fbpx
शनिवार, जनवरी 16, 2021

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में शामिल हुई उर्मिला मातोंडकर

बॉलीवुड अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गई हैं। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने उर्मिला का पार्टी में स्‍वागत किया। उर्मिला ने दिल्‍ली में राहुल गांधी से मिलकर कांग्रेस की सदस्‍यता ली। ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि कांग्रेस उन्‍हें मुंबई नॉर्थ सीट से लोकसभा चुनाव 2019 के दंगल में उतार सकती है। हालांकि कांग्रेस और उर्मिला की ओर से इस बारे में कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है।

उर्मिला ने बयान करी करते हुए कहा कि “राहुल गांधी और कांग्रेस से जुड़े सभी लोगों का शुक्रिया जिन्‍होंने मेरा यहां इतना अच्‍छा स्‍वागत किया। ये दिन मेरे लिए बेहद महत्‍वपूर्ण है, क्‍योंकि मैं आज सक्रिय राजनीति में कदम रख रही हूं। दरअसल, बचपन से मेरी सोच महात्‍मा गांधी, पंडित जवाहर लाल नेहरू और सरदार वल्‍लभ भाई पटेल के विचारों से मेल खाती है। मेरी पूरी पर्सनालिटी इनके विचारों से काफी मिलती- जुलती है। इसलिए मैंने कांग्रेस में शामिल होने का निर्णय लिया है।”

पार्टी में शामिल होते ही उन्‍होंने मोदी सरकार पर हमला करना भी शुरू कर दिया। उन्‍होंने कहा कि संविधान पर कहीं न कहीं आज प्रहार हो रहा है। साथ ही उर्मिला ने यह भी साफ कर दिया कि वह कांग्रेस की विचारधारा से प्रभावित होकर राजनीति में आई हैं और कहीं जाने वाली नहीं हैं। वह लंबे समय तक राजनीति में रहेंगी।

बता दें कि मुंबई नॉर्थ सीट पर भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना का दबदबा रहा है। इसलिए कांग्रेस को इस सीट के लिए हमेशा कड़ा मुकाबला करना पड़ा है। इस सीट से पिछली बार कांग्रेस के संजय निरूपम को भारी मतों के अंतर से हार का सामना करना पड़ा था। बताया जा रहा है कि ऐश्‍वर्या जोशी और शिल्‍पा शिंदे जैसी अभिनेत्रियों के नाम पर भी मुंबई नॉर्थ सीट के लिए चर्चा हुई, लेकिन पार्टी ने इन नामों को गंभीरता से नहीं लिया।

गौरतलब है कि मुंबई की 6 लोकसभा सीटों के लिए चौथे चरण में 29 अप्रैल को मतदान होगा। इसी दिन राज्य की 17 अन्य सीटों के लिए भी वोट डाले जाएंगे। यदि उर्मिला मातोंडर को उम्मीदवार बनाया जाता है तो उनका मुकाबला भारतीय जनता पार्टी के मौजूदा सांसद गोपाल शेट्टी से होगा।

गोविंद भी मुंबई नॉर्थ से लड़ चुके हैं चुनाव अभिनेता गोविंदा ने साल 2004 में पूर्व पेट्रोलियम मंत्री राम नाईक को मुंबई नॉर्थ से पराजित किया था। नाईक इस समय उत्तर प्रदेश के राज्यपाल हैं। नाईक को वर्ष 2009 में संजय निरूपम के हाथों फिर हार का सामना करना पड़ा था। लेकिन साल 2014 में मोदी लहर के दौरान गोपाल शेट्टी ने निरूपम को पराजित कर दिया। इसके बाद संजय निरूपम मुंबई नॉर्थ-वेस्‍ट सीट पर शिफ्ट हो गए, जहां उनकी अच्‍छी पकड़ है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

ताजा समाचार

नारायण त्रिपाठी से खफा हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष,इस मुद्दे पर लगाएंगे क्लास

भोपाल:- अपनी बेबाकी के लिए पहचाने जाने वाले मैहर विधानसभा के भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा रुष्ट दिखाई दे...

वैक्सीनेशन लॉन्चिंग में भावुक हुए पीएम, बोले कई हेल्थ वर्कर लौटकर घर नहीं आए उसी का कर्ज उतार रहे हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना वैक्सीनेशन की लॉन्चिंग के दौरान भावुक हो गए भावुक होते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कई हेल्थ वर्कर इस भयंकर...

मध्यप्रदेश में शुरू हुआ कोरोना का टीकाकरण, भोपाल के हरिदेव को लगने जा रहा है पहला टीका

कोरोना(Corona) के खिलाफ टीकाकरण(Vaccination) अभियान की शुरुआत पूरे देश भर मे शुरू हो चुका है। आज मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh) में कुल 150 सेंटर(150 Centre's)...

Related Articles

मोदी सरकार की किसानों के साथ 10वीं बैठक भी रही बेनतीजा, कृषि मंत्री बोले कुछ तो आप भी…

दिल्ली:- कृषि कानूनों पर बढ़ते गतिरोध के बीच आज केंद्र सरकार ने किसानों के साथ रश्मि बैठक की यह बैठक भी पिछली 9 बैठकों...

Separate budget for children in Chhattisgarh

Raipur: The state government has planned to brought child budget for the first time. The chief minister Bhupesh Baghel is going to have meeting...

Chhattisgarh again wins number one position in power generation for the sixth time

The Chhattisgarh Power Generation Company has once again topped by beating the power plants across the country. The company's plants exhibited 70.08 percent plant...