का लेन-देन हुआ है। यूपीए सरकार भी अगस्ता को ब्लैकलिस्ट करने का दावा करती है, हालांकि उन्होंने ब्लैकलिस्ट नहीं किया था, लेकिन उन्हें भी कुछ गलत होने का शक हुआ था। घूस देने वाले इटली में हैं और उन्हें सजा मिल चुकी है। ट्रांजैक्शन रद्द हो चुका है। दोनों तरफ के बिचौलियों की पहचान हो गई है। किसे फायदा पहुंचा, ये सवाल बाक़ी है। मैं यह नहीं कह रहा हूं कि किसी को पकड़ने के लिए पर्याप्त सबूत हैं, लेकिन निश्चित तौर पर इस बात का शक करने के लिए काफ़ी सबूत हैं कि किसी ने घूस ली है। अगर कोई घूस देने वाला है तो घूस लेने वाला भी होगा ही।

आज संदेह के उचित कारण
आज सभी तरह की पड़ताल और घूस देनेवालों को सज़ा मिलने के बाद जांच के लिए संदेह करने के उचित कारण हैं। एक बार आपको पास किसी व्यक्ति के खिलाफ पुख्ता सबूत मिल जाएं तब हम साफतौर पर नाम लेकर कह सकेंगे कि इन लोगों ने पैसे लिए। अभी कुछ नामों की चर्चा है, जिससे एक शक पैदा होता है और मेरे हिसाब से उन लोगों को सफाई देनी चाहिए।

NewBuzzIndia से फेसबुक पे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें..
**Like us on facebook**
[wpdevart_like_box profile_id=”858179374289334″ connections=”show” width=”300″ height=”150″ header=”small” cover_photo=”show” locale=”en_US”]

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

ताजा समाचार

पीएम मोदी से ज्यादा समझदार हैं किसान, उन्हें पता कि देश में क्या हो रहा है: राहुल गांधी का सरकार पर हमला

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज मीडिया से बात करते हुए कहा कि देश की आम जनता की लड़ाई आज किसान लड़ रहे हैं।...

विवादित जमीन का आरएसएस से कोई लेना देना नहीं, भोपाल पुलिस ने जबरन डाली पेंच

रविवार को राजधानी के हनुमानगंज, टीलाजमापुरा और गौतम नगर थाना क्षेत्रों में लगी धारा 144 सोमवार रात को हटा ली गई है। यहां स्थिति...

केंद्रीय मंत्री ने गणतंत्र दिवस के मौके पर प्रस्तावित ट्रैक्टर परेड पर पुर्नविचार की अपील की

ग्वालियर पहुंचे नरेंद्र सिंह तोमर से सोमवार को संवाददाताओं ने जब किसान आंदोलन और किसानों के गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में ट्रैक्टर...

Related Articles

पीएम मोदी से ज्यादा समझदार हैं किसान, उन्हें पता कि देश में क्या हो रहा है: राहुल गांधी का सरकार पर हमला

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज मीडिया से बात करते हुए कहा कि देश की आम जनता की लड़ाई आज किसान लड़ रहे हैं।...

विवादित जमीन का आरएसएस से कोई लेना देना नहीं, भोपाल पुलिस ने जबरन डाली पेंच

रविवार को राजधानी के हनुमानगंज, टीलाजमापुरा और गौतम नगर थाना क्षेत्रों में लगी धारा 144 सोमवार रात को हटा ली गई है। यहां स्थिति...

केंद्रीय मंत्री ने गणतंत्र दिवस के मौके पर प्रस्तावित ट्रैक्टर परेड पर पुर्नविचार की अपील की

ग्वालियर पहुंचे नरेंद्र सिंह तोमर से सोमवार को संवाददाताओं ने जब किसान आंदोलन और किसानों के गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में ट्रैक्टर...