fbpx
शनिवार, जनवरी 23, 2021

Exclusive: आम आदमी अरविन्द केजरीवाल के 10 बड़े झूठ, जिन्हें जान कर आप रह जाएंगे हैरान !

#NEWBUZZINDIA | दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के कर्ता-धर्ता श्री अरविन्द केजरीवाल जी राजनीति में आने से पहले ही अपनी एक पहचान बना चुके थे। कभी भ्रष्टाचार को लैकर तो कभी लोकपाल के लिए। इसके बाद राजनीति में भी अच्छी जगह बना ली ।इसी दौरान केजरीवाल ने अनेकों वादे भी किये, जो बाद में झूठे साबित हो गए।

कहा जाता है कि अरविन्द केजरीवाल का झूठ से नाता तो बहुत पुराना है, तो इन्ही झुठो में से ऐसे बड़े झूठ, जिनके दम पर अरविन्द केजरीवाल के पब्लिसिटी तो पायी ही साथ ही राजनीती में जगह भी बनाई-

1• अरविन्द केजरीवाल ने चुनाव से पहले कहा था कि वे कभी कांग्रेस-भाजपा का साथ देंगे और न ही लेंगे। पर पहले ही चुनाव में उन्होंने कांग्रेस का दामन थाम लिया।

2• चुनाव से पहले अरविन्द केजरीवाल ने कहा था दिल्ली में उसकी सरकार बनते ही 15 दिनों के भीतर जनलोकपाल बिल पास कराया जायेगा , ऐसा कुछ भी नहीं किया गया | वो यह बोल कर पीछे हट गए की भारत सरकार के दिशानिर्देशों के अंतर्गत वह दिल्ली विधान सभा में यह विधेयक पास नहीं कर पा रहे | सच्चाई तो यह है की यह दिशानिर्देश बहुत पहले दिया जा चूका था ; अतः अपने झूठे वादे करते समय केजरीवाल को इस निर्देश के बारे में भली भाँती ज्ञात था, फिर भी मात्र वोल लेने के चक्कर में सभी को झूठ बोला |

3• अरविन्द केजरीवाल ने मुस्लिमों को लिखे पत्र में कहा था कि इनकम टैक्स ऑफिसर है, पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने पत्र लिखकर स्पष्ट कर दिया की वो ऐसे किसी पद पर कभी नहीं थे।

4• केजरीवाल ने कहा की वह भ्रष्ट और अपराधियों को टिकट कभी नहीं देंगे, लेकिन खुद केजरीवाल पर 9 अपराधिक मामले है। आम आदमी पार्टी ने कुल 44 ऐसे उम्मीदवारों को टिकट दिया जिनके खिलाफ आपराधिक मामले थे।

5• दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले केजरीवाल जी ने कहा था की वो और उनकी पार्टी के नेता सरकारी निवास नहीं लेगे। लेकिन दिल्ली का मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने खुद से एक पत्र भेजा और 5 कमरों वाले दो बंगलो के आवंटन के लिए अनुरोध किया।

6• श्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा था कि उन्हें किसी भी तरह की वीआईपी सुरक्षा से परहेज है। पर अब आप देख सकते है, केजरीवाल ज़ेड सिक्यूरिटी लिए घूमते है।

7• केजरीवाल ने कहा था कि 2014 लोकसभा चुनाव में किसी भी विधायक को सांसद का टिकट नही मिलेगा और न ही कोई विधायक, सांसद बनेगा। पर इसके बाद भी आप देख सकते है कि केजरीवाल ने लोकसभा चुनाव लड़ा।

8• श्री केजरीवाल ने कहा था कि तीन महीनों में अंजलि दमानिया , भूषण, मंयक गांधी के भ्रष्टाचार की जांच करके रिपोर्ट दूंगा। पर अभी तक कुछ नहीं हुआ।

9• अरविन्द केजरीवाल के अनुसार वे मुख्यमंत्री से बढ़कर आम आदमी है, उनसे कोई भी मिल सकता है। पर आपको बता दे की इस आम आदमी से मिलने के लिए किसी आम आदमी को 10,000 रुपये खर्च करना पड़ता है।

10• श्री केजरीवाल ने कहा था कि, यदि अन्ना हजारे आम आदमी पार्टी से अलग हो जाते है तो वो खुद भी पार्टी से हट जायेगे। इसके बाद क्या हुआ आप जानते ही है।

Posted from WordPress for Android

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

ताजा समाचार

मध्यप्रदेश कांग्रेस में हो सकता है जल्द ही बड़ा बदलाव, युवाओं को मौका देने के मिले संकेत

2018 विधानसभा चुनाव में बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर सरकार बनाने वाली कांग्रेस जो बमुश्किल 15 महीनों में ही अपनी सरकार गिरवा चुकी है...

शिवराज सिंह चौहान ने प्यारे मियां मामले पर एसआईटी जांच का निर्देश दिया

भोपाल में यौन शोषण का आरोपी प्यारे मियां की शिकार बनी बच्चियों में से एक युवती की पिछले दिनों नींद की गोलियां खाने से...

विधानसभा सत्र की अधिसूचना जारी 22 फरवरी से 26 मार्च तक रहेगा सत्र

मध्य प्रदेश विधानसभा सचिवालय ने विधानसभा सत्र की अधिसूचना जारी कर दी है सत्र 22 फरवरी से शुरू होकर 26 मार्च तक चलेगा इस...

Related Articles

विधानसभा चुनाव से पहले ममता बनर्जी को लगा एक और झटका, अब इस मंत्री ने दिया इस्तीफा

पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले TMC अध्यक्ष और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को एक और झटका लगा है अब...

मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष से भाजपा शासित राज्यों में शराब बंदी के लिए अनुरोध किया

मध्यप्रदेश(Madhya Pradesh) की पूर्व मुख्यमंत्री(Ex- Chief Minister) उमा भारती(Uma Bharti) ने शराबबंदी को लेकर अपनी राय सोशल मीडिया के माध्यम से रखी है।...

केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच नहीं बन पा रही है कृषि कानून को लेकर सहमति

बुधवार को किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच 10वें दौर की बातचीत खत्म हो गई और किसी भी नतीजे पर नहीं पहुची। बैठक...