fbpx
बुधवार, जनवरी 27, 2021

मिशन कोहेनूर : नरेंद्र मोदी ने तैयार किया मास्टर प्लान , भारत वापिस लाएंगे कोहेनूर !

Newbuzzindia: कोहिनूर की वापसी को लेकर उठे हालिया विवाद के बीच सरकार ने साफ किया कि वह कोहिनूर की वापसी चाहती है, लेकिन ब्रिटेन के साथ आपसी संबंधों व सहमति के साथ। इतना ही नहीं, सरकार चाहती है कि संसद में इस बारे में चर्चा हो।

सरकार की योजना है कि कोहिनूर को लेकर देश की जनता के सामने जहां तस्वीर साफ हो। दूसरी ओर, वह देश को बताना चाहती है कि उससे पहले किसी सरकार ने इसे लाने के लिए कोई गंभीर प्रयास नहीं किया।

सरकार कूटनीतिक व राजनैतिक कोशिशों के जरिए मिशन कोहिनूर पर आगे बढ़ना चाहती है। सूत्रों के मुताबिक, इस मिशन में खुद पीएम की दिलचस्पी है। इसके लिए वह खुद अपने तौर पर भी प्रयासरत बताए जाते हैं।

होमवर्क में जुटा मंत्रालय सरकार का संस्कृति मंत्रालय इन दिनों को कोहिनूर को लेकर होमवर्क करने में व्यस्त है। इसे लेकर दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को 6 हफ्ते का वक्त दिया है। सरकार जहां एक ओर कोर्ट में अपना जवाब दाखिल करने के लिए विभिन्न स्रोतो से जानकारी जुटा रही है।

वही, यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि इसे लेकर भारत सरकार की ओर से पिछला प्रयास कब-कब हुआ था और तत्कालीन सरकार का क्या रुख था।

बताया जा रहा है कि सरकार की दलील उस कानून पर आधारित होगी, जिसमें किसी नाबालिग द्वारा किसी को उपहार देने का अधिकार नहीं है। सरकार आजादी से पहले वाले और मौजूदा ट्रांसफर ऑफ प्रॉपर्टी ऐक्ट के तहत आने वाले गिफ्ट डीड को आधार बनाने की योजना बना रही है।

अपने हलफनामे में सरकार यह दिखाने की कोशिश करेगी कि राजा दिलीप सिंह से यह कोहिनूर हीरा अंग्रेजों के पास गया तो उस वक्त वह नाबालिग थे। इसलिए अगर उन्होंने हीरा स्वेच्छा से दिया या उन पर दबाव डाल कर लिया गया हो, लेकिन उनके पास कानूनी तौर पर इसका अधिकार नहीं था।

कांग्रेस को घेरेगी बीजेपी

बीजेपी सरकार इस मामले में कांग्रेस को घेरने की तैयारी में है। उसकी कोशिश है कि वह देश के सामने यह बात रख सके कि पंडित जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के दौर में कांग्रेस की बहुमत वाली सरकार होने के बावजूद कभी भारत की ओर से कोहिनूर की वापसी को लेकर कोई गंभीर कोशिश नहीं हुई।

NewBuzzIndia से फेसबुक पे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें..
**Like us on facebook**
[wpdevart_like_box profile_id=”858179374289334″ connections=”show” width=”300″ height=”150″ header=”small” cover_photo=”show” locale=”en_US”]

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

ताजा समाचार

राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह समेत कई दिग्गज नेताओं ने राजभवन में सौपा कृषि कानून के खिलाफ ज्ञापन

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह(Digvijay Singh) के नेतृत्व में कांग्रेस के नेता राजभवन(Governor House) पहुंचे और अपना ज्ञापन सौंपा। कई दिग्गज नेता जैसे जयवर्धन सिंह,...

शुक्रवार को भोपाल में हो रहे किसान आंदोलन में पुलिस प्रशासन ने की यह बड़ी कार्यवाही

किसानों का प्रदर्शन पूरे भारत मे अब उर्ग हो चुका है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(Shivraj Singh Chauhan) ने भी किसानों के खिलाफ प्रशासन को...

कांग्रेस की शांतिपूर्वक रैली में हुआ प्रशासन की तरफ से लाठीचार्ज, कई बड़े नेता हुए गिरफ्तार

मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल(Bhopal) में कांग्रेस पार्टी(Congress Party) की तरफ से किसानों के समर्थन में रैली का आयोजन किया गया था। इस...

Related Articles

विधानसभा चुनाव से पहले ममता बनर्जी को लगा एक और झटका, अब इस मंत्री ने दिया इस्तीफा

पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले TMC अध्यक्ष और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को एक और झटका लगा है अब...

मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष से भाजपा शासित राज्यों में शराब बंदी के लिए अनुरोध किया

मध्यप्रदेश(Madhya Pradesh) की पूर्व मुख्यमंत्री(Ex- Chief Minister) उमा भारती(Uma Bharti) ने शराबबंदी को लेकर अपनी राय सोशल मीडिया के माध्यम से रखी है।...

केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच नहीं बन पा रही है कृषि कानून को लेकर सहमति

बुधवार को किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच 10वें दौर की बातचीत खत्म हो गई और किसी भी नतीजे पर नहीं पहुची। बैठक...