Newbuzzindia: भाजपा के नवनिर्वाचित अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने हाल ही में कहा था कि राम मंदिर उनकी पार्टी के लिए आस्था का विषय है, चुनावी मुद्दा नहीं। राम मंदिर के निर्माण के लिए भाजपा, विश्व हिन्दू परिषद् और सारा ब्राह्मण समाज प्रयासरत है।

ताज़ा खबर तो यह है कि अब मुस्लिम राष्ट्रीय मंच भी इस पुराने मुद्दे को सुलझाने का मन बना रहा है। मुस्लिम भी यह चाहते हैं कि यह मुद्दा कोर्ट के बाहर सुलझ जाये।

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच – एम् आर एम् ने इस कार्य के लिए व्यापक सहमती बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। बाबरी मस्जिद एक्शन कमिटी भी बनाने की तैयारी हो रही है।

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संयोजक ने कहा है कि मज़हब-ऐ-इस्लाम के अन्दर अगर मस्जिद बने तो उसकी मल्कियत मुस्लिम समाज या फिर वक्फ बोर्ड की होनी चाहिए। परन्तु राम मंदिर जहाँ बनाने की पेशकश है, वो जगह मुस्लिम वक्फ बोर्ड की नहीं है। इस नाते जिस जगह पर गर्भ-गृह स्थित है, उस पर मुसलमानों का कोई भी हक नहीं है।

अफज़ल ने कहा राम के नाम पर अब और खून नहीं बहना चाहिए। इसलिए वह चाहते हैं कि यह मामला जल्द से जल्द सुलझा लिया जाए।

उन्होंने यह तक कहा की वह कोर्ट के फैसले का इंतज़ार भी नहीं करना चाहते। उनका कहना है कि बाबरी मस्जिद एक्शन कमिटी जल्द ही इस पर बात चीत शुरू कर देगी। वो अब चाहते हैं कि वह हिन्दू समाज के साथ उन्नति के रास्ते पर चलें।

सच तो यह है कि आज भी रामलला की पूजा हो रही है, और इस मामले को खींच कर किसी का भी फायदा नहीं हो रहा है। वह कहते हैं कि मुस्लिम समाज राम मंदिर बनाने में सहयोग दे, ताकि उनकी उन्नति के रास्ते खुल सकें।

NewBuzzIndia से फेसबुक पे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें..
**Like us on facebook**
[wpdevart_like_box profile_id=”858179374289334″ connections=”show” width=”300″ height=”150″ header=”small” cover_photo=”show” locale=”en_US”]

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.