Thursday, December 2, 2021

मोदी सरकार का जनता को नया तोहफा, 83 रूपए में हेल्थ और लाइफ इनश्योरेन्स की सुविधा

#Newbuzzindia/नई दिल्ली | भाजपा सरकार के आते ही जैसे नई नई योजनाओं का अम्बार लग चूका हो। इसी कतार में मोदी सरकार ने फिर कदम बढ़ाया है और एक नई स्किम को लॉन्च करने की तैयारी में जुट गयी है। यह योजना जनता के स्वास्थ्य और जीवन से जुड़ी है। इस योजना का उद्देश्य सभी को सस्ता बीमा उपलब्ध कराना है।

दरअसल, सरकार ने 83 रूपए के स्वास्थ्य और जीवन सुरक्षा बीमा की योजना लाने का मन बनाया गया है। इस योजना में, पहले लायी गयी दो बीमा योजना 12 रुपये और 330 रुपये की इंश्योरेंस स्कीम और आने वाली हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम को क्लब करने का सुझाव दिया गया है।

जानकारी के अनुसार, नीति आयोग ने जो प्रपोजल भेजा है, उसके अनुसार अभी सरकार 2 लाख रुपये के इंश्योरेंस कवर की दो इंश्योरेंस स्कीम चला रही है, इसमें 330 रुपये प्रीमियम वाली प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और 12 रुपये की प्रीमियम वाली प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना है, इसके साथ ही इस साल बजट में सरकार ने सस्ते हेल्थ इंश्योरेंस को भी लांच करने की बात कही थी, जिसे 1.30 लाख रुपये तक का कवर मिलेगा। इसमें सीनियर सिटीजन के लिए 30 हजार रुपये का अतिरिक्त प्रावधान है।

नीति आयोग के प्रपोज़ल के अनुसार सरकार को इन सभी स्कीमों को इकट्ठा कर देना चाहिए। और इन सब को मिलाकर एक यूनिवर्सल इंश्योरेंस स्कीम लांच कर देनी चाहिए। इस प्रपोजल के अनुसार बजट में केवल बीपीएल कैटेगरी और सीनियर सिटिजन के लिए बात कही थी, दूसरी कैटेगरी के तहत फाइनेंस मिनिस्ट्री एक हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम सभी के लिए लांच कर सकती है, जिस पर 50 हजार रुपये का कवर मिलेगा, इसके लिए 670 रुपये सलाना प्रीमियम तय किया जाएगा। मालूम हो कि ऐसे में कुल मिलाकर कोई भी व्यक्ति 1012 रुपये सलाना खर्च कर लाइफ से लेकर हेल्थ इंश्योरेंस का लाभ ले सकता है।

ये होगा फायदा-
इस स्किम से फायदा ये होगा कि इसके जरिये जहां कंपनियों की कॉस्ट कम होगी, वहीं यूजर्स के लिए इंश्योरेंस स्कीम लेना आसान हो जाएगा। इससे सबके साथ ही उनके लिए कंफ्यूजन भी कम होगा।

Posted from WordPress for Android

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

ताजा समाचार

Related Articles