तेलंगाना में  शनिवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी ने एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए दिसंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव के प्रचार अभियान की शुरुआत की। राहुल गाँधी ने इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी और तेलंगाना के कार्यवाहक मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव पर जमकर हमला बोला। अदिलाबाद जिले के भाइंसा में एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गाँधी ने कहा की ‘ प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव, दोनों ने ही जनता से किये गये वादों को पूरा नही किया। पीएम मोदी देश के युवाओं को रोजगार देने की बात की, किसानों को फसलों के सही दाम देने की बात की, सभी को 15 लाख देने की बात की लेकिन दिया कुछ नही।  मोदी जी ने कहा की में देश का चौकीदार बनना चाहता हूँ लेकिन उन्होंने यह नही बताया की वह किसकी चौकीदारी करेंगे। पीएम मोदी ने गरीबों की नही बल्कि नीरव मोदी, मेहुल चौकसी, विजय माल्या और अनिल अंबानी जैसे अमीरों की चौकीदारी की।’


राफेल के मुद्दे पर पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा की ‘यूपीए सरकार ने राफेल लड़ाकू हवाई जहाज का कांट्रैक्ट एचएएल को दिया था। मोदी जी प्रधानमंत्री बने और उन्होने राफेल का कांट्रैक्ट एचएएल से छीनकर अपने मित्र अनिल अंबानी को दिया। एचएएल पर एक रुपया कर्जा नहीं है उल्टा सरकार ने एचएएल से 3000 करोड़ रुपया लिया है वहीं अनिल अंबानी पर 45000 करोड़ रुपये का कर्जा है। सदन में मोदी जी ने डेढ़ घंटा भाषण दिया लेकिन अंबानी के बारे में और राफेल के बारे में एक शब्द नहीं कहा।’ 


अपने भाषण के दौरान राहुल गाँधी ने तेलंगाना के कार्यवाहक मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि ‘तेलंगाना का सीएम बनते ही केसीआर ने भ्रष्‍टाचार शुरू कर दिया। राजीव सागर प्रोजेक्ट, इंदिरा सागर प्रोजेक्ट की असल लागत 2500 करोड़ रुपये थी, इसको मुख्यमंत्री ने बदलकर 12000 करोड़ रुपये कर दिया। जैसे तेलंगाना में केसीआर ने 38000 करोड़ के प्रोजेक्ट को 1 लाख करोड़ में बदला, वैसे ही केन्द्र में मोदी जी ने 526 करोड़ के हवाई जहाज को 1670 करोड़ में खरीदा’ 


राहुल गाँधी ने केसीआर पर भाजपा से मिलीभगत का आरोप लगाते हुए कहा की ‘तेलंगाना में केसीआर भाजपा की मदद कर रही है। केसीआर बीजेपी के हर निर्णय में उनके साथ खड़ी हो जाती है। केसीआर के बाद अब एमआईएम भी नरेन्द्र मोदी की मदद करने में लग गयी है। चाहे वह नोटबंदी का फैसला हो या कोई और यह दोनों ही पार्टी भाजपा के साथ खड़ी दिखाई दी।
अपने भाषण की शुरुआत में राहुल गांधी ने कहा कि ‘आज हम यहाँ आकर कौमाराम भीम जी और डा भीमराव अंबेडकर जी को याद करते हैं। लेकिन पता नहीं क्यों यहाँ के मुख्यमंत्री को अंबेडकर जी का नाम अच्छा नहीं लगता है। तेलंगाना में सिंचाई परियोजना का नाम भीमराव आंबेडकर जी के नाम पर रखा गया था। पर पता नही क्यों आपके मुख्यमंत्री ने उसका नाम बदल दिया। यह आंबेडकर जी का अपमान है।


राहुल गाँधी ने कहा की कांग्रेस पार्टी कभी झूठे वादा नहीं करती है। यूपीए की सरकार ने 10 साल में सबसे ज्यादा लोगों को गरीबी से निकालने का काम किया। किसानों और आदिवासियों का शोषण रोकने के लिए कांग्रेस सरकार ने भूमि अधिग्रहण बिल पेश किया था और यह सुनिश्चित किया गया था कि उन्हें भूमि की बाजार कीमत से चार गुणा ज्यादा दाम मिलें। तेलंगाना की सरकार ने एससी-एसटी को तीन एकड़ भूमि और 12 फीसदी आरक्षण आदिवासियों को देने का वादा किया था लेकिन इस वादे को राज्य सरकार पूरा नहीं कर पाई।’


राहुल गाँधी ने कहा की पांच साल होने वाले हैं तेलंगाना का जो सपना था वो अधूरा है, टूट गया। अगर कांग्रेस पार्टी सत्ता में आती है तो तेलंगाना में बेरोजगार युवाओं को तीन हजार रुपये का बेरोजगारी भत्ता दिलवाएंगे।  केवल कांग्रेस ही तेलंगाना के वादे के पूरा कर सकती है। हर परिवार कर्ज तले दबा है। पिछले चुनाव में आपने केसीआर पर भरोसा किया था। लेकिन अब लोगों को पता चल गया है केसीआर सरकार भ्रष्टाचार में डूबी है।


119 विधानसभा सीटों वाले तेलंगाना में 7 दिसंबर को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग होगी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.