लुधियाना नगर निगम चुनाव में कांग्रसे ने बाजी मारते हुए 62 वार्डों पर जीत दर्ज की। 10 में अकाली, 10 में भाजपा, 7 लिप और 4 वार्डों में निर्दलीय को जीत मिली। बता दें कि 24 फरवरी को हुए मतदान के बाद महानगर के 494 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में बंद हो गई थी। कि कांग्रेस, बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल के बीच कड़ा मुकाबला था। मंगलवार सुबह मतगणना शुरू हुई और दोपहर तक 494 उम्मीदवारों में से 95 की किस्मत का फैसला हो गया।वोटों की गिनती अलग-अलग केंद्रों में हुई थी।
मिली जानकारी के मुताबिक, 95 सीटों वाले इस नगर निगम में कांग्रेस 62 सीटों पर जीत दर्ज की है. दूसरे नंबर पर शिरोमणि अकाली दल है जिसे 11 सीटों से संतुष्ट करना पड़ा है. बीजेपी को महज 10 सीटों पर जीत मिली है.

इस नगर निगम चुनाव में अपनी किस्मत आजमा रही आम आदमी पार्टी को सिर्फ एक सीट मिली है. नई पार्टी लोक इंसाफ पार्टी को 7 सीटें मिली हैं. लोक इंसाफ पार्टी और आप इस चुनाव में गठबंधन कर मैदान में थे.
चार सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार विजयी हुए हैं.
लुधियाना नगर निगम की 95 सीटों पर कुल 494 उम्मीदवार मैदान में थे. मुख्य मुकाबला कांग्रेस और शिरोमणि अकाली दल-बीजेपी गठबंधन के बीच था.
लुधियाना नगर निगम चुनाव के लिए 24 फरवरी को मतदान हुआ था. दो सीटों पर सोमवार को भी मतदान हुआ था. इस चुनाव के लिए 59.08 प्रतिशत लोगों ने अपने मतधिकार का इस्तेमाल किया था.
लुधियाना नगर निगम के तहत करीब 10 लाख 50 हजार वोटर रजिस्टर्ड हैं. इनमें 5 लाख 67 हजार पुरुष, 4 लाख 28 हजार महिलाएं और 23 थर्ड जेंडर मतदाता हैं.