NewBuzzIndia:

आज कल भाजपा के सुब्रमण्यम स्वामी लगातार अलग अलग अधिकारीयों और नेताओं पर अपने ढंग से निशाना साध रहे हैं। कभी रघुराम राजन पर तो कभी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर तो कभी आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यम पर। इतने लोगों पर लगातार हमला करने के बाद अब स्वामी के निशाने पर देश के वित्तमंत्री अरुण जेटली आए।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने शुक्रवार को तीखे जुबानी हमलों का एक और नया मोर्चा खोलते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली पर अप्रत्यक्ष हमला कर दिया और उन्हें ‘बिन मांगे सलाह देने वाला बताया।’ इस बार उन्होंने हालांकि इस्तीफे की मांग नहीं की। स्वामी ने एक ट्वीट में कहा, “लोग बिना मांगे मुझे अनुशासित रहने और चुप रहने की सलाह दे रहे हैं, लेकिन यह नहीं समझ रहे हैं कि यदि मैं अनुशासन का सम्मान नहीं करूं तो खून-खराबा हो जाएगा।”

स्वामी ने हालांकि जेटली का नाम नहीं लिया, लेकिन स्वामी का यह ट्वीट जेटली द्वारा उन्हें सार्वजनिक तौर पर झिड़की लगाने के बाद आया है। स्वामी की मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यम को बर्खास्त करने की मांग पर जेटली ने उनकी सार्वजनिक निंदा की थी।

जेटली ने कहा था, “पार्टी ने कहा है कि वह स्वामी के बयान से सहमत नहीं है। मैं भारतीय नेताओं के अनुशासन के संदर्भ में भी एक तथ्य रखना चाहता हूं.. आखिर हम उन लोगों पर किस हद तक हमला कर सकते हैं, जो अपने कार्यालय के अनुशासन एवं नियमों के कारण जवाब नहीं दे सकते और ऐसा एक बार नहीं, बार-बार हुआ है।”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.