Newbuzzindia : अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हमेशा अपने विवादित बयानों के कारण चर्चा में रहते हैं लेकिन इस बार ट्रंप ने पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा पर आरोप लगाया कि पिछले साल चुनाव से ठीक पहले ओबामा ने उनके न्यूयॉर्क स्थित कार्यालय में फोन टैपिंग करवाई थी और उन्होंने इसकी तुलना वाटरगेट मामले से की। ओबामा के प्रवक्ता केविन लेवाइस ने आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति ने किसी अमरीकी नागरिक के सर्विलांस का कभी कोई आदेश नहीं दिया।
ओबामा का आरोपों से इंकार

लेवाइस ने कहा कि ओबामा प्रशासन में एक कार्डिनल नियम था कि व्हाइट हाऊस का कोई अधिकारी विधि विभाग की स्वतंत्र जांच में कोई हस्तक्षेप नहीं करेगा। इसके तहत, न तो राष्ट्रपति ओबामा ने और न ही व्हाइट हाऊस के किसी अधिकारी ने किसी अमरीकी नागरिक के सर्विलांस का कोई आदेश दिया। इसके अलावा कोई भी बात बस झूठ है।
ट्रंप ने ट्वीट कर लगाया ये आरोप

ट्रंप ने ट्वीट के जरिए ये आरोप लगाए, हालांकि उन्होंने अपने दावों को लेकर कोई ठोस सबूत पेश नहीं किया। ट्रंप ने कहा कि यह डरावना है। अभी यह पता चला कि ओबामा ने हमारी जीत से ठीक पहले ट्रंप टावर में फोन टैप कराया था। उन्होंने कहा, क्या चुनाव से पहले राष्ट्रपति उम्मीदवार की फोन टैपिंग कराना निवर्तमान राष्ट्रपति के लिए वैध है?