#Newbuzzindia/नई दिल्ली |  भारत-पाक संबंधों में लगातार उतार चढ़ाव देखे जा रहे है। पाकिस्तान अपनी असभ्य बयानबाजी से जहाँ एक तरफ रिश्तों में खटास ला रहा है तो वहीँ सीमा पर घुसपैठ और गोलीबारी से माहौल खराब कर रहा है। इस सब से निपटने के लिए मोदी ने कड़ा रुख अपनाया है।

मोदी ने सेना को खुली छूट देते हुए कहा है कि, “वे जिस तरीके से उचित समझते हों जवाब दें।” मोदी ने यह बात, गत दिनों सीमा पर हुयी गोलीबारी में शहीद आठ जवानों के बारे में पूछे जाने पर कही।
मोदी ने अपनों बात में यह भी कहा कि, “जिसका काम मेज पर बैठ कर करने वाला है, वे अपना काम देखे, वहीँ जो लोग सीमा पर है वे अपना काम पूरी ताकत से करे।

देश में बढ़ते आतंकी दबाव को लेकर भी मोदी ने कहा कि सेना के जवानों ने आतंकियों के मंसूबो को नाकाम किया है हमे अपने जवानो पर गर्व है।
मोदी के द्वारा टाइम्स नाउ को दिए गए इंटरव्यू में मोदी ने साफ़ तौर पर सेना और सुरक्षा दलों को खुली छूट देने का संकेत दिया है।

जब मोदी से पाकिस्तान से बातचीत में आने वाली लक्ष्मण-रेखा के बारे में पूछा गया तो मोदी ने कहा कि ‘पहली बात तो है कि पाकिस्तान में आप किसके साथ लक्ष्मण रेखा के बारे में फैसला करेंगे-निर्वाचित सरकार के साथ या अन्य तत्वों के साथ। इसलिए भारत को हर समय सतर्क और चौकन्ना रहना होगा। कोई ढिलाई या लापरवाही नहीं होनी चाहिए।’

अब दुनिया यकीन करने लगी है !
मोदी ने आतंकवाद को लेकर कहा कि, “पहले दुनिया आतंकवाद पर भारत के विचारों को नहीं स्वीकारती थी और कई बार तो इसे कानून व्यवस्था की समस्या बताती थी। अब पूरी दुनिया उस बात को स्वीकार कर रही है जो भारत आतंकवाद पर कहता है। वह आतंकवाद से भारत को हुए नुकसान को, आतंकवाद से मानवता को हुए नुकसान को स्वीकार कर रही है। मेरा मानना है कि भारत को इस मामले में अपने विचार रखते रहने होंगे।”

Posted from WordPress for Android

Loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.