Ahmadabad: गुजरात में बीजेपी सरकार की मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल और उनकी बेटी अनार पटेल पर वैसे ही आरोप लग रहे हैं जैसा आरोप सोनिया गाँधी और उनके दामाद राबर्ट वाड्रा पर बीजेपी ने लगाए थे। राबर्ट वाड्रा पर आरोप थे कि उन्होंने किसानो से सस्ती जमीन खरीदकर उसे मंहगे दामों में बेचकर एक ही वर्ष के अरबों के मालिक बन गए जबकि अनार पटेल पर आरोप हैं कि उन्होंने सरकार से सस्ते दामों के जमीन लेकर उसे अपने बिजनेस पार्टनर को टूरिस्ट प्लेस (रिजॉर्ट) बनाने के लिए सस्ते दामों में दे दिया। जमीन देने के पांच साल भी यहाँ पर कोई रिजॉर्ट नहीं बनाया गया और सरकारी जमीन को दुरूपयोग किया गया।

कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने इस मामले में गुजरात बीजेपी, मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल के साथ साथ प्रधानमंत्री मोदी पर भी निशाना साधा है। जिस वक्त अनार पटेल को जमीन दी गयी थी उस वक्त मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे जबकि आनंदीबेन पटेल रेवेन्यू मंत्री थीं। जमीन देने का काम भी रेवेन्यू विभाग ने किया था। उस वक्त की रेवेन्यू मंत्री आनंदीबेन पटेल पर अपनी बेटी को फायदा पहुँचाने के आरोप लग रहे हैं। इससे गुजरात बीजेपी पर सवालिया निशान उठ रहे हैं।

आरोपों की पूरी खबर

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक, गुजरात में अमरेली जिले में आने वाले गिर सैंक्चुअरी (पशु विहार) के पास 400 एकड़ की जमीन पर एक कंपनी Wildwoods Resorts and Realities का कब्ज़ा है। इस कंपनी के प्रमोटर्स दक्षेस शाह और अमोल शिप्रल सेठ हैं। ये दोनों अनार की कंपनी ‘Anar Projects’ में बिजनेस पार्टनर हैं.
इस कंपनी की 250 एकड़ जमीन को वर्ष 2010-11 में सिर्फ 15 रुपये प्रति स्क्वायर मीटर में खरीदा गया था.
उस वक्त मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, आनंदीबेन पटेल रेवेन्यू मंत्री थीं, जमीन अलाटमेंट का काम रेवेन्यू विभाग ने ही किया था.
आरोपों के मुताबिक कंपनी Wildwoods Resorts and Realities ने 172 एकड़ खेती वाली जमीन और खरीदी और इसका लैंड यूज बदलने के लिए सरकार से परमिशन भी ले लिया.
पांच साल बाद भी इस जमीन पर कोई रिजॉर्ट नहीं बना है.
अनार पटेल पर सिर्फ क्यूँ लग रहे आरोप

जानकारी के अनुसार Wildwoods Resorts and Realities के पार्टनर दक्षेस शाह अनार पटेल की कंपनी रेलीज फार्मा में भी 50 परसेंट के मालिक हैं। इसके अलावा ‘अनार प्रोजेक्ट्स’ में भी भी दोनों डायरेक्टर हैं।

कांग्रेस क्या लगा रही आरोप

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि अनार पटेल के बिजनेस पार्टनर की कंपनी को सिर्फ डेढ़ करोड़ में जमीन दे दी गयी जबकि इस का मार्केट प्राइस 125 करोड़ है। इसके अलावा लैंड यूज भी बदला गया है और जिस काम के लिए जमीन ली गयी थी वह काम भी नहीं किया गया है।

अनार पटेल ने क्या दी सफाई

गुजरात बीजेपी और प्रधानमंत्री मोदी पर जमीन घोटाले के सनसनीखेज आरोप लगने से अनार पटेल को इस मामले में सफाई देनी पड़ी। उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर कहा ‘मेरा Wildwoods Resorts and Realities, Anil Infraplus और Parshvatexchem कंपनियों से कोई रिश्ता नहीं है, मै ना तो इसकी शेयरधारक हूँ और ना ही डायरेक्टर। कोई भी इस बात की जांच कर सकता है।

उन्होंने कहा कि दक्षेश भाई मेरे बिजनेस पार्टनर हैं इसका यह मतलब नहीं है कि मै भी उनकी कंपनी की बिजनेस पार्टनर हूँ। वे अपने आप बिजनेसमैन बने हैं और पिछले 22 वर्षों से बिजनेस कर रहे हैं।

हमने अनार प्रोजेक्ट कंपनी को 7 साल पहले शुरू किया था और हमने कभी भी किसी सरकारी संस्था से कोई मदद नहीं ली। हमने हमेशा नियमों का पालन किया है। ऐसे आरोप लगाए जाने से मुझे दुःख हुआ है। मै किसी से फेवर लेने के बजाय खुद में विश्वास करती हूँ।

उन्होंने कहा कि ‘मैंने और मेरे पति ने 22 वर्षों तक समाज सेवा की है। मेरे पति ने साफ़ सफाई के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। मैंने अपने परिवार की जरूरत पूरा करने के लिए एमबीए किया और बिजनेस करने लगी। आज मै बहुत दुखी हूँ।

#NewBuzzIndia #NewBuzzMedia

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.