fbpx
Tuesday, September 29, 2020

Impetuous Kashmir move will have dire consequences: China

जेएनयू में एबीवीपी की गुंडागर्दी, कमरें में घुसकर 16 लोगों ने की छात्र की पिटाई

दिल्ली में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्रों के साथ हिंसा का एक और मामला सामने आया है। ऑल...

एक साल में 42480 किसानों ने की आत्हत्या, मीडिया और सरकार खामोश

एनसीआरबी (नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो) के ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक, साल 2019 में 42480 किसानों -मजदूरों को आत्महत्या...

SBI ने ATM से पैसे निकालने के नियम बदले, ट्रांजैक्शन फेल होने पर लगेगा जुर्माना

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने ग्राहकों के लिए ATM से कैश निकालने के नियमों में कुछ बदलाव किए हैं। 1 जुलाई...

राजस्थान: अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार को विधानसभा में मिला विश्वासमत

लगभग 1 महीने चले राजनैतिक ड्रामे के बाद आज हुई हुए विधानसभा सत्र में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस ने...

कोर्ट की अवमानना के मामले में प्रशांत भूषण दोषी करार, 20 को सजा पर फैसला करेगा सुप्रीम कोर्ट

अदालत की अवमानना मामले में आज सुप्रीम कोर्ट ने सीनियर वकील प्रशांत भूषण को दोषी करार दिया है।...

By: Talat Mohsin

In its editorial titled “India’s unilateral Kashmir move inside , dangerous”, the Chinese government’s mouthpiece The Global Times has criticised the Indian government on its Kashmir move.

The editorial termed the move as a “wrong decision” and explicitly warned that it would have serious implications on its image. “By revoking Jammu and Kashmir’s relative autonomy and by likewise revoking a decree which forbade non-Kashmiris from buying property in the disputed territory, India’s status in relation to Kashmir has been inexorably changed from that of a party to conflict to an instigation of an unnecessary and counterproductive provocation.”

It further added- “ When Indian minister of home affairs Amit Shah loudly claimed that India seeks to establish rule over Aksai Chin in northwest China’s Xinjiang Uyghur Autonomous Region it, displayed an attitude of hostility against China that is incompatible with a productive partnership based on realism and shared economic goals.”

It also accused the US and the West of “conniving with India” and has urged the international community to “de escalate tensions” and also to ensure that the rights of Kashmiris are not violated.

The Global Times is published by the ruling Chinese Communist Party’s paramount mouthpiece, the people’s daily and is infamous for its hawkish and insulting editorials. Therefore, it can be concluded that such an editorial was only published to chide India.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

ताजा समाचार

जेएनयू में एबीवीपी की गुंडागर्दी, कमरें में घुसकर 16 लोगों ने की छात्र की पिटाई

दिल्ली में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्रों के साथ हिंसा का एक और मामला सामने आया है। ऑल...

एक साल में 42480 किसानों ने की आत्हत्या, मीडिया और सरकार खामोश

एनसीआरबी (नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो) के ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक, साल 2019 में 42480 किसानों -मजदूरों को आत्महत्या...

SBI ने ATM से पैसे निकालने के नियम बदले, ट्रांजैक्शन फेल होने पर लगेगा जुर्माना

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने ग्राहकों के लिए ATM से कैश निकालने के नियमों में कुछ बदलाव किए हैं। 1 जुलाई...

Related Articles

State Governments, Migrants and a Fight for Home

Over 3.62 lakh migrant workers returned to their home towns in Rajasthan from states such as Gujarat, Madhya Pradesh, Haryana and Uttar Pradesh by...

The ‘Corona stay’ is equally in the Hands of government as ours

Article by: Sanjeet Nigodia While coming down to the end of 3rdphase of Coronavirus induced national lockdown in the...

Vizag: Another Bhopal?

Vizag saw a gas leak on morning of May7, 2020 at LG Polymers Industry. 11 people have died and...