NewBuzzIndia:

अभी तक तो लोगों को अपनी बातों और मुद्दों से आकर्षित करने का काम करता था संघ। ज्यादा से ज्यादा संख्या में सदस्यों को जोड़ने के लिए उसका सबसे कामगार मुद्दा था ‘राष्ट्रवाद’, जिसका समय समय भारी विरोध भी हुआ करता है। पर जो काम अभी संघ ने किया है उसका भरी विरोध और आलोचना चहुओर हो रही है।
सूरत स्थित स्वामीनारायण मंदिर के अधिकारियों ने भगवान स्वामीनारायण की प्रतिमा को आरएसएस की वेशभूषा मे तैयार किया जिसके बाद विवाद छिड़ गया है। भगवान स्वामिनारायण को आरएसएस का यूनिफॉर्म पहनाने पर कोंग्रेस ने भगवान पर भगवा करण करने का आरोप लगाया है। सूरत में स्वामिनारायण मंदिर में एक हफ्ते के लिए RSS शिविर का आयोजन था।

सोमवार को शिविर के आखरी दिन भगवान को यूनिफॉर्म पहनाया गया। उसके बाद मंगलवार को आरएसएस के प्रांत प्रवक्ता प्रदीप जैन द्वारा इसे फेसबुक पर अपलोड करते ही उस पर बवाल मचना शुरू हो गया। देखते ही देखते संघ की वेशभूषा वाली भगवान स्वामीनारायण की प्रतिमा की यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई।

तस्वीर में भगवान की प्रतिमा को सफेद शर्ट, खाकी रंग के निकर, काली टोपी और काले जूते में देखा गया। तस्वीर में प्रतिमा के एक हाथ में राष्ट्रीय ध्वज भी दिखाई दे रहा था। मंदिर के स्वामी विश्वप्रकाशजी के अनुसार, यह परिधान कुछ दिनों पहले एक स्थानीय श्रद्धालु ने उपहार में दिया था।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.