21 दिसंबर के दिन कांग्रेस के लिए बड़ी खुशखबरी लेकर आया है। अदालत ने 2जी घोटाले में कुल 17 लोगों को बरी कर दिया। जिसमे पूर्व दूरसंचार मंत्री ए. राजा और कनिमोड़ी शामिल है। अदालत द्वारा फैसला सुनाते ही पूरा कोर्टरूम तालियों से गूंज उठा। कोर्ट द्वारा सबूतों के अभाव में सभी आरोपियों को बरी किया गया।

आरोप साबित करने में नाकाम रही सीबीआई: कोर्ट
फैसला सुनाते हुए जज ने कहा कि सभी आरोपियों पर सीबीआई आरोप साबित करने में नाकाम रही है इसलिए सभी आरोपियों को बरी किया जा रहा है। अदालत ने माना कि यूपीए सरकार पर बिना किसी आधार के बड़े पैमाने पर आरोप लगाए गए है।

नही हुआ कोई घोटाला, विनोद राय मांगी माफी: कांग्रेस
फैसले के बाद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि हम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते है। यूपीए सरकार पर लगाए गए सभी आरोप निराधार साबित हुए है। इसके साथ ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि मेरी बात आज सच साबित हुई। न कोई भ्रष्टाचार हुआ और ना ही कोई घोटाला हुआ है। अगर कोई घोटाला है तो वह झूठ का घोटाला है। कोर्ट का फैसला आने के बाद विनोद राय को सामने आना चाहिए और जनता से माफी मांगनी चाहिए।

हमारे खिलाफ षड्यंत्र रचा गया था: डीएमके
कोर्ट का फैसला आने के बाद खुशी जाहिर करते हुए कनिमोड़ी ने कहा कि ” मैं उन सभी लोगों का धन्यवाद करती हूं जो इस मुश्किल भारी घड़ी में हमारे साथ थे। हमारे खिलाफ षड्यंत्र रचा गया था और आज यह बात साबित हो गयी। डीएमके नेता आरएस भर्ती ने कहा कि पिछले 2 विधानसभा चुनावों में यह मुद्दा हमारे खिलाफ इस्तेमाल किया गया था, जिसका हमे नुकसान उठाना पड़ा था लेकिन अब यह गलत साबित हो गया है।