Newbuzzindia: भारत के विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तान को उसकी औकात याद दिला दी और कहा- जिनके घर शीशे के बने होते है वो दूसरों के घर पर पत्थर नही फेका करते। यह बात सुष्मा स्वराज ने नवाज़ शरीफ के कश्मीर पर उल जलूल बयान के बाद कही है। सुषमा ने पाक को अपनी गिरेबाँ में झांकने की भी हिदायत दे दी।

और क्या-क्या कहा सुष्मा स्वराज ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में ? आइये जाने-

● कुछ लोग अपने देश में नामी आकांकियों को खुलेआम घूमने दे रहे है और बिना डर के उल जलूल बयान दे रहे है। यह बात सुष्मा स्वराज ने हाफ़िज़ सईद के लिए कही ।

● हमारे बीच में ऐसे भी देश है जो आतंकवाद का उत्पादन कर रहे है और उन्हें निर्यात भी कर रहे है।

● कश्मीर भारत का हिस्सा है और हमेशा रहेगा। पकिस्तान को कश्मीर का सपना देखना बन्द कर देना चाहिए।

● आतंकवाद का समर्थन करने वाले देशों को अलग थलग कर देना चाहिए।

● दूसरों पर मानवाधिकार का उल्लंघन करने का आरोप लगाने वाला पाकिस्तान पहले बलूचिस्तान में देख ले। वहां पाक खुद क्या कर रहा है।

● पाक के साथ सिर्फ दोस्ती के लिए बात की, हमे क्या मिला पठानकोट और उरी हमला।

● पाक को जब आतंकवाद की घटना से अवगत कराया जाता है तो वह अपना पल्ला इन बातों से झाड़ लेता है।

● आतंकवादी मानवाधिकारों का सबसे बड़ा उल्लंघनकर्ता है।

● हमे यह देखना चाहिए की आतंकवाद को पैसा कौन देता है ? उन्हें पनाह कौन देता है ? उन्हें संरक्षण कौन देता है ? उन्हें हथियार कौन देता है।

● यदि हमें आतंकवाद को जड़ से मिटाना है तो हम सब को  एकजुट होना होगा और मुकाबला करना होगा।

● जिन्होंने आतंकवाद का बीज बोया है उसे ही कड़वा फल मिला है। इतिहास भी इस बात का गवाह है।