fbpx
Monday, May 10, 2021

धार: 46000 में रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचते अधेड़ गिरफ्तार, साथी फरार

मध्यप्रदेश के धार जिले में रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचते एक अधेड़ को पुलिस ने घेराबंदी कर गिरफ्तार किया है।

पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह को सूचना मिली थी कि पीथमपुर के सेक्टर वन में एक व्यापारी रेमडेसिविर इंजेक्शन बाहर से लाकर लोगों को बेच रहा है।

सूचना पर पीथमपुर के सीएसपी तरुणेंद्र सिंह बघेल को कार्यवाही के लिए निर्देशित किया गया। सीएसपी बघेल के निर्देश पर थाना प्रभारी चंद्रभान सिंह चढ़ार व सब इंस्पेक्टर के. एस. मंडलोई ने देर रात घेराबंदी कर चंद्रेश जैन को गिरफ्तार कर उसके पास से दो रेमडिसिविर इंजेक्शन बरामद किए।

सब इंस्पेक्टर के. एस. मंडलोई ने बताया कि चंद्रेश जैन पिता ज्ञानचंद्र जैन हाउसिंग बोर्ड कालोनी पीथमपुर में हार्डवेयर का व्यापारी है और सागर का रहने वाला है। वह इंजेक्शन दमोह से बेचने के लिए लाया था। यहां पर एक इंजेक्शन की ₹23000 की कीमत के हिसाब से दोनों इंजेक्शनों को ₹46000 में बेचना तय हुआ था।

आरोपियों ने बताया इस इंजेक्शन की कालाबाजारी में पीथमपुर के डॉक्टर नरेंद्र उर्फ आनंद की भी मिलीभगत थी। लेकिन पुलिस ने बेचने से पहले ही व्यापारी को गिरफ्तार कर लिया इसका डॉक्टर साथी फरार है, जिसकी सरगर्मी से तलाश की जा रही है। डॉक्टर साथी पीथमपुर में पीथमपुर हॉस्पिटल के नाम से क्लीनिक चलाता है।

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश सरकार ने दवाइयों की कालाबाजारी करने वालों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून न्याय के तहत मामला दर्ज करने और ऐसे व्यक्तियों की संपत्ति कुर्क करने की बात कही है उसके बावजूद भी लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं।

ताजा समाचार

Related Articles