एक तरफ तो देश मे भीड़ द्वारा हिंसा की घटनाओं में भारी इजाफा हो रहा है तो वहीं दूसरी ओर सरकार इन घटनाओं को ज्यादा तूल न देने की बात कर रही है। आए दिन देश मे भीड़ द्वारा कभी किसी मुस्लिम को तो कभी किसी दलित को मार दिया जाता है। हालात तो यह है कि इस हिंदूवादी सरकार में अब साधु-संत भी सुरक्षित नही है। कुछ दिन पहले भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा स्वामी अग्निवेश पर हमला इसी का उदाहरण है।

वैसे देश में इस समय गौ रक्षकों की दहशत है। गाय औरबीफ़ के नाम पर आए दिन लोगों की हत्या की जा रही है। हमारी सरकार भी गाय को माँ का दर्जा देते हुए उनकी सुरक्षा की बात करती रहती है।

हाल ही में किये गए एक सर्वे के अनुसार भारत में करीब 71 प्रतिशत आबादी ऐसे लोगों की है जो खाने में मांस का उपयोग करते हैं। इस 71% में मुस्लिमों की संख्या मात्र 18% है।

मोदी सरकार में बड़ा बीफ एक्सपोर्ट

अमेरिका के एग्रीकल्चर एक्सपोर्ट डिपार्टमेंट ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि मोदी सरकार बनने के बाद पिछले साल अक्टूबर में भारत से बीफ एक्सपोर्ट 5% बढ़कर 20 लाख टन हो गया था। हालांकि चीन जैसे देशों में बीफ की बढ़ती मांग इसकी वजह है। जिस देश में बीफ और गौ हत्या के मुद्दे पर भीड़ हिंसा की शर्मनाक घटना घट रही हैं उस देश का सबसे बड़ा और सबसे आश्चर्यजनक सच ये है कि वर्तमान सरकार में भारत बीफ निर्यात में विश्व में पहले स्थान पर पहुंच गया है। भारत में बीफ के सालाना कारोबार की रकम करीब 27 हजार करोड़ रुपये है।

सोशल मीडिया पर फैलने वाली अफवाहों के कारण देशभर में उन्मादी भीड़ द्वारा लोगों को पीटने या हत्या करने की घटनाएं बढ़ रही हैं। मोहम्मद अखलाक, डीएसपी अयूब पंडित, रवींद्र कुमार, जफर खान और पहलू खान। ये वो नाम हैं, जिन्हें ऐसी ही भीड़ ने मार डाला। ये फेहरिस्त काफी लंबी है। हालात ये हैं कि बच्चा चोरी के सिर्फ शक में पिछले डेढ़ महीने में 7 राज्यों में 20 से ज्यादा लोगों की हत्या कर दी गई हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.