Friday, September 24, 2021

इंदौर में कल खुल जाएगी शराब दुकान, मॉर्निंग वॉक पर प्रशासन ने लगाई रोक, अनलॉक गाइडलाइन जारी

कोरोना की दूसरी लहर को रोकने की उद्देश्य लगाए गए कोरोना कर्फ्यू (लॉकडाउन) को आज 1 जून से कुछ हद तक शिथिल कर दिया गया है जिन जिलों में ज्यादा संक्रमण है वहां छोड़ बाकी जिलों में प्रदेश सरकार ने आम आवागमन और कई गतिविधियों में छूट प्रदान की है।

इस बीच प्रदेश सरकार ने शराबियों का विशेष ख्याल रखा है शायद इसके पीछे सरकार शराबियों द्वारा दिये जाने वाले राजस्व को माना है जिससे प्रदेश की अर्थव्यवस्था चल रही है, यही कारण है कि आज इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में इंदौर में कल से शराब दुकान खोले जाने और मॉर्निंग वॉक समेत अन्य जरूरी सुविधाओं को बंद किए जाने का फैसला लिया गया है।

कलेक्टर मनीष सिंह की अध्यक्षता में सोमवार को रविंद्र नाट्य ग्रह में राजस्व,पुलिस एवं नगर निगम अधिकारियों की संयुक्त बैठक आयोजित की गई। बैठक में डीआईजी मनीष कपूरिया, नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल, जिला पंचायत सीईओ हिमांशु चंद्र, अपर कलेक्टर पवन जैन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महेश चंद्र जैन सहित समस्त कार्यपालक मजिस्ट्रेट, पुलिस अधिकारी एवं नगर निगम के अधिकारी उपस्थित रहे।

कलेक्टर ने बताया कि जिले के समस्त जनप्रतिनिधियों एवं क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्यों से हुई चर्चा उपरांत 1 जून से अनलॉक की प्रक्रिया प्रारंभ की जा रही है। इस संबंध में धारा 144 के तहत नए आदेश भी जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि अनलॉक के दौरान हमें विशेष ध्यान रखना है कि कोरोना प्रोटोकॉल का पूर्णतः पालन हो। इसमें किसी भी तरह की लापरवाही न बरती जाए।

कलेक्टर ने नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध धारा 188 के तहत कार्यवाही करने के निर्देश भी अधीनस्थ अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने कहा इस बात का विशेष ध्यान दिया जाए कि कार्रवाई के दौरान व्यक्ति के सामान की जब्ती ना हो।

कलेक्टर ने जिले के सभी एसडीएम को निर्देश दिए हैं कि मजदूर चौक पर एकत्रित होने वाले मजदूरों के सेंपलिंग एवं वैक्सीनेशन कराने के कार्य को प्राथमिकता दी जाए। उन्होंने कहा कि स्थानीय परिस्थिति को दृष्टिगत रखते हुए अधिकारियों द्वारा नियमों का पालन कराने के लिए अपने स्तर पर कार्य नीति तैयार की जाए। कलेक्टर सिंह ने कहा कि  यदि कोई व्यक्ति मास्क नहीं लगाता है तो उस पर अर्थदंड लगाया जाए एवं यदि कोई दुकानदार मास्क एवं अन्य नियमों का पालन नहीं करता हुआ पाया जाता है, तो उसकी दुकान सील कर जरूरी कार्रवाई की जाए।

बैठक में इंदौर शहर डीआईजी मनीष कपूरिया ने कहा अनलॉक के दौरान लोगों का आवागमन बढ़ेगा इसलिए सभी पुलिस अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों की सतत मॉनिटरिंग की जाए। ऐसे क्षेत्रों में ज्यादा संख्या में लोग एक साथ एकत्रित ना हो इसका विशेष ध्यान दिया जाए। जिले में चेकपॉइंट्स लगायें जाए एवं गाड़ियों के कोनवॉय नियमित रूप से निकाले जाए। उन्होंने कहा कि अनलॉक के दौरान मॉर्निंग वॉक एवं ऐसी अन्य गतिविधियों पर अंकुश लगाया जाए, जिनसे संक्रमण फैलने के आसार बढ़ सकते हैं।

ताजा समाचार

Related Articles