#Newbuzzindia | ढाका हमलें के बाद सबसे बड़ा नाम जो सबकी जुबान पर आया है, वो है डॉ. जाकिर नाइक ! आखिर कौन है डॉ. जाकिर नाइक ?  जो किसी के लिए नायक बन चुके है तो किसी के लिए विलेन का नाम। ढाका के आतंकियों ने माना की वे डॉ. जाकिर नाइक के उपदेशों से प्रभावित हुए है। इन आतंकियों को जाकिर का शागिर्द माना जा रहा है।
क्या आप जानते है डॉ. जाकिर नाइक के बारे में, यदि नही तो ये जानकारी आपके लिए ही है।

डॉ. जाकिर नाइक मुम्बई में एक स्कूल के संचालक है। साथ ही वे इस्लाम धर्म के उपदेशक भी है। इनकी पहचान एक मॉडर्न इस्लाम उपदेशक के रूप में है क्योकि ये अन्य इस्लाम उपदेशकों की तुलना में ये हमेशा शूट बूट में और सज धज के रहते है।
जिनके उपदेश सुनने के लिए हजारों की संख्या में लोग इकठ्ठा हो जाते है। कुछ लोग इन्हें आतंकी मानते है तो कुछ लोगो के लिए ये इस्लाम के उपदेश और इस्लाम के रक्षक हैं।

विवादों से नाता-
डॉ. जाकिर नाइक के साथ अनेक तरह के विवादों का नाता रहा है। ये अपने बयानों के कारण चर्चा में बने रहते है। इनके बयान इस तरह है
●”मैं सारे मुस्लिमों से कहता हु की वे आतंकी हो जाए। आतंकी मतलब ऐसा आदमी जो भय फैलाये।”
●”जब एक डकैत पुलिसवाले को देखता है तो वह आतंकित हो जाता है, मतलब डर जाता है। वह पुलिस वाला, डकैत के लिए आतंकी है। इस सन्दर्भ में हर एक डकेत के लिए एक मुस्लिम आतंकी होना चाहिए।”
● ये ओसामा बिन लादेन के समर्थक भी रह चुके है।

आपको बता दे कि, जाकिर नाइक को ब्रिटेन और कनाडा में प्रवेश पर प्रतिबन्ध लगा हुआ है साथ ही नाइक उन 16 मुस्लिम स्कॉलर में शामिल है जिन्हें मलेशिया के भीतर प्रवेश करने की अनुमति नही है।

डॉ. जाकिर नाइक का नेटवर्क-
नाइक ने अपना खुद का एक टीवी चैंनल पीस टीवी खोल रखा है जो की 100 देशों में देखा जाता है। अनुमान के अनुसार इसके लगभग 20 करोड़ दर्शक है।
इनके फेसबुक पेज पर 1.4 करोड़ फॉलोवर्स है  जिसके पीछे इनकी एक बड़ी टीम फेसबुक और ट्विटर को हैंडल करने का काम करती है।
डॉ. जाकिर नाइक के वीडियो यूट्यूब और सोशल मीडिया पर छाये रहते है। साथ ही इनकी सभाये किसी बड़े बॉलीवुड शो की तरह होती है।
जाकिर नाइक लगभग 30 देशों में 2000 सभाये कर चुके है।

डॉ. जाकिर नाइक की निजी जिंदगी-
जाकिर नाइक का जन्म 1965 में हुआ था। इन्होंने एमबीबीएस की पढ़ाई की है। मुम्बई में इस्लामिक इंटरनेशनल स्कूल के ये संचालक है। इसी स्कूल में इनकी एक बेटी और एक बेटा भी शिक्षक है। इनकी पत्नी भी इसी स्कूल में महिला विंग की प्रमुख है।

अपनी MBBS के आखिरी दिनों में इन्होंने साउथ अफ्रीका के इस्लामी उपदेशक अहमद दिदत का उपदेश सुना और उन्ही के जैसे बनने की ठान ली।  और उन्हें के जैसे भी बन गए। लोग इन्हें दिदत का दूसरा रूप कहते है।

बांग्लादेश सरकार ने ढाका हमले के बाद भारत सरकार से गुहार लगाई है कि वे डॉ.जाकिर नाइक की उपदेश इत्यादि से जुडी वीडियो की जाँच करे।

Posted from WordPress for Android

Loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.