Newbuzzindia: जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने देश से आरक्षण व्यवस्था को पूरी तरह से समाप्त करने की वकालत की। कहा कि आरक्षण का लाभ उठाकर डाक्टर बनने वाला सही इलाज नहीं कर सकता। जज सही न्याय नहीं कर सकता।

इंजीनियर पुल नहीं बना सकता और न प्रोफेसर पढ़ा सकता है। इस दौान उन्होंने उतर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती पर भी निशाना साधा।

रविवार को कनखल स्थित मठ में पत्रकार वार्ता में जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने आरक्षण व्यवस्था पर कड़ा प्रहार किया। उन्होंने आरक्षित सीटों पर पढ़ने वालों पर निशाना साधा।

यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के खिलाफ बोलते हुए कहा कि पहले मायावती केवल दलित समाज की बात करती थी तो जोड़-तोड़ की सरकार बनाती रही।

जब मायावती ने सर्व समाज की बात की तो सरकार पूर्ण बहुमत की आई। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘जय भीम’ का नारा देना शुरू किया तो मायावती बौखला गई हैं।

मायावती जय भीम कहने की बात कर रही हैं, लेकिन उसके साथ जुड़े ब्राह्मण एवं अन्य समाज के लोग कभी जय भीम नहीं कहेंगे। उन्होंने कहा कि यदि दलितों को तरक्की करनी है तो सर्व समाज के साथ मिलकर चलना होगा। रामायण पढ़नी होगी, त्यौहार मनाने होंगे। शंकराचार्य ने कहा कि पूरे देश में नशे पर प्रतिबंध लगना चाहिए।

NewBuzzIndia से फेसबुक पे जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें..
**Like us on facebook**
[wpdevart_like_box profile_id=”858179374289334″ connections=”show” width=”300″ height=”150″ header=”small” cover_photo=”show” locale=”en_US”]

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.